इंग्लिश से संस्कृत अनुवाद

इंग्लिश से संस्कृत अनुवाद | English to Sanskrit Translation

English to Sanskrit Translation
Image: English to Sanskrit Translation

अनुवाद का अर्थ है, एक भाषा में दूसरी भाषा में बोली जाने वाली बातों की अभिव्यक्ति। यहां हम चर्चा करते हैं कि अंग्रेजी का संस्कृत में अनुवाद कैसे किया जाए। इस पर चर्चा की जाएगी कि क्या संस्कृत सभी इंडो-यूरोपीय परिवारों की भाषा है। जड़ और हिन्दी का संबंध विकास से है। हालाँकि, दोनों के बीच कई महत्वपूर्ण अंतर हैं।

यदि आप संस्कृत में अनुवाद करने से पहले वाक्यों का हिंदी में अनुवाद करते हैं तो अंग्रेजी से संस्कृत अनुवाद सीखना आसान हो जाएगा। आज हम इन सरल वाक्यों से अंग्रेजी से संस्कृत अनुवाद सीखने का प्रयास करेंगे।

यहाँ कुछ महत्वपूर्ण अंग्रेजी से संस्कृत अनुवाद दिए गए हैं।

इंग्लिश वाक्यहिंदी वाक्यसंस्कृत वाक्य
He goes to village.वह गांव को जाता है।सः ग्रामं गच्छति।
Where do you go?तू कहां जाता है?त्वं कुत्र गच्छसि?
I do not go there.मैं वहां नहीं जाता हूं।अहं तत्र न गच्छामि।
This is beautiful house.यह सुन्दर घर है।इदं सुन्दरं गृहं अस्ति।
Our country is India.हमारा देश भारत है।अस्माकं देशः भारतम् अस्ति।
I am student.मैं विद्यार्थी हूँ।अहं विद्यार्थी अस्मि।
Leaves fall from the tree.वृक्ष से पत्ते गिरते हैं।वृक्षात् पत्राणि पतन्ति।
He goes.वह जाता है।सः गच्छति।
India is a great country.भारत महान देश है।भारत महान देशः अस्ति।
Ganga is a holy river.गंगा पवित्र नदी है।गंगा पवित्रतमा नदी विद्यते।
Who was Ravan?रावण कौन था?रावणः कः आसीत्?
True.सत्य है।सत्यम् अस्ति।
God has mercy.ईश्वर की दया है।ईश्वरस्य दया अस्ति।
Santosh is the biggest money.संतोष सबसे बड़ा धन है।संतोषः सर्वोच्चं धनम् अस्ति।
God is everywhere.ईश्वर सब जगह है।ईश्वरः सर्वत्र अस्ति।
Ram is afraid of the thief.राम चोर से डरता है।रामः चौरात् विभेति।
India is a vast country.भारत एक विशाल देश है।भारतम् एकः विशाल देशः अस्ति।
Where do you go?तू कहां जाता है?त्वं कुत्र गच्छसि?
I go everywhere.मैं सब जगह पर जाता हूं।अहं सर्वत्र गच्छामि।
The boy goes to school.बालक विद्यालय जाता है।बालकः विद्यालयं गच्छति।
The girl is leaving.बालिका जा रही है।बालिका गच्छन्ती अस्ति।
Children like sweets.बालकों को मिठाई पसंद है।बालकेभ्यः मधुरं रोचते।
He is above all.वह सबके ऊपर है।सः सर्वेषां मूर्ध्नि तिष्ठति।
Virtue is adorned with humility.गुणों की शोभा नम्रता से होती है।गुणा विनयेन शोभन्ते।
Birds fly in the sky.आकाश में पक्षी उड़ते हैं।वियति पक्षिणः उड्डीयन्ते।
There is a tree outside the house.घर के बाहर वृक्ष है।गृहात् बहिः वृक्षः अस्ति।
Wisdom is superior to strength.बुद्धि ही बल से श्रेष्ठ है।मतिरेव बलाद् गरीयसी।
There are trees on the sides of the house.घर के दानों ओर वृक्ष है।गृहम् उभयतः वृक्षाः सन्ति।
Falling fruit from the tree.वृक्ष से फल गिरा।वृक्षात् फलम् अपतत्।

यह भी पढ़े

संस्कृत धातु रुपसंस्कृत वर्णमालासमास प्रकरण
संस्कृत में कारक प्रकरणलकारप्रत्यय प्रकरण
संस्कृत विलोम शब्दसंस्कृत में संधिउपसर्ग प्रकरण
संस्कृत धातु रुपहिंदी से संस्कृत में अनुवाद

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here