सेब पर निबंध

Apple Essay In Hindi: हम सभी ने सेब का स्वाद कभी ना कभी जरूर चखा है। सबसे अधिक कॉमन सेब लाल रंग का होता है लेकिन इसके अतिरिक्त दूसरे रंगों में भी यह पाया जाता है खासकर कर विदेशों में। सेब के फायदे भी बहुत हैं बचपन से ही हम किताबों में पढ़ते आ रहे हैं कि रोज एक एप्पल खाएं और डॉक्टर से दूर रहें। आज का यह लेख हम उन्हीं बच्चों के लिए लेकर आए हैं जो सेब पर निबंध ढूंढ रहे हैं। इस लेख में हम सेब पर निबंध लेकर आए हैं, जिसमें आपको सेब के बारे में कई सारी जानकारी भी मिलेगी तो चलिए लेख में आगे बढ़ते हैं।

Apple Essay In Hindi
Image: Apple Essay In Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

सेब पर निबंध | Apple Essay In Hindi

सेब पर निबंध (250 शब्द)

सेब लाल व हरे रंग का फल होता है, जो दिखने में गोल होता है और खाने में मीठा व थोड़ा खट्टा लगता है। कोई भी बच्चा जब पढ़ने की शुरुआत करता है तो फलों में सबसे पहले वह सेब के नाम से ही परिचित कराया जाता है क्योंकि इंग्लिश अल्फाबेट्स में सबसे पहले बच्चे को ए का मतलब एप्पल ही सिखाया जाता है। इसीलिए बचपन से ही हमारे मुंह पर एप्पल रटा हुआ होता है।

सेब एक ऐसा फल है जो पूरी दुनिया में पाया जाता है और इसके फ्लेवर के साथ आइसक्रीम से लेकर जेम तक कई सारी चीजें बनाई जाती है। बता दें कि भारत में सेब हर राज्य में नहीं पाया जाता क्योंकि यह केवल पहाड़ी इलाकों में उगता है इसीलिए भारत में सेब कश्मीर में बहुत ज्यादा मात्रा में उगाया जाता है।

कश्मीर में चारों तरफ सेब के बगीचे देखने को मिल जाते हैं और वह काफी सुंदर दिखते हैं। सेब के बारे में सबसे रोचक बात तो यह है कि इसके जरिए ही न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण का सिध्दांत पूरी दुनिया को दिया था।

दोस्तों सेब का केवल स्वाद ही मीठा नहीं होता बल्कि उसके कई सारे फायदे भी हैं। इस में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमें स्वस्थ रहने में मदद करता है। सेब में आयरन ,कैल्शियम और फाइबर पाया जाता है यह सभी तत्व हड्डियों को मजबूत करने में और खाना पचाने में मदद करता है।

सेब खाने से दांत मजबूत होते हैं और छिल्के सहित खाओ तो दस्त और कब्ज की समस्या भी दूर हो जाती हैं। सेब खाने से हमारे शरीर का वजन संतुलन में रहता है इसके अलावा कैंसर जैसे भयानक बीमारियों से भी दूर रखता है। सेब खाने से लिवर भी मजबूत होता है।

प्रतिदिन सेब खाने से हम बीमारियों से दूर रह सकते हैं क्योंकि इसमें प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के रोग प्रतिकारक शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। सेब खाने से गुर्दे में पधरी होने से बचा जा सकता है। सेब में इतने सारे फायदे होने के कारण जो व्यक्ति प्रतिदिन एक सेब खाएगा वह तमाम प्रकार की बीमारियों से दूर रहेगा और उसका शरीर हमेशा स्वस्थ रहेगा।

सेब पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

आजकल के इस प्रदूषण से भरे माहौल में और अनेक प्रकार के रासायनिक खाद से तैयार किए जाने वाले फल सब्जियां हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचाती है। ऐसे में जरूरी है कि हम अपने खानपान में अच्छे ऑर्गेनिक फलों को शामिल करें जो हमारे सेहत के लिए लाभकारी हो साथ ही हमें अनेक प्रकार की बीमारियों से बचा सके। बाजार में कई तरह के फल मौजूद है लेकिन सेब सबसे आम है जो हर जगह पर मिल जाता है और उसके स्वाद से हर कोई परिचित रहता है।

सेव का रूप

सेब ऐसा फल है, जिससे बचपन से ही हम परिचित हो जाते हैं। सेब मूल रूप से लाल और हरे रंग के होते हैं। ज्यादातर लोग लाल सेब को खरीदना पसंद करते हैं क्योंकि वह स्वाद में ज्यादा मीठा होता है। साथ ही यह छोटे बड़े आकार में भी मिल जाते हैं। छोटे आकार वाला सेब दिखने में काफी प्यारा होता है और वह स्वाद में भी बड़े सेब की तुलना में काफी मीठा होता है।

सेब की कई सारी वैरायटी बनाई जाती है। जैसे कि सेब का जूस बनता है, उसका जैम बनता है। सेब के फ्लेवर वाले आइसक्रीम बनाए जाते है। इसके अलावा फ्रूट चाट की तरफ भी एप्पल का उपयोग किया जाता है। जिन लोगों को सीधे तौर पर एप्पल खाना पसंद नहीं है वह एप्पल का जूस पी सकते हैं। बच्चों को एप्पल का जैम बहुत पसंद आता है जिसे रोटी या ब्रैड के साथ लगा कर खाया जाता है।

कहां होता है सेब?

