उत्तर प्रदेश पर निबंध

Essay on Uttar Pradesh in Hindi: उत्तर प्रदेश का इतिहास  लगभग 4000 साल पुराना है। उत्तर प्रदेश हमारे हिंदू तीर्थ स्थलों में सबसे प्रमुख माना जाता है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश की विशेषताएं यहां का पर्यटन और प्रमुख तीर्थ स्थल आदि सभी के बारे में आज हम आपको बताने  जा रहे हैं। हम यहां पर उत्तर प्रदेश पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में उत्तर प्रदेश के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay on Uttar Pradesh in Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

उत्तर प्रदेश पर निबंध | Essay on Uttar Pradesh in Hindi

उत्तर प्रदेश पर निबंध (250 शब्द)

इस प्रदेश को पहले उत्तरी भारत के नाम से भी जाना जाता था क्योंकि सबसे अधिक भारत की जनसंख्या उत्तर प्रदेश में भी निवास करती है। उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस हर साल 24 जनवरी को मनाया जाता है। स्थापना दिवस के आयोजन को सूचना विभाग,पर्यटन का विभाग व संस्कृति विभाग मिलकर एक साथ आयोजित करते है।

इस राज्य को 75 राज्य और 18 खंड में बांटा गया है। उत्तर प्रदेश राज्य की 80% जनसंख्या गांव में निवास करती है और एक तिहाई जनसंख्या कृषि पर ही निर्भर है। उत्तर प्रदेश की आर्थिक व्यवस्था में अभी थोड़ा सुधार बाकी है जहां पर प्राकृतिक संसाधनों की अगर बात करें तो यहां पर संसाधनों की बहुत कमी देखने को मिलती है।

यहां का उत्तरी भाग मैदानी होने के कारण ही वह खेती के योग्य है, इसीलिए पूरी अर्थव्यवस्था खेती पर ही टिकी हुई है। यहां पर खेती की 30% सिंचाई लहरों के द्वारा की जाती है। इसके अलावा यहां पर बड़े उद्योगों के रूप में सीमेंट तेल चीनी कपड़े का उद्योग बहुत प्रसिद्ध है। अब सरकार के द्वारा यहां पर विभिन्न परियोजनाओं को लागू करने के लिए बहुत से कदम उठाए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश राज्य भौगोलिक दृष्टि से 8 राज्यों की सीमा को छूता है। भौगोलिक दृष्टि के कारण इस राज्य को तीन अलग भागों में विभाजित कर दिया गया है। पहला उत्तरी भाग जो बहुत उबड़ खाबड़ है। दूसरा भाग- मैदानी भाग है, और यहां पर फसलें बहुत अधिक उपजाऊ पैदा होती हैं,क्योंकि सर्वाधिक नदियां मैदानी भागों में बहकर उस जगह को उपजाऊ बनाती है। तीसरा भाग दक्षिणी क्षेत्र जो कि विंध्याचल का पठारी भाग है।

 प्राचीन तथा मध्य काल मे उत्तरप्रदेश राज्य राजनीति का एक प्रमुख केंद्र रहा था। जिसके कारण इस राज्य में बहुत सी धर्मिक, प्राकृतिक, व बहुत से ऐतिहासिक पर्यटन के स्थानों का यहा पर बहुत अधिक विकास हुआ था। इसके अलावा आज भी उत्तरप्रदेश संगीत और कृषि के क्षेत्र में आगे है। ओर यह कि अर्थव्यवस्था भी बहुत अच्छी है।उत्तर प्रदेश की भूमि पर भगवान श्री राम, भगवान श्री कृष्ण,महात्मा बुद्ध, जैसे महान संतों का जन्म हुआ है।

उत्तर प्रदेश पर निबंध (1100 शब्द)

