इंटरनेट पर निबंध

Essay on Internet in Hindi: इंटरनेट शब्द अब जाना पहचाना शब्द हो गया है। आज के जमाने में बच्चों से लेकर बुड्ढों तक सबकी जुबान से यह शब्द सुनते ही सुनते है। शॉर्ट फॉर्म की दुनिया में इंटरनेट को नेट भी बोला जाता है। भारत देश गाँवों का देश है और गाँव में अधिकतर लोग अनपढ़ होते है, लेकिन नेट शब्द आप वहाँ पर भी सुन सकते है।

इंटरनेट एक ऐसा दोस्त बन गया है, जिसके बिना आप जीवन यापन करना सोच भी नहीं सकते है। इसकी वजह से बहुत सी मुश्किलें आसान हुई है, जैसे आपको किसी अनजान शहर में पैसों की किल्लत हो गई लेकिन आपके खाते में पैसे पड़े है तो आप किसी भी इंटरनेट की दुकान पर जाकर पैसे उठा सकते है या फिर जमा कर सकते है।

Essay on Internet in Hindi

इंटरनेट आज की दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण वस्तु बन चुकी है। इंटरनेट को नेटवर्कों का नेटवर्क कहा जाता है। आइये आज जानते है विस्तृत रूप से इंटरनेट के बारे में।

इंटरनेट पर निबंध – Essay on Internet in Hindi

प्रस्तावना

इंटरनेट जब से दुनिया में आया है इसने लोगों के जीवन जीने के तरीके बदल दिए है, इंटरनेट के कारण पूरी दुनिया भर में क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिले है। इंटरनेट ने पूरी दुनिया को हथेली भर खिलौनो (एक कंप्यूटर और मोबाइल) में समेट कर रख दिया है आप जब चाहे किसी से बात कर सकते है मनोरंजन के लिए संगीत, वीडियो देख सकते है और अन्य कार्य जैसे व्यापार, बैंकिंग, इंटरव्यू, न्यूज़, शिक्षा, ईमेल इत्यादि इंटरनेट की मदद से आप कहीं भी बैठकर कर सकते है।

इंटरनेट एक वैश्विक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया के कम्प्यूटरों को एक साथ जोड़ता है। जिसमें हम राउटर और सर्वर की सहायता से बहुत से कंप्यूटरों को आपस में जोड़ सकते हैं। इसने रोज के कार्यों की प्राप्ति को बेहद आसान बनाया है जो कि एक समय कठिन लंबा और समय लेने वाला था।

इंटरनेट की वजह से ही ऑनलाइन संचार बहुत ही सरल और आसान हो गया है। पुराने समय में संचार का माध्यम पत्र होता था जो कि लंबा समय लेने वाला और कठिन होता था, लेकिन अब कुछ सोशल नेटवर्किग साइट को खोल कर हम मात्र कुछ सेकेंडो में ही अपने संदेश दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा सकते है।

अगर आईटी क्षेत्र के अनुसार कहा जाए तो संसाधनों अथवा सूचनाओं का आदान-प्रदान करने के लिए TCP/IP प्रोटोकॉल के द्वारा दो अथवा कई कंप्यूटर्स को एक साथ जोडकर अंत:संबंध स्थापित करने की प्रक्रिया को इंटरनेट कहते हैं।

इंटरनेट का इतिहास

इंटरनेट का विकास धीरे-धीरे टेलीफोन, रेडियो फ्रिकवेंसी और प्रोटोकोल की सहायता से हुआ था। सर्वप्रथम यूनाइटेड रक्षा विभाग ने 1960 के दशक में अपनी गुप्त फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचाने के लिए इसका उपयोग किया था तब इसका नाम “अपरानेट” था लेकिन यह उस समय इतना स्टेबल और तेज नहीं था। समय के साथ इंटरनेट में बदलाव आता गया और सन् 1969 में टिम बर्नर्स ली ने इंटरनेट का आविष्कार किया।

