तरबूज पर निबंध

Essay On Watermelon In Hindi: तरबूज गर्मी में खाए जाने वाला फल है। तरबूज को बच्चों से लेकर बड़े तक सभी पसंद करते है। आज के इस आर्टिकल में हम तरबूज पर निबंध पर जानकारी आप तक पहुंचाने वाले हैं। इस निबंध में तरबूज के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay-On-Watermelon-In-Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

तरबूज पर निबंध | Essay On Watermelon In Hindi

तरबूज पर निबंध (250 शब्द)

यह हमारे बेहद चुनिंदा फलों में से एक है। तरबूज खाने से गर्मियों में होने वाली हमारे शरीर में पानी की कमी दूर हो जाती है। तरबूज के अंदर बहुत पानी होता है। तरबूज के अंदर 8 फीसदी शर्करा पाई जाती है, जो हमारी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करता है। तरबूज के अंदर विटामिन A और विटामिन C अधिक मात्रा में पाया जाता है।

इस के अंदर कार्बोहाइड्रेट और ढेर सारा फाइबर भी होता है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। तरबूज खाने से हमारे शरीर में हृदय से जुड़ी सारी बीमारियां दूर हो जाती है। तरबूज के अंदर लाइकोपीन नामक तत्व पाया जाता है।

हमारे शरीर की त्वचा में सुंदरता लाता है। तरबूज का इस्तेमाल हम हमारे शरीर में निखार लाने के लिए भी कर सकते हैं। तरबूज हमारे शरीर में ग्लूकोस की कमी को दूर करता है। तरबूज हमको गर्मियों में लू से भी बचाता है। इसका का रस पीने से गर्मियों में लू से बचा जा सकता है।

हम सभी को तरबूज एक निश्चित मात्रा में ही खाना चाहिए। जिस प्रकार किसी भी चीज का अत्यधिक सेवन करने से उसी चीज के भयानक परिणाम झेलने पड़ते हैं, उसी प्रकार तरबूज का अत्यधिक सेवन करने से हमें पेट में दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। तरबूज मनुष्य को स्वस्थ रखने के लिए बहुत ही लाभदायक फल है, जिसके शरीर में पानी की कमी वगैरह हो रही है उसके लिए तरबूज बहुत ही फायदेमंद है।

तरबूज पर निबंध (800 शब्द)

प्रस्तावना

यह एक ऐसा फल है जिसके बहुत से फायदे हैं। अकसर लोग इसे गर्मियों में खाना पसन्द करते हैं। बहुत से लोग तो तरबूज का जूस पीना पसन्द करते हैं। तरबूज के इतिहास की बात करें तो यह सबसे पहले चीन और मिस्र जैसे देशों में उपयोग में लाया गया था। फिर धीरे धीरे इसका उपयोग लगभग पूरी दुनिया मे किया जाने लगा और आज यह फल सुप्रसिद्ध है।

तरबूज का फल उगाने के लिए हमे जिस मिट्टी की आवश्यकता पड़ती है, वो रेतीली मिट्टी की होती है। यह फल अकसर गर्मियों के मौसम में खाया जाता है। लोग इस फल को खाने के पश्चात बहुत ताजगी सा महसूस करते हैं। यह फल देखने मे बहुत बड़ा होता है और वजन में भी काफी भारी होता है ।

तरबूज से होने वाले फायदे

इस के फल की बात करें तो उसमें पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। तरबूज के फल का पानी हमारे शरीर मे तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट्स की आपूर्ति करता है। इसके साथ ही साथ तरबूज में बड़ी मात्रा में कैल्शियम, मैग्नेशियम, पोटेशियम और सोडियम की मात्रा होती है, जो कि हमारे शरीर और त्वचा दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है।

तरबूज का अधिक सेवन करने से हमारे नेत्र में रोशनी की मात्रा बढ़ती है। तरबूज में लाइकोपीन पाया जाता है और साथ ही साथ इसमें विटामिन A का भी मिक्सचर होता है। जिस कारण नेत्र से संबंधित बीमारी जैसे मोतियाबिंद, रतौन्धी, और भी अनेक बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। यह नेत्र में उपस्थित रेटिना में पिग्मेंट में काफी सहायक होता है ।

