शिकायती पत्र कैसे लिखे? (उदाहरण और प्रारूप)

शिकायती पत्र कैसे लिखे? (उदाहरण और प्रारूप) | Shikayat Patra in Hindi

Shikayat Patra in Hindi
Image : Shikayat Patra in Hindi

शिकायती पत्र: शिकायती पत्र एक ऐसा पत्र होता है। जिसमें आप किसी व्यक्ति से संबंधित शिकायत पत्र के माध्यम से करते हैं। इस पत्र में एक ऐसा विषय होना चाहिए, जिस पर आप उस व्यक्ति की शिकायत संबंधित पत्र लिख सकते हैं। इस शिकायती पत्र में बहुत ही सावधानी पूर्वक और विनम्रता के साथ आपको अपनी शिकायत इस पत्र में लिखना पड़ता है। यह शिकायती पत्र एक मात्र पत्र प्रारूप है, जिसकी सहायता से आप किसी व्यक्ति से संबंधित शिकायत के विषय पर इस शिकायती पत्र पर लिखते हैं। इसके प्रारूप कुछ उदाहरण इस प्रकार है।

विषय सूची

शिकायती पत्र के प्रारूप

इस पेज पर निम्न 10 प्रकार के शिकायती पत्र के प्रारूप दिए गए हैं।

  1. पुलिस कांस्टेबल के उत्पीड़न पर उनके शिकायत संबंधित पत्र अपने जिला पदाधिकारी को लिखिए।
  2. जामनगर में पेयजल की समस्या हेतु अपने जनपद के जिलाधीश को एक शिकायत पत्र लिखिए।
  3. कॉलोनी में सड़क निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने पर अपने नगर पालिका के अध्यक्ष को शिकायत पत्र लिखिए।
  4. अस्पताल में कोरना मरीजों की सही से इलाज ना मिल पाने के विषय में संबंधित स्वास्थ्य मंत्रालय को शिकायती पत्र लिखिए।
  5. बस ड्राइवर की अभद्रता के विषय में परिवहन निगम को शिकायती पत्र लिखिए। बिजली का अधिक बिल आने के कारण
  6. बिजली विभाग को शिकायत पत्र लिखे।बिजली संकट से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के विषय में बिजली अभियंता को
  7. शिकायत पत्र लिखें। सोसाइटी में देर रात ध्वनि यंत्र[लाउडस्पीकर] बजाने से रोकने के लिए सोसायटी अध्यक्ष को शिकायती पत्र लिखें।
  8. अपने जिला में पेड़ पौधे की अनियंत्रित कटाई को रोकने के लिए जिला अधिकारी को शिकायती पत्र लिखें।
  9. सोसाइटी में गंदगी को साफ कराने हेतु स्वास्थ्य अधिकारी को शिकायती पत्र लिखें।

उदाहरण 1. पुलिस कांस्टेबल के उत्पीड़न पर उनके शिकायत संबंधित पत्र अपने जिला पदाधिकारी को लिखिए।

सेवा में,
जिला पदाधिकारी
अलीगढ़ उत्तर प्रदेश
दिनांक – 26/5/95
समद रोड सेंटर
प्वाइंट गुलजार नगर,
अलीगढ, उत्तर प्रदेश
202001

