ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? (VDO Kaise Bane): दोस्तों, आजकल के सभी नौजवानों को सरकारी नौकरी की चाहत होती है। आज के समय में जिसकी सरकारी नौकरी लगी होती है, उसको समाज में अधिक प्राथमिकता दी जाती है। उस व्यक्ति को सफल इन्सान भी माना जाता है। सबसे अधिक मध्यम वर्ग के लोगों की इच्छा होती है कि वो सरकारी नौकरी हासिल कर अपने और अपने परिवारजनों का नाम रोशन करें।

दोस्तों आपने कई बार ग्राम विकास अधिकारी VDO, ग्राम सचिव प्रधान आदि के नाम को तो सुना ही होगा। यह सभी सरकारी नौकरी होती हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे की ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? (VDO Kaise Bane) और VDO बनने के लिए कौन-कौन से योगताए होनी चाहिए। ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी कितनी होती है? इन सभी के बारे में इस लेख में संपूर्ण जानकारी दी जाएगी। इसके लिए आपको आर्टिकल अंत तक पढ़ना होगा, तभी आपको ग्राम विकास अधिकारी बनने की पूरी जानकारी मिल पाएगी।

ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?
VDO Kaise Bane

आजकल सभी छात्र किसी ना किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करते हैं। लेकिन आप जिस भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, उसके बारे में संपूर्ण नॉलेज होनी चाहिए। यानी कि आप जिस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। उसमें क्या काम होता है और उसमें फॉर्म भरने के लिए क्या-क्या योग्यताएं होनी चाहिए, उस पोस्ट पर सैलरी कितनी मिलती है, इन सभी चीजों के बारे में पता होना चाहिए।

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? | VDO Kaise Bane

ग्राम विकास अधिकारी (VDO) क्या है?

VDO का फूल फॉर्म विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर होता है। गांव में लोग इस पद को साधारण भाषा में प्रधान सचिव भी कहते हैं। क्योंकि यह पद गांव की पंचायत में बहुत ही महत्व होता है। दोस्तों हमारे देश में पंचायत राज व्यवस्था है। जब भी कोई पर योजना लागू की जाती है तो इसे पंचायत स्तर तक विभाजित किया जाता है। इस प्रकार काम को बाटने से यह योजनाएं जमीनी स्तर तक लागू हो पाती है। जमीनी स्तर पर काम कराने के लिए सरकार को बहुत सारे ऑफिसर की जरूरत पड़ती है।

ग्राम विकास अधिकारी भी एक ऐसा ही पद है। विकास अधिकारी को किसी भी परियोजनाओं को पंचायत में लागू करवाना होता है। ग्राम विकास अधिकारी का काम सबसे अधिक जिम्मेदारी वाला होता है। क्योंकि इन्हीं के कारण किसी भी गांव का विकास होता है। यहां तक कि गांव में शिक्षा की जिम्मेदारी भी ग्राम विकास अधिकारी के पास होती है।

ग्राम विकास अधिकारी के ऊपर किसी भी गांव की पंचायत की व्यवस्था सुधारने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होती है। गांव में बिजली की समस्या से छुटकारा दिलाना, साफ सफाई की व्यवस्था करवाना और सरकार के द्वारा किसी भी नई परियोजना को लागू होते ही उसे जमीनी स्तर तक काम करने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होती है।

यह ग्राम पंचायत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है। आप सीधी ग्राम पंचायत के साथ मिलकर उस पंचायत का विकास करवा सकते हैं।

ग्राम विकास अधिकारी का क्या काम होता है?

ग्राम विकास अधिकारी के कई सारे कार्य होते हैं, जो कि निम्न है:

  • गांव में शिक्षा व्यवस्था को सुचारू रूप से व्यवस्थित करवाना।
  • गांव में साफ सफाई का प्रबंध करना।
  • गांव में रहने वाले पशुओं के लिए चारागाह की व्यवस्था करना।
  • गांव के कृषि और वाणिज्य उद्योग विकास के लिए सहायता करना।
  • गांव की सड़कें और बिजली की पूर्ण रूप से व्यवस्था करना।
  • ग्राम पंचायत या गांव में होने वाली किसी परियोजना या वार्षिक उत्सव का सही तरीके से संचालन करना।
  • ग्राम पंचायत के किसी भी समस्या को जिला परिषद में बताना तथा उस समस्या का निराकरण करवाना।
  • सभी प्रकार के दस्तावेजों का रजिस्ट्रेशन करवाना जैसे जन्म प्रमाण-पत्र, मृत्यु प्रमाण-पत्र।
  • इसके अलावा और भी कई सारे कार्य होते हैं जो कि ग्राम विकास अधिकारी की देखरेख में संपन्न होते हैं।

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए कौन सी योग्यता होनी चाहिए?

