ड्राइविंग लाइसेंस आवेदन फॉर्म PDF डाउनलोड कैसे करें?

Driving Licence Application Form Pdf Download Kaise Kare: आज के समय में वाहन लोगों के लिए आवश्यकता बन चुकी है क्योंकि आज ट्रांसपोर्ट बहुत तेजी से बढ़ रहा है। लोग एक जगह से दूसरे जगह हर दिन यात्रा करते हैं। एक जगह से दूसरी जगह माल-समान पहुंचाया जाता है। जिस कारण हर दिन कार और अलग-अलग तरह वाहन बाजार में आते हैं। लेकिन इन वाहनों को चलाने के लिए हर एक वाहन चालको ड्राइविंग लाइसेंस की अनिवार्यता भारत सरकार द्वारा घोषित की गई है।

ड्राइविंग लाइसेंस हर एक वाहन चालकों को सड़कों पर वाहन चलाने की अनुमति प्रदान करता है। बिना ड्राइविंग लाइसेंस के यदि कोई पाया जाता है तो उसे जुर्माना भरना पड़ता है। इसीलिए हर एक वाहन चालकों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करना बहुत ही जरूरी है। जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है। ड्राइविंग लाइसेंस का आवेदन करने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस के फॉर्म की जरूरत पड़ती है।

Driving Licence Application Form Pdf Download Kaise Kare
Image: Driving Licence Application Form Pdf Download Kaise Kare

जिसमें सभी प्रकार की जानकारी को भरने के बाद आरटीओ ऑफिस में जाकर सबमिट करना पड़ता है। यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस के फॉर्म घर बैठे प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस लेख को अंत तक पढ़ सकते हैं। क्योंकि आगे इस लेख में हमने ड्राइविंग लाइसेंस के फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करने की प्रक्रिया स्टेप बाय स्टेप बताई है।

ड्राइविंग लाइसेंस आवेदन फॉर्म PDF डाउनलोड कैसे करें? | Driving Licence Application Form Pdf Download Kaise Kare

ड्राइविंग लाइसेंस क्या है?

ड्राइविंग लाइसेंस एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। यह सभी वाहन चालकों के लिए अनिवार्य होता है। ड्राइविंग लाइसेंस 1988 में पारित किए गए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत हर हर राज्यों के रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के द्वारा जारी किया जाता है।

ड्राइविंग लाइसेंस के फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • ड्राइविंग लाइसेंस के एप्लीकेशन फॉर्म का पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए आपको अपने मोबाइल या लैपटॉप में क्रोम ब्राउज़र में जाना होगा।
  • वहां पर आपको परिवहन सर्च करना होगा, जिसके बाद आपको भारतीय परिवहन मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट (parivahan.gov.in) देखने को मिलेगी।
  • भारत के परिवहन मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचने के बाद मेनू बार में आपको कई सारे सेक्शन दिखाई देंगे, इसमें आपको ऑनलाइन सर्विस लिखा हुआ सेक्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑनलाइन सर्विस के सेक्शन पर क्लिक करने के बाद विकल्पों की एक लिस्ट खुलकर आ जाएगी, इस लिस्ट में आपको ड्राइविंग लाइसेंस रिलेटेड सर्विस के ऑप्शन पर जाना होगा।
  • अगले पेज पर आपको राज्य के नाम का चयन करने के लिए कहा जाएगा।
  • नेक्स्ट पेज पर आपको अप्लाई ड्राइविंग लाइसेंस देखने को मिलेगा, जिसे आप को सिलेक्ट करना होगा।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे, अगले पेज पर पांच अलग-अलग स्टेप बताएं जाएंगे, आपको यहां पर बस नीचे दिए गए कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद नए पेज पर आपको Diplomat (Foreigner) / Repatriate / Refugees / Foreigners (But not Diplomats) / Ex-Servicemen / Physically Challenged लिखा हुआ अलग-अलग कैटेगरी दिखाई देगा। यदि आप इनमें से किस भी कैटेगरी में आते हैं तो आप सिलेक्ट कर सकते हैं। यदि आप किसी भी कैटेगरी में नहीं आते हैं तो आप इसे छोड़ सकते हैं।
  • अगले पेज पर आपको Applicant does not hold Driving/ Learner Licence लिखा हुआ दिखाई देगा। यदि आपके पास पहले से लर्निंग लाइसेंस नहीं है तो आप इस विकल्प का चयन कर सकते हैं, उसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सम्मिट के बटन पर जैसे ही आप क्लिक करेंगे अगले पेज पर ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन का फॉर्म खुलकर आ जाएगा। आप चाहे तो ऑनलाइन यंही पर फॉर्म भर के अप्लाई कर सकते हैं। लेकिन यदि आप ऑफलाइन आरटीओ में जाकर जमा करना चाहते हैं तो आप यहां से इस फॉर्म को डाउनलोड कर सकते हैं और इसका प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

Driving License का Test Procedure

यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए होने वाली टेस्ट में पास होना चाहते हैं तो आपको ट्रैफिक से जुड़े नियम और ट्रैफिक साइन के बारे में अच्छे से जानकारी होनी चाहिए। यदि आपको इनके बारे में जानकारी नहीं है तो सबसे पहले आप इन सब चीजों की जानकारी लें।