विषय- पुलिस कॉन्स्टेबल के उत्पीड़न के लिए शिकायत पत्र हेतु

महोदय,
सेवा में सविनय निवेदन यह है कि समद रोड, सेंटर प्वाइंट, गुलजार नगर अलीगढ़ उत्तर प्रदेश में मेरा गैलेक्सी वर्ल्ड मोबाइल का दुकान है। समद रोड में मेरे जैसे बहुत सारे दुकानदार हैं। जिसके साथ थाना अलीगढ़ उत्तर प्रदेश में तैनात पुलिस कांस्टेबल सी के पासवान ने दुकानदारों के साथ बिना मतलब का गाली गलौज और मारपीट करते हैं और अपने पद का दुरुपयोग करते हैं। कई दुकानदारों का सामान भी बाहर फेंक देते हैं और तोड़फोड़ भी करते हैं। कल सीके पासवान पुलिस कॉन्स्टेबल ने मेरे दुकान से एक मोबाइल लिया और उनका पैसा मुझे नहीं दिए। जब मैंने उनसे पैसे मांगे तो उन्होंने अपने पद का रोग दिखाते हुए कहा जा नहीं दूंगा। क्या कर लोगे और किसके पास मेरे शिकायत करोगे और मुझे गाली गलौज देने लगे और मारपीट भी की है। जिसके निशान अभी भी मेरे शरीर पर है और मुझे धमकी भी दिए हैं, कि अगर यह बात मैंने किसी को भी कहीं तो मैं तुम्हारा जीना हराम कर दूंगा और तुम्हारा दुकान भी बंद करवा दूंगा।
मेरा आपसे विनम्र अनुरोध है कि इस घटना की निष्पक्ष जांच की जाए और सक्षम अधिकारी से कराएं तथा दोषी पाए जाने वाले ऐसे बस पुलिस कॉन्स्टेबल को उनकी नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाए। उनको ऐसी सजा दी जाए जिससे कोई और ऐसी गलती दोबारा ना करें। ऐसा करने से हमारे जैसे जनता वह मुक्त हो सकेंगे और पुलिस की जो छवि हमारे समाज में है वह बरकरार रहेगी।
आशा है कि आप मेरी इस शिकायत को गंभीरता से लेंगे और और इस समस्या का निवारण करेंगे।

सधन्यवाद!
दिनांक-26/5/95 भवदीय
राकेश कुमार ठाकुर
समद रोड सेंटर
प्वाइंट गुलजार नगर,
अलीगढ ,उत्तर प्रदेश
202001


उदाहरण 2.जामनगर में पेयजल की समस्या हेतु अपने जनपद के जिलाधीश को एक शिकायत पत्र लिखिए।

सेवा में,
जिलाधीश
जामनगर, गुजरात
योगेश्वर धाम
जामनगर, गुजरात
दिनांक-6/6/15

विषय- नगर में पेयजल की समस्या हेतु शिकायत पत्र।

महोदय,
सेवा मैं सविनय निवेदन यह है कि हमारे नगर में पेयजल की समस्या बहुत दिनों से चल रही है। पेयजल की आपूर्ति हेतु, हमारे नगरपालिका का उत्तरदायित्व है। किंतु नगर पालिका नगर के पेयजल की समस्या पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रही है। महोदय आपको यह जानकर बहुत ही आश्चर्य हुआ, कि पिछले 7 महीने से हमारे नगर में प्रतिदिन नियमित रूप से जल की आपूर्ति नहीं की जा रही है। इसकी शिकायत हमने पहले भी नगर पालिका में की थी। किंतु उन्होंने इस समस्या के लिए कोई उपाय नहीं किया। पराया बोरिंग से भी पानी नहीं आ रहा है। नगर के सभी लोग पानी की समस्या से जूझ रहे है।
नगर पालिका के अधिकारी द्वारा 15 नलकूप हमारे नगर में लगाए गए थे। जिसमें अभी मात्र 5 नलकूप कार्यरत है, जहां 5 नलकूप है, वहां पर बाल्टी और बर्तनों की लंबी लंबी कतार के साथ-साथ आपस में लोग झगड़ा भी करते रहते हैं। खराब पड़े नलकूपों को नगर पालिका द्वारा मरम्मत भी नहीं की जा रही है।

अतः आपसे विनम्र निवेदन यह है कि पेयजल संकट को दूर करने के लिए जनरेटर नलकूप लगवाया जाए। तथा जो खराब नलकूप है। उसकी तुरंत मरम्मत की जाए जिससे नगर में हो रहे पेयजल की समस्या निपटा जा सके।
आशा है कि आप मेरी बात पर अविलंब ध्यान देकर हमारे नगर की जनता को पेयजल की समस्या के निराकरण हेतु यथा संभव कदम उठाएंगे जिससे हमारे नगर के जनता को आवश्यक पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराएंगे। अन्यथा हमारे नगर की जनता आंदोलन करने के लिए तैयार है।