इंटरनेट को भारत में आने में बहुत समय लगा लेकिन 80 के दशक में इंटरनेट का इस्तेमाल भारत में होने लगा था। इंटरनेट के सुगम इस्तेमाल को एप्पल नाम की कंपनी ने सन् 1984 में कंप्यूटर में फाइल फोल्डर और ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया जिसके कारण आज इंटरनेट चलाना बहुत आसान है अगर एप्पल कंपनी नहीं होती तो आज भी हमें कोडिंग करके ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना पड़ता।

इंटरनेट के प्रारंभिक चरण में इसकी स्पीड केबीपीएस में होती थी फिर धीरे-धीरे एमबीपीएस और अब जीबीपीएस में इसकी स्पीड होती है जो की बहुत तेजी से सूचनाओं का आदान प्रदान करने में काम करती है। कंप्यूटर का विकास होने के बाद उनमें जमा आंकड़ों और सूचनाओं के आदान-प्रदान की आवश्यकता अनुभव की गयी और इसी अनुभव ने विभिन्न विश्वविद्यालयों, सरकार द्वार प्रायोजित कंप्यूटर नेटवर्क तथा शोध व शिक्षा के लिए इंटरनेट का विकास किया गया।

धीरे-धीरे इंटरनेट के विकास के साथ इसके फायदे और महत्त्व हर क्षेत्र में दिखाई देने लगे और यह तकनीक पूरी दुनिया में इंटरनेट क्रांति के रूप में फैल गया। इंटरनेट की दुनिया में, यह कोई ज़रुरी नहीं है कि कोई व्यक्ति अपने व्यापारिक या निजी मुलाकात के लिए घंटों यात्रा करके किसी स्थान पर जाए।

आज के समय में हम वीडियों कॉन्फ्रेंस, कॉलिंग के तरीकों से अपनी जगह पर रह कर ही किसी भी व्यापारिक या निजी बैठक का हिस्सा बन सकते हैं। जो आज कोरोना काल में हम सब ने अच्छे से किया है और कर भी रहे है।

इंटरनेट सूचना प्रौद्योगिकी में क्या है और कैसे दुनिया को कनेक्ट करती है

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि इंटरनेट एक नेटवर्क है जिसके तहत दुनिया के सारे गैजेट्स जुड़े हुए है। ये सभी गैजेट्स एक यूनिक आईडी से जुडते है जिसे आईपी एड्रैस कहते है। ये आईपी एड्रैस सभी के अलग-अलग होता है। यह एक गणितीय कोड में होता है और उसे याद करना मुश्किल रहता है तो मानव याद रखे उसके लिए DNS बनाया गया जैसे www.google.com

इसी तरह सभी सर्वर और राउटर जुड़े हुए है, सभी के अलग-अलग DNS द्वारा। इंटरनेट पर जो हम खोजते और देखते है, उसे सर्फिंग कहते है। सर्फिंग आज के जमाने में बच्चों से लेकर बुड्ढों तक हर कोई करता है। लेकिन मानव और इंटरनेट तीन तरीके से एक-दूसरे से जुड़े होते है।

  1. केवल जानकारी जुटाना, जो देखना/खोजना है वो करना।
  2. जानकारी जुटा कर एक वेबसाइट बनाकर दूसरों को बताना।
  3. इंटरनेट को अपने लिए उपयोग करना।

इंटरनेट का महत्व

इंटरनेट मनुष्य को विज्ञान द्वारा दिया गया एक सर्वश्रेष्ठ उपहार है। इंटरनेट अनंत संभावनाओं का साधन है। इंटरनेट के माध्यम से हम कोई भी सूचना, चित्र, वीडियो आदि दुनिया के किसी भी कोने से किसी भी कोने तक पल भर में भेज सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से हम ई-मेल भेज सकते हैं और प्राप्त भी कर सकते हैं। यह संदेश भेजने का और प्राप्त करने का सबसे सरल और सस्ता साधन है।

इंटरनेट के माध्यम से हम दुनिया के किसी भी जगह बैठे हुए अपने दोस्त अथवा रिश्तेदारों से बात कर सकते हैं। इसे इंटरनेट चैटिंग कहते हैं जिसकी वजह से दुनिया में फेसबुक और वाट्सएप बहुत अधिक प्रसिद्ध हैं। इंटरनेट के माध्यम से हम अपने विचारों और वस्तुओं का पूरी दुनिया में प्रचार कर सकते हैं। यह विज्ञापन का सबसे सरल और प्रभावी माध्यम है।

