श्री श्री रविशंकर के अनमोल विचार

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

sri sri ravi shankar quotes in hindi
Image: sri sri ravi shankar quotes in hindi

श्री श्री रविशंकर के अनमोल विचार | Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

किसी भी चीज़ को, किसी भी काम को,
कुछ भी होने को मुश्किल न समझें।
आपके पास बहुत बड़ी शक्ति हैं
और उसी के अनुसार आपको काम मिलता है।

प्रेम कोई भावना नहीं है
यह आपका खुद का अस्तित्व है।

“जिनमे कोई यह नही जानता की एक
दोस्त कब दुश्मन बन जाये या दुश्मन कब
दोस्त बन जाये। इसीलिए हमेशा खुद पर भरोसा रखे।”

किसी को भी श्रद्धा यह समझाने में है
कि आप हमेशा वो पा जाते हैं
जिसकी आपको जरुरत होती है।

“प्यार में कभी गिरना नही चाहिये,
प्यार में हमेशा आगे बढ़ना चाहिये।”

सब कुछ खुशी से करो। चलना, बात करना, बैठना,
सब कुछ ख़ुशी से ; भले ही आप किसी
के खिलाफ शिकायत क्यों न करें, खुशी से करें।

आप खुद आज भगवान का दिया हुआ
एक उपहार है इसीलिए इसे प्रेजेंट कहते हैं।

“श्रद्धा यह समझने में है कि आप हमेशा वो
पा जाते हैं जिसकी आपको ज़रुरत होती है।”
~श्री श्री रवि शंकर

“अस्वीकृति का मतलब अपने
आप में ही सिमित रहना है।”

विश्वास यह महसूस कर रहा है ;
आपको वही मिलता आ रहा है
जो आपने अभी तक चाहा है।

मानव विकास के दो चरण हैं कुछ होने से कुछ
ना होना और कुछ ना होने से सबकुछ होना।
यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान और देखभाल ला सकता है।

“मानव विकास के दो चरण है –
कुछ होने से कुछ ना होना,
और कुछ ना होने से सबकुछ होना।
यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान
और देखभाल ला सकता है।”

“कार्य करना और आराम करना
जीवन के दो मुख्य अंग है।
इनमे संतुलन स्थापित करने के लिए
अपनी योग्यता का उपयोग करना चाहिये।

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

चिंता करने की कोई बात नहीं है।
कठिन समय, परेशानियों वाला समय ,
बहुत अच्छा समय, अच्छा समय, बहुत बुरा समय और
बुरा समय होगा। वे सभी जीवन में आते हैं
और जाते हैं। कुछ भी नहीं रहने वाला।

“दूसरों को सुनो फिर भी मत सुनो।
अगर तुम्हारा दिमाग उनकी समस्याओं में उलझ जाएगा
फिर ना सिर्फ वो दुखी होंगे बल्कि तुम भी दुखी हो जओगे।”

“जीवन प्रकृति के बनाये
नियमो पर चलता है।”

आपको सर्वोत्तम आशीर्वाद दिया गया है।
इस ग्रह पर सबसे अनमोल ज्ञान दिया गया है।
तुम दिव्य हो, तुम परमात्मा का अंश हो ।
विश्वास के साथ आगे बढ़ो ।
यह अहंकार नहीं है बल्कि यह पुन प्रेम है।

एक निर्धन व्यक्ति नया साल वर्ष में
एक बार मनाता है। एक धनी व्यक्ति हर दिन
लेकिन जो सबसे समृद्ध होता है वह हर क्षण मनाता है।

“जीवन में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसके प्रति
बहुत गंभीर रहा जाए। जीवन तुम्हारे हाथों में
खेलने के लिए एक गेंद की तरहहै ।
गेंद को पकड़े मत रहो।”~

“प्यार का रास्ता कोई उबाऊ रास्ता नही है।
बल्कि ये तो मस्ती का मार्ग है।
ये गाने का और नाचने का सबसे अच्छा मार्ग है।”

विश्वास आपके मस्तिष्क से आता है।
भक्ति आपके हृदय से आती है।
ध्यान के द्वारा आप इनको जोड़ सकते हैं।

आप अपने कार्य के पीछे की मंशा को देखो
अक्सर तुम उस चीज के लिए नहीं जाते जो
तुम्हे सच में चाहिए।

“हमेशा आराम की चाहत में, तुम आलसी हो जाते हो।
हमेशा पूर्णता की चाहत में, तुम क्रोधित हो जाते हो।
हमेशा अमीर बनने की चाहत में, तुम लालची हो जाते हो।”

““आज” भगवान का दिया हुआ एक उपहार है –
इसलिए इसे “गिफ्ट” कहते है।”