धन्यवाद भवदीय
दिनांक- -6/6/15
मनन अग्रवाल

उदाहरण 3. कॉलोनी में सड़क निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने पर अपने नगर पालिका के अध्यक्ष को शिकायत पत्र लिखिए।

सेवा में,
नगर पालिका अध्यक्ष
जनकपुरी, दिल्ली 113- डी
सुभाष नगर कॉलोनी
जनकपुरी, दिल्ली

विषय- कॉलोनी में सड़क निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने पर शिकायत पत्र हेतु।

महोदय,
सेवा में सविनय निवेदन यह है कि मैं राकेश कुमार113 सुभाष नगर कॉलोनी जनकपुरी दिल्ली का निवासी हूं। आपको मैं यह बताना चाहता हूं कि हमारे कॉलोनी में पिछले सप्ताह ही सड़क निर्माण किया गया था। इस सड़क निर्माण में किए गए सामग्री बहुत ही खराब थे और सीमेंट का प्रयोग भी बहुत कम किया गया। सीमेंट और रेत का अनुपात 1:10 का है। इसलिए सड़क अभी से ही टूटने लगे हैं। और बीच-बीच में गड्ढे भी हो गए हैं। जिसके वजह से वाहन गड्ढे में गिर जाते हैं। जिससे आवागमन में बहुत ही दिक्कतें आ रही है। अंधेरे में गड्ढे भी दिखाई नहीं पड़ते हैं।

अतः आपसे मेरा यह विनम्र निवेदन है कि सक्षम अधिकारियों से शिकायत की अच्छे से जांच की जाए। तथा सड़क निर्माण के ठेकेदार को सजा के रूप में उसके भुगतान रोक दी जाए। जब तक ठेकेदार पुण: सड़क निर्माण मैं उच्च स्तरीय सामग्री का इस्तेमाल करके सड़क को पुनः निर्मित करें।

आशा है कि आप मेरी बात पर अविलंब ध्यान देकर हमारे कॉलोनी के सड़क निर्माण ठेकेदार पर शीघ्र ही कार्रवाई करेंगे।

धन्यवाद
दिनांक-9/7/17 भवदीय
सुरेंद्र शुक्ला
113- डी
सुभाष नगर कॉलोनी
जनकपुरी, दिल्ली

उदाहरण 4. अस्पताल में कोरना मरीजों की सही से इलाज ना मिल पाने के विषय में संबंधित स्वास्थ्य मंत्रालय को शिकायती पत्र लिखिए।

