बीए कोर्स (BA Course) क्या है? कैसे करे, पूरी जानकारी

BA Course Details In Hindi: जब विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेता है तो विद्यार्थी के पास कई सारे विकल्प खड़े हो जाते हैं और ज्यादातर लोग उन विकल्प का चयन करने में काफी मुश्किल का सामना करते हैं। मतलब यह है, कि 12वीं कक्षा पास करने के बाद विद्यार्थी के मन में आता है। कि अब उसे क्या करना चाहिए। क्योंकि 12वीं कक्षा पास करने के पश्चात विद्यार्थी के पास बहुत सारे ऑप्शन एक साथ उपलब्ध हो जाते हैं। हालांकि 12वीं कक्षा में विद्यार्थी के द्वारा जो विषय वर्ग लिया हुआ है।

उस विषय वर्ग के आधार पर बाहर वी के पश्चात अलग-अलग डिग्रियों के ऑप्शन उपलब्ध होते हैं। लेकिन बैचलर ऑफ आर्ट्स जिसे b.a. के नाम से जाना जाता है। जिन्हें डिग्री विज्ञान वर्ग, वाणिज्य वर्ग और कला वर्ग के विद्यार्थी ले सकते हैं। मतलब ऐसे कह सकते हैं, कि 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात हर विद्यार्थी इस डिग्री में अपना आवेदन लगा सकता है। आज का हमारा आर्टिकल जिसमें हम बी ए कोर्स क्या है? बी ए कोर्स कैसे करें? BA Course Details In Hindi के बारे में जानकारी देने वाले है।

BA Course Details In Hindi

BA Course Details In Hindi
BA Course Details In Hindi

BA कोर्स क्या होता है?

बी ए कोर्स क्या है? इसके बारे में बात करें, तो बी ए कोर्स का पूरा नाम बैचलर ऑफ आर्ट्स है। यह कला वर्ग के लिए स्नातक की डिग्री का एक कोर्स है। इस कोर्स को कला वर्ग के साथ-साथ वाणिज्य वर्ग और विज्ञान वर्ग के विद्यार्थी भी कर सकते हैं। यह डिग्री कोर्स जो कि 3 साल का होता है। इस डिग्री के पश्चात विद्यार्थी को ग्रेजुएट कहा जाता है और उसके बाद में विद्यार्थी मास्टर ग्रेजुएशन की डिग्री ले सकता है या B.Ed की डिग्री लेकर थर्ड ग्रेड और सेकंड ग्रेड टीचर के आवेदन फॉर्म में अपना आवेदन लगा सकता है।

बी ए का कोर्स जिसमें बहुत अलग-अलग प्रकार के विषय विद्यार्थी के सामने उपलब्ध करवाए जाते हैं। यह में बहुत सारे विषय है। विद्यार्थी अपनी इच्छा अनुसार कोई भी तीन सब्जेक्ट का चयन कर सकता है। उसके साथ में अनिवार्य हिंदी या इंग्लिश सब्जेक्ट का चयन करना पड़ता है। साथ ही साथ पर्यावरण विज्ञान का सब्जेक्ट जो कि अनिवार्य है।

मुख्यतः b.a. के कोर्स में तीन उन सब्जेक्ट का चयन आपको करना होता है। जिन तीनों सब्जेक्ट में आपकी अच्छी रूचि है और आप उन्हीं सब्जेक्ट के माध्यम से आगे भविष्य में कुछ प्लान बना रहे हैं। इसके अलावा उन्हीं सब्जेक्ट के फील्ड में आप आगे कुछ बनना चाहते हैं। सब्जेक्ट का चयन करते समय आपको सावधानी बरतनी चाहिए। क्योंकि सब्जेक्ट का चयन किसी के बहकावे में आकर करना आपके लिए भारी पड़ सकता है और आपके भविष्य को भी बिगाड़ सकता है।

BA करने के फायदे

यह डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी को क्या फायदा होगा उसके बारे में कुछ जानकारी नीचे निम्नलिखित रुप से दी गई हैः

  1. बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी ग्रेजुएट कहलाता है। यह इस डिग्री को लेने का सबसे बड़ा फायदा है।
  2. यह का कोर्स विद्यार्थी कम पैसों में कर सकता है। मतलब यह कोर्स मुख्यतः उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद है। जो विद्यार्थी मध्यम वर्ग या गरीब परिवारों से संबंधित है।
  3. बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स करने के पश्चात विद्यार्थी मास्टर डिग्री कर सकता है। साथ ही साथ विद्यार्थी B.Ed की डिग्री करके थर्ड ग्रेड टीचर की वैकेंसी में अपना आवेदन लगा सकता है।
  4. यह का कोर्स करने के पश्चात अपने भविष्य को संवारने के लिए आगे बहुत सारे कोर्स के आप्शन उपलब्ध हो जाते हैं। जिसकी जानकारी नीचे निम्नलिखित रुप से दी गई हैः
  • B.ED (Bachelor of education)
  • MA (Master of arts)
  • LLB (Bachelor of law)
  • MBA (Master of business Administration)
  • Diploma course
  • hotel management
  • fashion designer
  • BTC (Basic Training Certificate)
  • MED (Master of education)
  • MSc It (Master of arts in information technology)
  • सरकारी नौकरी की तैयारी

