मातृ दिवस पर भाषण

Speech on Mothers Day in Hindi: मदर्स डे हमारी माताओं के प्रति प्यार और सम्मान दिखाने का दिन है। मदर्स डे की शुरुआत 1908 में संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई थी। सभी अमेरिकी राज्यों ने 1911 में मातृ दिवस को अवकाश के रूप में मनाया। 1914 में, संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने मई के दूसरे रविवार को आयोजित मदर्स डे को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया। भारत में, मातृ दिवस धार्मिक सीमाओं से मुक्त एक अवसर है। यह दिन मातृत्व की भावना का स्मरण कराता है। हम इस आर्टिकल में आपको मातृ दिवस पर भाषण ( Speech on Mothers Day in Hindi) के बारे में बेहद सरल भाषा में माहिति प्रदान करेंगे। यह भाषण हर कक्षा के विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होगा।

Speech-on-Mothers-Day-in-Hindi-

मातृ दिवस पर भाषण | Speech on Mothers Day in Hindi

मातृ दिवस पर भाषण (500 शब्द)

सुप्रभात आदरणीय मुख्य अतिथि, प्रधानाचार्य, शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों।

सबको मेरा प्यार भरा नमस्कार।

आज पूरी दुनिया में मदर डे यानि की मातृ दिवस मनाया जा रहा है और मैं आप सबका शुक्रगुजार हूँ की इस अद्भुत दिन पर आप लोगों ने मुझे बोलने का मौका दिया। सबसे पहले मैं यहां उपस्थित सभी माताओं को मातृ दिवस की शुभकामनाएं देता हूं। मां के प्यार और स्नेह को शब्दों में बयां करना मुश्किल है। उसकी आत्मा की पवित्रता इतनी अधिक शुद्ध है कि वह इस ब्रह्मांड में और कहीं नहीं पाई जा सकती है। मैं धन्य हूं कि मुझे अपनी मां को धन्यवाद देने का अवसर मिला है। आज मैं  जो कुछ भी हूँ, सिर्फ और सिर्फ मेरी माँ के अथाग प्रयासों का फल हूँ।

उसने मेरे लिए बहुत कुछ किया है और वह अब भी कर रही है। उसने मुझे हाथ पकड़कर अपने पैरों पर खड़ा होना सिखाया। वह मेरी पहली शिक्षिका हैं जिन्होंने मुझे जीवन में महत्वपूर्ण सबक सिखाया। वह अभी भी कठिन परिस्थितियों में सही निर्णय लेने में मेरी मदद करती है। वह मेरी पहली शिक्षिका और यहां तक ​​कि मनोवैज्ञानिक भी हैं।मां ही दिखाई देने वाली भगवान हैं। वह अपने बच्चे के जन्म पर खुशी मनाती है, बच्चे के बड़े होने पर हर पल को संजोती है। वह अपने बच्चे के साथ हंसती है, अपने बच्चे के साथ रोती है। वह अकेली है जो समझ सकती है कि उसका बच्चा क्या बताने की कोशिश कर रहा है, जब बच्चा स्पष्ट रूप से नहीं बोल सकता है।

वह अपने बच्चे को जीवन में सही सिद्धांत सिखाती है। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि मेरी मां ने मेरे बारे में बहुत कुछ सोचा है। उसने मुझे एक बहुत मजबूत व्यक्ति और मुझे एक स्वतंत्र व्यक्ति बनाया है। उसने मुझे सिखाया है, चाहे कैसी भी परिस्थिति हो, कभी झुकना नहीं। हमेशा सीधे खड़े रहें और अपने रास्ते में आने वाली हर चीज का सामना करें और मुझे यकीन है, यही हर मां अपने बच्चों को पढ़ाती है।

आज मैं जो कुछ भी हूं वो अपने माता-पिता, खासकर अपनी मां की वजह से हूं। एक मां के बारे में बताना बहुत मुश्किल है। सीधे शब्दों में कहें तो मां की तुलना किसी से नहीं की जा सकती क्योंकि मां मां होती है। हमें अपनी मां का सम्मान करना चाहिए और उनकी देखभाल करनी चाहिए। हम भगवान को नहीं देख सकते हैं लेकिन भगवान को मां के रूप में देख सकते हैं। बहुत से लोग माँ के जाने के बाद ही उसके महत्व और गौरव का एहसास करते हैं लेकिन क्या फायदा?