सेवा में,
सचिव
स्वास्थ्य मंत्रालय
पटना, बिहार
दिनांक-4/5/21

विषय- अस्पताल में मरीजों कि सही से इलाज ना मिल पाने हेतु शिकायती पत्र।

महोदय,
सेवा में सविनय निवेदन यह है कि में सुशील यादव पटना का स्थानीय निवासी हूं। इस साल कोरोनावायरस की आई दूसरी लहर की संक्रमण दर पहले की तुलना में 30 से 50 गुना अधिक संक्रमण है। जिससे देश के सभी राज्य के लोग परेशान हैं। और इस कोरोनावायरस से डटकर सामना भी कर रहे हैं। किंतु आपको यह बात जानकर बहुत ही आश्चर्य होगा। कि पटना के सदर अस्पताल में भ्रष्टाचार एवं अव्यवस्था होने के कारण कोरोना मरीजों को सही से इलाज नहीं मिल पा रही है। राज्य सरकार की ओर से जबकि गरीब जनता के लिए मुफ्त औषधि एवं मुफ्त भोजन की अस्पताल में व्यवस्था भी की गई है। किंतु इस अस्पताल में यह सुविधा गरीब जनता को नहीं मिल पा रही है। सदर अस्पताल के सरकारी डॉक्टर अस्पताल में उपलब्ध जो भी दवाई है। उन्हें बाजार में बेच देते हैं, जिसकी वजह से रोगियों को वांछित औषधि नहीं मिल पाती है। सही समय पर इलाज ना मिल पाने की वजह से कुछ मरीजों की मौत भी हो जा रही है। और अस्पताल की डॉक्टर बेफिक्र हो कर के बैठे हुए हैं। ऐसे समय में अपनी सेहत की चिंता किए बिना, डॉक्टर को मरीजों की का इलाज करना चाहिए। जबकि हमारे राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के हर जिले में मरीजों की सांसो को सहेजने के लिए पर्याप्त मात्रा में औषधि भोजन और भी जरूरत के सामान उपलब्ध कराएं हैं। यहां तक की होम आइसोलेशन में कोरोना संक्रमण मरीजों को भी इलाज मुहैया कराए जाने का निर्देश दिया है। यहां की अस्पताल के चिकित्सालय अधीक्षक से शिकायत करने पर भी कोई संतोषजनक उत्तर पर्याप्त नहीं होता है। अस्पताल में डॉक्टर मरीजों को देखने के लिए राउंड भी नहीं लगाते हैं। और नर्स मरीजों की सेवा करना तो दूर की बात है वह वह मरीजों से ठीक ढंग से बात भी नहीं करती है। मरीजों के साथ उनका दुर्व्यवहार बहुत ही आपत्तिजनक है।

अतः आप से मेरी विनम्र निवेदन है कि पटना के सदर अस्पताल की दशा को सुधारने के लिए आप अभिलंब जांच की कमेटी की नियुक्ति करें, और उक्त आरोपों की जांच कर दोषी व्यक्तियों को दंडित करें। तथा अस्पताल की व्यवस्था को सुधार कर रोगियों को राहत दिलाएं।

धन्यवाद
दिनांक-4/5/21
भवदीय
सुशील यादव
कुआं मोर ,पटना

उदाहरण 5. बस ड्राइवर की लापरवाही के विषय में परिवहन निगम को शिकायती पत्र लिखिए।

सेवा में,
क्षेत्रीय प्रबंधक
दिल्ली परिवहन निगम
दिल्ली
7/98, भावनगर
दिल्ली

विषय- बस ड्राइवर की लापरवाही के लिए शिकायती पत्र हेतु।

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं राहुल सक्सेना आपको शहर में हो रही बस ड्राइवरों द्वारा लापरवाही से हो रही दुर्घटना के बारे में आपका ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं। श्रीमान पिछले सप्ताह में दिल्ली से हरिद्वार गया था। यातायात के दौरान ही मुझे पता चला कि बस ड्राइवरों की लापरवाही से शहर में लगातार दुर्घटना बढ़ती ही जा रही है।
यातायात से होने वाली दुर्घटनाओं से ना जाने कितने के परिवार उनसे छिन चुके हैं। और ना जाने कितने लोग जख्मी हो गए हैं, लेकिन इन सब से बस ड्राइवर को कोई भी फर्क नहीं पड़ता है। बस ड्राइवर यातायात के नियमों का भी पालन सही ढंग से नहीं करते हैं। जिसकी वजह से सड़क पर रोजाना दुर्घटना बढ़ती ही जा रही है। बस चालक कभी कभी शराब का सेवन करके तेज बस चलाते हैं और दूसरे गाड़ी को ओवरटेक भी करते हैं। वह लोग पैसेंजर से भी ऊंची आवाज में बात करते है। एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए हम बस पर ही निर्भर हैं।

अतः श्रीमान से नर्म निवेदन यह है कि बस ड्राइवरों द्वारा हो रहे लापरवाही से जो दुर्घटनाएं हो रही है। उस पर दिल्ली परिवहन निगम विशेष ध्यान दें। और ऐसे बस ड्राइवरों को सजा भी दें। ताकि वह ऐसा दोबारा करने के बारे में ना सोचे बस ड्राइवरों को सजा देने से सड़क पर हो रही रोजाना दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है।