सेब का उत्पादन पहाड़ी इलाकों में बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। ऐसे में भारत का 3 राज्य जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश सेब खेती के लिए काफी प्रख्यात है। हालांकि भारत के उत्तर पूर्व के भी कुछ राज्यों में सेब की खेती होती है लेकिन बहुत कम मात्रा में होती है।

भारत में हर साल लगभग 24 हजार टन से भी ज्यादा सेब का उत्पादन होता है जिसमें 60 फ़ीसदी से भी ज्यादा सेब कश्मीर में उगाया जाता है और फिर दूसरे नंबर पर हिमाचल प्रदेश आता है जहां हर साल लगभग ढाई करोड़ से भी ज्यादा सेब की पेटियां देश और विदेश के बाजारों में जाता है।

इसके अलावा उत्तराखंड के मुख्य चार जिले उत्तरकाशी, अल्मोड़ा देहरादून और नैनीताल में भी सेब के बगीचे देखने को मिलते हैं।

सेब के खाने के फायदे

प्रतिदिन सेब को खाने से हमारी याद शक्ति तेज होती है। सेब में आयरन पाया जाता है जो शरीर में रक्त बढ़ाने के लिए बहुत ही जरूरी है। आपने बहुत बार देखा होगा कि जब सेब को काट के रख दो तो उसके ऊपर वाली सतह भूरी हो जाती है जो आयरन के होने का संकेत देता है क्योंकि आयरन हवा के संपर्क में आते ही भूरे रंग का हो जाता है। जिन लोगों के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होती है उन्हें प्रतिदिन खाना चाहिए।

इसके अतिरिक्त सेब में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है जो हमारे शरीर के हड्डियों के लिए काफी जरूरी होता है। सेब में कैल्शियम होने के कारण ही दांतों को भी मजबूत बनाता है। सेब में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पानी में घुलनशील होता है जो हमारी खाने को पचाता है और हमारे शरीर के विकास में मदद करता है।

इसके अलावा सेब में विटामिन सी पाया जाता है जो एक शक्तिशाली प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट होता है और यह हमारे शरीर के रोग प्रतिकारक शक्ति को बढ़ाता है और अनेक प्रकार की बीमारियों से हमें रक्षा प्रदान करता है। प्रतिदिन सेब खाने से डायबिटीज और कैंसर जैसी अन्य कई प्रकार की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

जो लोगों को अस्थमा, एनीमिया से ग्रसित होते हैं उन्हें प्रतिदिन एप्पल जरूर खाना चाहिए इससे उन्हें काफी आराम मिलता है। एप्पल खाने से कैंसर संबंधित रोगों की समस्याओं से बचने में मदद मिलता है। प्रतिदिन सेब खाने से हमारे शरीर का वजन भी घटता है।

जिन लोगों को दांतों के मसूड़ों से खून निकलने की समस्या होती है उन्हें प्रतिदिन सेब खाना चाहिए इससे हमारे मसूड़े मजबूत बनते हैं और खून निकलने की समस्या भी दूर हो जाती है।

सेव खरीदते समय ध्यान रखे

सेब ऐसा फल है जिसे प्रतिदिन खाकर भी व्यक्ति ऊब नहीं सकता और इसे प्रतिदिन खाकर व कई सारी बीमारियों से बच सकता है। हालांकि सेब को खरीदने से पहले यह भी सुनिश्चित करना जरूरी है कि आप जो सूब खरीद रहे हैं वह ऑर्गेनिक है या नहीं ‌ क्योंकि आज के समय में कई सारी रासायनिक खादों का इस्तेमाल होता है साथ ही फलों को पकाने में भी केमिकल का प्रयोग किया जाता है जो आपके शरीर के लिए हानिकारक होता है।

इसीलिए जब सेब खरीदे तो ध्यान रहे कि वह ऑर्गेनिक हो और किसी भी प्रकार की केमिकल से ना पकाया गया हो। इसके अलावा बाजार में जैम, जेली जैसी कई सारी चीजें जेब से बनाई जाती है उन्हें भी खरीदने से पहले उनके एक्सपायरी डेट को जरूर देखें और उसे बनाने में प्रयोग किए गए अन्य इनग्रेडिएंट्स को भी जरूर ध्यान में रखें।

क्योंकि इन सभी प्रोडक्ट को बनाने में सेब के अतिरिक्त और भी कई सारी चीजों का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए सुनिश्चित करना जरूरी है कि वह सारी चीज आपकी सेहत के लिए लाभकारी है या नहीं।

निष्कर्ष

बचपन से सुनते आ रहे इस सेब के स्वाद के साथ कई सारे फायदे हैं तभी डॉक्टर हमें प्रतिदिन सेब खाने की सलाह देते हैं। और आज के इस प्रदूषण भरे माहौल में जिस तरीके की अनेक प्रकार की बीमारियों से हम ग्रसित हो रहे हैं ऐसे में जरूरी है कि हम अपने रोगप्रतिकारक शक्ति को मजबूत करने में ध्यान दें।

इसके लिए प्रतिदिन एक सेब जरूर खाएं क्योंकि सेब खाने से आपके शरीर के रोग प्रतिकारक शक्ति भी बढ़ेगी और अनेक प्रकार की बीमारियों से रक्षा भी मिलेगी।

अंतिम शब्द

आज के इस लेख हमने सेब पर निबंध ( Apple Essay In Hindi) बताया हैं। उम्मीद करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा, इसे अवश्य शेयर करें।

Read Also

तरबूज पर निबंध

फल की उपयोगिता पर निबंध

केले पर निबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here