जल का महत्त्व पर निबंध

Essay on Importance of Water in Hindi : “पानी बचाओ”, जल हमारे लिए बेहद जरुरी हैं और जीवन जीने के लिए बेहद आवश्यक हैं। इस आर्टिकल में हम आपको  जल का महत्त्व पर निबंध (Essay on Importance of Water in Hindi) अलग – अलग शब्द सीमा में बताएंगे। आपके लिए यह निबंध हर परीक्षा में उपयोगी साबित होगा।

Essay-on-Importance-of-Water-in-Hindi-

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

जल का महत्त्व पर निबंध | Essay on Importance of Water In Hindi

जल का महत्त्व पर निबंध ( 250 शब्द ) 

हमारा शरीर का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा जल से बना होता हैं। केवल हमारा शरीर ही नही बल्कि पृथ्वी पर करीब एक तिहाई हिस्सा पानी से ढका हुआ हैं। जल, वायु जीवन जीने के लिए एक महत्वपूर्ण भाग है। इन तीनों में से अगर कोई भी एक हमारे पास नही रहता हैं तो हमारा जीवन संकट में पड़ जाता हैं। 

पानी सबसे महत्वपूर्ण पदार्थ हैं, जो जीव – जंतु और मानव के लिए आवश्यक हैं। बिना पानी के हम तो क्या कोई भी जीवन का नेतृत्व नहीं कर पाते हैं। हमारे शरीर के वजन को बढाने के लिए पानी सबसे आवश्यक हैं। 

पानी का इस्तेमाल हम पीने के अलावा कपडे धोने, नहाने के लिए करते हैं। जल हाइड्रोजन के दो और ऑक्सीजन के एक परमाणु से मिलकर बनता हैं। यह विज्ञान का एक फार्मूला हैं। पानी का रासायनिक सूत्र H2O होता है।

जल मुख्य रूप से तीन अवस्थाओं में उपस्थित रहता हैं। यह द्रव, ठोस एवं गैस के रूप मे विद्यमान रहता हैं। पृथ्वी पर तक़रीबन 70 प्रतिशत जल हैं और उस में से करीब 99 प्रतिशत खारा जल हैं, जो पीने लायक और उपयोग के लायक नही हैं। 

पानी सबसे महत्वपूर्ण पदार्थ हैं, जो जीव – जंतु और मानव के लिए आवश्यक हैं। बिना पानी के हम तो क्या कोई भी जीवन का नेतृत्व नहीं कर पाते हैं। हमारे शरीर के वजन को बढाने के लिए पानी सबसे आवश्यक हैं।  एक रासायनिक पदार्थ होता है। यह रंगहीन, गंधहीन होता है। इसका अपना कोई रंग नहीं होता, जिस में घोला जाय, उसी का रंग ले लेता है। जल के महत्त्व को समझे और जल को बचाएं ताकि भविष्य के लिए कुछ बचत हो सके।

जल का महत्त्व पर निबंध ( 800 शब्द ) 

प्रस्तावना

जीवन जीने के लिए जल की आवश्यकता काफी ज्यादा होती हैं। “जल ही जीवन हैं” इस बात को कोई नकार नही सकता। नीर का ना तो कोई कलर होता हैं और ना ही कोई आकार होता हैं। ना ही जल में कोई खुशबू होती हैं। बिना आकार वाला यह पदार्थ आज सबके लिए एक जरुरत बन चूका हैं। 

हमारी पृथ्वी पर आज के समय में जल की मात्र तक़रीबन 70 प्रतिशत हैं जिस में से 95 प्रतिशत पानी समुन्द्र और महासागरों में समाया हुआ हैं जो पीने योग्य नही हैं, खारा हैं। नीर की आवश्यकता हर किसी को होती हैं, फिर चाहे तो मनुष्य हो, जीव – जंतु हो या कोई प्राणी। यह सबसे जीवन की एक सबसे ज्यादा और सबसे पहली आवश्यकता होती हैं। धरती पर अगर जल नही होगा तो, इस धरती पर जीवन संभव नही होगा। 