धन्यवादआपका भवदीय
राहुल सक्सेना

उदाहरण 6. बिजली का अधिक बिल आने के कारण बिजली विभाग को शिकायत पत्र लिखे।

सेवा में,
मुख्य अभियंता,
मध्यांचल विद्युत विभाग,
कानपुर, लखनऊ
दिनांक-7/9/20

विषय: बिजली बिल अधिक आने की शिकायत के लिए आवेदन।

श्रीमान,
सविनय निवेदन यह है कि मैं सुशील पांडे स्वरूप नगर कानपुर उत्तर प्रदेश का स्थानीय निवासी हूं। मैं आपका ध्यान मेरे घर में अचानक बढ़ रहे बिल की तरफ आकर्षित करना चाहता हूं। मेरा बिजली मीटर नंबर 768643 है, जो कि घर के कार्यों के लिए बिजली विभाग से दिया गया मीटर है। प्रत्येक महीना 1 तारीख को विद्युत विभाग द्वारा हमारे मीटर की रीडिंग की जाती है। हर महीने करीब 1200 के लगभग दिलाता है।

गर्मियों के दिनों में बिजली बिल 1200 तक हो जाता है, किंतु अभी ठंड का मौसम चल रहा है और बिजली बिल 6000 आया है। सर्दी के मौसम में बिजली बिल में लगभग आधे की कटौती हो जाती है। क्योंकि सर्दी के मौसम में पंखा और एसी भी बंद रहती है। किंतु इस बार मेरे बिजली बिल में कहीं ज्यादा आया है।
मुझे ऐसा लग रहा है कि शायद रीडिंग या बिलिंग विभाग की मैं कुछ गड़बड़ी हो गई है, जिससे यह ₹6000 का बिल आया है 6000 बिजली भुगतान करना मेरे लिए बहुत मुश्किल हो गया है। क्योंकि मैं निम्न मध्यवर्गीय परिवार से हूं।

अतः श्रीमान से प्रार्थना है कि मेरे बिजली मीटर बिल में जो बढ़ोतरी हुई है उसकी उसकी जांच हो और वास्तविक बिल पारित हो तथा जो गड़बड़ी में मेरे मीटर के साथ हुई है, वह अन्य किसी उपभोक्ता के साथ ना हो।

धन्यवाद।भवदीय
नाम- सुशील पांडे
पता-स्वरूप नगर, कानपुर,
उत्तर प्रदेश

उदाहरण 7. बिजली संकट से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के विषय में बिजली अभियंता को शिकायत पत्र लिखें।

सेवा में,
बिजली अभियंता,
बिजली विभाग,
पूर्वी सिंहभूम, बागबेरा
रायबरेली उड़ीसा
दिनांक-6/6/21

विषय: मोहल्ले में बिजली संकट से उत्पन्न समस्याओं का निवारण हेतु शिकायती पत्र।

श्रीमान,
सविनय निवेदन यह है कि मैं अंकुर पांडे बिजली बिजली ना होने के वजह से जो मुश्किलें आ रही है। मैं आपको उन सभी से अवगत कराना चाहता हूं। इससे पहले भी मैंने कार्यालय में 1 अप्रैल 2020 को आवेदन किया था। उसके बाद कुछ दिनों तक बिजली की समस्या ठीक हो गई थी, किंतु पिछले 1 सप्ताह से मोहल्ले में बिजली के ना आने की वजह से समस्या बढ़ती ही जा रही है। दिन के 4 घंटे ही बिजली रहती है और किसी किसी दिन तो बिजली आती ही नहीं है। मेरे घर में दो बच्चे हैं, जो दसवीं की परीक्षा देने वाले हैं और उनकी परीक्षा नजदीक है। बिजली ना होने की वजह से वह सही ढंग से अपनी पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। बिजली नहीं आने की वजह से पानी की समस्या भी हो जाती है। मोहल्ले में सारे लोगों का दिनचर्या अव्यवस्थित हो गया है।
अतः श्रीमान से नर्म निवेदन है कि जल्द से जल्द हमारे मोहल्ले मैं होने वाली की बिजली की समस्याओं का निवारण करें। इसके लिए मैं आपका सदा आभारी रहूंगा।

