हिंदी दिवस पर स्टेटस

Hindi Diwas Status in Hindi

Hindi Diwas Status in Hindi
Images :-Hindi Diwas Status in Hindi

Hindi Diwas Status in Hindi | हिंदी दिवस पर स्टेटस

हिंदी दिवस पर हमने ठाना है,
लोगों में हिंदी का स्वाभिमान जगाना है,
हम सब का अभिमान है हिंदी,
भारत देश की शान है हिंदी।

निज भाषा उन्नति अहै,
सब भाषा को मूल,
बिनु निज भाषा ज्ञान के,
मिटै न हिय को शूल।

हिन्दी से हिन्दुस्तान है,
तभी तो यह देश महान है,
निज भाषा की उन्नति के लिए
अपना सब कुछ कुर्बान है।

अगर भारत का करना है उत्थान
तो हिंदी को अपनाना होगा
अंग्रेजी को “विषय-मात्र” और
हिंदी को “अनिवार्य” बनाना होगा।
हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

वक्ताओं की ताकत भाषा
लेखक का अभिमान हैं भाषा
भाषाओं के शीर्ष पर बैठी
मेरी प्यारी हिंदी भाषा

हिंदी भाषा नहीं भावों की अभिव्यक्ति है,
यह मातृभूमि में मर मिटने की भक्ति है। ”
हिंदी दिवस की हार्दिक बधाई

Read Also: हिंदी दिवस पर शायरी

भारत के गाव की शान हिंदी
हिन्दुस्तान की शक्ति हिंदी
मेरे हिन्द की जान हिंदी
हर दिन नया वाहन हिंदी.

Hindi Diwas Status in Hindi

भारत मां के भाल पर सजी स्वर्णिम बिंदी हूं,
मैं भारत की बेटी आपकी अपनी हिंदी हूं।
हिंदी दिवस पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं

होठ खामोश थे सिसकियाँ कह गयी,
द्वार बंद थे खिड़कियाँ कह गयी,
कुछ हमने कहा कुछ हिंदी कह गयी,
जो न कह पायें वो हिचकियाँ कह गयी.

हिंदी है भारत की आशा
हिंदी है भारत की भाषा
हिंदी दिवस पर आप सभी को
हार्दिक शुभकामनाएं

संस्कृत की एक लाड़ली बेटी है ये हिन्दी
बहनों को साथ लेकर चलती है ये हिन्दी
सुंदर है, मनोरम है, मीठी है, सरल है
ओजस्विनी है और अनूठी है ये हिन्दी

Read Also: हिंदी दिवस पर बधाई सन्देश

विविधताओं से भरे इस देश में लगी भाषाओं की फुलवारी है,
इनमें हमको सबसे प्यारी हिंदी मातृभाषा हमारी है।
हिन्दी दिवस पर आप सभी को शुभकामनाएं

कोई राष्ट्र अपनी भाषा को छोड़कर राष्ट्र
नहीं कहला सकता। भाषा की रक्षा
सीमाओं की रक्षा से भी जरूरी है

हमारी एकता और अखंडता ही हमारे देश की पहचान है,
हिंदुस्तानी हैं हम और हिंदी हमारी जुबान है।
हिन्दी दिवस पर आप सभी को शुभकामनाएं

पाथेय है, प्रवास में, परिचय का सूत्र है
मैत्री को जोड़ने की सांकल है ये हिन्दी
पढ़ने व पढ़ाने में सहज है, ये सुगम है
साहित्य का असीम सागर है ये हिन्दी.

हिन्दी हमारे राष्ट्र की
अभिव्यक्ति का सरलतम स्रोत है।

हिन्दी के द्वारा सारे भारत को एक
सूत्र में पिरोया जा सकता है।

जन जन की यही आशा है
हिंदी हमारी मातृभाषा हैं
तोड़े यह संकीर्णता के बंधन
हिंदी सारे वतन को एक धागे में जोड़े.

Hindi Diwas Status in Hindi

राष्ट्रभाषा के बिना राष्ट्र गूंगा है।

हिन्दी देश की एकता की कड़ी है।

मेरा आग्रहपूर्वक कथन है
कि अपनी सारी मानसिक शक्ति
हिन्दी भाषा के अध्ययन में लगावें.
हम यही समझे कि हमारे
प्रथम धर्मों में से एक धर्म यह भी है।

हिन्दी एक जानदार भाषा है; ‘
वह जितनी बढ़ेगी देश को
उतना ही लाभ होगा।

देश के सबसे बड़े भूभाग में बोली
जानेवाली हिन्दी राष्ट्रभाषा –
पद की अधिकारिणी है।

Read Also: हिंदी दिवस पर कविता

‘यद्यपि मैं उन लोगों में से हूँ, जो चाहते हैं
और जिनका विचार है कि हिंदी ही भारत
की राष्ट्रभाषा हो सकती है’।
लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक.

हिन्दी उन सभी गुणों से अलंकृत है,
जिनके बल पर वह विश्व की साहित्यिक
भाषा की अगली श्रेणी में समासीन हो सकती है।

हिन्दी ही हिन्द का नारा है
प्रवाहित हिन्दी धारा है
लाखों बाधाएँ हो फिर भी
नहीं रुकना काम हमारा है

हिन्दी पढ़ना और पढ़ाना हमारा कर्तव्य है।
उसे हम सबको अपनाना है।

एक दिन ऐसा भी आएगा
हर तरफ हिंदी परचम लहराएगा,
इस राष्ट्र भाषा का हर ज्ञाता
विद्वान भारतवासी कहलाएगा।

देश की किसी संपर्क भाषा
की आवश्यकता होती है
और वह (भारत में) केवल
हिन्दी ही हो सकती है।

Hindi Diwas Status in Hindi

अपने खून से देश की मिट्टी सजा दी
इस देश की आजादी के लिए
उन्होंने हंसते हंसते अपनी हस्ती मिटा दी
जब तक जान थी उनमें, लड़ते रहे वो
अपनी लाश बिछा दी.

जब तक इस देश का
राजकाज अपनी भाषा (हिन्दी) में
नहीं चलता तब तक हम यह नहीं
कह सकते कि इस देश में स्वराज्य है।

हर कण में बसी है हिन्दी,
मेरी माँ की बोली भी बसी है इसमें,
मेरा मान है हिंदी,मेरी शान है हिन्दी।

मेरा “हिंदुस्तान” महान था,
महान हैं और महान रहेगा,
होगा हौसला सबके दिलो में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा

हिन्दी की एक निश्चित धारा है,
निश्चित संस्कार है

हिन्दी मेरा इमान है हिन्दी मेरी पहचान है
हिन्दी हूँ मैं वतन भी मेरा प्यारा हिन्दुस्तान ह
निज भाषा का नहीं गर्व जिसे क्या प्रेम देश
से होगा उसे वही वीर देश का प्यारा है
हिन्दी ही जिसका नारा है

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे
देशभक्तो के खून की वो धारा याद करले..||

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here