अकबर को किसने मारा था?

भारतीय इतिहास में अकबर को एक महान राजा की उपाधि दी हुई है। अकबर मुगल साम्राज्य के तीसरे शासक था, जिसने लगभग 50 वर्षों तक सबसे ज्यादा भारत पर शासन किया था। अकबर ने अपने शासनकाल के दौरान अनेक तरह की लड़ाइयां और रियासतें अपने कब्जे में कर ली।

अकबर ने अपने शासनकाल में भारत के बहुत बड़े भूभाग को अपने अधीन कर लिया था, लेकिन एक छोटी सी रियासत मेवाड़ को कभी भी नहीं जीत सका और ना ही कभी दक्षिण भारत की तरफ पहुंच पाया।

Akbar Ko Kisne Mara tha

अकबर अपने दरबार में बड़े-बड़े मंत्री पदों पर हिंदू लोगों को रखता था। हिंदू राजाओं के साथ अच्छे संबंध रखता था ताकि उनके साथ मिलकर बड़ी से बड़ी लड़ाई जीत सके एवं संपूर्ण भारत पर कब्जा कर सके। इस तरह से अकबर अपनी बुद्धिमता से अनेक तरह की रियासतें जीत गया और अनेक तरह की लड़ाई भी अपने नाम कर ली।

अकबर ने इतिहास में अपना एक विशेष स्थान प्राप्त कर लिया। इतिहासकारों ने भी अकबर के योगदान को बढ़ा चढ़ा कर लिखा एवं आज के समय में किताबों में भी अकबर का विशिष्ट योगदान पढ़ा जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि अकबर को किसने मारा?

अकबर को किसने मारा था?

कहा जाता है कि अकबर की मृत्यु का कारण उसका पुत्र सलीम था। सलीम को अकबर के बाद दिल्ली की सल्तनत मिल गई‌। सलीम जहांगीर नाम से मुगल शासक कहलाने लगा। इतिहास में कहा गया है कि अकबर का पुत्र सलीम हमेशा अकबर के खिलाफ जाता था।

अकबर के विरुद्ध कार्य करता था, फिर भी अकबर उन्हें माफ कर देता था। जैसे-जैसे अकबर अपने अंतिम समय तक पहुंचता गया, वैसे-वैसे अकबर का बेटा सलिम हर रोज गलतियां करता था, जिससे अकबर को बहुत बड़ा आघात पहुंचा।

क्योंकि 1 दिन सलीम ने अकबर के करीबी और खास मंत्री को मार दिया था, जिसके बाद अकबर धीरे-धीरे मृत्यु शैया की तरफ बढ़ने लगा। आखिरकार 17 अक्टूबर 1605 को फतेहपुर सीकरी में अकबर का देहांत हो गया‌।

इतिहास के कुछ पन्नों में अकबर की मृत्यु का कारण प्राकृतिक रूप बताया गया है। तो इतिहास के कुछ पन्नों में अकबर की मृत्यु का कारण उसके बेटे सलीम को कहा गया है। परंतु इतिहास के पन्नों में अकबर की मृत्यु का कारण बीमारी को भी बताया गया है, जिसका नाम “पेचिश की बीमारी” हैं।

अकबर अपने जीवन में संपूर्ण भारत पर कब्जा करना चाहता था। वह संपूर्ण भारत को मुगल सल्तनत बनाना चाहता था, लेकिन उनका यह सपना कभी पूरा नहीं हो सका। क्योंकि वह अपनी चतुरता से भारत के एक बहुत बड़े भूभाग को जीत लिया।

लेकिन राजस्थान स्थित एक छोटी सी रियासत मेवाड़ को अपने कब्जे में नहीं कर सका था। इस के लिए अकबर ने दिन-रात एक कर दिए, तरह-तरह की लड़ाइयां लड़ी, अनेक तरह के लोगों को भेजा, फिर भी वह इस रियासत को नहीं जीत सका।

यह भी पढ़े: जलाल उद्दीन मोहम्मद अकबर की जीवनी और इतिहास

निष्कर्ष

वर्तमान समय में अकबर को इतिहास में महान बताया जाता है। अकबर का गुणगान किया जाता है। किताबों में अकबर का संपूर्ण इतिहास विस्तार के साथ बताया जाता है। मुगलों का इतिहास और मुगलों की जीवन शैली संस्कृति इत्यादि बताई जाती है।

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको यह बता दिया है कि अकबर को किसने मारा था? हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए जरूर उपयोगी साबित हुई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर।

यह भी पढ़े

अकबर के कितने बेटे थे और उनका नाम क्या था?

अकबर की कितनी पत्नियां थी?

सिन्धु सभ्यता के लोग सोना कहाँ से प्राप्त करते थे?

भारत के रक्षा मन्त्री कौन है? (1947 से 2022 तक सूची)

भारत का मैनचेस्टर किसे कहा जाता है?

भारत के गृह मंत्री कौन है? (1947 से 2022 तक सूची)

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here