शादी की सालगिरह पर संस्कृत में बधाई संदेश

Marriage Anniversary Wishes in Sanskrit: नमस्कार दोस्तों, यहां पर शादी की सालगिरह पर संस्कृत में बधाई संदेश हिंदी अर्थ के साथ लिखे हैं। आप इन संस्कृत बधाई संदेश को बधाई के रूप में भेज सकते हैं।

Congratulations Wishes in Sanskrit

शादी की सालगिरह पर संस्कृत में बधाई संदेश – Marriage Anniversary Wishes in Sanskrit

Sanskrit Wedding Blessing

शिवदः विवाहदिवसः।
भावार्थः
शादी वर्षगांठ की शुभकामनाएं।

******

नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावकः।
न चैनं क्लेदयन्त्यापो न शोषयति मारुतः।।
अच्छेद्योऽयमदाह्योऽयमक्लेद्योऽशोष्य एव च।
नित्यः सर्वगतः स्थाणुरचलोऽयं सनातनः।।

भावार्थः
शस्त्र द्वारा आत्मा नहीं काट सकते ओर यह आग से नहीं जल सकती, जल से यह नहीं गल सकती ओर वायु भी इसे नहीं सुखा सकती। क्योंकि आत्मा हमेशा अच्छेद्य है। आत्मा अक्लेद्य, नि:संदेह अशोष्य और अदाह्य साथ ही यह आत्मा सर्वव्यापी, नित्य, सनातन, अचल और स्थिर रहने वाला है।

प्रार्थयामहे भव शतायु: ईश्वर सदा त्वाम् च रक्षतु।
पुण्य कर्मणा कीर्तिमार्जय जीवनम् तव भवतु सार्थकम्।।

भावार्थः
भगवान आपकी रक्षा हमेशा करे
और आपको हर काम में सफलता प्राप्त हो
आपका जीवन खुशियों से भरा हो
ऐसी हम आप सभी के लिए प्रार्थना करते है।

यद्यदाचरति श्रेष्ठस्तत्तदेवेतरो जनः।
स यत्प्रमाणं कुरुते लोकस्तदनुवर्तते।।

भावार्थः
जो व्यक्ति श्रेष्ठ होता है और जो कुछ भी करता है, दूसरे लोग भी वो ही करते है। अर्थात् वह जो कुछ भी कार्य करता है, उसे प्रमाण मानकर दूसरे उसका पीछा करते है।

Wedding Anniversary Wishes in Sanskrit

युवयोः वैवाहिकजीवने सर्वदा शुभं भवतु।
भावार्थः
आपके वैवाहिक जीवन में हमेशा शुभ हो।

******

Shloka for Wedding Anniversary

विवाहस्य वर्धापनदिनस्य अभिनन्दनानि।
भावार्थः
वैवाहिक वर्षगांठ की बधाईयाँ।

******

Sanskrit Marriage Quotes

सुरेश-सीमा विवाह अनुबन्धम्।
शुभं भवतु ॠषि कृत प्राचीन प्रबन्धम्।।

भावार्थः
प्राचीन भारतीय ॠषियों द्वारा अनुप्रणीत सामाजिक
प्रबन्धन के अनुसार विशेष और स्नेहा का विवाह शुभ और कल्याण प्रद हो।
(यहां पर नाम की जगह पर नवविवाहित जोड़े का नाम कर दें।)

******

Read Also: शादी की सालगिरह के लिए शुभकामना संदेश

Happy Anniversary in Sanskrit Language

सध्रीचीनान् व: संमनसस्कृणोम्येक श्नुष्टीन्त्संवनेन सर्वान्।
देवा इवामृतं रक्षमाणा: सामं प्रात: सौमनसौ वो अस्तु।।

भावार्थः
तुम परस्पर सेवा भाव से सबके साथ मिलकर पुरूषार्थ करो।
उत्तम ज्ञान प्राप्त करो। योग्य नेता की आज्ञा में कार्य करने वाले बनो।
दृढ़ संकल्प से कार्य में दत्त चित्त हो तथा जिस प्रकार देव अमृत की रक्षा करते हैं।
इसी प्रकार तुम भी सायं प्रात: अपने मन में शुभ संकल्पों की रक्षा करो।

