ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनाएं? (योग्यता, दस्तावेज और प्रक्रिया)

Driving Licence Kaise Banaye: जैसा कि आप जानते हैं ड्राइविंग लाइसेंस के बिना सड़कों पर वाहन चलाना गैरकानूनी माना जाता है। आप बिना ड्राइविंग लाइसेंस के पब्लिक रोड पर ड्राइविंग करते पकड़े जाते हैं तो आपको जुर्माना भरना पड़ सकता है। कभी कबार तो गाड़ी भी जप्त कर ली जाती है। इसीलिए वाहन चलाते वक्त अपने पास ड्राइविंग लाइसेंस रखना बहुत ही जरूरी होता है।

इस तरह यह एक महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेज है। ड्राइविंग लाइसेंस राज्यों के रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के द्वारा जारी किया जाता है। आरटीओ में जाकर कोई भी वाहन चालक ड्राइविंग लाइसेंस बना सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस सबसे पहले जो बनता है, वह लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस होता है, जो केवल 6 महीने के लिए ही वेद रहता है, उसके बाद ही परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनता है।

Driving Licence Kaise Banaye
Image: Driving Licence Kaise Banaye

हालांकि उसे भी निश्चित समय के बाद रिन्यू करवाना पड़ता है। वैसे आज तो बहुत से लोगों के पास वाहन होते हैं लेकिन जरूरी नहीं कि हर किसी को ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया के बारे में मालूम हो। इसलिए हम यह लेख लेकर आए हैं, जो उन लोगों के लिए बहुत ही उपयोगी साबित होने वाला है, जो ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाहते हैं।

क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया के बारे में बताने वाले हैं। यहां पर आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रक्रिया के बारे में जानेंगे। इसके साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की जो योग्यता है, उसे भी जानेंगे। तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनाएं? (योग्यता, दस्तावेज और प्रक्रिया) | Driving Licence Kaise Banaye

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए योग्यता

आपने वाहन खरीद लिया इससे ही केवल आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं। ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदक के कुछ योग्यता भी निश्चित की गई है और जो उस योग्यता को पूरा करता होगा, उसे ही ड्राइविंग लाइसेंस मिल सकता है। ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की योग्यता हमें यहां नीचे लिखी हैं।

  • आवेदक की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • आवेदक भारत का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक की मानसिक स्थिति अच्छी होनी चाहिए।
  • व्यक्ति यदि विकलांग है तो उसके पास विकलांग के दस्तावेज होने जरूरी हैं।
  • आवेदक जिस प्रकार के वाहन के लिए लाइसेंस बनवाना चाहता है, उस वाहन को अच्छे से उसमें चलाने की योग्यता होनी चाहिए।

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए दस्तावेज

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए योग्यता के अतिरिक्त दस्तावेज की भी आवश्यकता होती है। उन दस्तावेजों को आवेदन के दौरान जमा करना होता है। यहां पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज लिखा है:

  • आवेदक का पहचान पत्र (पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड, राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड में से कोई भी एक चलेगा)
  • आवेदक का आवास प्रमाण पत्र (आधार कार्ड, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलिफोन बिल में से कोई भी एक चलेगा)
  • आयु प्रमाण पत्र (दसवीं कक्षा की मार्कशीट की कॉपी, आधार कार्ड, जन्म प्रमाण पत्र में से कोई भी एक)
  • मेडिकल सर्टिफिकेट
  • पासपोर्ट साइज की तिन फोटो

यदि परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन कर रहे हैं तो आवेदक के पास लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है। लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है तो सबसे पहले लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करना पड़ेगा, जो 6 महीने के लिए ही वैध रहेगा। उसके बाद परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनवाएं? (Driving Licence Kaise Banaye)

यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाह रहे हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको आवेदन देना पड़ता है। आवेदन देने की प्रक्रिया दो तरह की है ऑफलाइन और ऑनलाइन। यदि आप ऑफलाइन आवेदन देना चाहते हैं तो इसके लिए तो आपको आरटीओ ऑफिस जाना पड़ेगा।