बैचलर ऑफ आर्ट डिग्री से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

BA Course Details In Hindi: बैचलर ऑफ आर्ट्स डिग्री जिसके बारे में आपने आवश्य सुना होगा। क्योंकि यह काफी लोकप्रिय कोर्स है। यह कोर्स ज्यादातर विद्यार्थियों की पहली पसंद है। ऐसे भी कह सकते है, कि बैचलर ऑफ आर्ट्स कोर्स 12वीं कक्षा के पश्चात ज्यादातर लोग करना पसंद करते हैं।

बीए की डिग्री लेने के लिए विद्यार्थी को अपने 3 साल लगाने होते हैं। मतलब यह है, कि यह कोर्स पूरा करने के लिए विद्यार्थी को 3 साल लगते हैं। 3 साल में यह कोर्स पूरा होता है। यह कोर्स जिसे विद्यार्थी प्राइवेट या रेगुलर दोनों माध्यम से कर सकता है। यह विद्यार्थी पर निर्भर करता है, कि विद्यार्थी को प्राइवेट करना चाहता है या रेगुलर करना चाहता है। क्योंकि अन्य विषय वर्ग जैसे विज्ञान विषय वर्ग के अंतर्गत ज्यादातर कोर्स जो रेगुलर अनिवार्य किया गया है। विद्यार्थी चाह कर भी प्राइवेट उनको उसको नहीं कर सकता है।

परंतु b.a. के कोर्स में विद्यार्थी अपने इच्छा अनुसार प्राइवेट या रेगुलर दोनों में से किसी एक का फॉर्म भर सकता है।यह निर्णय विद्यार्थी को फॉर्म भरते समय लेना होगा। जो विद्यार्थी फॉर्म भर लेता है। तब विद्यार्थी को रेगुलर या प्राइवेट का चयन करना होगा। हालांकि यदि विद्यार्थी शुरुआत में प्राइवेट का चयन कर लेता है। तो उस विद्यार्थी को 1 साल के पश्चात उसे रेगुलर में बदलने का मौका दिया जाता है। लेकिन यदि विद्यार्थी एक बार रेगुलर का चयन कर लेता है। तो उस विद्यार्थी को यह 3 वर्षीय कोर्स रेगुलर करना होगा।

बैचलर ऑफ आर्ट्स के कोर्स में विद्यार्थी को बहुत सारे सब्जेक्ट उपलब्ध करवाए जाते हैं। जिनमें कई लोकप्रिय सब्जेक्ट जैसे इतिहास, राजनीति, भूगोल,अर्थशास्त्र इत्यादि शामिल है। अब यदि हम इस बैचलर ऑफ आर्ट्स डिग्री के फीस की बात करें, तो यह डिग्री अलग अलग कॉलेज में अलग-अलग फीस के साथ कराई जाती है। सरकारी कॉलेज में यह डिग्री मात्र 12 सो रुपए प्रति वर्ष से शुरू होती है।

दूसरी तरफ प्राइवेट में इस डिग्री को लेने के लिए प्रतिवर्ष आपको 20 से ₹25000 भी देने पड़ सकते हैं। हालांकि सरकारी विश्वविद्यालय में बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री लेने के लिए जब आप आवेदन लगाते हैं। तब आप के 12वीं कक्षा के अंक के आधार पर मेरिट लिस्ट में चयन होता है और उसी मेरिट लिस्ट के आधार पर आपकी फीस निर्धारित होती है। यदि आपका नंबर पहली मेरिट लिस्ट में आ जाता है। मतलब ऐसे कह सकते हैं, कि 12वीं कक्षा में अच्छे अंक हैं। तो आप सरकारी विश्वविद्यालय में बहुत कम पैसों में इस डिग्री को ले सकते हैं। लेकिन यदि आपका नंबर मेरिट लिस्ट के अंत में या दूसरी या तीसरी लिस्ट में आता है। तो आप से पहली मेरिट लिस्ट के मुकाबले ज्यादा पैसे लिए जाएंगे।

BA कोर्स (BA Course) कैसे करे

BA Course Details In Hindi: यह कोर्स जिसे सरकारी व प्राइवेट दोनों विश्वविद्यालय के माध्यम से किया जा सकता है। विद्यार्थियों के मन में एक सवाल आता होगा कि बी ए कोर्स कैसे करें? यदि आपके मन में भी यह सवाल है। तो बी ए कोर्स कैसे करें? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी नीचे दी गई है।