मैं यह कहकर अपनी बात समाप्त करना चाहूंगा कि माताएं इस धरती पर एकमात्र निस्वार्थ प्रेमी हैं। तो आइए हम सभी यह सुनिश्चित करें कि हम मदर्स डे को अपनी मां के लिए एक विशेष दिन बनाएं और हर रोज उनके शब्दों के प्रति अपने प्यार और कृतज्ञता का इजहार करते रहें। अगर माँ हमारे चेहरे की मुस्कान बन सकती है तो, हमें भी प्रयत्न करना चाहिए की हम भी उसके चेहरे की मुस्कान बने। इसी के साथ मैं अपनी बात समाप्त करता हूं शुक्रिया ।

Speech on Mothers Day in Hindi (500 शब्द)

माननीय महोदय और मेरे प्यारे साथियों,

नमस्कार।

सबसे पहले यहाँ उपस्थित सभी श्रोता गणों को मेरी तरफ से मदर डे की हार्दिक शुभकामनाएं। आज के कार्यक्रम और उत्सव का हिस्सा बनाने के लिए में आप सबको दिल से शुक्रिया करना चाहता हूं। आज इस दिन पर मुझे एडविन चैपिन का एक सुवाक्य याद आता है कि कोई भी भाषा माँ के प्यार की शक्ति और सुंदरता और वीरता को व्यक्त नहीं कर सकती है। यह सच है, है ना?

आज मुझे विश्व की सभी माताओं के प्रति अपनी गहरी भावनाओं को व्यक्त करने का यह जबरदस्त अवसर मिला है। वह सर्वशक्तिमान द्वारा हमें दिया गया सबसे कीमती उपहार है। भगवान हर जगह उपस्थित नहीं हो सकते थे, इसलिए इस शून्य को भरने के लिए उन्होंने मां को बनाया है। प्रकृति में उनकी भूमिका सर्वोच्च है क्योंकि वह हमारी पहली मित्र, शिक्षक, मार्गदर्शक और आलोचक हैं। ऐसा माना जाता है कि जब वह एक बच्चे को जन्म देती है, तो उसे अपने पुनर्जन्म का अनुभव होता है।उसका शरीर हर कष्टदायी दर्द के सहता है, फिर भी उसकी मुस्कान प्रबल होती है। माँ अपने बच्चों से बिना कोई शर्त वाला प्यार जताती है। अपने बच्चों के लिए वो हमेशा एक आशा की किरण होती है।

परिवार के अन्य सदस्यों की तुलना में उसके साथ हमारा बंधन सबसे अधिक शक्तिशाली है। वह बिना किसी वेतन या छुट्टियों के 365 दिन काम करती है। माँ शब्द के चारों ओर तीव्र भावनाएँ हैं। अपने बच्चों के लिए उसका प्यार अद्वितीय है, और उसके पास क्षमा का स्तर बेजोड़ है। वह एक मजबूत समर्थन प्रणाली रखती है और रहस्यों की संरक्षक है। ऐसे चरित्र की वजह से कोई भी गलत काम बिना किसी झिझक के शेयर किया जा सकता है।आज इस उत्सव का हिस्सा बनकर और आप सबके सामने मातृत्व के बारे में बात करते हुए मुझे अपार खुशी हो रही है।

यह मेरे लिए किसी सुखद अनुभव से कम नहीं है। सबसे पहले, मैं वहाँ की हर एक माँ के प्रति अपना आभार प्रकट करना चाहूँगा, जिन्होंने अपने बिना शर्त प्यार से दुनिया का पालन-पोषण किया है, और इसे वास्तव में “पृथ्वी पर स्वर्ग” बनाया है। मां और उसके बच्चों के इस खूबसूरत रिश्ते को अपने अनुभव से जोड़ते हुए मैं कहना चाहता हूं कि किसी के साथ जो सबसे अच्छी चीज हो सकती है वह है उनकी “मां”। उसके प्यार के बिना जिंदगी ही मुश्किल हो जाती है। अपने स्वयं के अनुभव से, मैं कह सकता हूँ कि एक माँ और उसका प्यार भावना का सबसे शुद्ध रूप है जो इस ब्रह्मांड में कभी भी मौजूद रहेगा।