वजन कम करने में उपयोगी

आपको बताते चलते हैं कि तरबूज का सेवन करने से यह हमारे वजन को कम करने और चर्बी को घटाने में कारगर साबित होता है। तरबूज खाने से न तो वजन बढ़ता है और साथ ही साथ कैलोरी भी कंट्रोल करता है और यह सब सिट्रलीन की वजह से होता है, जो तरबूज में पाया जाता है। इसके अलावा इसमें पानी की मात्रा अधिक होती है, जिस वजह से यह हमारी पाचन क्रिया को डाइजेस्ट कर देता है।

स्त्रियों को गर्भावस्था में तरबूज का सेवन अवश्य करना चाहिए। तरबूज के ठंडा होने के कारण चिकित्सक भी इसे खाने की सलाह देता है। उस उस अवस्था मे होने वाली बहुत सी बीमारियों को दूर रखता है।

कई बार हमें खाने के पश्चात गैस का सामना करना पड़ता है। पर क्या आपको पता है आप तरबूज में काला नमक मिलाकर खाते हैं तो आप इस बीमारी से निजात पा सकते हैं। अकसर इसे हम दोपहर में ही खाते है जो कि उचित समय भी है। इसे खाने के बाद पानी नही पीना चाहिए अन्यथा हमे परेशानी हो सकती है।

तरबूज से होने वाले नुकसान

तरबूज के बहुत से लाभ होने के साथ कुछ नुकसान भी है। इसका सेवन आपको कब कब करना चाहिए, किन कारणों में नही करना चाहिए। इस फल का अधिक मात्रा में सेवन करने से नुकसान भी हो सकते हैं, तो तरबूज से होने वाले नुकसान के विषय मे बात करते हैं।

सबसे पहला कारण यह है कि तरबूज में शक्कर अधिक मात्रा में पाई जाती है। इस वजह से जो व्यक्ति मधुमेह बीमारी से पीड़ित है, उसे तरबूज का सेवन नही करना चाहिए। इस फल से उन्हें बचना चाहिए ।

बहुत बार यह देखने को मिलता है कि कुछ लोगों के चेहरे में अजीब प्रकार के निशान होने लगते है, चेहरे में सूजन आ जाती है, तो उन्हें यह फल नही खाना चाहिए। इसके साथ ही साथ जो व्यक्ति दमा जैसी बीमारी का शिकार है, उसे इस फल का सेवन नही करना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को एक लिमिट में तरबूज के फल का सेवन करना चाहिए। इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से उन्हें गर्भावस्था के दौरान मधुमेह की संभावना हो जाती है। इसलिए हो सके तो उन्हें उस दौरान इस फल को ज्यादा मात्रा में नही खाना चाहिए ।

निष्कर्ष

तरबूज का फल एक अच्छा फल है जैसा कि आपने इसके फायदे देखे। इस फल में विटामिन ए, विटामिन बी,विटामिन बी 5, विटामिन बी 6, विटामिन सी, पोटेशियम, सोडीयम, कैल्शियम आदि बहुत से खनिज पदार्थ शामिल होते हैं। इस फल के खाने के बहुत फायदे हैं। बशर्ते हमें इसका उपयोग एक निश्चित मात्रा में करना चाहिए। यह पोषक पदार्थो से भरपूर है। आप इसे अपने साथ साथ दूसरों को भी इसे खाने की सलाह दे सकते हैं।

अंतिम शब्द

दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल तरबूज पर निबंध (Essay On Watermelon In Hindi) पसंद आया हो तो आप इसे अपने मित्रों के साथ साझा कर उनकी मदद कर सकते हैं और जिन्हें कुछ भी प्रश्न या इस आर्टिकल से रिलेटेड समझ में ना आया हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here