जल पर निबंध

Essay on Water in Hindi: जल एक प्रकार का इस सृष्टि का जीवन दाता है यह सृष्टि पूरी जल के ऊपर ही निर्भर है। जल के बिना ना तो कोई इंसान या ना कोई जीव जीवित रह सकता है। और ना ही जल के बिना पेड़ पौधे भी जीवित नहीं रह सकते हैं। जल इस प्रकृति के लिए बहुत ही जरूरी है, इसलिए कहा जाता है कि “जल ही जीवन है।” हम यहां पर जल पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में जल के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

जल पर निबंध | Essay on Water in Hindi

जल पर निबंध ( 250 Word )

हमारे शरीर में 70% जल की मात्रा होती है। सिर्फ हमारा शरीर ही नहीं बल्कि पृथ्वी भी लगभग 2 तिहाई जल से घिरी हुई है। हमें जीने के लिए हवा, पानी और जमीन की आवश्यकता होती है। यह हमारे शरीर में ईंधन का कार्य करते हैं इसलिए मनुष्य को जीवित रहने के लिए इन तीन तत्व की आवश्यकता होती है। पृथ्वी पर जल की मात्रा अधिक है। इसलिए पृथ्वी पर जीवन संभव है। पानी न होने पर दुनिया के सभी जीव मर जायेगे। जल सबसे महत्वपूर्ण पदार्थों में से एक है।

जल को पीने के अलावा कई अन्य जरूरत की चीजों में भी इस्तेमाल किया जाता है। दुनिया में सभी जीवित व्यक्तियों के लिए जल की आवश्यकता होती है। जल के बिना कोई भी इंसान जीवित नहीं रह सकता है। धरती पर हर जीवन पानी के आधार पर टिका हुआ है। एक छोटे पौधे को भी बढ़ने के लिए जल की आश्यकता होती है।

हम यह भी कह सकते है जो वस्तुएं सजीव होती है, उन्हें जल की आवश्यकता होती है। जल से ही मनुष्य का भोजन बनाता है। बिना जल के ना ही खेती की जा सकती और ना ही भोजन पकाया जा सकता है। इसलिए मनुष्य को जीवन जीने के लिए जल की आवश्यकता पड़ती है, बिना जल के जीवन यापन नहीं कर सकता है।

जल पर निबंध ( 800 Word )

प्रस्तावना

जल मनुष्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण पदार्थों में से एक है। यह सिर्फ मनुष्य के लिए ही नहीं बल्कि जंतुओं और पेड़-पौधों के लिए भी बहुत आवश्यक है। जल के ना होने पर दुनिया में कोई भी व्यक्ति जीवित नहीं रह सकता है। जल का इस्तेमाल सिर्फ पानी पीने के लिए ही नहीं बल्कि अपने दैनिक कार्यों जैसे स्नान, कपड़े आदि को धोने के लिए और खाना बनाने, सफाई करने में भी इसका प्रयोग किया जाता है।

मनुष्य अपने जीवन में बिना जल के जीवन यापन नहीं कर सकता है। विश्व में सभी जीवित वस्तुओं के लिए जल जरूरी होता है। छोटे से छोटे जीवों से लेकर बड़े जीवों तक सभी को पानी की जरूरत होती है। जल के बिना इनका कुछ भी अस्तिस्त्व नहीं होता है।

जल का संगठन

जल दो परमाणु से मिलकर बना होता है, जिसमें हाइड्रोजन के दो परमाणु और ऑक्सीजन का एक परमाणु शामिल होता है। जल का रासायनिक सूत्र H2O  होता है। जल के मुख्यता तीन अवस्था होती है। प्रथम ठोस, दूसरा द्रव्य और तीसरा गैस। जल को आप तीनों रूप में बदल सकते है।

पृथ्वी पर लगभग 70% जल है। लेकिन इसका 97 % हिस्सा खारा है। इस जल को किसी भी प्रयोग में नहीं लाया जा सकता है। एक प्रकार का रासायनिक पदार्थ होता है जो कि रंगहीन, गंद हीन और स्वाद हीन होता है।

जल का अपना कोई रंग नहीं होता है। जल को जिस भी रंग में घोला जाए उसी रंग को ग्रहण कर लेता है। जल का क्वथनांक 100% °C होता है। यह बहुत ही अच्छा विलायक होता है। जल में आप नमक चीनी मिलाएंगे तो उसमें जल्द ही मिल जाता है। जल मैं कुछ ऐसे भी पदार्थ होते हैं जो घुलनशील नहीं होते हैं जैसे कि तेल और वसा। इन पदार्थों को जल में कितना भी निश्चित कर लो यह आपस में घुलनशील नहीं होंगे।

बिना जल के हमारे शरीर का कोई भी कोष कार्य नहीं कर सकता है। हमें जल सीधे या फल या सब्जियों के माध्यम से लेना चाहिए। इसमें जल की पर्याप्त मात्रा उपस्थित होती है। हमें स्वस्थ फलों और सब्जियों को प्राप्त करने के लिए भरपूर जल की आवश्यकता होती है। किसी भी फसल के लिए जल की आवश्यकता बहुत जरूरी है।