इंटरनेट के माध्यम से हम व्यापार भी कर सकते हैं और अपनी वस्तुओं और सेवाओं का क्रय-विक्रय भी कर सकते हैं। इसका सबसे बड़ा साधन वेबसाईट है। इंटरनेट के माध्यम से हम नौकरी अथवा रोजगार पाने के लिए अपना बायोडाटा भी इंटरनेट पर डाल सकते हैं। वास्तव में इंटरनेट एक सार्वजनिक सुविधा है और कोई भी इसका उपयोग कर सकता है।

इसके माध्यम से एक जगह बैठकर पूरे विश्व के बारे में समय-समय पर खबर जान सकते है। ढ़ेर सारी जानकारियों को जमा करने में ये बहुत दक्ष और प्रभावकारी है चाहे वो किसी भी विषय से संदर्भित हो चंद सेकेंड में ही उपलब्ध हो जाएगा। ये शिक्षा, यात्रा, और व्यापार में बहुत उपयोगी है। इसके द्वारा ऑनलाइन पब्लिक लाइब्रेरी, टेक्स्टबुक, तथा संबद्ध विषयों तक पहुँच आसान हुई है।

internet ka mahatva

मेट्रो, रेलवे, व्यापारिक उद्योग, दुकान, स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान, एनजीओ, विश्वविद्यालय, कार्यालय (सरकारी तथा गैर-सरकारी) में हर डाटा को कंप्यूटरीकृत करके बड़े स्तर पर कागज़ और कागज़ी कार्यों से बचा जा सकता है, ऐसा करने से कार्यों में पारदर्शिता भी बढ़ी है।

इंटरनेट का उपयोग

इंटरनेट की सफलता की वजह इसकी विशेषता और उपयोगिता है। इसकी सुगमता और उपयोगिता की वजह से, ये हर जगह इस्तेमाल होता है जैसे- कार्यस्थल, स्कूल, कॉलेज, बैंक, शिक्षण संस्थान, प्रशिक्षण केन्द्रों पर, दुकान, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, रेस्टोरेंट, मॉल इत्यादि। प्रत्येक घर पर हर एक सदस्यों के द्वारा अलग-अलग उद्देश्यों के लिये।

जैसे ही हम अपने इंटरनेट सेवा प्रदाता को इसके कनेक्शन के लिये पैसे देते है उसी समय से हम इसका प्रयोग दुनिया के किसी भी कोने से एक हफ्ते या उससे ज्यादा समय के लिए कर सकते हैं। ये हमारे इंटरनेट प्लान पर निर्भर करता है। आज के अत्याधुनिक वैज्ञानिक युग में कंप्यूटर हमारे जीवन का मुख्य भाग बन गया है। इसके अभाव में आज हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते।

आज हम अपने रूम या ऑफिस में बैठे-बैठे देश-विदेश-जहाँ भी चाहें इंटरनेट द्वारा अपना संदेश भेज सकते हैं। वर्तमान में दुनिया का ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहाँ पर इंटरनेट का उपयोग नहीं किया जा रहा हो। इंटरनेट सूचनाओं का भंडार है इसलिए यहाँ पर आपको हर प्रकार की सूचना जैसे – अंतरिक्ष, मौसम, तकनीक, दवाई, रोज़गार, शिक्षा, व्यवसाय, पत्रिका, अखबार, समाचार, साहित्य, खेल, तत्कालीन घटनाएँ, राजनीति, मनोरंजन, बॉलीवुड, हॉलीवुड इत्यादि अनेक प्रकार के विषयों के बारे में जानकारी उपलब्ध हो जाती है।

इंटरनेट का उपयोग हम ईमेल भेजने, वीडियो चैटिंग, टेक्स्ट चैटिंग, नेट सर्फिंग, बिल जमा कराने, टिकट बुक कराने, शॉपिंग करने के लिए, सूचनाएँ बेचने और प्रदान करने के लिए, नौकरी खोजने और प्रदान करने के लिए, विज्ञापन करने के लिए, सीधे अपने ग्राहकों तक पहुँचने के लिए, मनोरंजन इत्यादि सभी कार्य करने के लिए करते है। वर्तमान में तो बच्चों की शिक्षा और उनके खेलने के लिए गेम्स भी इंटरनेट पर उपलब्ध है।

