विज्ञान के जनक कौन हैं?

विज्ञान की बदौलत ही आज मनुष्य का जीवन इतना आसान हो गया है। विज्ञान की वजह से ही आप इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं और विज्ञान की वजह से ही इस आर्टिकल को हम आप तक पहुंचा रहे हैं। यदि आप यह जानना चाहते हैं कि विज्ञान के जनक कौन हैं? तो इस आर्टिकल को आप लास्ट तक जरूर पढ़ें क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको विज्ञान के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

Vigyan ke janak kaun hai

विज्ञान के कौन-कौन से क्षेत्र हैं? विज्ञान के कौन-कौन से कार्य हैं? विज्ञान का जनक कौन है? इत्यादि संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बताने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं।

विज्ञान के जनक कौन हैं?

विज्ञान का महत्व

विज्ञान ने प्रत्येक क्षेत्र में अपना एक महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विज्ञान के योगदान की वजह से ही आज के समय में मनुष्य इतना आसानी से अपना जीवन यापन कर रहा है। आप जिस मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर या इंटरनेट की वजह से इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं और हमने आपको यह जानकारी दी है। यह सभी विज्ञान की ही देन है।

विज्ञान की वजह से ही यह सब संभव हो पाया है। विज्ञान ने ऐसे-ऐसे कारनामे किए हैं, जिसके बारे में एक आम आदमी सोच भी नहीं सकता। आज से कुछ 200-300 वर्षों पूर्व जब विज्ञान का अस्तित्व नहीं था। तब इंसान का जीवन जीना कितना मुश्किल था, कितने तरह के कार्य करने पड़ते थे और किन-किन कठिनाइयों और परेशानियों का सामना करना पड़ता था। इस बात का आप शायद अंदाजा भी नहीं लगा सकते। परंतु विज्ञान ने वह सभी कर दिखाया है।

इतने सारे मशीनरी बनाई, इतने प्रौद्योगिकी विकास, कल कारखाने, फैक्ट्री, कंपनियां, तरह तरह की मशीनें, तरह तरह के रोबोट, तरह-तरह के सिस्टम, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी, डिवाइस, वस्तुएं, गाड़ियां, इत्यादि ना जाने कितने आविष्कार और सामान बनाए हैं। जिससे मनुष्य का जीवन अत्यंत सरल हो चुका है।

विज्ञान के जनक कौन है?

विज्ञान द्वारा इंसान को अत्यधिक तरीके से सरल जीवन जीने पर मजबूर कर दिया है। वर्तमान समय में दुनिया भर के लोग विज्ञान की बदौलत ही आसानी से अपना जीवन यापन करते हैं। इसीलिए लोग यह जानना चाहते हैं कि विज्ञान के जनक कौन है? विज्ञान की स्थापना किसने की? विज्ञान की शुरुआत किसने की थी? तो हम आपको बता दें कि आधुनिक विज्ञान के जनक Galileo को कहा जाता है।

प्राचीन विज्ञान का जनक कौन है? इस बात की जानकारी उपलब्ध नहीं है क्योंकि प्राचीन समय में लोगों को केवल अपना पेट भरना होता था। कुछ भी खा कर, मांस खाकर, जानवरों को मार कर, पेड़ पौधों की पत्तियां खाकर, अपना जीवन यापन करते थे। उस समय लोगों को अपना नाम नहीं चमकाना होता था इसीलिए उस समय के लोग जो भी कर सकते थे, वह अपने पेट भरने के लिए करते थे।

विज्ञान की अनेक सारी शाखाएं हैं, सभी अलग-अलग शाखाएं अपने-अपने क्षेत्र में कार्य करती है। जैसे जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, प्रौद्योगिकी विज्ञान, इत्यादि सभी अलग-अलग क्षेत्र हैं। इन सभी क्षेत्रों में कार्य करने वाले वैज्ञानिक और रिसर्च टीम अपने अपने क्षेत्र के अनुसार कार्य करती है तथा मनुष्य जीवन को और अधिक आसानी से बनाने के लिए हर संभव प्रयास करती हैं।