ग्राम विकास अधिकारी की नौकरी के लिए आपके अधिक योगिता की आवश्यकता की जरूरत नहीं है। ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12वीं की परीक्षा किसी भी विषय से पास की हो, उसमें 60 परसेंट नंबर होने अनिवार्य है।

सबसे जरूरी बात विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर के लिए आपके पास कंप्यूटर डिप्लोमा का होना बहुत ही जरूरी है। इसके बिना आप आवेदन नहीं कर सकते। ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक के बीच में होनी चाहिए।

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने?

VDO Kaise Bane: दोस्तों यह परीक्षा राज्य लोक सेवा आयोग हर वर्ष करवाता है। यदि इसके सिलेक्शन की बात करें तो इसमें आपको तीन चरणों में एग्जाम देने होते हैं। जब आप उनको क्वालीफाई कर लेते हैं। तभी आप विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर बन सकते हैं। इसके अलावा आपको फिजिकल टेस्ट भी पास करना होता है। फॉर्म भरने के लिए आपको राज्य लोक आयोग सेवा की मेन वेबसाइट पर जाना होगा।

सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा देनी होती है। यदि आप उस परीक्षा में पास हो जाते हैं तब आपको दूसरे चरण यानी कि इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू में पास होने वाले अभ्यर्थियों को तीसरे चरण के लिए निमंत्रित किया जाता है। तीसरे चरण में अभ्यर्थियों का फिजिकल टेस्ट लिया जाता है। तीसरे चरण में वही अभ्यर्थी पहुंचता है। जिसने प्रथम चरण और द्वितीय चरण को पास कर लिया होता है।

VDO Syllabus

दोस्तों किसी भी परीक्षा देने से पहले आपको पता होना चाहिए कि इस परीक्षा में कौन-कौन विषयों से प्रश्न पूछे जाने हैं। इसके बारे में आपको पहले से ही पता होना चाहिए। यदि आपको उस परीक्षा में आने वाले विश्व के बारे में पता है तभी आप उसकी तैयारी सही ढंग से कर सकते हैं।

हम आपको बताएंगे कि वीडियो की प्रथम चरण में होने वाले लिखित परीक्षा के प्रश्न किन-किन विषयों से आते हैं। इसकी एक लिस्ट नीचे निम्नलिखित रूप से दी गयी है:

• भारतीय संस्कृति
• भारतीय संविधान
• पर्यावरण
• भारतीय भूगोल
• भारतीय अर्थव्यवस्था
• भारतीय इतिहास
• करंट अफेयर्स
• भारतीय पंचायत व्यवस्था
• हिंदी साहित्य
• हिंदी लेखन क्षमता
• सामान्य ज्ञान
• सामान्य विज्ञान
• कक्षा 10 के गणित विषय
• सामान्य बुद्धि परीक्षण

यह सभी महत्वपूर्ण सब्जेक्ट है। इन्हीं सब से मिलाकर परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं। इन विषयों से आप अपनी अच्छी तैयारी कर सकते है।

ग्राम विकास अधिकारी चयन प्रक्रिया

यह पोस्ट जिसकी चयन प्रक्रिया 3 चरणों में संपन्न होती है, जिसकी जानकारी निचे निम्नलिखित रूप से दी गयी है:

  1. एग्जाम (प्रथम चरण)
  2. इंटरव्यू (द्वितीय चरण)
  3. शारीरिक परीक्षा (तृतीय चरण)

एग्जाम (प्रथम चरण)

दोस्तों प्रथम चरण की परीक्षा में 80 अंकों के प्रश्न पूछे जाते है, जिसमें 30 अंक तो सिर्फ हिंदी लेखन से पूछे जाते हैं। बाकी 20 अंक रिजनिंग से तथा 20 अंक सामान्य ज्ञान से लिए जाते हैं। अगर समय की बात करें तो इस परीक्षा में आपको 1 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है। इस समय में आपको सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देना होता है।