 1  12th पास करे ba कोर्स के लिए

विद्यार्थी जो बी ए कोर्स करना चाहता है। उस विद्यार्थी को सबसे पहले 11वीं कक्षा में एडमिशन लेते वक्त कला वर्ग का चयन करना होगा। हालांकि यदि व्यक्ति कला वर्ग का चयन नहीं करता है। फिर भी विज्ञान व वाणिज्य वर्ग से 11वीं व 12वीं कक्षा उत्पन्न करने के पश्चात विद्यार्थी को बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स उपलब्ध करवाया जाएगा। जब विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेता है। तो उस विद्यार्थी को सरकारी कॉलेजों में एडमिशन के लिए आवेदन फॉर्म भरना होगा। यदि किसी विद्यार्थी का सरकारी कॉलेज में नंबर नहीं आता है। तो विद्यार्थी प्राइवेट कॉलेज से भी इस डिग्री को हासिल कर सकता है। हालांकि प्राइवेट कॉलेज में यदि विद्यार्थी एडमिशन लेता है। तो उस विद्यार्थी को इस डिग्री के लिए ज्यादा फीस देनी होगी।

 2  BA कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करे

12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात कोई सरकारी कॉलेज में बी ए कोर्स के लिए ज्यादा कॉन्पिटिशन को देखते हुए एडमिशन एग्जाम करवाए जा रहे है। जिसे एंट्रेंस एग्जाम के नाम से जाना जाता है। विद्यार्थियों को बी ए का कोर्स करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम में अपना आवेदन लगाना होता है और एंट्रेंस एग्जाम की मेरिट लिस्ट के आधार पर विद्यार्थियों का चयन किया जाता है। हालांकि यह एंट्रेंस एग्जाम सभी कॉलेजों के लिए एप्लीकेबल नहीं है। कई ऐसे ही लोकप्रिय और ज्यादा कंपटीशन वाले विश्वविद्यालय है। जहां पर यह एग्जाम करवाया जाता है।

  1. PTET एग्जाम के माध्यम से

पीटीईटी का नाम आपने अवश्य सुना होगा। यह एक प्रकार का इंटरेस्ट एग्जाम है। जो विश्वविद्यालयों में डिग्री लेने से पहले विद्यार्थियों को देना होता है और इसी एग्जाम के माध्यम से विश्वविद्यालयों में विद्यार्थियों को आवेदन उपलब्ध करवाया जाता है। विद्यार्थी पीटीईटी में अपना आवेदन लगाकर बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री कर सकता है।

सबसे पहले विद्यार्थी को पीटीईटी में अपना आवेदन लगाना होगा और निर्धारित परीक्षा तिथि पर परीक्षा देकर पीटीईटी में सिलेक्ट होना होगा। जब विद्यार्थी का सिलेक्शन पीटीईटी परीक्षा में हो जाता है। तो उसके पश्चात विद्यार्थी के सामने बी ए प्लस बी एड का कोर्स जिसे साधारण तरीके से करने में 5 वर्ष लगते हैं। लेकिन यदि विद्यार्थी पीटीईटी के एग्जाम में पास हो जाता है। तो विद्यार्थी के लिए यह को 4 वर्ष का उपलब्ध करवाया जाता है। विद्यार्थी इस कोर्स को 4 वर्ष में पूरा कर सकता है।

बीए कोर्स कितने वर्ष का होता है?

बैचलर ऑफ आर्ट्स कोर्स जो तीन वर्ष का होता है।

बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी कौन-कौन से कोर्स कर सकता है?

B.A. की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी B.ED (Bachelor of education), MA (Master of arts),LLB (Bachelor of law),MBA (Master of business Administration),Diploma course,hotel management,fashion designer,BTC (Basic Training Certificate),MED (Master of education),MSc It (Master of arts in information technology) इत्यादि कोर्स कर सकता है।

B.A. कोर्स की फीस कितनी है?

B.A. के कोर्स के लिए अधिकतम 20 हजार से 25 हजार पेसे लगते है।

बी ए कोर्स करने के पश्चात विद्यार्थी क्या कहलाता है?

जिस विद्यार्थी के पास बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स है उस विद्यार्थी को ग्रेजुएट कहा जाता है।

बी ए कोर्स के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता क्या है?

इस कोर्स को करने के लिए विद्यार्थी के पास न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के रूप में 12वीं कक्षा उत्तीर्ण का सर्टिफिकेट होना जरूरी है।

निष्कर्ष

आज का हमारा यह आर्टिकल जिसमें हमने BA Course Details In Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है। उम्मीद करता हूं, कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। यदि किसी व्यक्ति कोBA Course Details In Hindi इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकता है।

यह भी पढ़े:

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here