दिमाग की शक्ति कैसे बढ़ाएं?

Dimag ki Shakti Kaise Badhaye: हम जानते हैं कि स्वस्थ शरीर जीवन की सबसे बड़ी संपत्ति होती है। लेकिन शरीर स्वस्थ कब रहता है जब आपका मस्तिष्क स्वस्थ रहता है। क्योंकि शरीर का हर भाग मस्तिष्क के द्वारा ही संचालित होता है। इसीलिए हमारा मस्तिष्क का स्वस्थ होना और उसका सक्रिय होना बहुत जरूरी है।

लेकिन आज के इस व्यस्त समय में कोई भी अपने मस्तिष्क के आराम पर ध्यान नहीं देता। हम देर रात तक कंप्यूटर, लैपटॉप पर बैठे रहते हैं, अच्छे से नींद नहीं लेते, काम के चक्कर में सही समय पर भोजन नहीं करते, व्यायाम नहीं करते, अच्छे से दिनचर्या का पालन नहीं करते।

Dimag-ki-Shakti-Kaise-Badhaye
Image : Dimag ki Shakti Kaise Badhaye

यह सारी चीजें हमारे मस्तिष्क को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है, जिससे हमारी दिमाग शक्ति और भी ज्यादा कमजोर हो जाती हैं और इसका प्रभाव आपके कार्य क्षमता पर भी पड़ता है।

इसीलिए सबसे पहले मस्तिष्क के स्वास्थ्य पर ध्यान देना जरूरी है और इसीलिए आज के लेख में हम दिमाग की शक्ति कैसे बढ़ाएं? के लिए अच्छे तरीके लेकर आए हैं तो इस लेख को अंत जरूर पढ़ें।

दिमाग की शक्ति कैसे बढ़ाएं? | Dimag ki Shakti Kaise Badhaye

दिनचर्या का नियमित होना

अपनी दिमाग शक्ति को बढ़ाने में आपकी दिनचर्या भी काफी प्रभाव डालती है। यदि आप दैनिक कार्यों को समय पर नहीं करते तो ऐसे में आपके दिमाग शक्ति पर उसका बुरा प्रभाव पड़ता है। जैसे कि सूर्योदय और सूर्यास्त के समय भोजन करना, देर से उठना, देर से सोना, सही समय पर भोजन ना लेना।

यह सारी चीजें आपके मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव डालती है, इसीलिए सबसे पहले जरूरी है कि अपनी दिनचर्या को निर्धारित करें और उसी के अनुसार सभी काम करें।

नियमित ध्यान लगाना

अपने दिमाग शक्ति को बढ़ाने के लिए एकाग्र चित्त होना बहुत जरूरी है। हालांकि अपने दिमाग को किसी एक चीज पर एकाग्र करना काफी कठिन है क्योंकि मन बहुत चंचल होता है। यह चारों तरफ भटकते रहता है ऐसे में इस पर नियंत्रण करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। लेकिन यदि आप प्रतिदिन मेडिटेशन करेंगे तो आप इस पर सफल हो सकते हैं। ध्यान लगाने से आपकी दिमाग शक्ति पर काफी अच्छा प्रभाव होता है।

व्यायाम करें

स्वस्थ मन स्वस्थ शरीर में ही वास करता है। इसीलिए जब तक आप स्वस्थ नहीं रहेंगे, आपकी दिमाग शक्ति भी तेज नहीं हो सकती है। इसलिए व्यायाम को अपने दैनिक चर्या में जरूर शामिल करें।

व्यायाम के कई सारे फायदे हैं, जो आपके पूरे शरीर को स्वस्थ रखता है। यहां तक कि आपके मस्तिष्क के विकास में व्यायाम बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसीलिए प्रतिदिन सुबह व्यायाम जरूर करें।

पर्याप्त मात्र में पोशक तत्वों को आहार में शामिल करें

दिमाग शक्ति को बढ़ाने में केवल व्यायाम ही काफी नहीं होता आपकी दैनिक खानपान भी आपके मस्तिष्क पर काफी प्रभाव डालती है‌। मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए अपने भोजन में पौष्टिक तत्व को जरूर शामिल करें।

बादाम, अखरोट, ताजे फल इत्यादि प्रकार की चीजें जो हर तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इनका अपने दैनिक भोजन में शामिल करके अपनी याद शक्ति को बढ़ा सकते हैं।

यह भी पढ़े: जीवन क्या है और इसका उद्देश्य क्या है?

हर दिन कुछ नया सीखें

यदि आपको अपनी दिमाग शक्ति बढ़ानी है तो आपको हमेशा कुछ ना कुछ नया सीखते रहना चाहिए। आपको बोरियत कभी महसूस नहीं करना है। अपने दिमाग को हमेशा एक्टिव रखना है।

इसके लिए आपको हमेशा नई-नई चीजें जाननी चाहिए, नई नई चीजें करनी चाहिए। आप चाहे तो कोई नई भाषा सीखने की कोशिश कर सकते हैं। आप किसी स्कील को डिवेलप करने की कोशिश कर सकते हैं।

मुश्किल टास्क करें

आज की इस टेक्नोलॉजी के समय में हमें अपने दिमाग पर जोर डालने की जरूरत पड़ती ही नहीं है। किसी भी समस्या का हल आसानी से मिल जाता है। लेकिन इसका बुरा प्रभाव हमारे मस्तिष्क पर पड़ता है। इससे हम अपने मस्तिष्क पर जोर नहीं डालते, जिससे हमारे दिमाग शक्ति का विकास भी नहीं होता है।

