कैसे करें अपना Exam Preparation आसान?

परीक्षा की तैयारी कैसे करें (Exam Preparation Tips in Hindi): Exam यह नाम सुनते ही हर विद्यार्थी के मन में सनसनी फैल जाती है। अभी एग्जाम (Exams) का समय चल रहा है और हर विद्यार्थी को इसकी चिन्ता (Tension) है। कई बार होता है कि हम एग्जाम (Exams) की तैयारी चाहे कितनी ही अच्छी क्यों न कर ले लेकिन हम परीक्षा में उतना नहीं लिख पाते जितनी हम मेहनत करते है। फिर होता यह है कि हमें खुद के आत्मविश्वास (Easy Ways To Improve Self Confidence in Hindi) पर ही संदेह होने लगता है। मैं आपको यह बताना चाहूंगा कि पढ़ाई करने की कला (Art) और परीक्षा देने की कला दोनों में बहुत अंतर है।

Exam Preparation Tips in Hindi

परीक्षाएं एक साल में 30 से 40 दिन होती है। इसलिए हम साल में बिंदास और चिंता रहित रहते है। पूरे साल दोस्तों के साथ रहना और अंत में जब परीक्षा (Exam) का समय आता है तो सब दोस्तों के साथ परीक्षा की Tension (Tanav se Mukti Paane ke Upaye) को लेकर बातें करना।

Read Also: सफलता के लिए जरूरी है आत्मसम्मान का महत्व।

परीक्षा की तैयारी कैसे करें (Exam Preparation Tips in Hindi):


एक विद्यार्थी को इन दोनों पहलुओं (facets) पर बराबर ध्यान देना चाहिए। यदि आप अपना एग्जाम बेस्ट करना चाहते है तो मैं जो आपको टिप्स (Tips) देना चाहूंगा यदि आप इन टिप्स पर अपना 100% देंगे तो मैं खुद दावा करता हूं कि इसमें से 10% आप पर भी Improvement (सुधार) जरूर होगा।

परीक्षा के तुरन्त पहले की पढाई पर निर्भर नहीं रहे

मेरा यह मानना है कि किसी काम को करने के लिए उस काम को उचित समय मिलना जरूरी है। यदि आप यह मानते है कि आप पूरे साल की पढाई परीक्षा के एक या दो दिन पहले कर लेंगे तो आप गलत है। पढाई को भी उचित समय मिलना जरूरी है। परीक्षा से पहले आप Revision (पुनरीक्षण) को भी पर्याप्त समय दें।

खुद की परीक्षा

खुद की परीक्षा का मतलब है कि आपने जो कुछ भी याद किया है या पढ़ा है उसके लिए आप एक Question Paper तैयार करें और उसका उतर (Answer) बिना देखे लिखने का प्रयास करें। इससे आपका एग्जाम के लिए आत्मविश्वास (Self-confidence) बढ़ेगा। अपने दिए गये टेस्ट की कोपी जाचने में हो सके तो अपने टीचर या किसी दोस्त की सहायता लें।

मन की स्थिरता

कई बार ऐसा होता है कि जब हम पढाई के लिए बैठते है तो हमारे मन में Movie, songs और Games जैसे कई काम आते हैं। जब हम अपने परिवार के साथ होते है तो हमें अपने दोस्तों की याद आती है और जब दोस्तों के साथ होते है परीक्षा की चिंता रहती है। ऐसा इसलिए होता है कि हमारा मन स्थिर नहीं है। मन को स्थिर करने के लिए हम योग की सहायता ले सकते है। योग का सहारा लेकर हम अपने मन पर स्थिरता (Stability) पा सकते है।

परीक्षा और कठिनाई

एग्जाम (Exams) और कठिनाइयां (Difficulties) जीवन के ये वो दो अंग है जो हर किसी के जीवन में होती है। यह बात ध्यान देने लायक है कि कोई परीक्षा जीवन (Life) की आखिरी परीक्षा नहीं है। यदि हम एक परीक्षा से ही डर गये तो हमें अभी तक जीवन में कई परीक्षाओं का सामना करना है। आप यह मान के चलिए कि परीक्षा हमारे जीवन एक अहम हिस्सा है, जिससे हमारे व्यक्तित्व (Personality) की पहचान होती है।

परीक्षा को लेकर मेरे सभी दोस्तों का अलग अलग मानना है कुछ दोस्त तो बिना किसी Tension (तनाव) के एग्जाम देते है। कुछ का मानना है कि वो एग्जाम (Exam) की एक रात पहले पढ़ते है वही उनको याद (Remember) रहता है और कुछ दोस्त तो परीक्षा को लेकर Tension में ही रहते है। लेकिन परिणाम (Result) सभी का अच्छा ही आता है।

Read Also: कैसे बढ़ाएं अपनी एकाग्रता की शक्ति और दिमाग का पॉवर।

आखिरी शब्द

अंत में मैं यही बताना चाहूंगा कि आप परीक्षा (Exams) को लेकर अच्छी मेहनत (Hard Work) करेंगे तो आपको इसका परिणाम भी अच्छा ही मिलेगा। जिनके अभी एग्जाम चल रहे है या आने वाले है उनको मेरा “Best of Luck”। यदि आपको इस “परीक्षा की तैयारी कैसे करें (Exam Preparation Tips in Hindi)” से जुड़े कुछ सवाल (Questions) है तो आप मुझे जरूर पूछे और आप परीक्षा को लेकर क्या सोचते है कमेंट (Comment) बॉक्स में जरूर बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here