अंत में मैं बस इतना ही कहना चाहता हूँ की हमें भी माँ के प्रति अपना कर्तव्य निभाना चाहिए। उनके साथ उनकी छाया बनकर चलना चाहिए। माँ एक वो वृक्ष है, जिनकी छाया में हर बच्चा अपने अपने आप को सुरक्षित महसूस करता है। उसके रहते जीवन में कोई गम नहीं होता, दुनिया साथ दे ना दे पर मां का प्यार कभी कम नहीं होता। मैं भी अपनी माँ को बहुत प्यार करता हूँ।

धन्यवाद।

Mother Day Speech in Hindi (500 शब्द)

मेरे प्यारे साथियों।

सबको मेरी तरफ से ,हैप्पी मदर्स डे।

आज हम यहां सबसे महत्वपूर्ण दिन ‘मदर्स डे’ मनाने के लिए आए हैं। हालाँकि माँ शब्द छोटा है, लेकिन भावनाओं और अर्थ के मामले में यह बहुत अधिक भार वहन करता है। माँ केवल भक्ति की ही नहीं, सबसे शक्तिशाली योद्धा भी हैं।

माँ  अपने बच्चों की खुशी सुनिश्चित करने के लिए सभी बाधाओं से लड़ती है। वह पहली शिक्षक, मित्र, मार्गदर्शक, दार्शनिक और यहाँ तक कि मनोवैज्ञानिक भी है।  एक बच्चे के रूप में, मैं खुद को धन्य महसूस कर रहा हूं कि मुझे अपनी मां को हर उस चीज के लिए धन्यवाद देने का अवसर मिला है, जो उसने किया और अब भी मेरे लिए कर रही है। मेरे जीवन में मेरे पास जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसके लिए माँ जिम्मेदार है, और वह उन सभी में सबसे मूल्यवान है। जब वह मुस्कुराती है, तो यह मेरे दिन का सबसे खूबसूरत हिस्सा होता है।

हम सभी जानते हैं कि हमारी मां हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। किसी भी महान व्यक्ति की सफलता का पता उसकी मां की प्रेरणा से लगाया जा सकता है। वह हमारी पहली शिक्षक, मार्गदर्शक और साथी हैं। जबकि हमारे जीवन का हर दिन हमारे माता-पिता को समर्पित है। मदर्स डे हजारों सालों से मनाया जा रहा है, जो प्राचीन काल से है। इस दिन, हमें अपनी माताओं के लिए अपनी कृतज्ञता और प्रशंसा साझा करने का अवसर मिलता है। बदले में कुछ पाने की उम्मीद किए बिना एक मां अपना पूरा जीवन अपने बच्चों के लिए समर्पित कर देती है। उसकी एक ही इच्छा है कि उसके बच्चे उसे प्यार करें। उसके बच्चों का आलिंगन उसके लिए दुनिया की किसी भी चीज़ से अधिक मायने रखता है।

हमारी माताएं हमें हमेशा समस्याओं से बचाती रहती है। हमारे जीवन में हमारी माँ सबसे अनमोल है। मां वो है, जो कभी थकने का नाम नहीं लेती और हमेशा मुस्कुराती रहती है। मां हमें बचपन से शिष्टाचार,नैतिकता, मानवता और जीवन में हमेशा दूसरों की मदद करना सिखाती है। देर रात तक पढाई में हमारी मदद करने के बावजूद भी सुबह सबसे पहले उठकर तैयार हो जाती है। वो कभी अपने परिवार से किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं करती। त्याग की मूर्ति समान माँ का कृतज्ञता भाव अदा करने के लिए साल का एक दिन उनके नाम दिया गया है। इस दिन हमें अपनी माताओं आदर सन्मान देना चाहिए।

आज दौड धाम की जिंदगी में सब लोग माँ के त्याग और समर्पण को भूल गए है। मातृ दिन हमें माँ के प्रति हमारे कर्तव्य को याद दिलाता है।मातृ दिन हमें अपने माँ के साथ मानना चाहिए। माँ के प्रति हमारी जवाबदारियों को अच्छे से निभाना चाहिए। माँ अपने बच्चे से कुछ भी नही चाहती और सिर्फ प्रेम के दो शब्द सुनना चाहती है। हो सके तो मातृ दिवस पर अपनी माँ की ख्वाहिश को पूरी करने की कोशिश जरुर करें और उन्हें दिल से धन्यवाद देना ना भूले।

मां एक ऐसा व्यक्तित्व जिसके बारे में बोलने से शब्द भी कम पड़ जायेंगे। बिना कुछ कहे वो सब कुछ कह लेती है, हमारी ख़ुशी के खातिर वह सब सह लेती है। आभार।