विज्ञान के क्षेत्र में भी इंटरनेट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इंटरनेट की सहायता से वैज्ञानिक एक-दूसरे से जुड़कर नए-नए आविष्कारों को अंजाम दे पाए है और अंतरिक्ष में घटने वाली घटनाओं की सूचना भी इंटरनेट के माध्यम से सभी को प्रदान की हैं।

इसके कारण शिक्षा के क्षेत्र में तो बहुत अधिक बदलाव आया है क्योंकि पिछड़े हुए क्षेत्रों में इंटरनेट की उपलब्धता के कारण वहाँ के विद्यार्थियों को उत्तम शिक्षा मिल रही है, जिससे रोज़गार में वृद्धि हो रही है और देश की तरक्की भी तेजी से हो रही है। इसका अथाह ज्ञान, सूचना, जानकारी इसके संचालन के उपयोग को और अधिक बढ़ा देता है। इसकी इसी विशेषता के कारण उपयोगकर्ताओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

ये सारी बातें अब आप लोगों के लिए अनभिज्ञ नहीं है, क्योंकि इस साल यानि 2020 में आप सबने अपने-अपने उद्देश्यों से इंटरनेट पर कुछ ना कुछ किया है। इस कोरोनाकाल में आप सबने चैटिंग, वीडियो चैटिंग, बच्चों की शिक्षा इत्यादि से रूबरू हुए है।

एक उत्पाद के लाभ और हानि दोनों का समायोजन होता है। इसलिए इंटरनेट के भी कुछ फायदे है तो कुछ नुकसान भी है उसी को हम आगे पढ़ेंगे।

इंटरनेट के लाभ

इंटरनेट का उपयोग करने से जो फायदे होते है वो इस प्रकार है:

संचार – इंटरनेट के माध्यम से हम किसी भी फाइल, फोटो, वीडियो, ऑडियो इत्यादि का आदान-प्रदान बहुत तेजी से कर सकते है। इंटरनेट से हम मोबाइल से एक स्थान से दूसरे स्थान पर बात कर सकते है। इंटरनेट पर हम एक दूसरे से बात करने के लिए ईमेल और चैटिंग भी कर सकते है। इसलिए वर्तमान में संप्रेषण या संचार का सबसे तेज और सुलभ साधन इंटरनेट बन गया है।

ई-बैंकिंग – आज का बैंकिंग सिस्टम इंटरनेट पर ही आधारित है अगर भूलवश एक मिनट के लिए भी इंटरनेट बंद हो जाए तो लाखों का नुकसान हो सकता है, पूरी बैंकिंग व्यवस्था बिगड़ सकती है। पहले एक खाते से दूसरे खाते में रुपए जमा कराने, अपने खाते से पैसे निकालने में, के लिए बैंक की लंबी-लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ता था लेकिन आजकल चुटकियों में एक खाते से दूसरे खाते में पैसा जमा हो जाते है और पैसे निकल आते है।

यह सब कुछ सिर्फ इंटरनेट के माध्यम से ही संभव हो पाया है। आज इंटरनेट बैंकिंग से हम घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं बिल जमा कर सकते है ट्रेन, बस, प्लेन होटल, सिनेमा आदि की टिकट बुक कर सकते है। वो भी किसी बिचौलिया के बिना।

ई-व्यापार – कुछ दशकों पहले तक व्यापार करने के लिए एक व्यापारी को दूसरे व्यापारी से मिलना पड़ता था और मिलकर ही अपना पैसा देना होता था, तभी जाकर व्यापार को आगे बढ़ाया जा सकता था लेकिन जब से इंटरनेट का विस्तार हुआ है तब से इंटरनेट द्वारा ही व्यापार किया जाने लगा है।

