पंजाब राज्य पर निबंध

Essay on Punjab in Hindi: नमस्कार दोस्तों! आज हम आप सभी लोगों को बताने वाले हैं? पंजाब राज्य के विषय में बहुत ही महत्वपूर्ण निबंध। आप सभी लोगों के सर्च एवं मांग के अनुसार हमने इस महत्वपूर्ण लेख को आपके साथ साझा किया है। हम सभी लोगों ने अपने शुरुआती स्कूली पढ़ाई में हमारा प्यारा पंजाब पर निबंध तो अवश्य लिखा होगा। ऐसे ही निबंध आपको कभी ना कभी किसी कॉन्पिटिटिव एग्जाम में भी मिले होंगे और यह बहुत ही आवश्यक भी है। इसी के उपलक्ष में हमने अपना यह महत्वपूर्ण निबंध आप सभी लोगों के साथ शेयर किया है, आइए जानते हैं।

Image: Essay on Punjab in Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

पंजाब पर निबंध | Essay on Punjab in Hindi

पंजाब राज्य पर निबंध (250 शब्द)

पंजाब राज्य हमारे भारतवर्ष की शान एवं धन-धान्य इत्यादि से संपन्न राज्य माना जाता है। पंजाब राज्य में प्राकृतिक संसाधन कृषि उपयोगी भूमि एवं जल से खेतों की सिंचाई करने हेतु आवश्यक संयंत्र पर्याप्त मात्रा में मौजूद है। धन-धान्य से परिपूर्ण और भारत की शान पंजाब राज्य का प्राकृतिक दृश्य बहुत ही सुंदर है, यहां पर लोगों का जीवन, फसलें, लहराते धान, नदियां और पंजाब की संस्कृति ने पूरे भारतवर्ष में अपनी एक अलग ही पहचान बना रखी है।

पंजाबी लोगों को वर्तमान समय में अपने अतीत एवं संस्कृति से बहुत ही गहरा लगाव है। वर्तमान समय में सभी लोग अपने संस्कृत एवं प्राचीन इतिहास को बुलाकर अन्य भाषा एवं संस्कृतियों के साथ मिश्रित हो रहे हैं, परंतु ऐसे सभी लोगों के विपरीत है पंजाब। पंजाब राज्य के निवासी वर्तमान समय में भी अपनी संस्कृति और प्राचीन अतिथि के साथ जुड़ा रहना पसंद करते हैं।

पंजाब राज्य के सतना से एवं व्यास पंजाब की धाराएं सदैव हरी-भरी एवं प्राकृतिक दृश्यों के रूप से काफी सुहावना रहता है। पंजाब का संपूर्ण विश्व में बहुत ही लंबा एवं बहुत ही पुराना इतिहास है, संपूर्ण विश्व भर में पंजाब दुनिया भर का सबसे बड़ा नृत्य राज्य माना जाता है।

प्राचीन समय से ही ऐसा कहा जा रहा है कि यदि कोई व्यक्ति एक बार पंजाब की संस्कृति, लोकगीत, नृत्य कला और पंजाबी रहन-सहन को एक बार अच्छे से समझ लेता है, तो वह व्यक्ति सदैव सदैव के लिए पंजाब के गुणों की बखान करता नहीं थकता। भारतीय इतिहास के प्राचीन समय से ही पंजाब भारत का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। ऐसा भी कहा जाता है, कि भारत में स्थित पांच नदियों का प्रदेश होने के कारण ही इस राज्य का नाम पंजाब पड़ा। पंजाब शब्द शाब्दिक रूप से अर्थ निकाला जाए, तो यह सामने आता है, कि 5 स्थानों का संग्रह अतः इसी कारण पांच नदियों का संग्रह होने के वजह से इस राज्य को पंजाब कहा जाता है।

पंजाब राज्य पर निबंध (800 शब्द)

