अपनी राशि कैसे पता करें, राशि की पूरी जानकारी

अपनी राशि कैसे पता करें (Apni Rashi Kaise Pta Kre): नमस्कार मित्रों, आज हम बात करने जा रहे हैं कि हम अपनी राशि कैसे पता करें और राशियों का हमारे जीवन में क्या महत्व होता है।

हमारे जीवन में हमारे नाम के पहले अक्षर का बहुत महत्व होता है। पुराणी कहावतों और मान्यताओं (Assumptions) के अनुसार जब हमारा जन्म होता है तो उस समय चन्द्रमा (Moon) किस राशि में होता है, हमारा नाम भी उस राशि में रखा जाता है। अर्थात् हम यह कह सकते हैं कि हमारे जन्म के समय चन्द्र की स्थिति को देखकर हमारा नाम रखा जाता है।

Apni Rashi Kaise Pta kre

ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के अनुसार 12 राशियां होती है। सभी राशियों के अलग-अलग अक्षरों का निर्धारण किया गया है। कुडंली के अनुसार व्यक्ति का नाम का पहला अक्षर ही उसकी राशि का निर्धारण करता है। ये 12 राशियां पर ही हमारे जीवन (Life) के गुण, अवगुण और चरित्र (Character) निर्भर होते हैं। आप अपने नाम के पहले अक्षर से अपनी राशि कैसे पता कर सकते हैं (Apni Rashi Kaise Pta kre)। हम आपको विस्तार से बता रहे हैं।

Read Also: रहीम दास के दोहे सार सहित।

अपनी राशि कैसे पता करें (Apni Rashi Kaise Pta Kre)

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 12 राशियां होती है जो कुछ इस प्रकार है:

  1. मेष राशि (Aries)
  2. वृषभ राशि (Taurus)
  3. मिथुन राशि (Gemini)
  4. कर्क राशि (Cancer)
  5. सिंह राशि (Leo)
  6. कन्या राशि (Virgo)
  7. तुला राशि (Libra)
  8. वृश्चिक राशि (Scorpio)
  9. धनु राशि (Sagittarius)
  10. मकर राशि (Capricorn)
  11. कुंभ राशि (Aquarius)
  12. मीन राशि (Pisces)

Read Also: रजनीश के गुरु ओशो बनने का विवादस्पद सफ़र।

राशियों से संबंधित जानकारी

मेष राशि (Aries):

इस का चरित्र (Character) एक भेड़ समान होता है और इसका स्वामी मंगल है। मेष राशि राशिचक्र में प्रथम स्थान पर आती है। इस राशि में चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो और आ अक्षर निर्धारित किये गये हैं। इन अक्षरों से हम अपनी राशि का पता कर सकते हैं।

वृषभ राशि (Taurus):

इस राशि का चित्र (Picture) बैल होता है और इस राशि का स्वामी शुक्र है। वृषभ राशि राशिचक्र में द्वितीय स्थान पर आती है। इस राशि के अंतर्गत (Under) ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे और वो अक्षर (Letters) आते हैं। यदि आपका नाम भी इन अक्षरों में से है तो आपकी राशि वृषभ (Taurus) होगी।

मिथुन राशि (Gemini):

इस राशि के चित्र में नारी (Woman) और पुरुष का युग्म होता है, जिसमें नारी के हाथ में वीना (Veena) धारण किये हुए होता है। मिथुन राशि का स्वामी बुध होता है। यह राशि राशिचक्र में तृतीय (Third) राशि है। इस राशि के लिए अक्षर है का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को और ह हैं।

कर्क राशि (Cancer):

इस राशि का स्वरूप केकड़े (Crab) जैसा होता है और इस राशि का स्वामी चन्द्रमा है। यह राशिचक्र की चौथी राशि है। ही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे और डो अक्षर (Letters) कर्क राशि के अन्दर आते हैं। इन अक्षरों से आप अपनी राशि का पता आसानी से लगा सकते हैं।

सिंह राशि (Leo):

