वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध

Essay on Importance of Tree Plantation in Hindi: वृक्ष से तो आप सब परिचित है ही क्योंकि वृक्ष के बिना हमारा जीवन असंभव है। जितने अधिक वृक्ष होंगे उतना ही स्वस्थ जीवन हम जी सकेंगे। इसीलिए हमें चाहिए कि हम वृक्ष लगाते रहे। उनकी कटाई ना करें। आज का हमारा आर्टिकल जिसमें हम वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध के बारे में बात करने वाले हैं। इस निबंध में वृक्षारोपण के महत्व के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay-on-Importance-of-Tree-Plantation-in-Hindi-

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध | Essay on Importance of Tree Plantation in Hindi

वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध (250 शब्द)

वृक्षा वह है, जिसके बिना मानव का जीवन असंभव है। मान लीजिए अगर पेड़ हमें वाईफाई सिगनल देते तो हम आज तक कितने पेड़ लगा चुके होते, शायद हम हैं उस लिस्ट में आते जो ग्रह को बचाते, परंतु सबसे बड़ी दुख की बात यह है कि पेड़ हमें केवल सिर्फ ऑक्सीजन ही प्रदान करते हैं। हम इतने ज्यादा प्रौद्योगिकी के आदी हो गए हैं कि हम पर्यावरण आदि चीजों के बारे में सोचते ही नहीं है।

अगर हम सच में जीना चाहते हैं, तो हमें अधिक से अधिक पेड़ लगाने होंगे। पेड़ों के द्वारा हमें ऑक्सीजन प्राप्त होती है। और जितनी भी कार्बन डाइऑक्साइड होती है, वह पेड़ पौधे अवशोषित कर लेते हैं। जिसकी वजह से हम स्वच्छ वातावरण में रहते हैं। हमें शुद्ध हवा मिलती है, और जितने अधिक से अधिक पेड़ लगाए जाएंगे, उतना ही शुद्ध हमें वातावरण मिलेगा। पेड़ पौधे सभी प्रकार की विषैली गैसों को अवशोषित कर लेते हैं।

आजकल देखा जाए तो प्रदूषण इतना हद तक बढ़ गया है, कि इससे लड़ा नहीं जा सकता है। प्रदूषण से बचने और लड़ने का केवल एक ही कारण है, जितना हो सके हमें पेड़ लगाने चाहिए। मान लीजिए आप किसी गांव में जाते हैं, वहां पर आप यह पाएंगे कि जितने अधिक पेड़ हैं, जंगल है उतनी ही शुद्ध हवा हमें वहां पर मिलती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जंगलों की वजह से वहां के जितना भी प्रदूषण होता है, वह सब पेड़ पौधे अवशोषित कर लेते हैं और हमें शुद्ध हवा मिलती है। दूसरी ओर वही देखा जाए तो हम शहरों में आते हैं, हमें उतना ही अधिक प्रदूषण मिलेगा क्योंकि वहां पर पेड़ों की संख्या कम होती जा रही है, जिसकी वजह से प्रदूषण बढ़ता जा रहा है।

देखा जाए तो वृक्षारोपण इतना महत्वपूर्ण हो गया है कि अगर आज लोगों ने नहीं समझा तो भविष्य में और आने वाली पीढ़ी को बहुत ही भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है, इसीलिए हमें वृक्षारोपण में सहयोग देना चाहिए।

वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

समय से ही वृक्ष और मनुष्य का बहुत ही गहरा संबंध रहा है। ऐसा कहा जाता है वृक्ष हमारे सच्चे दोस्त होते हैं और यह सच भी है क्योंकि वृक्ष हमें इतनी चीजें प्रदान करते हैं। वह हमारे सच्चे मित्र हैं, क्योंकि वह हमारे स्वास्थ्य का बहुत ही अत्यधिक ध्यान रखते हैं। वृक्ष हमें फल, फूल, धूप, छांव, बारिश, पर्यावरण को सुरक्षित रखना, ग्लोबल वार्मिंग को हटाना, जाने कितने ही वृक्षों के काम होते हैं। जिनकी वजह से आज हम एक स्वस्थ जीवन जी रहे है।