प्रस्तावना

पंजाब राज्य हमारे भारतवर्ष की शान एवं धन-धान्य इत्यादि से संपन्न राज्य माना जाता है। धन-धान्य से परिपूर्ण और भारत की शान पंजाब राज्य का प्राकृतिक दृश्य बहुत ही सुंदर है, यहां पर लोगों का जीवन, फसलें, लहराते धान, नदियां और पंजाब की संस्कृति ने पूरे भारतवर्ष में अपनी एक अलग ही पहचान बना रखी है।

वर्तमान समय में सभी लोग अपने संस्कृत एवं प्राचीन इतिहास को बुलाकर अन्य भाषा एवं संस्कृतियों के साथ मिश्रित हो रहे हैं, परंतु ऐसे सभी लोगों के विपरीत है पंजाब। पंजाब राज्य के निवासी वर्तमान समय में भी अपनी संस्कृति और प्राचीन अतिथि के साथ जुड़ा रहना पसंद करते हैं।

ऐसा कहा जा रहा है कि यदि कोई व्यक्ति एक बार पंजाब की संस्कृति, लोकगीत, नृत्य कला और पंजाबी रहन-सहन को एक बार अच्छे से समझ लेता है, तो वह व्यक्ति सदैव सदैव के लिए पंजाब के गुणों की बखान करता नहीं थकता। ऐसा भी कहा जाता है, कि भारत में स्थित पांच नदियों का प्रदेश होने के कारण ही इस राज्य का नाम पंजाब पड़ा। पंजाब शब्द शाब्दिक रूप से अर्थ निकाला जाए, तो यह सामने आता है, कि 5 स्थानों का संग्रह अतः इसी कारण पांच नदियों का संग्रह होने के वजह से इस राज्य को पंजाब कहा जाता है।

पंजाब राज्य का कुल क्षेत्रफल एवं पंजाब का विखंडन

अभी हाल ही में किए गए सर्वे के अनुसार पंजाब राज्य का कुल क्षेत्रफल 5362 वर्ग किलोमीटर है। पंजाब राज्य की चारों सीमाओं पर अलग-अलग क्षेत्र स्थित है। पंजाब राज्य के तीन सीमाओं पर भारत के ही 3 राज्य और इसके चौथे सीमा पर भारत का दुश्मन एवं पड़ोसी देश पाकिस्तान बसा हुआ है। पंजाब राज्य का एक बहुत ही बड़ा हिस्सा पाकिस्तान से सम्मिलित है, आता इसी आधार पर पंजाब को दो वर्गों में विभाजित किया गया हिंदुस्तानी भारत एवं पाकिस्तान पंजाब।

भारत में स्थित पंजाब राज्य की कुल आबादी लगभग 2 करोड़ 77 लाख 43 हजार 338 है। भारत का कुल आबादी वाले क्षेत्र में ही इतनी ज्यादा जनसंख्या रहती है। इन सभी के बाद बाद में संयुक्त पंजाब राज्य का विखंडन कर दिया गया। पंजाब राज्य को एक नवंबर 1966 ईस्वी को विघटन के दौरान तीन वर्गों में बांट दिया गया पहला पंजाब, दूसरा हरियाणा और तीसरा हिमाचल प्रदेश है।

पंजाब के कुछ बड़े शहर और बड़ा धार्मिक स्थल

पंजाब राज में बहुत से बड़े से बड़े शहर मौजूद हैं। पंजाब में स्थित इन शहरों को पंजाब का स्वर्ण नगरी कहा जाता है, क्योंकि इन्हीं स्थानों में स्वर्ण मंदिर है, जो कि सिख समुदाय का सबसे बड़ा स्थल माना जाता है। पंजाब राज्य का सबसे बड़े राज्यों में से कुछ राज्य जैसे कि लुधियाना, अमृतसर, भटिंडा, जालंधर, पटियाला इत्यादि इस प्रकार से हैं। पंजाब राज्य में बहुत ही अधिक मात्रा में सिख समुदाय के लोग रहते हैं।

