शेर पर निबंध

Essay on Lion in Hindi: हम यहां पर शेर पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में शेर के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

शेर पर निबंध | Essay on Lion in Hindi

शेर पर निबंध (200 शब्द)

शेर एक भयानक, जंगली और मांसाहारी प्राणी है। उनका निवासस्थान जंगल, गुफाओं और पहाड़ियां है। शेर को जंगल का राजा कहा जाता है। भारत के अशोक स्तंभ में भी शेर प्रतिबिंब साफ़ नजर आता है। बिल्ली की प्रजाति का सबसे बड़ा जानवर शेर की आकृति भव्यावह है।

शेर की मांसपेशियां बहुत मजबूत होती है। शेर की आंखें बड़ी और चमकदार होती है। शेर अपनी पूंछ की वजह से शरीर का संतुलन बनाये रखता है। शेर के दांत और  पैरों में नाखून नुकीले और मजबूत होते है। शेर की लंबाई 3.5 फीट, ऊंचाई 10 फीट और वजन 190 किलो तक हो सकता है।  एक शेर की गति 40-80 किमी प्रति घंटा है। वो दिन में 20 घंटे सोना पसंद करता है।

शेर को करीब एक दिन में 5 किलोग्राम मांस की आवश्यकता पड़ती है।अपने शिकार के लिए वो कभी भी सक्रीय हो सकता है। शेर का दहाड़ना करीब 8 किलोमीटर तक सुनाई पड़ता है। शेर एक सामाजिक प्राणी है। वो हमेशा अपने समूह में ही नजर आता है। दुनिया भर में शेर की कई प्रजाति उपलब्ध है, इन में से अफ्रीकी शेर काफी ज्यादा ताकतवर है।

शेर से हमें शक्तिशाली और निडर बनने का गुण मिलता है। आज शेर की प्रजाति लुप्त होने के कगार पर है। हमें शेर को बचाने के अधिक से अधिक प्रयत्न करने चाहिए क्योंकि शेर नही तो जंगल की शान नही। 

शेर पर निबंध (600 शब्द)

प्रस्तावना

शेर एक जंगली मांसाहारी जानवर है। वो अपना पूरा जीवनकाल घने जंगलों और पहाड़ी प्रदेशों में बिताता है। शेर एक शक्तिशाली, निडर और चालाक जानवर है। तभी तो शेर को ‘जंगल का राजा’ कहा जाता है। बिल्ली की प्रजाति का सबसे बड़ा जानवर शेर शक्ति और सुंदरता का प्रतीक भी है।

शेर एक प्राचीन प्राणी है। माँ दुर्गा का सावरी होने के कारण भारत में तो शेरो का अधिक महत्व है। कई जगहों पर शेर को भगवान का दर्जा दिया हुआ है और उनकी पूजा भी होती है। भारत के अशोक स्तंभ में भी शेर प्रतिबिंब साफ़ नजर आता है। साल 1972 से पहले शेर भारत का राष्ट्रीय पशु था।

शेर की शारीरक संरचना

शेर की आकृति भव्यावह है। अन्य जानवर की तरह शेर के चार पैर, बड़ा सिर, दो कान, दो आंखें, एक नाक और एक लंबी पूंछ होती है। लेकिन शेर के सभी अंगों में कुछ विशेषताएं होती है। शेर की मांसपेशियां बहुत मजबूत होती है। शेर का पूरा शरीर भूरे रंग के बालों से ढका रहता है। शेर की दो आंखें बड़ी और चमकदार होती है, जो रात में भी चमकती नजर आती है। आँखों का  बाहरी आवरण भूरे रंग का और मध्य भाग गहरे काले रंग का होता है।

लंबी पूंछ के अंतिम छोर पर बड़े-बड़े बाल होते है। पूंछ की मदद से वो शरीर का संतुलन बनाए रखता है औरऊंची छलांग लगा पाता है। शेर उनके चार मजबूत पैरों की सहायता से  तेज गति से दौड़ता है।  पैरों में नुकीले नाखून होते है। शेर की गर्दन पर बड़े बड़े बाल होते है। शेर के दांत भी नुकीले और मजबूत होते है ,जिसके कारण वो शिकार को मजबूत पकड़कर फाड़ देता है। वयस्क शेर के मुंह में 30 दांत होते है। वयस्क शेर की लंबाई 3.5 फीट, ऊंचाई 10 फीट और वजन 190 किलो तक हो सकता है।

शेर की जीवन शैली

शेर की जीवन शैली एक राजा की तरह होती है। शेर की गर्जना 8 किलोमीटर दूर तक सुनाई देती है। शेर का जीवनकाल 15-20 वर्ष तक का होता है। यह एक दिन में लगभग 20 घंटे तक सोता रहता है। शेर भूखा होने पर भी अपने शिकार के लिए 25-30 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है। शेर 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता है। शेर ज्यादातर झुंड में या समूह में नजर आते है। एक समूह में 10 से 20 शेर होते है।

शेर का भोजन

शेर एक मांसाहारी प्राणी है। भोजन के बिना शेर एक दिन भी नहीं रह सकता। वो ज्यादातर अपना शिकार रात के समय में करता है। शेर का मुख्य आहार बड़े स्तनधारी जीव होते है। वह कमजोर जानवरों का शिकार कभी नहीं करता। ज्यादातर शेर समूह में ही शिकार करते हुए नजर आते है।

शेर की प्रजाति

दुनिया में आपको तरह तरह के शेर दिखने को मिलेंगे। शेर के विभिन्न प्रकार और उनकी संरचना  स्थान और क्षेत्र पर आधारित होती है। भारत में गिर राष्ट्रीय उद्यान में शेरों की सबसे बड़ी जीवित प्रजाति एशियाई शेर पाये जाते है। उत्तरी अफ्रीका में बर्बरी शेर पाये जाते है जो दुनिया भर में एटलस शेर, इजीप्टीयन शेर और उत्तरी अफ्रीकी शेर के नाम से मशहूर है । उनका वजन करीब 250 किलोग्राम से 300 किलोग्राम तक होता है।

दुनिया की सबसे दुर्लभ नस्ल के शेरों में से एक प्रजाति पैन्थेरा लियो ,जो पश्चिम अफ्रीकी शेर के नाम से भी मशहूर है। उनकी यह विशेषता है कि उनके गर्दन पर किसी तरह का कोई बाल नहीं होता है। हालाँकि पैन्थेरा लियो की संख्या बहुत की कम रह गई है। एशियाई शेरो के तुलना में अफ्रीकी शेर अधिकतम बलवान, तेज और शिकार करने में माहिर होते है।

निष्कर्ष

कुदरत ने हमें एक संतुलत आहार चक्र दिया है। जिस में शेर जैसे मांसाहारी प्राणियों का भी एक स्थान है। लेकिन आज हम अपने स्वार्थ के लिए इतने शेर का शिकार कर चुके है की अब उनकी जाति लुप्त होने के कगार पर है। हमें जंगल की शान को बरकरार रखने के लिए शेर को बचाने का अथाग प्रयत्न करना चाहिए।

अंतिम शब्द

हमने यहां पर “शेर पर निबंध (Essay on Lion in Hindi)”शेयर किया है उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here