अगर हम यह चाहते हैं कि हमारा भविष्य भी इसी तरह से स्वस्थ जीवन जिए और हमारी आने वाली पीढ़ी भी कोई भी समस्या को ना झेले। तो हमें वृक्ष रोपण करना चाहिए क्योंकि जिस तरह से आजकल वृक्षों की कटाई हो रही है वह बहुत ही दुखद बात है, इसकी वजह से लोगों को बहुत ही परेशानी देखनी पड़ती है।

वृक्षारोपण पुण्य का कार्य

पिछले कई वर्षों से लगातार पेड़ों की अधिक कटाई होती जा रही है। जितनी भी हरियाली है, सब दिन प्रतिदिन खत्म होती जा रही है। बिना कुछ सोचे समझे पेड़ों को काटा जा रहा है और पेड़ पौधे भी नहीं लगाए जा रहे हैं। जिसकी वजह से बड़े से बड़े जंगल तक समाप्त हो गए हैं। वृक्ष की संख्या कम होती जा रही है। कुछ पेड़ों की प्रजातियां तो इस हद तक समाप्त हो गई हैं, कि उनके नाम तक याद नहीं है कई प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं कई विलुप्त होने की कगार पर हैं।

वृक्षारोपण ना करने से सबसे ज्यादा असर समस्त भूमंडल और यहां पर रहने वाले सभी प्राणियों पर पड़ रहा है। आए दिन मौसम में इतना सारा परिवर्तन देखा जाता है कि जिसका कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता। लगातार तापमान में वृद्धि हो रही है, इतना तापमान बढ़ जाता है, कि कई जंगलों में आग तक लग जाती है। इस समय देखा जाए तो धरती का अस्तित्व बहुत ही सादा खतरे में पड़ चुका है।

अब लोगों के द्वारा अधिक से अधिक पेड़ लगाए जा रहे हैं। इसकी कोशिश की जा रही है, कि वह एक नया कदम उठा सके नए-नए वृक्ष लगाकर उनकी नवजात शिशु की तरह देखभाल करें क्योंकि वृक्ष लगाना ही काम पूरा नहीं होता है उसकी देखभाल करना भी बहुत ही जरूरी होता है।

हमारे देश में पेड़ों को भी बच्चे की तरह ही माना जाता है, क्योंकि कहा भी जाता है कि एक वृक्ष सौ पुत्रों के समान हैं। यह इसीलिए ही कहा जाता है, क्योंकि वृक्षों को भी उसी तरह से सीखा जाता है, जिस तरह से बच्चों को पाला जाता है।

पुराने समय से ही वृक्षों और पेड़ों की तुलना भगवान से की गई है क्योंकि ऐसा कहा जाता है। कई पेड़ पौधों में भगवान का वास होता है कई पेड़ पौधों की पूजा भी की जाती है। इसीलिए वह सदैव हमारी रक्षा करते हैं हमें स्वच्छ वातावरण प्रदान करते हैं इसीलिए हमें वृक्षारोपण का पुण्य कार्य हमेशा करते ही रहना चाहिए।

वृक्षारोपण से होने वाले लाभ

वैसे तो देखा जाए वृक्षारोपण से इतनी अधिक लाभ है, कि अगर हम गिनने बैठे तो वह कभी पूरे नहीं होंगे। परंतु फिर भी कुछ लाभ के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