Speech on Mothers Day in Hindi (500 शब्द)

माननीय महोदय और उपस्थित सभी श्रोतागणों। 

तेज़ धुप में भी सफ़र आसन
लगता है। 
ये माँ की दुआ का असर लगता
है। 

सभी को मेरी तरफ से मदर डे की शुभकामनाएं। आज पुरे साल का सबसे अद्भुत दिन है। आज एक माँ का दिन है। एक माँ अपने परिवार की खुशी के लिए सब कुछ करती है और बदले में कुछ नहीं मांगती। एक माँ का काम एक धन्यवादहीन काम है जिसमें हर साल 365 दिनों के लिए कोई मजदूरी और कोई छुट्टी नहीं होती है और बिना रुके काम होता है। ऐसा माना जाता है कि मां प्यार, उदारता, त्याग और स्नेह की प्रतिमूर्ति होती है। पृथ्वी पर उसकी उपस्थिति स्थायी मानव जाति को सांत्वना प्रदान करती है। एक माँ का मुस्कुराता हुआ चेहरा दुनिया के सभी दुखों और तनावों को दूर कर देता है। वे पिता के लिए भी शक्ति के स्रोत हैं। पिता भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने और राय बनाने में उनकी तलाश करते हैं। मां के बिना पिता अधूरे हैं। वह परिवार का मूल है। 

मदर्स डे हमारी माताओं को सम्मान  देने के लिए मनाया जाता है। हर साल, यह दुनिया भर में मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। मां के बिना जीवन संभव नहीं है। कहा जाता है कि मां धरती पर देवी का अवतार हैं। वह निस्वार्थ प्रेम से अपने बच्चों की देखभाल करती है। एक बच्चा सबसे सुरक्षित महसूस करता है जब वह अपनी मां के साथ होता है। मां के बिना सबका जीवन अधूरा है। हमें हमेशा उसकी आज्ञा का पालन करना चाहिए क्योंकि वह हमेशा अपने बच्चों की खुशी चाहती है। हर साल मदर्स डे पर उन्हें सम्मानित करने के लिए स्कूलों और संस्थानों में कुछ कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। बच्चे अपनी माताओं को प्यार दिखाने और पूरे उत्साह के साथ अपनी माताओं के साथ दिन का आनंद लेने के लिए कुछ उपहार और ग्रीटिंग कार्ड देते हैं। यह सच है कि धरती पर मां जैसा दूसरा कोई नहीं है।

मदर्स डे एक ऐसा दिन है जब हर बच्चा अपनी मां की तारीफ करता है। आजकल, यह स्कूलों में उनकी माताओं की उपस्थिति में मनाया जाता है। बच्चे अपनी माताओं को ग्रीटिंग कार्ड और अन्य विशेष उपहार देते हैं। मदर्स डे मनाने के लिए माताओं को उनके बच्चों द्वारा विशेष रूप से स्कूल में आमंत्रित किया जाता है। एक माँ को अपने बच्चे की सबसे अच्छी दोस्त कहा जाता है क्योंकि वह हर उस चीज़ का ख्याल रखती है, जिसकी हमें ज़रूरत है। इस प्रकार, हर साल उन्हें धन्यवाद देने और सम्मान देने के लिए एक दिन समर्पित किया जाता है। हम एक माँ और उसकी देखभाल के बिना नहीं रह सकते।

एक माँ बिना किसी शिकायत या थके बहुत सारी ज़िम्मेदारियाँ उठाती है। उसका काम ऐसा है जो बिना किसी निश्चित समय और काम के निरंतर चलता रहता है। बदले में हम उसे कुछ नहीं दे सकते। हम इसके बजाय केवल उसे धन्यवाद और सम्मान दे सकते हैं। हम अपनी माताओं और उनके सभी प्रयासों को हल्के में लेते हैं, जो हमें नहीं करना चाहिए। ना सिर्फ आज के दिन बल्कि हर दिन उनका सन्मान करना चाहिए। इस मंच पर मुझे सुनने के लिए सबका धन्यवाद। 

हम उम्मीद करते हैं कि आपको मातृ दिवस पर भाषण ( Speech on Mothers Day in Hindi) पसंद आये होंगे। इसे आगे शेयर जरूर करें और कोई सुझाव या सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here