जल महत्वपूर्ण क्यों है

विश्व के किसी भी व्यक्ति को जीवन जीने के लिए जल की आवश्यकता जरूर होती है। यहां तक कि एक छोटा कीड़ा से लेकर बड़ी मछली तक बिना जल के अपने जीवन की आकांक्षा नहीं कर सकती हैं। हम तो मनुष्य हैं, बिना जल के हम 1 दिन का भी गुजारा नहीं कर सकते। विश्व में जल की उपस्थिति के कारण ही आज लोगों का जीवन संभव हो पाया है।

जल हमारे लिए कैसे आवश्यक है

• भोजन बनाने और भोजन करने के बाद पचाने के लिए जल की आवश्यकता होती है।

• खाना पकाने के लिए

• भोजन करना

• सफाई करना

• कपड़े और अन्य चीजों को धोने के लिए

• बर्तन को साफ करना और घर की अन्य चीजों की सफाई करना।

इन सब के अलावा सब्जियों और फलों के लिए भी जल की जरूरत होती है। जल एक महत्वपूर्ण पदार्थ है यद्यपि आपने कई बार सागर महासागर के जल को देखा होगा लेकिन आपको जानकारी के लिए बता दें कि हम उस जल का प्रयोग पीने के लिए नहीं कर सकते हैं क्योंकि सागर और महासागर का जल अत्यंत खारा होता है।

विश्व का सिर्फ 3% जल ही ऐसा है जिसका हम प्रयोग कर सकते है। नीचे हम आपको कुछ ताजे पानी की जल स्रोत के बारे में बताएंगे जिन का प्रयोग हम पीने के पानी के रूप में कर सकते हैं।

• झीले

• ग्लेशियर

• बांध

• चट्टाने

• नदिया

• भूमिगत जल

कुछ अन्य भी जल सोच है, जिनका प्रयोग हम स्वच्छ जल को निकालने में कर सकते हैं।

जल ही जीवन का अर्थ

हम जल के बिना अपने जीवन की आस नहीं कर सकते है। बिना जल के हम कुछ दिन भी जीवित नहीं रह सकते है। हमारे शरीर में 70% जल की मात्रा है। जल के बदले मे हमारा शरीर कार्य करता है। प्रत्येक दिन पानी की अधिक मात्रा खपत हो रही है। मनुष्य के द्वारा पानी को दूषित करने से स्वास्थ्य संबंधित अधिक बीमारियां भी फैल रही हैं। इसलिए स्वस्थ पानी हमारे शरीर को तंदुरुस्ती प्रदान करता है।

जल के बिना हमारे दैनिक गतिविधियां जैसे सुबह उठकर ब्रश करना, शौच करना, नहाना और भोजन बनाने के लिए जल की आवश्यकता होती है। बिना जल के हम इसके बारे में कुछ भी कल्पना नहीं कर सकते हैं। कुछ बहुत बड़े उद्योग पानी का अत्यधिक इस्तेमाल करते हैं। उन्हें अपनी प्रक्रिया को करने के लिए हर चरण में जल का प्रयोग करना पड़ता है। ऐसा नहीं है की सिर्फ मनुष्य ही जल का उपभोग करता है, बिना जल के मनुष्य ही नहीं बल्कि जानवर और पेड़ पौधे भी जल के बिना बेकार है।

आज के समय में बहुत सारे लोग जल का दुरुपयोग करते हैं। वह दिन भी दूर नहीं है जब लोग जल की एक एक बूंद के लिए तरसेंगे। बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं, जो किसी भी काम को करने के लिए अत्यधिक जल का इस्तेमाल करते हैं और उसको ऐसे ही नालियों में फैला देते हैं।

हमें जल का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए, बल्कि इसका इस्तेमाल कम से कम और जरूरत के लिए करना चाहिए। आज के समय मे सबसे अधिक प्रदूषण फैक्ट्रियां करती है। इनकी फैक्ट्री से निकलने वाला जल आस पास के क्षेत्र में प्रदूषण करता है और वहां के लोगों का स्वास्थ्य भी बिगड़ जाता है।

निष्कर्ष

जल बहुत जरूरी है, फिर भी लोग इसको अधिक मात्रा में बर्बाद करते है। जल के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। बहुत सारा जल नालियों मे बहकर बेकार हो रहा है। वो दिन भी दूर नहीं जब लोग साफ जल पीने के लिए तरस जायेगे। इसलिए हम आप सभी से यही निवेदन करते हैं, कि प्राकृतिक के इस कीमती संसाधन को बर्बाद ना करें, जितना ज्यादा हो सके जल को बचाने की कोशिश करें।

अंतिम शब्द

आज के आर्टिकल में हमने  जल पर निबंध ( Essay on Water in Hindi)  के बारे में बात की है। मुझे पूरी उम्मीद है, की हमारे द्वारा इस आर्टिकल में जानकारी आप तक पहुंचाई गयी है, वह पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई भी सवाल है। तो वह हमें कमेंट में बता सकता है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here