‘आज’ ईश्वर की ओर से एक उपहार है –
इसीलिए इसे वर्तमान कहा जाता है।

यदि तुम लोगों का भला करते हो
तुम अपनी प्रकृति की वजह से करते हो।

आप अपने अंदर मोन को महसूस कीजिये।
आपको शांति और बहुत सारा बल मिलेगा।
अप्रतिबंधित प्रेम मिलेगा।
तुम्हारी शोभा अनंत बनेगी।
हमारी चेतना का यही स्वाभाव है।

Read Also: श्री तरुण सागर जी महाराज के अनमोल विचार

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

“चिंता करने से आपके जीवन में कोई बदलाव नही
होंगा लेकिन काम करने से जरुर आप
अपने आप को मजबूत बना सकते हो।”

यदि आपको कुछ कहना है
तो आपको बोलना होगा। यदि आपको बहुत कुछ कहना हैं
तो मोन रहना होगा। आप समझदारी चाहते हैं; यह मोन से आती है।

तुम दिव्य हो तुम मेरा हिस्सा
हो मैं तुम्हारा हिस्सा हूँ।

“स्वर्ग से कितना दूर? बस अपनी आँखें
खोलो और देखो, तुम स्वर्ग में हो।”

“जीवन ऐसा कुछ नही है जिसके प्रति गंभीर रहा जाये,
जीवन तुम्हारे हाथो में खेलने के लिए दी गयी एक गेंद
के समान है, गेंद को कभी पकडे मत रखो।”

जब तुम अपने जीवन को पूजा मानने लगते हो
तो प्रकृति तुम्हारी सभी इच्छाओं को पूरा करने लगती है।

तुम्हारा मस्तिष्क भागने की सोच रहा है
और उस रास्ते पर जाने का प्रयास नहीं कर रहा है।
जहाँ गुरु ले जाना चाहते हैं तुम्हे उठाना चाहते हैं।

स्वयं को क्षमा करें और दूसरों को क्षमा करें;
दूसरों की गलतियों या खुद की गलतियों को चबाते न रहें।

“चाहत या इच्छा तब पैदा होती है,
जब आप खुश नहीं होते, क्या आपने देखा है?
जब आप बहुत खुश होते हैं तब संतोष होता है,
संतोष का अर्थ है कोई इच्छा ना होना।”

“शाश्वत इंतज़ार, अनंत धैर्य का होना बहोत जरुरी है।
क्योकि जब आपके पास अनंत धैर्य होता है,
तब आपको अपने पीछे भगवान को अनुभूति होती है।
जबकी सतत प्रयास और कोशिश करते रहने से
भी आप इसी जगह पर पहोच सकते हो।”

आपके मस्तिष्क के आलावा कोई दूसरा आपको दुखी नहीं करता।
आपको ऐसा लगता होगा की दूसरे लोग आपको परेशान कर रहे हैं,
दुखी कर रहें हैं पर वास्तव में यह आपका मस्तिष्क ही है।

इच्छा हमेशा मैं पर लटकती रहती है
जब स्वयं मैं लुप्त हो रहा हो इच्छा भी समाप्त हो
जाती है ओझल हो जाती है।

“यदि कोई आपको सबसे ज्यादा ख़ुशी दे
सकता है तो वह आपको दुःख भी दे सकता है।”

हर दिन एक वास्तविक
मुस्कान का स्वागत करें।

हर एक चीज के पीछे तुम्हारा अहंकार है मैं, मैं, मैं, मैं
लेकिन सेवा में कोई मैं नहीं है क्योंकि यह
किसी और के लिए करनी होती है।

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

“दूसरों को आकर्षित करने में काफी उर्जा बर्बाद होती है
और दूसरों को आकर्षित करने की चाहत में –
मैं बताता हूँ, विपरीत होता है।”

“यदि आप खुद के दिमाग पर काबू पा सकते हो,
तो आपमें पूरी दुनिया को जितने की काबिलियत है।”

जीवन बहुत गंभीर होने के लिए कुछ भी नहीं है।
जीवन आपके हाथों में खेलने के लिए एक गेंद है।
गेंद पर पकड़ नहीं है।

“उस बात के लिए गुस्सा होना जो पहले से ही हो चुकी है,
इसका कोई अर्थ नही है।
आप हमेशा अपनी तरफ से पूरी कोशिश करते हो,
नही करते तो बस आप घटित घटना को नए नजरिये से नही देखते।”

तुम उस बात पर गुस्सा होते हो जो बीत चुकी है,
इसका कोई अर्थ नहीं है।
आपको घटित घटना को नये नज़रिये से देखना चाहियें।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here