धन्यवादआपका भवदीय
अंकुर पांडे
पूर्वी सिंहभूम बागबेड़ा,
रायबरेली उड़ीसा

उदाहरण 8. सोसाइटी में देर रात ध्वनि यंत्र [लाउडस्पीकर] बजाने से रोकने के लिए सोसायटी अध्यक्ष को शिकायती पत्र लिखें।

सेवा में,
श्रीमान वरिष्ठ सोसायटी अध्यक्ष
ग्वालियर, मध्य प्रदेश
दिनांक- 09/05/22

विषय- सोसाइटी में देर रात ध्वनि यंत्र बजाने से रोकने के लिए शिकायती पत्र हेतु।

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं अखिल वर्मा आपके ही सोसाइटी में रहने वाला सदस्य मैं सोसाइटी के ब्लॉक सी का सदस्य हूं। सोसाइटी में हो रहे कुछ बातों से आपको अवगत कराना चाहता हूं। मेरे सामने वाले ब्लॉक बी से आजकल देर रात तक ध्वनि यंत्र बहुत जोरों से बजाया जा रहा है। जिससे कारण ब्लॉक सी के सारे सदस्य काफी परेशान हैं। हमारे परिवार के बूढ़े बुजुर्ग लोग जो रात में सो नहीं पा रहे हैं। मेरे परिवार के सदस्यों के साथ साथ इस ब्लॉक में रह रहे कई सदस्यों को काफी परेशानी हो रही है। हमने सामने वाले ब्लॉक में जाकर के इसकी शिकायत भी की, किंतु बच्चे जिद पर अड़े हैं। उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनकी वजह से कोई परेशान है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि मेरे परिवार में मेरी बूढ़ी मां है, और मेरे बड़े पिताजी हैं। जिनका तबीयत हमेशा खराब रहता है। और दो छोटे बच्चे भी हैं। जिसकी परीक्षा निकट है। वह भी ध्वनि यंत्र के जोर जोर से बजने के वजह से पढ़ाई करने में ध्यान नहीं लगा पा रहे हैं। मैं बहुत परेशान हो चुका हूं जबकि मुझे भी सुबह 7:00 बजे जॉब के लिए जाना पड़ता है और देर रात ध्वनि यंत्र के बजने से नींद भी नहीं आ पा रही है।

अतः श्रीमान से नर्म निवेदन है कि ब्लॉक सी में रह रहे सभी सदस्यों की समस्याओं का निवारण करें मैं सभी लोगों की तरफ से आपसे निवेदन करता हूं कि आप इस परेशानी को जल्दी से जल्दी सुलझाने की कोशिश करें। मैं अपने ब्लॉक के उन सदस्यों का नाम नीचे लिख रहा हूं। जिन्हें इन ध्वनि यंत्र के जोर जोर से बजने से परेशानी हो रही है। ब्लॉक सी के रहने वाले उन सदस्यों के नाम नीचे हैं।

जिनको इन ध्वनि यंत्र से परेशानी हो रही है चलो,

  1. सुशील वर्मा
  2. अखिल वर्मा
  3. सुनीता पांडे
  4. गौरव चंद्र
  5. संदीप मिश्रा
  6. विपिन चौहान
  7. आर के तिवारी
  8. मुकुंद चंद्र
  9. स्वाति मल्होत्रा
  10. अंकिता सक्सेना
धन्यवाद
भवदीय
अखिल वर्मा
ब्लॉक सी
फ्लैट नंबर-10

उदाहरण 9. अपने जिला में पेड़ पौधे की अनियंत्रित कटाई को रोकने के लिए जिला अधिकारी को शिकायती पत्र लिखें।

