महाराणा प्रताप शायरी और स्टेटस

Maharana Pratap Shayari and Status: महाराणा प्रताप उदयपुर मेवाड़ में सिसोदिया नामक राजवंश के एक कुशल शासक थे। महाराणा प्रताप इतने प्रतापी और शूरवीर थे कि उनके वीरता और उनकी दृढ़ प्रण की गाथा इतिहास के पन्नों में सदा के लिए अमर हो गए। यहां तक कि महाराणा प्रताप ने बादशाह अकबर के साथ अनेकों वर्षों तक संघर्ष किया और महाराणा प्रताप जी ने मुगल वंश को अनेकों बार युद्ध में पराजित भी किया।

Maharana Pratap Shayari

महाराणा प्रताप जी का जन्म राजस्थान राज्य के कुंभलगढ़ में महाराजा उदय सिंह और माता रानी जयवंता कवर के घर में हुआ था। महाराणा प्रताप अपने शौर्य और वीरता के दम पर अनेकों राज्य को अपने अधीन किया था, परंतु उन्होंने उन राज्यों पर शासन ना करके वहां के राजाओं को अपना मित्र बनाया और उन राज्यों को उन्हीं राजाओं को सौंप दिया, जो वहां के मूल राजा थे। ऐसा कहा जाता है कि जब महाराणा प्रताप किसी भी प्रकार का प्रण कर लेते हैं तो वह अपने प्रण से पीछे नहीं हटते और अपने प्राण को अपनी जान देकर भी निभाते हैं।

यहां पर हम महाराणा प्रताप पर स्टेटस और शायरी (Maharana Pratap Shayari) शेयर कर रहे हैं, जिन्हें आप अपने सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

Read Also: हिंदुआ सूरज महाराणा प्रताप का जीवन परिचय

महाराणा प्रताप स्टेटस और शायरी

महाराणा प्रताप जयंती की शुभकामनाएं

चढ़ चेतक पर तलवार उठा
रखता था भूतल पानी को
राणा प्रताप सिर काट काट
करता था सफल जवानी को।

फीका पड़ता था तेज़ सुरज का, जब माथा ऊंचा तु करता था।
फीकी हुई बिजली की चमक, जब-जब प्रताप आंखे खोला करता था।

Maharana Pratap Shayari

मातृभूमि के लिए सर्वस्व निछावर कर जाऊँगा,
वक्त आने पर मैं भी मेवाड़ी राणा बन जाऊँगा।

महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस शायरी

मातृभूमि की स्वाधीनता के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर
भारतवर्ष की धरती को धन्य करने वाले महाराणा प्रताप की जयंती पर शत् शत् नमन।

हर मां की ये ख्वाहिश है,
कि एक प्रताप वो भी पैदा करे।
देख के उसकी शक्ती को,
हर दुशमन उससे डरा करे।।

मेवाड़ की माटी को अपनी वीरता से धन्य करने वाले,
मुगलों के काल, महान योद्धा महाराणा प्रताप की
जयंती पर उन्हें मेरा कोटि-कोटि!!

महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस

ये हिन्द झूम उठे गुल चमन में खिल जाएँ,
दुश्मनों के कलेजे नाम सुन के हिल जाएँ,
कोई औकात नहीं चीन-पाक जैसे देशों की
वतन को फिर से जो राणा प्रताप मिल जाएँ।

Maharana Pratap Shayari

महाराणा प्रताप शायरी (maharana pratap shayari)

महाराणा प्रताप जैसे वीर हर हिन्दुस्तानी को प्यारा हैं,
मेवाड़ी सरदार के चरणों में शत-शत नमन हमारा हैं।

महाराणा प्रताप के शौर्य को शत-शत वंदन हैं,
धन्य है राजस्थान जिसका माटी भी चंदन हैं।

Read Also: महाराणा प्रताप पर कविताएं

महाराणा प्रताप स्टेटस

धन्य हुआ रे राजस्थान,
जो जन्म लिया यहां प्रताप ने।
धन्य हुआ रे सारा मेवाड़,
जहां कदम रखे थे प्रताप ने।।

हर हिन्दुस्तानी को महाराणा प्रताप जैसा बनना चाहिए,
मातृभूमि की सेवा के लिए तन-मन-धन से तैयार रहना चाहिए।

अकबर भी प्रताप के वीरता से घबराया था,
तभी तो हल्दीघाटी के युद्ध में वह स्वयं नही आया था।

Maharana Pratap Jayanti Status in Hindi

हल्दीघाटी के युद्ध में मेवाड़ी वीरों ने कोहराम मचाया था,
महाराणा प्रताप की वीरता देख अकबर भी घबराया था।

Maharana Pratap Shayari

करता हुं नमन मै प्रताप को,
जो वीरता का प्रतीक है।
तु लोह-पुरुष तु मातॄ-भक्त,
तु अखण्डता का प्रतीक है।।

महाराणा प्रताप जयंती शुभकामना संदेश

राजपुताने की आन है राणा,
राजपुताने की शान है राणा,
वीरों के लिए एक पैगाम है राणा,
भारत के वीर पुत्र का नाम है राणा।

Maharana Pratap Shayari

महाराणा प्रताप की वीरता की शायरी (maharana pratap shayari in hindi)