लेकिन यदि आप ऑनलाइन आवेदन देना चाहते हैं तो इसके लिए परिवहन मंत्रालय के आधिकारिक वेबसाइट (parivahan.gov.in) पर जा सकते हैं और घर बैठे आवेदन दे सकते हैं। यहां पर नीचे हमने ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन की प्रक्रिया को बताया है।

ऑफलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया

ज्यादातर लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए ऑफलाइन प्रक्रिया का ही इस्तेमाल करते हैं क्योंकि बहुत से लोगों को ऑनलाइन प्रक्रिया के बारे में मालूम नहीं होता है। यदि आप ऑफलाइन ही ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाहते हैं, इसके लिए आपको आरटीओ ऑफिस जाना पड़ता है।

लेकिन उससे पहले आपको परिवहन विभाग मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करके उसका प्रिंट आउट निकालना होता है। वैसे आप आरटीओ ऑफिस में जाकर आवेदन फॉर्म ले सकते हैं।

आवेदन फॉर्म में बहुत सारी जानकारी मांगी गई होती है, उन जानकारी को आपको भरना होता है और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए जो भी आवश्यक दस्तावेज है, जिसके बारे में हमने ऊपर आपको बताया है। उन दस्तावेजों को अटैच करके आवेदन फॉर्म को आरटीओ के ऑफिस में जमा करना होता है।

वहां पर आपके फॉर्म और दस्तावेजों का सत्यापन किया जाता है। उसके बाद कुछ दिनों के बाद आरटीओ आपको ड्राइविंग टेस्टिंग के लिए बुलाता है। ड्राइविंग टेस्टिंग में सफल हो जाते हैं तो आपका ड्राइविंग लाइसेंस बन जाता है।

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब तक तो ऑफलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया यही थी। लेकिन अब परिवहन मंत्रालय द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया में थोड़ा बदलाव कर दिया गया है और यह नियम एक जुलाई 2022 से लागू भी हो चुके हैं।

इसीलिए अब जो भी नए आवेदक ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उनके लिए सबसे अच्छी बात यह है कि जरूरी नहीं कि वे आरटीओ में जाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाए। अब किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग लाइसेंस सेंटर में जाकर ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

बात रहा उनके ड्राइविंग टेस्ट की तो इन सेंटरों में 4 हफ्ते की प्रैक्टिकल और थ्योरी कोर्स दिए जाते हैं, जिसमें ट्रैफिक से जुड़े सभी नियम के बारे में उन्हें सिखाया जाता है और अंत में उनकी एक टेस्ट भी ली जाती है। इस टेस्ट में पास होने वाले को एक सर्टिफिकेट भी दिया जाता है और उस सर्टिफिकेट के आधार पर उनके लिए ड्राइविंग लाइसेंस जारी कर दिया जाता है।

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

यदि आप आरटीओ में जाकर लंबी कतार में खड़े नहीं होना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन भी ड्राइविंग लाइसेंस का आवेदन कर सकते हैं।

ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए ट्रांसपोर्ट और हाईवे मंत्रालय एक आधिकारिक वेबसाइट है, जहां पर आप ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • इसके लिए सबसे पहले तो आपको अपने मोबाइल या लैपटॉप की क्रोम ब्राउज़र में जाना होगा और वहां पर परिवहन सर्च करना पड़ेगा। जिसके बाद परिवहन मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट की लिंक खुलकर आ जाएगी। जिस पर आप क्लिक करके सीधे इस वेबसाइट के होम पेज पर आप पहुंच जाएंगे।
  • होम पेज पर आपको बहुत सारी विकल्प दिखाई देंगे, जिनमें से आपको ऑनलाइन सर्विस के विकल्प को सिलेक्ट करना है।
  • उसके बाद भी आपके सामने कई विकल्प और दिखाई देंगे, जहां पर आपको ड्राइविंग लाइसेंस सर्विस के विकल्प को ढूंढ कर उसे सिलेक्ट करना है।
  • उसके बाद अगले पेज पर आपको अपने राज्य के नाम का चयन करना होगा। क्योंकि ड्राइविंग लाइसेंस हर एक राज्य की रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के ऑफिस द्वारा जारी किया जाता है।
  • जब आप राज्य का नाम चयन कर लेते हैं तो उसके बाद आपको अप्लाई ऑनलाइन एंड लाइसेंस सर्विस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • यदि आप विकलांग है तो ऐसे में लर्निंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए राज्य के नाम पर चयन करने के बाद आपको दूसरा विकल्प अडॉप्टेड लर्निंग लाइसेंस पर क्लिक करना है।
  • जैसे ही ऊपर की प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो अगले पेज पर आपके सामने एक आवेदन प्रपत्र खुलकर आता है, जहां पर आवेदक का नाम, माता पिता का नाम, उसका आवास, उसकी शिक्षा, उसका जन्म तिथि, जन्म स्थान, ब्लड ग्रुप जैसे कई सारी आवश्यक जानकारी भरने को कहा जाता है और फिर अंत में दस्तावेजों को अपलोड करने के लिए कहा जाता है।
  • यहाँ पर आप अपने दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड कर सकते हैं।
  • उसके बाद यहां पर आपको आवेदन फीस जमा करनी पड़ती है।
  • अब आपको ड्राइविंग टेस्ट के लिए दिन और तिथि को बुक करना होता है, जिस दिन जाकर आप अपनी ड्राइविंग टेस्टिंग दे सकते हैं।
  • इस तरीके से आप ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। उसके बाद आपने जिस तिथि को स्लॉट बुक किये है, उस दिन आप आरटीओ ऑफिस में जाकर अपनी ड्राइविंग टेस्ट दे सकते हैं। इसमें यदि आप पास हो जाते हैं तो आपकी लर्निंग लाइसेंस बन जाती हैं।
ड्राइविंग लाइसेंस कहां बनता है?

वैसे तो अब तक ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आरटीओ ऑफिस जाना पड़ता था। लेकिन अब सरकार के द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में लाए गए बदलाव के बाद अब किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग लाइसेंस के सेंटर में जाकर बनवा सकते हैं।

ड्राइविंग टेस्टिंग किस तरह देनी होती है?

जब आवेदक ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन फॉर्म जमा कर देता है तो उसको निश्चित दिन में ड्राइविंग टेस्ट के लिए बुलाया जाता है। यदि वाहन चालक के पास दो या तीन पहिए वाली वाहन है तो उसे 8 की आकृति में वाहन को चला कर दिखाना पड़ता है और वह भी बिना जमीन पर पैर रखें। वहीँ चार पहिया वाहन चालकों को H की आकृति से वाहन को गुजारना होता है।

निष्कर्ष

ड्राइविंग लाइसेंस आज हर एक वाहन चालकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज बन चुके हैं, जिसके बिना वे सड़कों पर वाहन नहीं चला सकते हैं। इसीलिए अभी तक जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है वह जल्द से जल्द ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लें और आज के इस लेख में हमने आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया के बारे में बताया। इस लेख में हमने आपको ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रक्रिया के बारे में बताया।

इसके साथ ही सरकार के द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया में लाए गए बदलाव के बारे में भी बताया, जिससे अब आप पहले की तुलना में आसानी से ड्राइविंग लाइसेंस बना पाएंगे और आपको लंबी कतारों में भी खड़े नहीं होना पड़ेगा।

उम्मीद है कि इस लेख के जरिए आपको समझ में आ गया होगा कि ड्राइविंग लाइसेंस किस तरह बना सकते हैं (Driving Licence Kaise Banaye) और इसकी योग्यता क्या है और कौन-कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। यह लेख यदि आपको पसंद आया हो तो इसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए अन्य लोगों के साथ जरूर शेयर करें।

यह भी पढ़े

ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

ड्राइविंग लाइसेंस कितने प्रकार के होते है?

ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूअल फीस कितनी है?

ड्राइविंग लाइसेंस के नए नियम क्या है?

ड्राइविंग लाइसेंस क्या होता है? (प्रकार और फीस)

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।