प्रस्तावना

जब हमारा देश आजाद हुआ था तो आजादी के तुरंत बाद ही उत्तर प्रदेश एक अलग राज्य के रूप में बना दिया गया और इसकी राजधानी लखनऊ को बना दिया। हमारे देश को उत्तर प्रदेश राज्य के बिना अधूरा सा माना जाता है। भगवान श्री कृष्ण और भगवान श्री राम का अवतार इस राज्य की भूमि पर ही हुआ था। हिंदू धर्म और भारतीय संस्कृति के प्रमुख वेद, उपनिषद, पुराण,आयुर्वेद, ज्योतिष की रचना, तथा इसके अलावा बहुत से तपस्वी संतों की कर्म स्थली उत्तर प्रदेश राज्य में ही है। सबसे बड़ी लोगों की आस्था का केंद्र बहुत अधिक धार्मिक स्थान इस राज्य में स्थित है, जो कि हिंदू धर्म की मान्यता लोगों की भावना, पूजा के लिए माने जाते हैं।

जनसंख्या व राज्य के विस्तार का विवरण

उत्तर प्रदेश जनसंख्या की दृष्टि से और क्षेत्रफल की दृष्टि से हमारे देश का चौथा बड़ा राज्य है। भारत की आजादी के बाद 24 जनवरी 1950 को उत्तर प्रदेश राज्य को स्थापित किया गया था। जिस समय भारत में अंग्रेजों का शासन काल था, उस समय इस राज्य का नाम यूनाइटेड प्रॉबिंस था। आजादी के बाद इसका नाम पूर्ण रूप से बदल दिया।  राज्य की जनसंख्या लगभग 20 करोड़ है। प्रशासनिक विभाजन के आधार पर इस राज्य को 75 जिलों और 18 मंडलों में बांटा गया है। यहां राज्य में बहुत ही भाषाएं बोली जाती हैं लेकिन  मुख्यतः हिंदी भाषा ही प्रमुख है।इसके अलावा इस राज्य की लखनऊ राजधानी है, तथा इस राज्य का उच्चतम न्यायालय प्रयागराज में बनाया गया है।

राज्य के प्रमुख धार्मिक और पर्यटन स्थलों का वर्णन

उत्तर प्रदेश राज्य में अपने धार्मिक स्थलों और पर्यटन स्थलों की वजह से भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में भी प्रसिद्ध है। राज्य के कुछ महत्वपूर्ण धार्मिक और पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी निम्न है-

  • आगरा का ताजमहलआगरा का ताजमहल भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में भी प्रसिद्ध है। यमुना नदी के किनारे पर बचे हुए ताजमहल को दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है। इसके अलावा ताजमहल में मुगलों की वास्तुकला की झलक भी देखने को मिलती है।
  • मथुरा कृष्ण जन्म भूमिमथुरा में भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। मथुरा के आसपास गोवर्धन, बरसाना, नंदगांव, गोकुल आदि बहुत दर्शनीय और बहुत प्रसिद्ध जगह हैं।
  • वृंदावन धामवृंदावन में बहुत से बड़े बड़े मंदिर हैं, जिनकी सबकी अपनी अलग-अलग कहानियां हैं, लेकिन सबसे अधिक वृंदावन धाम में बांके बिहारी का मंदिर प्रसिद्ध है।
  • वाराणसी काशी विश्वनाथ मंदिरवाराणसी गंगा नदी के किनारे पर बसा हुआ है। यहां पर काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन करने के लिए बहुत लोग आते है।
  • सारनाथ का स्तंभसम्राट अशोक के द्वारा सारनाथ के स्तंभ का निर्माण किया गया था। यह स्थान बौद्ध धर्म के पूजा स्थल के लिए बहुत प्रसिद्ध है।
  • श्री राम जन्मभूमिअयोध्या में भगवान श्री राम की जन्म स्थली है। यह हिंदुओं का सबसे बड़ा तीर्थ स्थान के रूप में भी माना जाता है।
  • इलाहाबादसबसे अधिक साल भर यहां पर बड़ी भारी संख्या में लोग इलाहाबाद में ही देखे जाते हैं  यहां पर तीन नदियों का संगम होता है। इसके अलावा यहां पर हर साल कुंभ का भी आयोजन किया जाता है।
  • नवाबों का शहर लखनऊराज्य में सबसे अधिक घूमने के लिए अगर कोई जगह पर्यटकों को पसंद आती है तो वह है लखनऊ। लखनऊ को नवाबों का शहर भी कहा जाता है। लखनऊ का सबसे अधिक स्वादिष्ट खाना व मुगल वास्तुकला बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है।

