फल की उपयोगिता पर निबंध

Essay on the Importance of Fruits In Hindi :फल के बारे में तो हर कोई जानता ही है। आज के इस आर्टिकल में हम फल की उपयोगिता पर निबंध पर जानकारी आप तक पहुंचाने वाले हैं। इस निबंध में फल की उपयोगिता के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay on the Importance of Fruits In Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

फल की उपयोगिता पर निबंध | Essay on the Importance of Fruits In Hindi

फल की उपयोगिता पर निबंध (1200 शब्द)

जैसा कि हम सब जानते हैं, फल हमारे जीवन का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। फलों को खाने से व्यक्ति तंदुरुस्त बना रहता है क्योंकि उसमें भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। जो कि हमें बीमारियों से दूर रखते हैं और हमें ताकतवर बनाने में सहायक रहते हैं। फलों को खाने से सिर्फ शरीर ही नहीं बल्कि दिमाग भी बहुत तंदुरुस्त बना रहता है। कुछ फल तो सदाबहार होते हैं, जो कि पूरे वर्ष भर मिलते हैं। कुछ फल मौसम के अनुसार पाए जाते हैं। पूरी दुनिया भर में अनेकों तरह के फल पाए जाते हैं। जिनमें से आम अधिकतर लोगों की पसंद होती है, और इसी की वजह से फलों के राजा को आम कहा जाता है।

हमें अपनी दिनचर्या में फलों को शामिल करना चाहिए । जितने भी मौसम के अनुसार फल आते हैं, हमें फल खाने चाहिए। इसी प्रकार फलों का रस भी बहुत ही गुणकारी होता है। जब फल ताजे होते हैं, उसका रस और भी फायदेमंद होता है, क्योंकि जब फल खराब हो जाते हैं, तो उसके विटामिन नष्ट हो जाते हैं। हमें समय रहते बच्चों को भी फल खाने की आदत डाल देनी चाहिए, जिससे बच्चे बाद में परेशान ना करें।

बाजार में कटे हुए फल मिलते हैं लेकिन वह नहीं खाने चाहिए, क्योंकि कटे हुए पलों में बहुत ही जल्दी कीटाणु आ जाते हैं, जिसकी वजह से हमें बीमारी बढ़ने की संभावना हो जाती है और फलों को गंदा भी कर देते हैं, इसीलिए हमें कटे हुए फल नहीं खाने चाहिए और ना ही खरीदने चाहिए। हमें हमेशा स्वच्छ फल खरीदने चाहिए फिर उन्हें अच्छे साफ पानी से धोकर छीलकर अच्छी तरह से फिर खाने चाहिए। जिससे उसमें शामिल सभी पोषक तत्व हमें मिल सके और हमें बीमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता प्रदान कर सकें।

फल की उपयोगिता पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

अक्सर हमारे मन में एक सवाल आता है, कि यह फल क्या होते हैं? फल वह है, जो हमें हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता से लड़कर हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है। फल हमें प्रकृति द्वारा मिलते हैं। इनमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। फलों में कई तरह के मिनिरल्स, विटामिन, प्रोटीन, फाइबर, आयरन इत्यादि प्राप्त होते हैं, इसीलिए फल खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। फलों से हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसी प्रकार फल प्रकृति का दिया हुआ बहुत ही अनमोल तोहफा है।

हर प्रकार के फलों का पेड़ अलग होता है, और उनका उत्पन्न होने का तरीका भी अलग अलग होता है। पेड़ पर जितने भी फूल लगते हैं, उन्हीं से फल बनते हैं। कई प्रकार के पौधे एकल फल देते हैं, तो कई प्रकार के पौधे गुच्छे वाले फल देते हैं। एकल फल होते हैं, जैसे कि आम, सेब इत्यादि और गुच्छे फल होते हैं, जैसे अंगूर, केला इत्यादि।

सभी प्रकार के फलों की बनावट भी अलग-अलग होती है। कुछ मोटे होते हैं, तो कुछ गोल होते हैं, कुछ आकार में बहुत ही छोटे होते हैं, तो कुछ आकार में बहुत ही बड़े होते हैं, कुछ पलों को हम छिलके सहित खा सकते हैं, जैसे कि सेब, अंगूर, अमरूद इत्यादि जबकि कुछ फल ऐसे होते हैं, जिनके छिलके उतारकर ही खाए जाते हैं, जैसे कि आम, पपीता, केला इत्यादि।

फलों में कौन-कौन से मुख्य पोषक तत्व पाए जाते हैं?