एक व्यापारी अब अपने दुकान पर बैठकर दूसरे व्यापारी को ऑर्डर के साथ-साथ माल के रुपए इंटरनेट के माध्यम से जमा करा देता है जिससे व्यापार सुलभ और तेजी से बढ़ रहा है। आजकल तो ऑनलाइन सामान बेचने वाली वेबसाइट भी आ गई है जिनसे ग्राहक सामान घर बैठे मंगवा सकता है। पसंद ना आने पर वापस भेज भी सकता है।

ई-शिक्षा – शिक्षा पाने के लिए अब आपको स्कूल, कॉलेज जाने की जरूरत नहीं पड़ती है, क्योंकि आज कल इंटरनेट के माध्यम से ही आप अपनी स्कूली शिक्षा पूर्ण कर सकते है। कुछ वर्षों पहले तक शिक्षा ग्रहण करने के लिए हमें स्कूल या फिर किसी शिक्षक के पास जाना पड़ता था लेकिन आज इंटरनेट आने के बाद शिक्षा पाने के लिए हमें कहीं जाने की जरूरत नहीं है।

हम घर बैठे जिस विषय पर हमें शिक्षा चाहिए उसकी शिक्षा हम ले सकते है और अगर आप शिक्षक हैं तो विद्यार्थियों को इंटरनेट के माध्यम से पढ़ा भी सकते है। इससे शिक्षक और विद्यार्थी दोनों के समय की बचत होती है। इंटरनेट के माध्यम से हम विदेशी पढ़ाई भी पढ़ सकते है। इंटरनेट ने दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सहायता पहुँचाई है।

ई-रोजगार – इंटरनेट के उपयोग से अब आपको रोजगार भी आसानी से मिलने लगा है। जब से इंटरनेट का प्रयोग प्रत्येक व्यक्ति करने लगा है तो लोगों को इससे रोजगार भी मिलने लगा है आजकल लगभग सभी सरकारी कार्य इंटरनेट के माध्यम से ही होने लगे हैं जैसे राशन कार्ड आधार कार्ड पैन कार्ड और अन्य दस्तावेज बनाने के लिए इंटरनेट की सहायता होती है इसलिए ईमित्र जैसी सुविधाओं से व्यक्तियों को रोजगार मिल रहा है। इंटरनेट पर पैसा कमाने के लिए कई लोग वीडियो, ऑडियो और लिखित सामग्री के माध्यम से भी पैसा कमाते है।

ई-चिकित्सा – चिकित्सा के क्षेत्र में भी इंटरनेट के आने के बाद बहुत से अच्छे-अच्छे बदलाव देखने को मिले। कोई भी बीमारी हो जाने पर पहले हमें चिकित्सक के पास जाना पड़ता था लेकिन आजकल इंटरनेट आ जाने के कारण डॉक्टर इंटरनेट पर उपलब्ध रहते है उनकी फीस ई बैंकिंग की सहायता से उन्हें दे दी जाती है। और डॉक्टर आप की रिपोर्ट देखकर आप की बीमारी के बारे में सही सलाह देते है।

साथ ही आजकल इंटरनेट पर ही दवाईयाँ मिलने लगी है जिससे आपको दवाई खरीदने के लिए भी दुकान पर नहीं जाना पड़ता है घर बैठे ही आपको दवाईयाँ मिल जाती है। इसके अलावा कोई क्रिटिकल केस या जाए तो विदेश में बैठे डॉक्टर से वीडियो चैटिंग के माध्यम से सलाह ले सकते है।

मनोरंजन – इस क्षेत्र में इंटरनेट ने बहुत से सही काम किये है। एक क्लिक के अंदर गाँव में बैठ आदमी अपने मनपसंद का गाना, मूवी या चित्र देख सकता है। टेक्नोलॉजी की दुनिया में मनोरंजन के लिए पहले रेडियो आया और फिर टेलीविजन लेकिन अब इंटरनेट का जमाना है।

वर्तमान में इंटरनेट पर हर प्रकार के मनोरंजन के लिए अलग-अलग वेबसाइट उपलब्ध है। इन वेबसाइटों पर आप वीडियो, ऑडियो, गेम, सभी कार्य कर सकते है। इंटरनेट पर बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के मनोरंजन के लिए मनोरंजन सामग्री उपलब्ध है जिसके कारण आजकल सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और खूब आनंद उठाते है।