जैसा कि इस राशि का नाम सिंह (Leo) है, उसी प्रकार इस राशि का चिन्ह भी शेर (Lion) का होता है। इस राशि का स्वामी सूर्य होता है और यह राशि राशिचक्र की पांचवी राशि है। इस राशि के लिए अक्षर (Letters) मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे निर्धारित किये गये हैं।

कन्या राशि (Virgo):

इस राशि के चित्र में एक कन्या (Girl) हाथ में फुल लिए नजर आती है और उस राशि का स्वामी बुध होता है। इस राशि का राशिचक्र में स्थान 6 नम्बर पर है। जिन लोगों का नाम ढो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे और पो से शुरू होता है, उन लोगों की राशि कन्या होती है।

तुला राशि (Libra):

इस राशि के चित्र में एक पुरुष (Man) होता है, जो अपने हाथ में तराजू (Scales) लिए खड़ा है और इस राशि का स्वामी शुक्र होता है। राशिचक्र के 7वें स्थान पर तुला राशि आती है। इस राशि के लिए र, री, रू, रे, रो, ता, ति, तू और ते अक्षरों (Letters) का निर्धारण किया गया है।

वृश्चिक राशि (Scorpio):

इस राशि की आकृति एक बिच्छू (Scorpio) के समान होती है और इसका स्वामी मंगल होता है। यह राशि 8वें स्थान पर राशिचक्र में आती है। तो, न, नी, नू, ने, नो, या, यि और यू यह अक्षर (Letters) इस राशि के लिए तय किये गये हैं।

धनु राशि (Sagittarius):

इस राशि का स्वामी बृहस्पति होता है और इसकी आकृति में एक पुरुष (Man) अपने हाथ में धनुष (Bow) लिए दिखाई देता है। राशिचक्र में इस राशि का स्थान 9वां है। धनु राशि वाले लोगों का नाम य, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ और भे से शुरू (Start) होते हैं।

मकर राशि (Capricorn):

इस राशि का स्वरूप हिरण (Deer) के मुख के समान होता है और इस राशि का स्वामी शनि होता है। यह राशि राशिचक्र के 10वें स्थान पर आती है। मकर राशि के नाम के लिए भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा और गी अक्षर (Letters) निर्धारित किये गये हैं।

कुंभ राशि (Aquarius):

इस राशि के चित्र में पुरुष अपने कंधे पर कलश (Vase) लिए होता है और इस राशि का स्वामी शनि होता है। कुंभ राशि राशिचक्र के 11वें स्थान पर आती है। इस राशि के लिए गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो और द अक्षरों का निर्धारण (Letters) किया गया है।

मीन राशि (Pisces):

इस राशि में दो मछलियां होती है, जो इस प्रकार होती है कि एक की पूंछ दूसरी मछली (Fish) के मुंह में होती है और इस राशि का स्वामी ब्रहस्पति होता है। यह राशि राशिचक्र में सबसे अंत में आती है। इस राशि के लिए दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, च और ची अक्षरों (Letters) का निर्धारण किया गया है।

ऊपर दी गई जानकारी से हम अपनी राशि का आसानी से पता लगा सकते हैं। जैसा कि शुरूआत में मैंने बताया था कि राशि का हमारे दैनिक जीवन (Daily Life) में बहुत ही महत्व होता है। राशि से हम अपना व्यक्तित्व (जिंदगी को खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं यह फिल्टर्स), चरित्र, गुण और अगुण का पता कर सकते है और लोग अपनी राशि से से अपना भविष्य (Future) भी पता करते है। इस प्रकार राशियां अपनी अलग-अलग कमजोरियां (Weaknesses) और ऊर्जा भी दर्शाती है।

Read Also:

आपको यह जानकारी “अपनी राशि कैसे पता करें (Apni Rashi Kaise Pta Kre)” अच्छी लगी हो तो अपना प्यार कमेंट (Comment) बॉक्स में जरूर बताएं और यह जानकारी और भी लोगों तक पहुँचाने में हमारी मदद शेयर (Share) करके जरूर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here