हाथी पर निबंध

Essay on Elephant in Hindi: हम यहां पर हाथी पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में हाथी के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

हाथी पर निबंध | Essay on Elephant in Hindi

हाथी पर निबंध (200 शब्द)

हाथी की गिनती दुनिया के सबसे वजनदार, ताकतवर और बुद्धिवान प्राणियों में होती है। हाथी को भगवान गणेश का रूप माना जाता है और कई कई जगहों पर हाथी की पूजा भी की जाती है। हाथी बच्चों का मनपसंद प्राणी है , जिसे सर्कस में देखा जाता है।हाथी एक आज्ञाकारी प्राणी है। इसलिए उसे अच्छा प्रशिक्षण देकर अनेक कार्यों में जोड़ा गया है।

हाथी का शरीर बड़ा है। शरीर के अनुसार उनकी दो आँखें और एक पूँछ छोटी है। उनके दो कान है ,जो काफी बड़े है। दिनभर उनके कान हिलते रहते है। उनकी एक बड़ी लंबी  सूंढ़ है, जिसकी मदद से वो पानी और भोजन लेता है। के सूंढ़ के आजुबाजु दो बड़े सफ़ेद रंग के दांत होते है, जो काफी कीमती है। उसे हाथीदाँत कहते है। हाथी के चार पैर गद्दीदार और बड़े खंभे जैसे होते है।

हाथी एक शाकाहारी प्राणी है। उनका भोजन पेड़ पौधें, फल-सब्जियां और सूखी पत्तियां ,केला और गन्ने है। दुनिया में हाथी सिर्फ दो  प्रजाति मोजूद है। हमेशा झुंड में नज़र आनेवाला हाथी बड़े भावुक होते है।

हाथीएक ऐसा प्राणी है जो ज़िन्दा और मरने के बाद भी काम आता है। जंगलों के कटने पर आज हाथी की संख्या काफी कम हो गई है। कुदरत के इस जीव को बचने के लिए हमें अधीक से अधीक प्रयत्न करने होंगे।

हाथी पर निबंध ( 600 शब्द)

प्रस्तावना

दुनिया के सबसे विशालकाय और ताकतवर प्राणियों में हाथी की गिनती होती है। ना सिर्फ ताकत में बल्कि बुद्धिमता में भी वो अन्य प्राणियों के मुकाबले में काफी आगे है। वैसे तो हाथी एक जंगली प्राणी है, लेकिन उसके आज्ञाकारी गुण के कारण अच्छा प्रशिक्षण देकर उन्हें सर्कस जैसे कई  कार्यों में जोड़ा गया है। हाथी को एक शाही प्राणी माना जाता है क्योंकि प्राचीन समय में कई देवताओं और राजा सवारी करने के लिए हाथी का उपयोग करते थे।

हाथी की शारीरक संरचना

हाथी एक बड़े कद का वजनदार प्राणी है। हाथी का रंग हल्का स्लेटी होता है। हाथी की ऊंचाई लगभग 10-13 फीट तक की होती है। उनका वजन करीबन 5000 किलो से लेकर 6000 किलो तक होता है। हाथी की आंखे काफी छोटी होती है। उनके आंखों की रोशनी बेहद कम होने के बावजूद भी कम रोशनी में ज्‍यादा देख पाते हैं।

इसकी एक लंबी सूंड होती है, जिसकी मदद से वो पानी और भोजन को ग्रहण करता है। हाथी अपनी लंबी सूंड में करीब  8 से 9 लीटर तक पानी भर सकता और 350 किलोग्राम तक का वजन उठा सकता है। उनके मुँह में कुल 24 दांत होते है। लंबी सूंड के दोनों बाजु लम्बे लम्बे दो सफ़ेद दांत होते है, जो हाथी दंत के नाम से के नाम से मशहूर है।

इसके के दो बड़े बड़े कान होते है और शरीर के मुकाबले पूंछ छोटी होती है। हाथी के पग गद्दीदार होते है, जिसकी मदद से वह अधिक समय तक खड़ा रह सकता है। हाथी की त्वचा काफी संवेदनशील होती है काफी होती है। इसलिए चिट्टी जैसे छोटे जीव के काटने पर भी उसे दर्द महसूस होता है।

हाथी की जीवन शैली

हाथी का स्वभाव एकदम शांत है लेकिन हाथी को परेशान करने पर वह गुस्सैल और खतरनाक हो जाता है। हाथी की नींद दिन के सिर्फ 3 से 4 घंटे तक की होती है। वो दिन भर करीब 10 से 20 किलोमीटर चलते हैं। पूरी दुनिया में हाथी ही सिर्फ ऐसा प्राणी है जो हररोज स्नान करता है। हाथी हमेशा झुंड में नज़र ही नज़र आते है। अपने साथी को लेकर वो बड़े भावुक होते है। हाथी का हृदय 1 मिनट में केवल 27 बार ही धड़कता है। भारी होने के कारन वो कूदने में असमर्थ होता है लेकिन पानी में आसानी तैर सकता है।

हाथी का भोजन

यह एक शाकाहारी प्राणी है। उनका भोजन जंगल के हरे भरे पेड़ पौधें, फल-सब्जियां और सूखी पत्तियां है। पालतू हाथी रोटी और केले भी खाता है।एक दिन में  हाथी करीब 100 से 150 किलो तक खाना खाता है। लेकिन उनमें से सिर्फ 35% ही खाना वो पचा सकता है। इसके अलावा हाथी को दिन में 160 लीटर तक पानी की जरूरत होती है। हाथी का सबसे पसंदीदा भोजन गन्ना होता है। दिन में 16 घंटे वो सिर्फ भोजन करता है।

हाथी की प्रजातियां 

दुनिया में हाथी सिर्फ दो ही जगह पर पाये जाते है। वर्तमान में दुनिया में सिर्फ हाथी की दो ही प्रजाति जीवित है। एशियाई हाथी और एक अफ्रीकन हाथी। अफ्रीकन हाथी  एशियाई हाथी के मुकाबले में काफी बड़े और वजनदार होते है। आयुष्य की तुलना में एशियाई हाथी क़रीब 80 सालों तक जीवित रहता है। हाथी सफेद रंग के भी होते है, जो थाईलैंड में पाए जाते हैं।

निष्कर्ष

हाथी एक सामाजिक और वफादार प्राणी है। छोटे बच्चों को हाथी सभी प्राणियों में सबसे प्रिय है। एक रिपोर्ट के अनुसार मनुष्य कीमती हाथी दांत के चक्कर में रोजाना 100 हाथी का कत्ल कर देते है, जो एक बेहद दुःख की बात है। जंगल की संख्या कम होने के कारण अब हाथी की प्रजाति भी लुप्त होने के कगार पर है। हमें ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाकर हाथी की आबादी को बचना चाहिए। पर्यावरण से जुड़े हर एक जीव की रक्षा करना हमारा पहला कर्तव्य है।

अंतिम शब्द

हमने यहां पर “हाथी पर निबंध( Essay on Elephant in Hindi)”शेयर किया है उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here