  • जितने अधिक वृक्ष लगाए जाएंगे वह बड़े होकर फलते फूलते हैं, उसके पश्चात यह सुंदर वनों में बदल जाते हैं, जिसकी वजह से चारों तरफ हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है।
  • वृक्षों की हरियाली तो ऐसी होती है, कि किसी का भी मन मोह लेती है और उनकी ठंडी छाया ऐसी प्रतीत होती है, मानो किसी ने हमें बर्फ की चादर उड़ा दी हो अगर तपती दोपहर में हम वृक्षों के नीचे खड़े हो जाएं, तो हमें धूप से राहत मिलती है, पेड़ पौधे हमें गर्मी से बचाते हैं, और ठंडी शीतल हवा प्रदान करते हैंज़ साथ ही साथ सुख शांति भी देते हैं।
  • पेड़ों के जितने भी भाग होते हैं, वह सभी काम में आते हैं, चाहे वह पत्ते हो फूल हो फल हो सभी के कुछ ना कुछ हमें लाभ जरूर मिलते हैं।
  • पेड़ों से हमें कागज, गोंद, दीया सिलाई, लाख, तरह-तरह की दवाइयां तेल ना जाने कितनी अनगिनत चीजें प्राप्त होती हैं।
  • कई पेड़ों से तो इतनी ज्यादा औषधियां बनाई जाती है कि उनसे हर प्रकार की बीमारी तक दूर हो जाती है।
  • जितनी जल्दी पेड़ कम होते जा रहे हैं, उतनी ही बारिश में कमी होती जा रही है।
  • पेड़ पौधों से हमें जानवरों के लिए चारा जलावन के लिए लकड़ी घर के खिड़की व दरवाजे और न जाने कितनी ही चीजें प्राप्त होती हैं।
  • हमारे घर में कई प्रकार की वस्तुएं ऐसी होती है, जिनमें पेड़ पौधों का बहुत ही बड़ा योगदान होता है जैसे फर्नीचर पलंग बर्तन औजारों के हत्थे और भी कई प्रकार की वस्तुएं प्राप्त होती हैं।

वृक्षारोपण का महत्व

  • अगर वैज्ञानिकों की दृष्टि से देखा जाए तो पेड़ों से वायुमंडल शीतल एवं शुद्ध बनता है, वृक्षों की वजह से ही कई प्रकार के प्रदूषण समाप्त हो जाते हैं वृक्ष के वातावरण से जहरीली गैस कार्बन डाइऑक्साइड सब समाप्त हो जाती है, क्योंकि वह कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर लेती है और हमें स्वच्छ ऑक्सीजन प्रदान करती है।
  • जहां पर वृक्ष अधिक होते हैं, वहां पर बादल स्वयं ही खींचे चले आते हैं, क्योंकि वृक्ष बहुत ही आकर्षक होते हैं जिसकी वजह से वहां पर बारिश हो जाती है और जल की प्राप्ति होती है और वापस से हरियाली छा जाती है।
  • वृक्ष भूमि कटाव को भी रोकते हैं मिट्टी की उर्वरा शक्ति को क्षीण होने बचाने में बहुत ही सहायक होते हैं।
  • अगर खेतों के चारों और पेड़ लगाए जाए तो इससे मिट्टी की गुणवत्ता की रक्षा भी होती है और भूमि में कटाव भी नहीं होता है।
  • नदी के किनारे पर पर लगाने से नदी के किनारे कटते नहीं है, और उसे सुंदरता भी बढ़ती है और शीतल छाया भी प्रदान होती है।

निष्कर्ष

इस समय हमारा प्रथम कर्तव्य वृक्षारोपण है। वृक्ष लगाकर हम धरती को तो सुंदर बनाएंगे ही बल्कि अपने साथ भी गलत नहीं होने देंगे, क्योंकि जितनी अधिक वृक्ष लगाए जाएंगे उतना ही हम खुद को सुरक्षित रख सकेंगे। यह केवल हमारे लिए ही नहीं बल्कि आने वाली पीढ़ी के लिए भी बहुत जरूरी है।

अंतिम शब्द

दोस्तों आज हमने आपको अपने इस लेख में वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध ( Essay on Importance of Tree Plantation in Hindi) के बारे में बताया है। आशा करते हैं, कि आप भी पेड़ पौधे लगाकर उनकी देखभाल जरूर करेंगे और समाज की सेवा करेंगे। अगर आपको ऐसे संबंधित कोई भी प्रश्न पूछना है तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here