भारतीय पंजाब से संबंधित आक्रमणकारी इतिहास

ऐसा कहा जाता है, कि भारत में जो भी विदेशी हमले किए जाते हैं उनका मुख्य मार्ग पंजाब ही होता है, अतः यही कारण है, कि बाहरी हल्ला सर्वाधिक पंजाब में ही होता है। ज्यादातर आतंकवादी भारत के अन्य राज्यों में जाने के लिए सबसे पहले पंजाब में हमले एवं विस्फोट करवाते हैं, इसके बाद इन हमलों का फायदा उठाकर यह भारत के सीमा के अंदर चले आते हैं और धीरे-धीरे अपने प्लान को अंजाम देने के लिए अपना कार्य शुरू कर देते हैं।

प्राचीन समय में बाबर ने भी मुगल साम्राज्य की नींव सबसे पहले पंजाब में ही रखा था। बाबर के जाने के बाद फिर से अंग्रेजों ने पंजाब को अपने गिरफ्त में ले लिया और वहां के स्वर्ण मंदिर से लेकर अनेकों इमारतों एवं मंदिर, मस्जिद एवं गुरुद्वारा को बहुत लूटा और अपने स्वाभिमान एवं धर्म के खातिर बहुत से लोगों ने अपना स्वतंत्रता संग्राम में बढ़-चढ़कर योगदान दिया, जिसमें से पंजाबी लोग बहुत ही ज्यादा थे।

हमारे भारत के प्राचीन इतिहास में बहुत से ऐसे क्रांतिकारी पैदा हुए, जिन्होंने अंग्रेजों एवं अन्य राजाओं की गुलामी की बेड़ियों को तोड़ने के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं की, इन लोगों ने हंसते-हंसते अपने प्राणों की बलि दे दी और हमारे भारतवर्ष को इनके चंगुल से आजाद करवाया।

पंजाब राज्य में कुल कितने जिले हैं

पंजाब राज्य में कुल 22 जिले हैं। पंजाब को तीन भागों में बांटा गया है माझा, दोआबा और मालवा। पंजाब के ज्यादातर जिले मालवा में है। इसके अलावा माझा में 3 जिले और दोआबा में 4 जिले हैं।

पंजाब राज्य की मान्यताओं के अनुसार मुख्य धर्म

पंजाब राज्य में मुख्य रूप से सिख एवं हिंदू धर्म की मान्यता रखी जाती है। पंजाब राज्य में स्थित कुल आबादी में सर्वाधिक सिख हैं इनके बाद हिंदू, मुस्लिम और क्रिश्चियन रहते हैं। पंजाब राज्य का मुख्य धर्म सिख धर्म और हिंदू धर्म है।

पंजाब राज्य की लोक भाषा क्या है

पंजाब राज्य के अनेकों प्रांतों में अनेकों प्रकार की भाषाएं बोली जाती हैं, परंतु यहां पर मुख्य रूप से हिंदी, पंजाबी एवं उर्दू भाषा बोली जाती है।

निष्कर्ष

हम इस लेख को पढ़ने के बाद इस निष्कर्ष पर पहुंचते हैं, कि भारत देश का सबसे महत्वपूर्ण राज्य पंजाब है। पंजाब राज्य प्राचीन समय में एक विशाल राज्य हुआ करता था, परंतु वर्तमान समय में इसे तीन खंडों में बांट दिया गया है और इसके चारों सीमाओं पर अलग-अलग क्षेत्र स्थित हैं। पंजाब राज्य भारत का धन-धान्य एवं कृषि उपजाऊ भूमि है, इतना ही नहीं आ की प्रकृति भी बहुत ही ज्यादा सुहावनी होती है।

अंतिम शब्द

नमस्कार दोस्तों! हम आप सभी लोगों से उम्मीद करते हैं, कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख “पंजाब पर निबंध (Essay on Punjab in Hindi)” अवश्य ही पसंद आया होगा यदि हां! तो कृपया आप हमारे द्वारा लिखे गए इस महत्वपूर्ण लेख को अवश्य शेयर करें। यदि आपके मन में इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार का कोई सवाल है, तो कमेंट बॉक्स में हमें अवश्य बताएं।

Reed also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here