आधा तीतर आधी बटेर मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आधा तीतर आधी बटेर मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aadha teetar aadhee bater Muhavara ka Arth Aur Vakya Pryog )

आधा तीतर आधी बटेर मुहावरे का अर्थ – अधूरा ज्ञान, सुचारु रुप से नहीं होना, बेमेल चीजों का मिश्रण, बेमेल-बेढंगा।

Aadha teetar aadhee bater muhaavare ka arth – adhoora gyaan, suchaaru rup se nahin hona, bemel cheejon ka mishran, bemel-bedhanga.

आधा तीतर आधी बटेर मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: राजू ने धोती और कुर्ता पहन रखा है लेकिन अपने सर पर विदेशी टोपी पहन रखा है जो कि एक बेमेल बेढंगा सा लग रहा है इसे कहते हैं आधा तीतर आधा बटेर।

वाक्य प्रयोग: विदेशी सभ्यता संस्कृति ने भारतीय सभ्यता संस्कृति को बेमेल कर दिया है जिससे भारतीय सभ्यता संस्कृति आधा तीतर आधा बटेर हो गई है।

वाक्य प्रयोग: सुमित बहुत ही बेतुकी बातें करता है उसकी बातों का कोई भी मेल नहीं है वह बेमेल बेढंगा की तरह बातें करता है इसे कहते हैं आधा तीतर आधा बटेर।

वाक्य प्रयोग: राधा खुद को मॉडर्न दिखाने के लिए ऐसे ऐसे कपड़े पहनती है जोकि बेमेल बेढंगा लगते हैं इसे कहते हैं आधा तीतर आधा बटेर।

यहां हमने “आधा तीतर आधी बटेर “जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। तीतर आधा बटेर मुहावरे का अर्थ है कि बेमेल चीजों का मिश्रण, बेमेल-बेढंगा, सुचारू रूप से नहीं होना अर्थात कोई व्यक्ति अगर अपने पहनावे या अपने विचार में कुछ भी उटपटांग सा हरकत करता है तो उसे बेमेल-बेढंगा कहा जाता है और इसे ही कहा जाता है आधा तीतर आधा बटेर अर्थात जो काम आधा सही हो और आधा उसने ऐसे किया हो जैसे कि वह उसे मेल ही ना खाता हो, सुचारू रूप से नहीं माना जाता इसे कहते हैं आधा तीतर आधा बटेर। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

बड़ी बात होनाकठपुतली बनना
उड़ती चिड़िया के पंख गिननाकान भरना
आम के आम गुठलियों के दामअपना उल्लू सीधा करना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here