क्योंकि जब आप पहली बार ड्राइविंग लाइसेंस बनाने जाते हैं तब आपको लर्नर लाइसेंस के लिए आवेदन करना पड़ता है और लर्निंग लाइसेंस तभी जारी होता है जब आप कंप्यूटर टेस्ट में पास होते हैं, जिसमें आपसे ट्रैफिक से जुड़े नियमों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसकी तैयारी करने के लिए आप मॉक टेस्ट भी दे सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए होने वाले टेस्ट में पास होने के लिए आपको वाहन अच्छे से चलाना आना चाहिए। क्योंकि लर्नर लाइसेंस की वैधता मात्र 6 महीने की होती है, उसके बाद आपको परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करना होता है और परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस तभी जारी होता है जब आप ड्राइविंग टेस्ट में पास होते हैं।

ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए उम्मीदवार को उनके द्वारा तय किए गए समय पर बुलाया जाता है। ऐसे में हर उम्मीदवार को कम से कम एक घंटा पहले ही आरटीओ पहुंच जाना चाहिए। टू व्हीलर, स्कूटर जैसे वाहनों के लिए 8 के आकार में वाहन चलाना होता है, जिसमें बिना पैर जमीन पर रखें गाड़ी चलानी होती हैं। इसमें इंडिकेटर का सही इस्तेमाल करना पड़ता है ताकि इसमें पास हो जाए।

हैवी वाहनों के लिए ड्राइविंग टेस्ट थोड़ा अलग तरीके से होता है। टेस्ट में पास हो जाते हैं तो रजिस्टर पोस्ट के माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस बताए गए एड्रेस पर भेज दिया जाता है।

FAQ

ट्रक क्रेन जैसे वाहन चलाने के लिए कौन से ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ती है?

ट्रक क्रेन जैसे भारी वाहनों को चलाने के लिए हेवी ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ती है।

ड्राइविंग लाइसेंस खोने पर क्या करें?

यदि आपको ड्राइविंग लाइसेंस खो जाता है तो आप दोबारा डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको कुछ निर्देशों का पालन करना होता है। यदि आपका ड्राइविंग लाइसेंस खो जाता है तो सबसे पहले तो आपको अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में f.i.r. करवाना होता है और आपको उसकी एक कॉपी भी लेनी होती है। उसके बाद Notary office में जाकर आपको एफिडेविट स्टेम्प पेपर तैयार करना होगा, जिसके लिए आपको कुछ चार्जेस भी देने पड़ेंगे। इस तरीके से आपके पास एक प्रूफ आ जाएगा कि सही में आपका ड्राइविंग लाइसेंस खो गया है। जिसके बाद आप आसानी से डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए किस तरह के टेस्ट से गुजरना होता है?

ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए दो तरह के टेस्ट से गुजरना पड़ता है। पहला टेस्ट कंप्यूटर पर होता है, जिसमें ट्रैफिक के नियमों से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न पूछे जाते हैं, जिनका जवाब हमें देना होता है। यह टेस्ट लर्निंग लाइसेंस बनाने के लिए होता है, दूसरा टेस्ट ड्राइविंग टेस्ट होता है, जो परमानेंट ड्राइविंग टेस्ट बनाने के लिए दिया जाता है। इसमें वाहन चलाकर दिखाना पड़ता है। इस टेस्ट में पास होने के बाद ही परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनता है।

ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू ना करवाने पर क्या होगा?

ड्राइविंग लाइसेंस को एक निश्चित समय सीमा के बाद उसे रिन्यू करवाना पड़ता है। सही समय पर उसे रिन्यू नहीं करवाते हैं तो ऐसे में आपको दोबारा ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करना पड़ेगा, जिसकी शुरुआत लर्निंग लाइसेंस से होगी।

निष्कर्ष

इस तरह आज के इस लेख में हमने आपको ड्राइविंग लाइसेंस एप्लीकेशन फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करने की प्रक्रिया बताई। यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस बनाना चाहते हैं तो आपको इस फॉर्म की जरूरत पड़ेगी। वैसे आप चाहे तो आरटीओ में जाकर भी इस फॉर्म को ले सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप यहीं पर ऑनलाइन घर बैठे इस फॉर्म को डाउनलोड करके प्रिंट आउट निकाल सकते हैं। इस फोर्म को डाउनलोड करने के बाद आपको इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को फिल अप करना होगा और आवश्यक सभी दस्तावेजों के साथ इस फॉर्म को आरटीओ ऑफिस में जाकर जमा करना होगा।

हमें उम्मीद है कि आज का यह लेख आपके लिए जानकारी पूर्ण साबित हुआ होगा। यदि यह लेख आपको पसंद आया हो तो इसे अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए अन्य लोगों के साथ जरूर शेयर करें। इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट में लिख कर बता सकते हैं।

यह भी पढ़े

ड्राइविंग लाइसेंस वैधता समाप्त होने के बाद क्या करें?

ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनाएं? (योग्यता, दस्तावेज और प्रक्रिया)

ड्राइविंग लाइसेंस कितने प्रकार के होते है?

ड्राइविंग लाइसेंस के नए नियम क्या है?

ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूअल फीस कितनी है?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।