PUC फुल फॉर्म क्या है और PUC Certificate कैसे ले?

नमस्कार दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि पीयूसी क्या है, PUC का पूरा नाम क्या है (PUC Full Form in Hindi), What is PUC, Meaning in Hindi, PUC Kya Hota Hai, PUC Full Form, PUC का क्या मतलब होता है, Full Form of PUC की जानकारी बता रहे हैं।

puc-full-form

तो आइये जानते है PUC की सामान्य जानकारी (PUC Meaning in Hindi)।

PUC Full Form in Hindi और PUC की पूरी जानकारी

PUC Full Form अंग्रेजी भाषा में तीन अलग-अलग प्रकार की होती है जो हम यहां पर शेयर कर रहे हैं।

  • Pre University Course (पूर्व विश्वविद्यालय पाठ्यक्रम)
  • Pollution Under Control (नियंत्रण के तहत प्रदूषण)
  • Personal Unlock Code (व्यक्तिगत अनलॉक कोड)

PUC Full Form – पी यू सी का पूरा नाम

पी यू सी का पूरा नाम (PUC ka Pura Naam) Pollution Under Control होता है। हिंदी में इसका मतलब होता है नियंत्रण के तहत प्रदूषण। PUC सर्टिफिकेट दुपहिया वाहन, चार पहिया वाहन और सभी प्रकार के Commercial Vehicles के लिए आवश्यक होता है।

यदि आपके पास PUC Certificate नहीं है तो आपके वाहन का चालान भी हो सकता है और यदि आप इसे बनाने में एक दिन भी लेट होते हैं तो आप पर जुर्माना लगाया जा सकता है।

What is PUC Certificate (PUC Certificate क्या है)

PUC Certificate Full Form जानने के बाद हम यह जान लेते है कि ये क्या होता है? वायु प्रदुषण को कम करने के लिए PUC सर्टिफिकेट हर गाड़ी का होना जरूरी/अनिवार्य है। इसे गाड़ी की पूरी तरह जांच सही पायी जाने पर ही जारी किया जाता है।

इसे बनाते समय यह जांचा जाता है कि गाड़ी तय मानक से ज्यादा पोलुशन तो नहीं छोड़ रही है। इस जांच के सही पाए जाने पर PUC Certificate जारी कर दिया जाता है।

यदि आपकी गाड़ी ज्यादा पोलुशन कर रही है तो आप PUC Certificate बनाने के लिए कह सकते हैं। लेकिन यह PUC Certificate सिर्फ 24 घंटे के लिए ही मान्य रहेगा। इसके बाद आपको आपकी गाड़ी की सर्विस करवाके यह सर्टिफिकेट बनाना ही पड़ेगा।

How to get PUC Certificate (PUC Certificate कैसे बनाएं)

Pollution Check Center (प्रदूषण जांच केंद्र) हर राज्य के लगभग हर पेट्रोल पम्प पर खुले होते हैं। वहां से आप आसानी से अपनी गाड़ी का PUC Certificate प्राप्त कर सकते हैं।

पलूशन चेक सेंटर उसी राज्य के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट से अथॉराइज्ड होता है और आपके PUC सर्टिफिकेट पर उस राज्य के उस ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट का नाम होगा, जहां से अपने बनवाया है।

pollution-check-center

यदि किसी व्यक्ति ने अपने PUC सर्टिफिकेट को दिल्ली से बनवाया है तो आपके PUC सर्टिफिकेट पर दिल्ली सरकार के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट का नाम, केंद्र का कोड और पता भी होगा।

यह PUC सर्टिफिकेट हर राज्य के लिए मान्य होगा। अर्थात् आप PUC सर्टिफिकेट कहीं से भी बनाएं वो हर राज्य में मान्य होगा।

How to Check PUC Results (PUC की जांच कैसे की जाती है)

Pollution Check Center जहां पर पी यू सी सर्टिफिकेट बनाया जाता है। एक कंप्यूटर होता है जिसके साथ एक गैस ऐनालाइजर (Gas analyzer) जुड़ा होता है और इसके साथ ही कंप्यूटर से एक कैमरा और एक प्रिंटर भी जुड़ा होता है।

गाड़ी को चालू रखकर गैस ऐनालाइजर को गाड़ी के साइलेंसर में डाला जाता है और यह पोलुशन कि जांच करता है। ये आंकड़ो को कंप्यूटर में भेजे जाते है और कैमरे का काम लाइसेंस प्लेट की फोटो लेना होता है।

यदि आपकी गाड़ी तय दायरे में पोलुशन छोड़ रही है तो PUC सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है।

पेट्रोल और डीजल की गाड़ी में अलग-अलग पोलूशन चेक करने की प्रक्रिया होती है।

  • पेट्रोल गाड़ी के लिए: इसकी जांच में गाड़ी के एक्सलरेटर को बिना दबाये ही एक बार रीडिंग ली जाती है।
  • डीजल गाड़ी के लिए: डीजल की गाड़ी के लिए एक्सलरेटर को पूरी तरह से दबाया जाता है। ऐसा 4 से 5 बार करके रीडिंग ली जाती है और अंत में इन सभी रीडिंग का औसत लेकर फाइनल रीडिंग ली जाती है।

PUC सर्टिफिकेट में क्या-क्या जानकारी लिखी जाती है?

