बीबी का मकबरा क्या है और किसने बनवाया?

भारत पूरी दुनिया में अपने इतिहास की वजह से जाना जाता है। ताजमहल इतिहास का एक ऐसा पन्ना है, जिसे कोई मिटा नहीं सकता। मगर भारत में ताजमहल की नकल करने की बहुत बार कोशिश की गई है। उसकी एक प्रचलित नकल ताजमहल बनवाने वाले शाहजहां के पुत्र के द्वारा किया गया था, जिसे गरीबों का ताजमहल भी कहा जाता है।

ऐसा क्यों है? बीबी का मकबरा किसके लिए बनाया गया था और उसे गरीबों का ताजमहल क्यों कहा जाता है? इसके बारे में आज का लेख लिखा गया है।

bibi ka maqbara kisne banaya

ताजमहल शाहजहां के बाद आने वाले हर राजा के लिए एक प्रेरणा की चीज रही है। जहां लोगों ने शाहजहां के द्वारा अपनी बीवी के लिए बनाए इस महल की तारीफ की है, वहीं कुछ राजाओं ने ताजमहल की नकल बनाने का प्रयास किया है। 

बीबी का मकबरा भारत का दूसरा ताजमहल है। यह बिल्कुल ताजमहल की तरह दिखता है। यह महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में स्थित है। अगर आप जानना चाहते हैं कि बीबी का मकबरा किसके लिए बनाया गया था? और किसके द्वारा बनाया गया था, तो हमारे लेख के साथ अंत तक बने रहे। 

बीबी का मकबरा क्या है और किसने बनवाया?

बीबी का मकबरा क्या है?

मुगल साम्राज्य में शाहजहां सबसे प्रतिष्ठित राजा में से एक माने जाते है। शाहजहां का दौर भारत के लिए सोने की चिड़िया का दौर कहा जाता है। उस वक्त भारत विश्व के सबसे अमीर देशों में से एक माना जाता था। ताजमहल भारत के अमीरी एक निशानी है।

जैसा की आप सबको पता होगा शाहजहां की रानी मुमताज महल की याद में शाहजहां ने एक खूबसूरत महल को बनवाया था जिसे आज के समय में ताजमहल के नाम से जाना जाता है।

मगर क्या आपको पता है? 1650 में जब शाहजहां के पोते अर्थात औरंगजेब के बेटे आगरा शहर में उनके दादाजी के द्वारा बनाए ताजमहल को देखने आएं, तो वह उससे बहुत प्रेरित हुए और वैसा ही एक महल अपने शहर में बनाने की इच्छा जाहिर की।

जिसके बाद 1651 से 1661 तक बहुत सारे मजदूरों के द्वारा दिन-रात कड़ी मेहनत करके बीबी का मकबरा महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में तैयार किया गया।

उस समय से लेकर आज तक बीबी के मकबरे को भारत के दूसरे ताजमहल के रूप में संबोधित किया जाता है, इसे शाहजहां के पोते और औरंगजेब के बेटे आजमशाह के द्वारा अपनी मां दिलरास बानो बेगम की याद में बनाया गया था।

उस जमाने में मिले कुछ सबूतों के आधार पर इतिहासकारों का मानना है कि जहां ताजमहल को बनवाने में 3.50 करोड़ का खर्चा आया था, वही बीबी का मकबरा तैयार करने में ₹700000 का खर्च आया था। इस वजह से इस महल को गरीबों का ताजमहल भी कहा जाता है।

बीबी का मकबरा किसके लिए बनाया गया?