प्रमुख प्राकृतिक संसाधन

अगर हम उत्तर प्रदेश में प्राकृतिक संसाधनों की बात करें तो यहां पर प्रकृति के द्वारा प्रदान खनिज बहुत कम संख्या में देखने को मिलते हैं। चूना, पत्थर, कोयला, सिलिका आदि खनिज बहुत पर्याप्त मात्रा में मिलते हैं। इसके अलावा बॉक्सर, मैग्नेटाइट, व जिप्सम के भंडार यहां पर अधिक पाए जाते हैं।

कृषि की व्यवस्था

उत्तर प्रदेश राज्य में अधिकतर भाग मैदानी होने की वजह से खेती करने के योग्य है, इसलिए यहां पर खेती सबसे अधिक की जाती है। राज्य की अर्थव्यवस्था को सही करने का मुख्य आधार कृषि की है।यहां की प्रमुख फसलों की पैदावार में चावल, गेहूं, ज्वार, बाजरा,जौ, और गन्ना आदि है। भारत मे  जिन राज्यों में हरित क्रांति के द्वारा लाभ प्राप्त हुए हैं, उनमें सबसे ऊपर उत्तर प्रदेश का नाम आता है, क्योंकि खाद्यान्न के उत्पादन में सबसे आगे यह राज्य रहा है।

औद्योगिक क्षेत्र में राज्य की व्यवस्था

उत्तर प्रदेश में सबसे बड़े उद्योगों में कपड़ा और चीनी का उपयोग सबसे प्रमुख है। इसके अलावा तेल और सीमेंट का उद्योग इनमें प्रमुख है। वर्तमान समय में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा उत्तर प्रदेश में विभिन्न परियोजनाओं के माध्यम से लोगों को नए नए उद्योगों को बढ़ावा देने का कार्य राज्य सरकार कर रही है।

उत्तर प्रदेश में लघु कुटीर उद्योग हस्तशिल्प के द्वारा बनी हुई सभी वस्तुएं विश्व प्रसिद्ध है। यहां राज्य का सबसे बड़ा औद्योगिक शहर कानपुर चमड़े के बने जूतों के लिए तथा बहुत सी ऐसी वस्तु और चीज है जिनके लिए भी विश्व प्रसिद्ध है।

सिंचाई के साधनों के साथ राज्य की प्रमुख नदियां

उत्तर प्रदेश राज्य में सबसे प्रमुख नदियों में गंगा,यमुना, चंबल, घाघरा,गोमती, बेतवा, केन व सोन आदि नदिया इस राज्य में बहती है। इसके अलावा यहां कृषि के कार्यों में सिंचाई के संसाधनों के रूप में नहरे भी बहुत अधिक बनाई गई है। उत्तर प्रदेश में कृषि भूमि की सिंचाई लगभग 30% नहरों के द्वारा ही की जाती है।

निष्कर्ष

उत्तर प्रदेश राज्य धार्मिक, पर्यटन, औद्योगिक क्षेत्र, खेती आदि के लिए बहुत प्रसिद्ध है। उत्तर प्रदेश राज्य में गंगा नदी का भी उद्गम हुआ है। यहां इस राज्य से बहती हुई गंगा नदी देश के हर राज्य में निकलती हुई सागर में समा जाती है। राज्य की सबसे बड़ी विशेषता की इस राज्य की अनेक वस्तु, कपड़े और स्थान विश्व प्रसिद्ध है।

अंतिम शब्द

उम्मीद है कि आपको उत्तर प्रदेश पर निबंध ( Essay on Uttar Pradesh in Hindi) बहुत पसंद आया होगा। इससे जुड़ी किसी प्रकार की और बात जानने के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट कर सकते हैं और पसन्द आया तो इसको लाइक भी जरूर कर सकते हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here