इंटरव्यू (द्वितीय चरण)

जो अभ्यर्थी प्रथम चरण यानी की लिखित परीक्षा को पास कर लेता है, उस कैंडिडेट को ही इंटरव्यू परीक्षा देने के लिए बुलाया जाता है। यह इंटरव्यू कम से कम 20 मिनट तक चलता है। इंटरव्यू में आपके ज्ञान की परीक्षा ली जाती है। इंटरव्यू में आप से पंचायती राज व्यवस्था से संबंधित कुछ प्रश्नों के बारे में पूछा जाता है। आपको उन सभी प्रश्नों का सही सही उत्तर देना होता है।

शारीरिक परीक्षा (तृतीय चरण)

जो उम्मीदवार इंटरव्यू की परीक्षा पास कर लेते हैं, उनको शारीरिक परीक्षा देने के लिए बुलाया जाता है। यहां पर अभ्यर्थियों को 1 मील की दौड़ इसका मतलब कि 1600 मीटर की दोड़ करनी पड़ती है तथा 4 मील की साइकिलिंग इसका मतलब 6400 मीटर की साइकिलिंग करनी होती है।

इसके अलावा लंबी कूद और एक मील तक टहलना होता है जो व्यक्ति शारीरिक परीक्षा को पास कर लेता है। उसको ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है।

ग्राम विकास अधिकारी की कितनी सैलरी होती है?

ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी (vdo salary) की बात करें तो उसको 5200 से लेकर उसको 20,000 रुपए तक की सैलरी दी जाती है। इसके अलावा समय समय पर सैलरी बढ़ती भी रहती है।

एस पद पर कार्यरत व्यक्ति के बेसिक सैलरी के साथ साथ 2000 रूपये प्रति महिना ग्रेड पे भी दिया जाता है। साथ ही साथ अन्य सरकारी जॉब की तरह एस पद पर कार्यरत व्यक्ति को सरकारी भत्ते मिलते है। सरकारी भत्ते की बात की जाये तो इस पद पर काम करने वाले व्यक्ति को महंगाई भत्ता, घर किराया भत्ता, CCA, पेट्रोल भत्ता, न्यूज़ पेपर भत्ता, यात्रा भत्ता, मेडिकल बीमा सुविधा इत्यादी उपलब्ध करवाए जाते है।

ग्राम विकास अधिकारी से सम्बंधित सामान्य सवाल

ग्राम विकास अधिकारी की फिजिकल परीक्षा में कितने मीटर की दोड़ होती है?

ग्राम विकास अधिकारी की फिजिकल परीक्षा में 1600 मीटर की दोड़ होती है।

ग्राम विकास अधिकारी कौन होता है?

ग्राम विकास अधिकारी ग्राम में विकास गतिविधियों के लिए प्रभारी हैं। विभिन्न विभागों में ग्राम स्तर पर विभागीय अधिकारी होते हैं उदा। स्वास्थ्य, पंचायत राज, विद्युत, परिवहन, सिंचाई, जल निगम, पशुपालन, हरिजन और समाज कल्याण, कृषि, बागवानी, पीडब्लूडी आदि के लिए, सारे कार्य की रिपोर्ट तेयार करते है।

ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी कितनी होती है?

ग्राम विकास अधिकारी या ग्राम पंचायत अधिकारी को के रूप में 5200-20200 रुपये प्राप्त होते है।

ग्राम विकास अधिकारी को ग्रेड पे कितना मिलता है?

ग्राम विकास अधिकारी को 2000/महिना मिलता है।

ग्राम विकास अधिकारी चयन प्रक्रिया कितने चरणों में संपन्न होती है?

ग्राम विकास अधिकारी चयन प्रक्रिया 3 चरणों में संपन्न होती है।

VDO का फुल फॉर्म क्या होती है?

विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर

Conclusion

दोस्तों आज के इस लेख में हमने ग्राम विकास अधिकारी से संबंधित सभी प्रश्नों के बारे में संक्षिप्त में बताया है। इसके अलावा आप ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? इसके बारे में भी बताया है। हमने इस आर्टिकल में आपके सभी सवालों के जवाब देने का प्रयास किया है।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर किया गया यह लेख “ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? योगयता, सैलरी (VDO Kaise Bane)” आपको पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

यह भी पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here