चाणक्य के जिन्दगी जीने का तरीका बदल देने वाले प्रेरणादायी सुविचार

चाणक्य द्वारा कहे गये अनमोल व प्रेरणादायी सुविचार (Chanakya Quotes in Hindi): चाणक्य (Chanakya) का जन्म आज से लगभग 2400 साल पहले हुआ था। आचार्य चाणक्य (Chanakya), जिन्हें हम कौटिल्य (Kautilya) और विष्णुगुप्त (Vishnugupta) के नाम से भी पहचानते हैं। चाणक्य नालंदा विश्वविधालय के महान आचार्य थे आचार्य चाणक्य ने अपने शिष्य चंद्रगुप्त मौर्य की सहायता से यूनानी आक्रमणकारियों को भारत से भगा दिया था। नंद वंश के अत्याचारों से पीड़ित प्रजा को भी मुक्ति दिलाई और अपने संकल्प (Resolution) को पूरा किया।

Chanakya Quotes in Hindi

इसे भी पढ़ें: जीवन से जुड़े प्रेरणादायक और अनमोल वचन।

चाणक्य के जिन्दगी जीने का तरीका बदल देने वाले प्रेरणादायी सुविचार (Chanakya Quotes in Hindi):

Chanakya Quotes in Hindi for Success:
  • व्यक्ति अकेले ही पैदा होता है और अकेले ही मर जाता है और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मो का फल खुद ही भुगतता है। वह अकेले ही नरक या स्वर्ग जाता है।
  • समय को पहचानना ही मनुष्य के सीखने की सव्रोत्तम कला मानी गई है।
  • फूलों की सुगंध केवल हवा की दिशा में फैलती है, लेकिन एक इंसान की अच्छाई चारों दिशाओं में फैलती है।
  • ऋण, शत्रु  और रोग को समाप्त कर देना चाहिए।
  • एक ही देश के दो शत्रु परस्पर मित्र होते हैं।
  • भगवान मूर्तियों में नहीं है, आपकी अनुभूति आपका इश्वर है, आत्मा आपका मंदिर है।
  • अगर सांप जहरीला ना भी हो तो उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए।
  • वृद्ध पुरुषों की सेवा के द्वारा मनुष्य व्यवहार कुशलता का ज्ञान प्राप्त कर श्रेय की प्राप्ति कर सकता है।
  • दूसरों की गलतियों से भी सीख लेनी चाहिए, क्योकि अपने ही ऊपर प्रयोग करने पर तुम्हारी आयु कम पड़ जाएगी।
  • आपका हमेशा खुश रहना आपके दुश्मनों के लिए सबसे बड़ी सजा है।
  • लोहे को लोहे से ही काटना चाहिए।
  • यदि माता दुष्ट है तो उसे भी त्याग देना चाहिए।
  • सांप को दूध पिलाने से विष ही बढ़ता है, न की अमृत।
  • भूख के समान कोई दूसरा शत्रु नहीं है।
  • किसी लक्ष्य की सिद्धि में कभी शत्रु का साथ न करें।

इसे भी पढ़ें: 

चाणक्य के जिन्दगी जीने का तरीका बदल देने वाले प्रेरणादायी सुविचार (Chanakya Quotes in Hindi):
  • सोने के साथ मिलकर चांदी भी सोने जैसी दिखाई पड़ती है अर्थात सत्संग का प्रभाव मनुष्य पर अवश्य पड़ता है।
  • जो जिस कार्ये में कुशल हो, उसे उसी कार्ये में लगना चाहिए।
  • शक्तिशाली शत्रु को कमजोर समझकर ही उस पर आक्रमण करें।
  • धूर्त व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए दूसरों की सेवा करते हैं।
  • आग में आग नहीं डालनी चाहिए अर्थात् क्रोधी व्यक्ति को अधिक क्रोध नहीं दिलाना चाहिए।
  • शासक को स्वयं योग्य बनकर योग्य प्रशासकों की सहायता से शासन करना चाहिए।
  • यदि खुद कुबेर भी अपनी आय से अधिक खर्च करने लगे तो वह एक दिन निर्धन हो जायेगा।
  • मूर्खों से अपनी तारीफ सुनने से अच्छा है कि आप किसी बुद्धिमान की डांट सुनें।
  • अगर सांप जहरीला न भी हो तो उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए।
  • भविष्य के अन्धकार में छिपे कार्य के लिए श्रेष्ठ मंत्रणा दीपक के समान प्रकाश देने वाली है।
  • पडोसी राज्यों से सन्धियां तथा पारस्परिक व्यवहार का आदान-प्रदान और संबंध विच्छेद आदि का निर्वाह मंत्रिमंडल करता है।
  • कच्चा पात्र कच्चे पात्र से टकराकर टूट जाता है।
  • व्यक्ति को उट-पटांग अथवा गवार वेशभूषा धारण नहीं करनी चाहिए।
  • शराबी व्यक्ति का कोई कार्य पूरा नहीं होता है।
  • बिना उपाय के किए गए कार्य प्रयत्न करने पर भी बचाए नहीं जा सकते, नष्ट हो जाते है।

इनके जीवन के बारे में भी पढ़ें:

हम उम्मीद करते हैं कि आपको “जिन्दगी जीने का तरीका बदल देने वाले चाणक्य के प्रेरणादायी सुविचार (Chanakya Quotes in Hindi)” पसंद आये होंगे इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर जरूर करें।

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here