जैसा कि हमने आपको बताया बीबी का मकबरा शाहजहां के पुत्र शाह आलम ने अपनी मां दिलरास बानो बेगम की याद में बनवाया था। आगरा के ताजमहल से प्रेरित होकर हूबहू उसका नकल बनाने का प्रयास किया गया था।

ताजमहल की तरह एक और महल महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में 1651 से 1661 तक बनाने का प्रयास किया गया। अंत में वह महल भारत का दूसरा ताजमहल जाना गया और उसे बीबी का मकबरा कहते हैं।

शाहजहां के बेटे औरंगजेब का जब शासन हुआ तो, उनकी शादी दिलरास बानो बेगम से कराई गई, जिनसे शाह आलम नाम के बेटे का जन्म हुआ। 1651 में मुगल सल्तनत शाह आलम के हाथ में थी। वे अपनी मां से बहुत प्यार करते थे।

उनकी याद में उन्होंने जब अपने दादाजी के द्वारा निर्मित आगरा के ताजमहल को देखा तो, इससे प्रेरित होकर अपनी मां की याद में एक महल बनाने की इच्छा जाहिर की, जिसे बीबी का मकबरा नाम दिया गया और आगे चलकर उसे भारत का दूसरा ताजमहल या गरीबों का ताजमहल जैसा नाम दिया गया। 

बीबी के मकबरे में देखने लायक क्या है?

भारत के दूसरे ताजमहल के नाम से प्रचलित बीबी का मकबरा हमेशा से भारत ही नहीं अलग-अलग देश के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। महाराष्ट्र के प्रचलित शहर औरंगाबाद में बीबी का मकबरा बहुत सारे पर्यटकों को हर रोज अपनी तरफ आकर्षित करता है।

अगर हम इस महल की व्याख्या करें तो जानेंगे की उस जमाने में संगमरमर बहुत कीमती होता था। जहां ताजमहल को शुद्ध सफेद संगमरमर से बनाया गया, वहीं बीवी का मकबरा में केवल इसके मुख्य डोम को संगमरमर का बनाया गया और बाकी हिस्से को प्लास्टर का बनाया गया है ताकि वह संगमरमर के जैसा दिखे।

इसके अलावा यह महल एक आयत बगीचे के बीच में स्थित है, जिसके चारों तरफ अलग-अलग तरह के फव्वारे और फूल पत्ती लगी हुई है। बीबी का मकबरा सुंदर नक्काशी किए हुए महल के अलावा पानी के फव्वारे के झुंड की वजह से भी जाना जाता है।

इसके दीवार को भी काफी ऊंचा बनाया गया है ताकि कोई भी व्यक्ति इधर उधर से अंदर ना आ सके और इस महल के चारों तरफ खूबसूरत गार्डन रखा गया है, जो किसी भी व्यक्ति के दिल को जीत सकता है।

FAQ

बीबी का मकबरा कब बनाया गया?

बीवी का मकबरा 1651 से 1661 ईस्वी में महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में बनाया गया।

बीबी का मकबरा किसके याद में बनाया गया?

बीबी के मकबरे को शाहजहां के पोते शाह आलम ने अपनी मां दिलरास बानो बेगम की याद में बनवाया था।

बीबी के मकबरे में क्या खास है?

बीबी के मकबरे को भारत का दूसरा ताजमहल कहा जाता है। यह हुबहू ताजमहल की नकल है। संगमरमर बहुत महंगा था, जिस वजह से इस महल को मुख्यतः प्लास्टर से बनाया गया। 

बीबी के मकबरे को किसने बनवाया?

बीबी के मकबरे को शाहजहां के पोते और औरंगजेब के बेटे, शाह आलम ने अपनी मां की याद में बनवाया था।

निष्कर्ष

आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को बीबी का मकबरा क्या है और किसने बनवाया? के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा की गई यह जानकारी आप लोगों के लिए काफी ज्यादा हेल्पफुल और यूजफुल साबित हुई होगी।

अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही अन्य लोगों को भी आग के जरिए इस मोड़ से कोई जानकारी के बारे में पता चल सके एवं उन्हें ऐसे ही महत्वपूर्ण लेख को पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़ें :

भारत के राज्य, राजधानी और स्थापना दिवस

भक्ति काल के कवि और उनकी रचनाएँ

भारत का सबसे ऊंचा बांध कौन सा है?

भारत की सबसे लम्बी सुरंग कौन सी है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here