सुरक्षा – इंटरनेट के माध्यम से अपनी सुरक्षा को काफी हद तक बढ़ा सकते है। वर्तमान में कुछ असामाजिक तत्वो के कारण असुरक्षा महसूस होती है और आपके पास अगर इंटरनेट है तो आप अपने परिवार वालों को एक सेकंड में मैसेज भेज कर सहायता माँग सकते है या फिर ऐसी कोई अप्रिय घटना हो रही हो जो कि नहीं होनी चाहिए आप उसका वीडियो बना सकते हैं और लोगों को उसके बारे में सचेत कर सकते है।

आजकल तो सीसीटीवी कैमरे भी इंटरनेट से जुड़े हुए होते हैं इसलिए आप अपनी दुकान घर ऑफिस को सीसीटीवी कैमरे को इंटरनेट की सहायता से अपने मोबाइल पर भी देख सकते है। इंटरनेट ने सुरक्षा को बहुत अधिक बढ़ा दिया है।

इसके अलावा भी बहुत सारे फायदे होते है। जैसे – सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से हम किसी भी खबर को एक ही पल में एक ही शेयर से बहुत सारे लोगों तक पहुँचा सकते हैं। सुयोग्य वर-वधु की तलाश को भी इंटरनेट ने आसान कर दिया है। इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी मैट्रीमोनी साइट्स है जिन पर आप अपनी पसंद के जीवनसाथी की तलाश कर सकते हैं।

internet par nibandh

इंटरनेट हमारी पढाई में भी बहुत मदद करता है। आज के समय में बाजार में किताबें बहुत ही महंगी आती हैं और प्रत्येक व्यक्ति उन्हें खरीद नहीं सकता है। आप उन्हें इंटरनेट की सहायता से पढ़ सकते हैं और डाऊनलोड करके अपने कंप्यूटर या मोबाइल में सेव करके रख सकते हैं।

इंटरनेट से हानि

इंटरनेट के प्रयोग करने से कुछ हानियाँ भी है, जो इस प्रकार है-

मानसिक तनाव – इंटरनेट का हद से ज़्यादा प्रयोग करने से आपको तनाव उत्पन्न होता है और सोशल साइट्स के जमाने में अनजान लोगों से बातें करके कुछ ऐसी बातें शेयर कर देते है जिसको ब्लैकमेल करके पैसों के साथ-साथ मानसिक तनाव दे जाते है।

चिड़चिड़ापन – इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल करने से चिड़चिड़ापन होने लग जाता है क्योंकि हम जैसा चाहते हैं इंटरनेट पर वैसा नहीं होता है कई बार बच्चे ऑनलाइन इंटरनेट पर गेम खेलते रहते हैं और आउट हो जाने पर उनका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है। इंटरनेट पर कई हिंसक गेम, वीडियो और इत्यादि सामग्री उपलब्ध है जोकि चिड़चिड़ापन को बढ़ावा देती है।

व्यवहार में बदलाव – वर्तमान में लोग एक दूसरे से मिलना बहुत कम पसंद करते हैं वे इंटरनेट पर ही दोस्त बनाना चाहते हैं और ज्यादातर समय इंटरनेट पर ही बताते हैं जिससे उनका व्यवहार पूरी तरह से बदल जाता है। बात-बात पर गुस्सा करते है, उनके बात करने की भाषा भी बदल जाती है, बाहर जाना नहीं चाहते है।

शारीरिक दुष्प्रभाव – इंटरनेट पर हम कई बार ऐसे वीडियो ऑडियो या चित्र देख लेते है जिनको देखकर हम भी वैसा ही करने की कोशिश करते है जिससे हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इंटरनेट पर बाइक, कार और अन्य प्रकार के स्टंट के वीडियो उपलब्ध है जिनको देखकर बच्चे वैसा करने की कोशिश करते हैं और अपने शरीर को नुकसान पहुंचा लेते है। इसलिए इंटरनेट से शारीरिक दुष्प्रभाव भी हो सकते है।