फलों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आयरन, एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर इत्यादि पाए जाते हैं।

इसके अलावा मिनरल्स में कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीज, फास्फोरस, जिंक, इत्यादि मिनरल्स पाए जाते हैं।

विटामिन में- विटामिन A, B कांपलेक्स C, E, K, D सभी विटामिन फलों में पाए जाते हैं।

फलों को कैसे खाना चाहिए

हर प्रकार के फलों में उनके अनुसार गुण और पोषक तत्व पाए जाते हैं। जिस प्रकार से फाइबर बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है, उसी प्रकार संतरा में विटामिन सी की मात्रा बहुत अधिक होती है। केला में कार्बोहाइड्रेट बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसीलिए हमें एक फल को न चुनकर सभी प्रकार के फलों को खाना चाहिए।

सभी प्रकार के फलों की बाहरी परत की मोटाई अलग-अलग तरह की होती है। जैसे कि अनानास का छिलका बहुत ही मोटा होता है, वहीं पर सेब का छिलका बहुत ही पतला होता है, फलों के छिलकों को तीन भागों में बांटा गया है, इन्हें भीति फल कहते हैं।

ठंडी और गर्मी के मौसम के अनुसार ही पलों को उगाया जाता है। फल कई प्रकार के होते हैं, आम, सेब, अंगूर, सभी फल लगाने के लिए उनका वातावरण अलग अलग होता है। उसी प्रकार जलवायु, मिट्टी इत्यादि भी अलग तरह की होती है, जो कि फलों को विकास करने में बहुत ही सहायक पूर्ण होती है।

हमें बेमौसम फल खाने का परहेज करना चाहिए। फलों को मौसम के अनुसार ही खाना चाहिए। जैसे कि आम को गर्मियों में खाया जाता है, क्योंकि वह सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इसी प्रकार सर्दियों में सेव खाया जाता है, क्योंकि वह बहुत ही लाभदायक होता है। हर फल की प्रकृति को उसके मौसम के अनुसार ही रखना चाहिए।

फल खाने से होने वाले लाभ

  • फलों में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है, जिससे हमारे शरीर में एनर्जी बनी रहती हैं, तरबूज, खरबूजा गर्मियों में खाया जाता है, जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है, इससे हमारी थकान भी दूर होती है, और हमारे शरीर को आराम भी मिलता है।
  • अगर हम प्रतिदिन एक सेब खाते हैं, तो इससे हमारा पाचन तंत्र अच्छा रहता है, क्योंकि सेब में अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है, इससे कब्ज दूर होती है।
  • फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिससे त्वचा के रोगों से बचाव होता है, बालों की और चेहरे की खूबसूरती बनाए रखता है। विटामिन सी इसमें संतरा, मौसमी, आमला इत्यादि फल शामिल होते हैं।
  • फलों से दिल की संबंधित बीमारियां भी दूर होती हैं, क्योंकि वह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत ही सहायक होता है। इसे ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।
  • कई फलों से हमारे शरीर में रक्त की मात्रा को बढ़ावा मिलता है, जैसे कि अनार, चुकंदर इत्यादि फल हमारे शरीर में खून की कमी को पूरा करते हैं, जिसे हम आयरन के रूप में खाते हैं।
  • फलो से हमारे शरीर की इम्यूनिटी बहुत ही अच्छी रहती है। सेब, अनार, अंगूर, आम, पपीता, सटॉबेरी इन फलों को खाने से हमारे शरीर में इम्यूनिटी की मात्रा बढ़ती है।

महत्वपूर्ण फल

कहां जाता है, दुनिया में सबसे बड़ा फल कटहल है। जिस का उत्पादन सबसे अधिक चीन में होता है। भारत में दूसरे नंबर पर फल उत्पादन किए जाते हैं। सेब का सबसे अधिक उत्पादन चीन में ही होता है। भारत में सर्वाधिक आम का उत्पादन किया जाता है। इसके अलावा नींबू, केला यह सब भी भारत में ही उत्पादित किया जाता है। अनानास थाईलैंड में सबसे ज्यादा पाया जाता है।

सभी प्रकार के फल अलग-अलग जगहों पर पाए जाते हैं, लेकिन फल मौसम के अनुसार ही आते हैं। कुछ फल सदाबहार होते हैं। परंतु कुछ मौसम के अनुसार जो, कि हमारे शरीर को बहुत ही स्वस्थ बनाने में सहायक होते हैं, इसीलिए हमें समय-समय पर फलों का सेवन करते रहना चाहिए।

निष्कर्ष

फल हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं, जो कि हमारी इम्यूनिटी को बनाए रखते हैं। हमारे शरीर को संतुलित बनाए रखते हैं, इसीलिए हमें चाहिए कि हम अपनी दिनचर्या में फलों का सेवन जरूर करें रोज एक या दो फल हमें अपनी आदत में डालने चाहिए। जिससे हमारे शरीर में विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, मिनिरल्स किसी भी प्रकार की कोई कमी ना हो और हमें रोग प्रतिरोधक क्षमता मिलती रहे।

अंतिम शब्द

आज हमने आपके साथ फल की उपयोगिता पर निबंध ( Essay on the Importance of Fruits In Hindi) की जानकारी शेयर की है। इस लेख में आपको बताया है, कि फल हमारे स्वास्थ्य के लिए कितने लाभदायक होते हैं। आशा करते हैं, आप भी रोज अपनी दिनचर्या में फलों का सेवन जरूर करेंगे। जिससे आप बीमारियों से दूर रहेंगे। अगर आपको इससे संबंधित और अधिक जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here