जल की आवश्यकता

पानी सबसे महत्वपूर्ण पदार्थ हैं, जो जीव – जंतु और मानव के लिए आवश्यक हैं। बिना पानी के हम तो क्या कोई भी जीवन का नेतृत्व नहीं कर पाते हैं। हमारे शरीर के वजन को बढाने के लिए पानी सबसे आवश्यक हैं। जल की आवश्यकता हमारे जीवन में काफी महत्वपूर्ण हैं। जल में बिना मानव हो या जीव-जंतु एक पल भी जिन्दा नही रह सकते हैं। हमारे जीवन की सबसे पहली आवश्यकता होती हैं जल। वर्तमान में जल का सरंक्षण काफी आवश्यक हैं। अगर आज हम जल का बचाव नही करते हैं भविष्य में हमें परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। 

जल की आवश्यकता पीने के अलावा और भी कई कामों के लिए के लिए होती हैं जैसे कपडे धोना, स्नान करना इतियादी। हमारे जीवन में सबसे आवश्यक बिजली, उसका निर्माण भी पानी से ही होता हैं। बिना पानी के हमारा जीवन बर्फ के समान ठहर सा जाता हैं। 

जल है तो जीवन है 

आपने यह तो सुना ही होगा की जल हैं तो जीवन हैं, ऐसे ही अगर हम जल को बेवजह व्यर्थ करते हैं तो हमारा आने वाला कल खाते में पड़ सकता हैं। जल का सरंक्षण जरुरी हैं। अगर हम आज जल को बिना मतलब के बहायेंगे तो आने वाला कल हमे जीने नही देगा। इसलिए जल का सरंक्षण जरुरी हैं। 

हमे जल वर्षा से ही प्राप्त होती हैं। उसके अलावा हमारे पास कोई और साधन नही हैं जिससे हमे वर्षा प्राप्त हो सके। केवल एकमात्र स्त्रोत होने के बावजूद भी हम वर्षा का सरंक्षण नही करते परिणामस्वरूप हमें बाद में इसके खतरनाक परिणाम देखने को मिलते हैं। इसलिए हमे जल का सरंक्षण करना जरुरी हैं। 

जल का बचाव

आज के समय में जल का महत्त्व जितना ज्यादा हैं उतना ही हमारे जीवन में इसकी मांग बढती जा रही है। हम अगर आज जल का सरंक्षण नहीं करते हैं तो इससे भविष्य में हमे परेशानी हो सकती हैं और हो सकता हैं हमे पानी के लिए तरसना भी पड़े। 

जल का बचाव करने के लिए हमे जितना भी हो पानी को इक्कठा करे। हम जानते हैं की देश में कई जगह ऐसी भी हैं जहा बरसात की दिक्कत रहती हैं। इसके अलावा देश में ऐसे कई जगह हैं, जहा खूब बारिश होती हैं। ऐसे में हम क्या कर सकते हैं की हम जहा पर बारिश होती हैं। हमें उस जगह पानी को इकठ्ठा करने के लिए प्रयास करना चाहिए। 

जहाँ जरुरत हो वहा कुओं और बावडियो का निर्माण करना चाहिए। जहाँ जरुरत हो वहा प्रशासन की मदद लेकर पानी को इकठ्ठा करने के लिए निर्माण करना चाहिए। इसी से हम जल का सरंक्षण करने में सफल हो पायेंगे और पानी को आने वाले कल के लिए बचा पायेंगे। 

अगर हम आज पानी बचाने में सफल नही होते हैं तो हो सकता है हमे कल समुन्द्र का खारा पानी पीना पड़े और वो भी नसीब न हो। जल का संरक्षण बेहद ही जरुरी हैं। 

जल एक जरुरत

आज के समय में जल हमारी आवश्यकता नही बल्कि रोटी, कपडा और मकान की तरह ही हमारी जरुरत बन चुकी हैं। जिस तरह हम रोटी के बिना नहीं रह सकते हैं उसी तरह हम पानी की तरह भी नही रह सकते हैं। यह हमारे जीवन जीने का एक जरिया हैं। 

निष्कर्ष

जल हमारे लिए जितना महत्वपूर्ण हैं। बिना जल के हम एक पल के लिए भी अपने जीवन को आगे नहीं चला सकते है। बिना पानी और कलर वाला पदार्थ आज हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चूका है।

अंतिम शब्द  

हमने यहां पर “जल का महत्त्व पर निबंध (Essay on importance of water in hindi)” शेयर किया है। उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here