इसीलिए जब भी आप कोई समीकरण या कैलकुलेशन करें तो केलकुलेटर के जगह पर खुद के दिमाग से उसे हल करने की आदत डालें। इसके अतिरिक्त पजल हल करें, इससे आपके दिमाग की याद शक्ति बढ़ाने में काफी सहायता मिलती है।

शतरंज खेलें

एक स्वस्थ जीवन मैं खेल बहुत मायने रखता है। यदि आपको अपने मस्तिष्क को स्वस्थ रखना है। अपनी दिमाग शक्ति को बढ़ाना है तो आपको शतरंज जैसे खेल खेलने चाहिए, जिसमें आपके दिमाग पर काफी जोर पड़ता है।

वैज्ञानिकों के अनुसार शतरंज खेलने से आप के बाएं और दाएं दोनों मस्तिष्क का उपयोग होता है। क्योंकि ज्यादातर लोग केवल दिमाग का एक हिस्सा इस्तेमाल करते हैं, इसीलिए जब जब समय मिले तो आपको शतरंज खेलना चाहिए।

महान व्यक्तियों का अनुसरण करे और रचनात्मक कार्यों करें

अपने दिमाग शक्ति को बढ़ाने का यह भी एक अच्छा तरीका है कि आप अपने मन को रचनात्मक कार्य में लगाए। क्योंकि रचनात्मक कार्य करने से आपको आनंद भी आता है और इससे आपके दिमाग को शांति भी मिलती है। इसके अतिरिक्त आप महान व्यक्तियों के अनुसरण करने की कोशिश करें।

इससे आपके मन में किसी प्रकार की दुर्भावना नहीं आती, आपका मन भटकता नहीं है और सज्जन व्यक्ति के बारे में सोचने से आपके मन में सकारात्मक भाव उत्पन्न होता है।

यह भी पढ़े: पढ़ाई में अव्वल कैसे आएं?

माइंड मेपिंग

माइंड मैपिंग का अर्थ होता है किसी एक विषय पर विचार करना। इससे आपके दिमाग शक्ति को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। इसके लिए सबसे पहले तो आप एक खाली पेपर लीजिए और उस पर बिना सोचे समझे कोई भी एक विषय लिखिए, उसके बाद उस विषय पर सोचिए। दिमाग पर जोर डालिए और जो भी आपके मन में वाक्य उस विषय पर आ रहा है बस उसे कागज पर लिखते जाइए।

कम से कम आप हर दिन किसी एक विषय पर एक पेज जरूर लिखें। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके द्वारा लिखा गया वाक्य का सही और स्पष्ट अर्थ निकलता है या नहीं। लेकिन इससे होगा यह कि जब आप किसी विषय पर सोचने के लिए अपने दिमाग पर जोर डालेंगे तो आपके दिमाग का दोनों हिस्सा सक्रिय हो जाएगा, जिससे दोनों के बीच का कनेक्शन स्पष्ट हो जाता है।

इससे यह फायदा होगा कि आप एक समय पर एक्टिवेट हो जाते हैं, आपका दिमाग शक्ति बढ़ता है, जिससे किसी भी समस्या को आप बहुत आसानी से हल कर पाते हैं।

अच्छी नींद लें

मस्तिष्क दिनभर कार्य करता है ऐसे में मस्तिष्क को भी आराम मिलना चाहिए। अनुसंधान से पता चलता है कि जब आप सोते हैं तो दिमाग को आराम मिलता है और उठने के बाद आपका दिमाग और भी तेजी से काम करने लगता है। इसीलिए हर व्यक्ति को प्रतिदिन सात से 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।

लेकिन ज्यादा मात्रा में भी नींद नहीं लेनी चाहिए क्योंकि यदि आप ज्यादा सोएंगे तो आपकी एकाग्र शक्ति पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसीलिए आवश्यकता के अनुसार ही नींद ले यदि आप रात में काम करते हैं तो दिन के समय नींद ले। इसके अतिरिक्त यदि आप कोई लगातार काम कर रहे हैं या पढ़ाई कर रहे हैं तो 10 से 20 मिनट का ब्रेक लेकर अपने दिमाग कै आराम दे।

निष्कर्ष

मनुष्य के शरीर में मस्तिष्क ही ऐसा भाग है जो हमेशा ही व्यस्त रहता है। मनुष्य जो भी कुछ करता है वह मस्तिष्क के कारण ही कर पाता है। ऐसे में मस्तिष्क का विकास बहुत जरूरी है हालांकि मानव मस्तिष्क का विकास जीवन भर होता रहता है। लेकिन अपने दिमाग की शक्ति को बढ़ाने के लिए निरंतर अभ्यास करने की जरूरत होती है, जो आज के इस लेख में दिए गए तरीकों से आप कर सकते हैं।

तो हमें उम्मीद है कि आज का यह लेख दिमाग की शक्ति कैसे बढ़ाएं? (Dimag ki Shakti Kaise Badhaye) आपको अच्छा लगा होगा। लेख से संबंधित कोई भी समस्या हो तो कमेंट सेक्शन में जरूर लिखें और इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here