सबसे बड़ा पाप है अन्याय को सह जाना,
वीरों को शोभा नहीं देता चुप रह जाना।

हे प्रताप मुझे तु शक्ती दे,
दुश्मन को मै भी हराऊंगा।
मै हु तेरा एक अनुयायी,
दुश्मन को मार भगाऊंगा।।

Maharana Pratap Jayanti SMS In Hindi

हल्दीघाटी के युद्ध में
प्रताप के तलवार को देखकर शत्रु भाग रहा था,
राणा की एक हुंकार से पूरा अरि दल काँप रहा था।

प्रताप के शौर्य की गाथा हर कोई सुनाएगा गाकर.
मातृभूमि भी धन्य हो गई प्रताप जैसा पुत्र पाकर।

Maharana Pratap Shayari

आगे नदिया पड़ी अपार
घोड़ा कैसे उतरे उस पार,
राणा ने सोचा इस पार
तब तक चेतक था उस पार।

महाराणा प्रताप स्टेटस इन हिंदी (maharana pratap status hindi)

मातृभूमि की स्वाधीनता के लिए अपना संपूर्ण जीवन बलिदान करने वाले वीरता,
पराक्रम, त्याग और देशभक्ति के प्रतीक महान योद्धा
महाराणा प्रताप की जयंती पर कोटि-कोटि वंदन

महाराणा प्रताप जयंती कोट्स

जब-जब तेरी तलवार उठी,
तो दुश्मन टोली डोल गयी।
फीकी पड़ी दहाड़ शेर की,
जब-जब तुने हुंकार भरी।।

Maharana Pratap Shayari

सूरज का तेज भी फीका पड़ता था,
जब राणा अपना मस्तक ऊँचा करता था,
थी उसमें कोई बात निराली
इसलिए अकबर भी राणा से डरता था।

Read Also: महाराणा प्रताप के अनमोल विचार

Maharana Pratap Jayanti Messages In Hindi

महाराणा प्रताप से अकबर भी डरता था,
फिर स्वयं को वह वीर कैसे कहता था।

था साथी तेरा घोड़ा चेतक,
जिस पर तु सवारी करता था।
थी तुझमे कोई खास बात,
कि अकबर तुझसे डरता था।।

वीर शिरोमणि हिंदवाणा मेवाड़ के शूरवीर भारत के वीर पुत्र
सूरज महाराणा प्रताप की जन्म जयंती पर सादर नमन !
आपकी वीरता, शौर्य एवं मातृभूमि के प्रति अगाध श्रद्धा आज भी
हर देशवासी के लिए आदर्श है।आप आज भी हर हिंदुस्तानी के दिलों में जिन्दा है।
आपका त्याग व स्वाभिमान हमेशा हमारे जीवन के लिए प्रेरणादायी रहेगा।

Maharana Pratap Shayari

Maharana Pratap Jayanti Wishes In Hindi

माई ऐडा पूत जण जैडा राणा प्रताप
अकबर सोतो उज के जाण सिराणे साँप।

शत-शत नमन उस मेवाड़ी प्रताप को
जो अपने भाले से दुश्मनों को मारे थे,
मातृभूमि की स्वतन्त्रता के खातिर
कई वर्ष जंगल में गुजारे थे।

maharana pratap shayri (महाराणा प्रताप के ऊपर शायरी)

चेतक पर चढ़ जिसने,
भाले से दुश्मन संघारे थे
मातृ भूमि के खातिर,
जंगल में कई साल गुजारे थे।

Maharana Pratap Shayari

महाराणा प्रताप की शायरी

वीरों के साथ ही वीर रहते हैं,
राणा के घोड़े को चेतक कहते हैं।

झुके नही वह मुगलोँ से,
अनुबंधों को ठुकरा डाला
मातृ भूमि की भक्ति का,
नया प्रतिमान बना डाला।

साहस का प्रतीक नीले घोड़े पर सवार,
वीरता का प्रतीक मेरा मेवाड़ी सरदार।

Maharana Pratap Status

हल्दीघाटी के युद्ध में,
दुश्मन में कोहराम मचाया था
देख वीरता प्रताप की,
दुश्मन भी थर्राया था।

इकबाल था बुलंद, उसे धूल कर दिया,
मद जिसका था प्रचंड, सारा दूर कर दिया,
राणा प्रताप इकलौते, थे ऐसे वीर जिसने
अकबर का सारा घमंड, चूर चूर कर दिया।

Maharana Pratap Shayari

माई एहड़ा पूत जण, जेहड़ा राणा प्रताप।
अकबर सूतो ओधके, जाण सिराणे सांप।

महाराणा प्रताप पर शायरी (Maharana Pratap Shayari)

प्रताप का सिर कभी नहीं झुका,
इस बात से अकबर भी शर्मिंदा था,
मुगल कभी चैन से सो न सके
जब तक मेवाड़ी राणा जिन्दा था।

बलिदान पर राणा के, भारत माँ ने,
लाल देश का खोया था
वीर पुरुष के देहावसान पर,
अकबर भी फफक कर रोया था।

महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस (maharana pratap status)

जो मातृभूमि की स्वतन्त्रता के लिए हर कष्ट सहन करते हैं,
रण में जो कभी हार नहीं माने उसको महाराणा प्रताप कहते हैं।

भारत माँ का वीर सपूत,
हर हिदुस्तानी को प्यारा हैं
कुँअर प्रताप जी के चरणों में,
सत सत नमन हमारा हैं।

Read Also:

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here