डाटा की चोरी और गैरकानूनी गतिविधियाँ – वर्तमान में सभी कंपनियों, सरकारी दस्तावेज, व्यक्तिगत दस्तावेज इत्यादि इंटरनेट पर ही है तो इनके लीक होने का खतरा हर समय बना रहता है, और काफी कंपनियों का हर साल डाटा चोरी होता है जिसके कारण लाखों करोड़ों का नुकसान हो जाता है।

इंटरनेट की दुनिया में डाटा चोरी होना एक प्रमुख समस्या है इससे बचने के लिए कई उपाय किए जाते हैं लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक हो जाती है इसलिए हमेशा इंटरनेट का इस्तेमाल सावधानीपूर्वक करना चाहिए। इंटरनेट के माध्यम से कई गैरकानूनी विधियाँ की जाती हैं जैसे गैर कानूनी माल की सप्लाई के लिए जानकारी देना, आतंकवादी गतिविधियों बढ़ाने के लिए आतंकवादी इंटरनेट का इस्तेमाल ही करते है और भी अनेक कार्य है जो कि गैरकानूनी है और इंटरनेट पर छुपा कर किए जाते है।

समय का दुरुपयोग – वर्तमान में ज्यादातर बच्चे और युवा लोग इंटरनेट पर ही समय व्यतीत करते हैं आप अपने आसपास नजर घुमा कर देखिए बस स्टैंड पर दुकान पर घर पर खेल के मैदान में सभी जगह लोग मोबाइलों में इंटरनेट चलाते दिख जाएंगे। इससे उनका जरूरी कार्य रुक जाता है और समय का दुरुपयोग होता है।

उपसंहार

इंटरनेट आज की दुनिया में हर किसी के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इंटरनेट जानकारियों का समूह है जो दुनिया के सभी कंप्यूटरों से जानकारी प्राप्त करके हमें सर्च इंजन और अन्य वेबसाइटों की सहायता से सूचनाएँ प्रदान करता है। आजकल सरकारी, गैर-सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, कॉलेजों, हॉस्पिटलों, बैंक, छोटे से लेकर बड़े व्यापार में इंटरनेट का प्रयोग किया जाता है।

इंटरनेट के कारण दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति को इससे लाभ पहुंचा है, लेकिन आज भी हमारे देश के कई ऐसे स्थान हैं जहाँ पर इंटरनेट पहुँच नहीं पाया है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति तक इंटरनेट पहुँचना चाहिए। इंटरनेट का उपयोग मात्र मनोरंजन के लिए करना सही नहीं है क्योंकि इंटरनेट से हम कई प्रकार के ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और विश्व को एक नए स्तर पर ले जा सकते हैं।

इंटरनेट का उपयोग राष्ट्र के विकास के लिए करना चाहिए ना कि इसे बेकार की चीजों में उपयोग करके अपने समय को बर्बाद करना चाहिए। इंटरनेट विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है। इस के आविष्कार के बाद विज्ञान को जैसे पंख ही लग गए है। इससे दुनिया के हर क्षेत्र में विस्तार हुआ है इंटरनेट का उपयोग अगर सही काम के लिए किया जाए तो यह बहुत ही अच्छा है।

लेकिन इसका दुरुपयोग किया जाए तो इसके बहुत गंभीर परिणाम हो सकते है इसलिए इंटरनेट को हमेशा सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए। इंटरनेट की सहायता से हम लोग विश्व की किसी प्रकार की भी जानकारी मात्र चंद सेकेंडों में प्राप्त कर सकते हैं। वास्तव में इंटरनेट ने मानव इतिहास में एक क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का कार्य किया है।

Read Also: दशहरा पर निबंध

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर की गई यह “इंटरनेट के बारे में जानकारी (Essay on Internet in Hindi)” आपको पसंद आई होगी। यह लेख आप अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर जरूर करें। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। हमारे फेसबुक पेज से जरूर जुड़े।

Read Also

यह पोस्ट आपके लिए कितनी उपयोगी रही?

कृपया स्टार पर क्लिक करके रेटिंग दें

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

अब तक कोई वोट नहीं! इस पोस्ट को रेट करने वाले आप पहले व्यक्ति बनें!

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी!

हमें इस पोस्ट में सुधार करने दें!

कृपया हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे सुधार सकते हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here