विज्ञान की कुछ विशेषताएं

  • विज्ञान का उद्देश्य और विशेषता यही है कि मानव का जीवन आसान बनाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं, भले ही परिणाम कुछ भी हो।
  • विज्ञान हमेशा अध्ययन के आधार पर विधि पूर्वक प्रयोग करता है इसीलिए विज्ञान के ऊपर कोई उंगली उठाए यह उसे नामंजूर है।
  • विज्ञान हमेशा प्रत्येक बातों को तथ्यों और सबूतों के आधार पर देखता है तथा लोगों के द्वारा बनाई गई मनगढ़ंत कहानियां और किससे व किताबों को नजरअंदाज करता है।
  • विज्ञान शुरुआत से ही भगवान तथा भूत प्रेत इन सभी बातों का खंडन करता आया है। विज्ञान केवल तथ्य और साक्ष्यों को ही सही मानता है।
  • विज्ञान हमेशा अपनी रिसर्च और पाए गए सबूतों के आधार पर ही रिसर्च करके किसी भी सच्चाई पर या लोगों के दावा पर अपनी बात कहता है।

वर्तमान समय में संपूर्ण दुनिया में विज्ञान के अनेक सारे क्षेत्र हैं, अनेक सारे कार्य हैं, अनेक सारे विभाग है। सभी विभाग और विज्ञान के अलग-अलग क्षेत्र अपने अनुसार कार्य करते हैं। प्रत्येक क्षेत्र में कार्य करने के लिए विज्ञान द्वारा अलग से विज्ञान का भाग बनाया गया है जैसे जीव विज्ञान, प्रौद्योगिकी विज्ञान, भौतिक विज्ञान, इत्यादि। तो इन सभी विज्ञान के क्षेत्र के जनक कौन कौन है? इस बारे में पूरी जानकारी हम आपको विस्तार से बता देते हैं।

FAQ

विज्ञान का जनक किसे कहा गया है?

गैलीलियो को आधुनिक विज्ञान का जनक कहा गया है।

पोषण विज्ञान का जनक किसे कहा गया है?

पोषण विज्ञान का “एंटोनी लावोइसियर” को जनक कहा गया है।

आधुनिक वनस्पति विज्ञान का जनक किसे कहा गया है

आधुनिक वनस्पति सत्र में विज्ञान का जनक “कार्ल लिनिअस” को कहा गया है।

भौतिक विज्ञान का जनक किसे कहा गया है?

“आइजेक न्यूटन” को भोतिक विज्ञान का जनक कहा गया है

आधुनिक भौतिक विज्ञान का जनक किसे कहा जाता है?

आधुनिक समय में भौतिक विज्ञान का जनक “अल्बर्ट आइंस्टीन” को कहा जाता है।

चिकित्सा विज्ञान का जनक किसे कहा गया है?

“हिप्पोक्रेट्स” को विज्ञान के चिकित्सा क्षेत्र का जनक कहा गया है।

निष्कर्ष

विज्ञान ने संपूर्ण पृथ्वी पर अनेक सारे योगदान दिए हैं, जिन्होंने मनुष्य जाति का जीवन अत्यंत सरल बना दिया है। विज्ञान के कारण ही आज मनुष्य इतनी आसानी से अपना जीवन यापन कर रहा है। अनेक तरह के ऐसो आराम से जिंदगी जी रहा है। विज्ञान का जनक किसे कहा गया है? विज्ञान के किस क्षेत्र का जनक किसे कहा गया है? इससे संबंधित पूरी जानकारी हमने आपको आज के इस आर्टिकल में विस्तार से बता दिए हैं।

विज्ञान तथा विज्ञान के अलग-अलग क्षेत्रों से संबंधित विज्ञान का जनक कौन है? इससे संबंधित जानकारी हेतु आपको यह लेख शुरुआत से लेकर लास्ट तक ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा। तभी आप इस बारे में पूरी जानकारी विस्तार से हासिल कर पाएंगे। यदि आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर हम जल्द से जल्द देने की पूरी कोशिश करेंगे। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी हुई यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया है, तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें। ताकि उन्हें भी इस जानकारी के बारे में पता चल सकें।

यह भी पढ़ें

चाँद पर सबसे पहले कौन गया था?

रेड बुल क्या है? (फायदे, नुक्सान और यह कैसे बनता है?)

कोकोपीट क्या है? (फायदे, उपयोग और कैसे बनाया जाता है)

फिटकरी रगड़ने से खून का बहना क्यों रुक जाता है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here