सेवा में,
जिला अधिकारी
जमुई
दिनांक- 10/09/22

विषय- जिला में पेड़ पौधे की अनियंत्रित कटाई को रोकने के लिए शिकायती पत्र हेतु।

सविनय निवेदन है कि मैं नवीन कुमार जमुई का स्थाई निवासी हूं। मैं एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते अपने जिले में हो रहे पेड़ पौधे की अनियंत्रित कटाई की ओर आपका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं। जिला के प्रशासन और नगर निगम के द्वारा इस जिले में वृक्षारोपण किया गया था। जिसकी वजह से हमें स्वच्छ और ताजी हवा मिल रही थी, लेकिन कुछ दिनों सेपेड़ पौधे की अंधाधुन कटाई के वजह से वातावरण प्रदूषित हो ही रहा है, साथ ही क्षेत्र के प्राकृतिक सुंदरता भी प्रभावित हो रही है। बहुत दुख के साथ मुझे यह बताना पड़ रहा है, कि हमारे जिले की हरियाली भी पेश के अंधाधुंध कटाई के वजह से छिन चुकी है।

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि इस जिले के पेड़ पौधों के अंधाधुंध कटाई को जल्द से जल्द रोका जाए और पुणे वृक्षारोपण किया जाए। ताकि जिले के निवासियों को स्वच्छ हवा में और उनका स्वास्थ्य प्रभावित ना हो और प्राकृतिक सुंदरता भी बनी रहे।

धन्यवाद।भवदीय
नवीन कुमार
जमुई


उदाहरण 10. सोसाइटी में गंदगी को साफ कराने हेतु स्वास्थ्य अधिकारी को शिकायती पत्र लिखें।

सेवा में,
मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी,
नगर निगम,
जमालपुर, बिहार
दिनांक- 10/09/22

विषय: मोहल्ले में होने वाली गंदगीको साफ कराने हेतु।

मान्यवर,
सेवा में निवेदन यह है कि मैं सुशील कुमार सुभाष नगर ब्लॉक बी का स्थाई निवासी हूं। मैं आपको अपने मोहल्ले में हो रहे गंदगी के वजह से परेशानियों से अवगत कराना चाहता हूं। बीते कुछ दिनों से हमारे मोहल्ले में कूड़ा लेने वाले भी नहीं आ रहे हैं। जिसकी वजह से मोहल्ले वासी का पूरा बाहर ही रखना पड़ रहा है। क्योंकि कूड़ा घर पर तो रख नहीं सकते हैं। इन फूलों की वजह से मोहल्ले के चारों तरफ मक्खी और मच्छरों का जमावड़ा लग गया है। इसका प्रमुख कारण यह है कि हमारे मोहल्ले में जो चारों तरफ पूरा करकट और गंदगी फैल गई है। इससे हमारे मोहल्ले में सभी लोगों का जीवन दुर्लभ हो गया है। अगर समय रहते गंदगी को साफ नहीं किया गया तो कोई नई बीमारी का होना निश्चित है।

अतः आपसे विनम्र निवेदन यह है कि जल्द से जल्द सुभाष नगर ब्लॉक बी में कूड़ा लेने वाले को जल्द से जल्द भेजा जाए और मोहल्ले में जो गंदगी फैली है। उसको साफ भी कराया जाए जिससे मोहल्ले वासियों के पूरे परिवारों का जीवन सुलभ हो सके और एक नई बीमारी होने से बच सकें। इसके लिए मैं आपका सदा आभारी रहूंगा।

धन्यवादआपका भवदीय
सुशील कुमार
सुभाष नगर ब्लॉक बी

अन्य महत्वपूर्ण हिंदी व्याकरण:

सूचना लेखनसंदेश लेखनविज्ञापन लेखन
औपचारिक पत्र लेखनशब्द शक्तितत्सम और तद्भव शब्द
समासविशेषणकारक

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here