******

Wedding Wishes in Sanskrit

******

How to Say Happy Anniversary in Sanskrit

इहेमाविन्द्र सं नुद चक्रवाकेव दम्पती।
प्रजयौनौ स्वस्तकौ विश्मायुर्व्यऽश्नुताम्।।

भावार्थः
हमारी शुभकामना है कि देवों के देव इन्द्र नव-दंपत्ति को
इसी तरह एक करें जैसे चकवा पक्षी का जोड़ा रहता है,
विवाह का ये पवित्र बंधन आपके कुल की वृध्दि और संपन्नता का कारक बने।

******

Read Also: शादी की सालगिरह पर कविता

विवाह वर्षगांठ की बधाई संस्कृत में शुभकामनाएँ

ज्यायस्वन्तश्चित्तिनो मा वि यौष्ट संराधयन्तः सधुराश्चरन्तः।
अन्यो अन्यस्मै वल्गु वदन्त एत सध्रीचीनान्वः संमनसस्क्र्णोमि।।

भावार्थः
बड़ों की छत्र छाया में रहने वाले एवं उदारमना बनो।
कभी भी एक दूसरे से पृथक न हो। समान रूप से उत्तरदायित्व
को वहन करते हुए एक दूसरे से मीठी भाषा बोलते हुए एक
दूसरे के सुख दुख मे भाग लेने वाले ‘एक मन’ के साथी बनो।

******

Happy Marriage Anniversary in Sanskrit Text

खलु भवेत् नव युगल जीवने सत्यं ज्ञान प्रकाशः।
वर्धयेन्नित्यं परस्परं प्रेम त्याग विश्वासः।
काम क्रोध लोभ संमोहाः प्रमुच्येत् भव बन्धम्।।

भावार्थः
हम परमपिता ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि नव दम्पति का
जीवन सदैव सत्य और ज्ञान के प्रकाश से परिपूर्ण हो और
दोनों में दिन-प्रतिदिन परस्पर प्रेम त्याग और विश्वास बढ़ता रहे।
आप काम क्रोध लोभ मोह आदि बन्धनों से मुक्त होकर अपने
जीवन के रम लक्ष्य को प्राप्त करें।

******

Wedding Anniversary Mantra

स्वत्यस्तु ते कुशल्मस्तु चिरयुरस्तु।।
विद्या विवेक कृति कौशल सिद्धिरस्तु।।
ऐश्वर्यमस्तु बलमस्तु राष्ट्रभक्ति सदास्तु।।
वन्शः सदैव भवता हि सुदिप्तोस्तु।।

भावार्थः
आप हमेशा खुश, आनंदित और कुशल रहे और दीर्घ आयु प्राप्त करें।
आपको विवेक, विद्या और कार्यकुशलता में सिद्धि प्राप्त हो। आप
ऐश्वर्य और बल प्राप्त करें और राष्ट्र भक्ति हमेशा के लिए बनी रहे।
आपका वंश सदैव तेजस्वी बना रहे।

******

Happy Married Life in Sanskrit

विवाह दिनं इदम् भवतु हर्षदम्।
मंगलम तथा वां च क्षेमदम्।।
प्रतिदिनं नवं प्रेम वर्धता।
शत गुण कुलं सदा हि मोदता।।
लोक सेवया देव पूजनमं।
गृहस्थ जीवन भवतु मोक्षदम्।।

भावार्थः
विवाह का ये मंगल दिन आप दोनों के लिए प्रसन्नता, प्रगति और
सुखी व संपन्न जीवन का पथ प्रशस्त करे। आप दोनों एक-दूसरे
के लिए नवीन प्रेम का सृजन करें। आप दोनों शतायु हों और
अपने परिवार व कुल की उन्नति के कारक बनें। समाज सेवा
और ईश्वर भक्ति की भावना के साथ आप सांसारिकता से सदा मुक्त रहें।

******

पुत्री के जन्म की बधाई संस्कृत में

पुत्र्या: जन्मन: हार्दिक्य: अभिनन्दनानि।
भावार्थः
पुत्री के जन्म की हार्दिक बधाईयाँ।

******

पुत्री प्राप्त्यर्थं हार्दिक्य: अभिनन्दनानि।
भावार्थः
पुत्री प्राप्ति की हार्दिक बधाईयाँ।

******

पुत्र के जन्म की बधाई संस्कृत में

पुत्रस्य जन्मन: हार्दिक्य: अभिनन्दनानि।
भावार्थः
पुत्र के जन्म की हार्दिक बधाईयाँ।

******

पुत्र प्राप्त्यर्थं हार्दिक्य: अभिनन्दनानि।
भावार्थः
पुत्र प्राप्ति की हार्दिक बधाईयाँ।

******

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here