PUC सर्टिफिकेट जब बनाया जाता है तो उसमें आपके वाहन की पूरी जानकारी लिखी जाती है जैसे सर्टिफिकेट नंबर, रजिस्ट्रेशन नम्बर, मालिक का नाम, Chassis No., Engine No., Class of Vehicle, Model आदि। इस सर्टिफिकेट के राइट साइड में जाँच की गई जानकारी लिखी होती है जिसमें इंधन, निर्धारित मानक (Prescribed Standard CO & HC) आदि टेस्ट रिजल्ट के साथ लिखी होती है। इसके साथ ही इसकी वैलिडिटी भी लिखी जाती है जो कि यह दर्शाती है कि यह PUC सर्टिफिकेट कितने समय तक मान्य होगा।

PUC सर्टिफिकेट बनाने में कितने रुपये लगते हैं?

यदि आपके मन में यह सवाल आ रहा है कि इसे बनाने के लिए कितने रुपये देने पड़ते हैं? तो आपको बता दें इस सर्टिफिकेट को बनाने के लिए हर राज्य में अलग-अलग रुपये लगते हैं। इसे बनाने के लिए आपको अधिक पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसे बनाने के लिए हर राज्य में 50 से 100 रुपये तक लगते हैं।

जब आप PUC सर्टिफिकेट बना लेते हैं तो आपके मोबाइल में मेसेज आता है। उसमें आपके वाहन की पूरी जानकारी और पैसे कितने लगे सब लिखा होता है।

PUC सर्टिफिकेट के लिए क्या जरूरी है?

यदि आप अपनी गाड़ी का PUC सर्टिफिकेट बनवाने जा रहे है तो आपको गाड़ी की RC और पिछला PUC सर्टिफिकेट साथ जरूर ले जाएं।

आपकी गाड़ी का पोलुशन जांचते समय आपके पास मोबाइल नम्बर होना जरूरी है। उस नम्बर पर OTP आता है जो उस PUC बनाने वाले व्यक्ति को बताना होता है और आपका यह सर्टिफिकेट जारी होता है।

पुराने PUC सर्टिफिकेट की तय अवधि समाप्त होते ही आप तुरंत नया PUC सर्टिफिकेट बना ले। यदि आप एक दिन भी विलम्ब करते हैं तो आप पर जुर्माना लग सकता है।

PUC Certificate ऑनलाइन कैसे डाउनलोड करे?

कई बार ऐसा होता है कि हम अपने पीयूसी सर्टिफिकेट को कहीं रखकर भूल जाते हैं और जब उसकी जरूरत पड़ती है तो हमें मिल नहीं पाता। यदि आपके सामने भी ऐसी कोई समस्या आये तो आप इसे कुछ ही स्टेप्स में ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास अपने सर्टिफिकेट के रजिस्ट्रेशन नम्बर होना जरूरी है। रजिस्ट्रेशन नम्बर है तो आप बहुत ही आसानी से अपने सर्टिफिकेट को डाउनलोड कर पाएंगे।

यदि आपके पास सर्टिफिकेट के रजिस्ट्रेशन नम्बर है तो आप नीचे बताएं आसान तरीके से अपना सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं।

  • इसके लिए आप सबसे पहले parivahan.gov.in वेबसाइट पर विजिट करें।
  • वेबसाइट पर विजिट करने के बाद आपके सामने मेनू की लिस्ट में Online Services पर क्लिक करने के बाद PUCC का चयन करना है।
puc ka pura naam
  • इतना करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जैसा नीचे इमेज में दिख रहा है।
puc certificate full form
  • इस पेज में आपको PUC Certificate का चयन करेंगे तो आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज में आपको अपने सर्टिफिकेट के Registration number, Chassis Number (Last 5 Character) और इसके बाद छोटे से इमेज में दिख रहे कोड डाले।
puc meaning in hindi
  • इतना करने के बाद PUC Detail पर क्लिक कर दें।

अब आपके सामने आपका PUC Certificate खुल जायेगा, जिसे आप प्रिंट करवा सकते हैं।

मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरे द्वारा दी गई यह जानकारी “पीयूसी का पूरा नाम और पीयूसी से जुड़ी जानकारी (PUC Full Form in Hindi)” आपके काम आई होगी। यदि आपके पास इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। ऐसी ही और जानकारी के लिए हमारा Facebook Page लाइक जरूर कर दें।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here