सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें?

Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole: जैसा कि सभी लोग जानते हैं कि हमारे देश में लगातार तेजी से जनसंख्या में वृद्धि होती जा रही है, ऐसे में देश के प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार मिल पाना बहुत ही मुश्किल हो गया है, जिसके कारण ज्यादातर लोग खुद का ही व्यवसाय करना उचित समझते हैं।

खुद का व्यवसाय सबसे अच्छा एवं सरल भी होता है, क्योंकि हमें इसमें ज्यादा रिस्क लेने की जरूरत भी नहीं होती है और ना ही किसी के नीचे काम करना होता है। आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसे व्यवसाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे पूरी तरह से सरकारी व्यवसाय कहा जाता है।

Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole
Image: Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole

आप में से कुछ लोग कभी ना कभी तो सरकारी राशन की दुकानों पर जाकर राशन तो जरूर ही खरीदा होगा, तो ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि जब दुकान कैसे खोली जाती है और कौन खोल सकता है। अगर आप भी एक सरकारी दुकान खोलना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होने वाला है।

आज हम आप सभी लोगों को इस लेख में राशन की दुकान की जानकारी (rashan ki dukan ki jankari) जैसे सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें? सरकारी राशन की दुकान कौन खोल सकता है और सरकारी राशन की दुकान के लिए लाइसेंस कैसे जारी किया जाता है? इत्यादि विषय पर विस्तार पूर्वक से जानकारी बताने वाले है।

सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें? | Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole

सरकारी राशन की दुकान क्या है?

राशन की दुकान वह होती है, जहां पर राशन कार्ड धारकों को बहुत ही कम मूल्यों में राशन प्रदान किया जाता है। सरकारी राशन की दुकान ऐसी दुकान होती है, जिसे सरकार की तरफ से आवश्यक वस्तु अधिनियम धारा 3 के अंतर्गत उचित मूल्य पर आवश्यक वस्तुओं को प्रदान करने के लिए लाइसेंस जारी किया जाता है।

यह लाइसेंस किसी भी आवेदक करता को ऐसे ही नहीं दे दिया जाता। यह लाइसेंस सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अनुरूप जारी किया जाता है, अतः इसकी कुछ प्रोसेस भी होती है, जिनके बारे में नीचे बताया जाएगा।

आप इस वाक्यांश को इस तरह से समझ सकते हैं कि सरकार के द्वारा राशन (गेहूं, चावल, चीनी, दाल इत्यादि) बहुत ही कम कीमतों में निर्धारित किया जाता है, जिसे निर्धारित दर पर राशन वितरण के पास पहुंचा दिया जाता है और राशन वितरण अपने क्षेत्र के लोगों को उन्हीं कीमतों में राशन देता है। इन राशन की दुकानों को उचित मूल्य की राशन दुकान के नाम से भी जाना जाता है।

सरकारी राशन की दुकान के लिए कैसी जगह का चुनाव करना चाहिए?

यदि आप एक अच्छी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको कुछ विशिष्ट जगह का चुनाव करना चाहिए, क्योंकि राशन की दुकान एक ऐसी दुकान है, जो कि परमानेंट होती है और यह दुकान आपको किसी अच्छे स्थान का चयन करके खोलना चाहिए, जिनका विवरण नीचे इस प्रकार से निम्नलिखित है:

  • यदि आपने राशन की दुकान खोलने के लिए किसी जगह को भाड़े पर लिया है तो आपको उस जगह का पूरी तरह से रेंट एग्रीमेंट करा लेना चाहिए, एग्रीमेंट कराने के बाद ही आपको राशन की दुकान शुरू करनी चाहिए।
  • यदि आप खुद की कोई जमीन लेकर सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको यह जमीन लगभग 7 से 15 फीट चौड़ी रोड के आसपास लेनी चाहिए, ताकि लोगों को राशन लेकर आने जाने में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई ना हो।
  • आप अपनी आवश्यकतानुसार अपने दुकान की ऊंचाई 3 मीटर से लेकर एक सामान्य घर की लंबाई जितनी रख सकते हैं।
  • आपको दुकान के साथ-साथ एक गोदाम भी लेना पड़ सकता है, यदि आप राशन की दुकान छोटी बनवाते हैं तो आपको गोदाम भी बनवाना होगा, क्योंकि आपको राशन भी रखना पड़ता है।
  • आपको राशन की दुकान खोलने के लिए किसी विशेष और स्थान की आवश्यकता नहीं है जैसे कि हाईवे या फिर कोई अन्य आवागमन वाला क्षेत्र आप सरकारी राशन की दुकान कहीं पर भी खोल सकते हैं, परंतु आपके दुकान तक एक अच्छी और चौड़ी रोड होनी चाहिए, ताकि लोग बिना कठिनाई के आ जा सके।

कौन खोल सकता है सरकारी राशन की दुकान (पात्रता मापदंड)

  • राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदक को भारत का मूल निवासी होना चाहिए। इसके साथ साथ हुआ व्यक्ति जिस क्षेत्र का रहने वाला है, वह उसी क्षेत्र में राशन की दुकान खोल सकता है, किसी अन्य क्षेत्र में नहीं।
  • सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए व्यक्ति की शैक्षणिक योग्यता कम से कम 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए, परंतु शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाकर अब स्नातक तक कर दिया गया है।
  • सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए वह व्यक्ति जो अधिनियम 1955 के तहत दोषी होगा, वह सरकारी दुकान खोलने के लिए पात्र नहीं माना जाएगा।
  • यदि किसी व्यक्ति के पास पहले से ही किसी खाद्यान्न संबंधी लाइसेंस प्राप्त है, तो वह व्यक्ति सरकारी राशन की दुकान के लिए लाइसेंस नहीं बना पाएगा।
  • सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदक के पास उसके बैंक अकाउंट में लगभग ₹50000 की राशि होनी अति आवश्यक है।

यह भी पढ़े: गांव में बिजनेस कैसे शुरू करें?

सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • स्नातक तक की डिग्री की मार्कशीट

सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 2 क्षेत्रों के लिए अलग-अलग प्रक्रियाएं चुननी पड़ेंगे। यदि आप शहरी क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं और सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस जारी करवाना चाहते हैं, तो आप इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया का चयन कर सकते हैं।

ठीक इसके विपरीत यदि आप ग्रामीण क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं तो आपको इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया नहीं बल्कि ऑफलाइन प्रक्रिया का चयन करना पड़ेगा, क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अभी तक ऑनलाइन प्रक्रिया जारी नहीं की गई है। 

ग्रामीण क्षेत्र के लिए सरकारी राशन की दुकान खोलने की प्रक्रिया

यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहकर सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो आपको इसके लिए नीचे बताए गए प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ेगा।

  • प्रत्येक वर्ष गांव में सहायक ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर की एक बैठक होती है, जहां पर सरकारी राशन की दुकान खोलने के उद्देश्य पर भी एक नजर घुमाई जाती है।
  • राशन की दुकान खोलने के लिए आपको इस बैठक में जाना होगा। आपको इस बैठक में राशन की दुकान खोलने का कारण बताना होगा।
  • आप राशन की दुकान केवल दो कारणों से ही खोल सकते हैं, पहला यदि आपको राशन दूर लेने जाना हो और दूसरा यदि राशन वितरण का व्यवहार अच्छा ना हो।
  • अब इस बैठक में आवेदक के नाम और उनके डिटेल्स दिए जाते हैं।
  • यहां पर आवेदक के शैक्षणिक योग्यता और अन्य डाक्यूमेंट्स की सत्यापन की जाती है।
  • ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर के द्वारा प्रत्येक आवेदक को एक फॉर्म दिया जाता है, इस फॉर्म में आवेदकों को उनसे जुड़ी सभी जानकारियों को बड़े ही ध्यान से भरना होता है।
  • जानकारियों को भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को इसके साथ संलग्न कर देना होता है।
  • उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जांच की जाती है, इसके बाद किसी को बिना बताएं ग्राम पंचायत के सरपंच से संपर्क किया जाता है और उनके विषय में जानकारी कलेक्ट की जाती है।
  • चयनित उम्मीदवार के आवेदन फॉर्म और सभी दस्तावेजों को ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी के पास भेज दिया जाता है इसके बाद इसे डिस्ट्रिक्ट सप्लाई ऑफीसर के पास और इसके बाद डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के पास भेज दिया जाता है।
  • इन सभी प्रक्रियाओं के बाद लाइसेंस चयनित उम्मीदवार को दे दिया जाता है।
  • और लाइसेंस मिलने के बाद आप सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए सक्षम हो जाते हैं।

शहरी क्षेत्र के लिए सरकारी राशन की दुकान खोलने की प्रक्रिया

यदि आप शहरी क्षेत्र से बिलॉन्ग करते हैं और सरकारी राशन की दुकान खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको लगभग 4000 यूनिट का एक एरिया खरीदना पड़ सकता है, यदि आपके पास यह एरिया पहले से ही है, तो आप इसके लिए सक्षम है।

अब सरकार द्वारा और संबंधित विभाग द्वारा अधिसूचना की जानकारी संबंधित वेबसाइट के माध्यम से लोगों तक पहुंचा दी जाती है, जिससे इच्छुक लोग आवेदन कर सकते हैं। आप सभी लोग इसमें आवेदन करने के लिए नीचे बताई गई प्रक्रियाओं को फॉलो कर सकते हैं और सफलतापूर्वक आवेदन भी कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको इससे जुड़े हुए विभाग की ऑफिशल वेबसाइट पर चले जाना है।
  • आप जैसे ही इस वेबसाइट को ओपन करेंगे तो आपको यहां पर स्वयं को रजिस्टर करना होगा और उसके बाद लॉगिन होना पड़ेगा।
  • लॉगइन होने के बाद आप उसी पेज पर दिख रहे अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं या फिर होम पेज पर वापस आकर अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं।
  • अब आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा, आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को बड़े ही ध्यान पूर्वक भरना है और सबमिट कर देना है।
  • आपके इस आवेदन फॉर्म में भरी गई सभी जानकारियों का निरीक्षण किया जाएगा और इसके बाद आवेदन कर्ताओं का चयन किया जा सकता है।
  • इस आवेदन पत्र में चुने गए व्यक्ति का निरीक्षण जिला आपूर्ति अधिकारी, जिला मजिस्ट्रेट, अपर मजिस्ट्रेट और मुख्य विकास अधिकारी इसके बाद राजस्व विकास अधिकारी करते हैं।
  • इन सभी परीक्षण के बाद यदि वह व्यक्ति चयनित किया जाता है तो उसे सरकारी राशन की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस दे दिया जाता है।
  • लाइसेंस प्राप्त करने के बाद आप उसी स्थान पर सरकारी राशन की दुकान खोल सकते हैं, जिस स्थान का विवरण आपने निरीक्षण के तौर पर दिया था।

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि आपके लिए हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख “सरकारी राशन की दुकान कैसे खोलें? (Sarkari Rashan ki Dukan Kaise Khole)” अवश्य ही कारगर सिद्ध हुआ होगा, यदि हां तो कृपया आप हमारे इस लेख को अवश्य शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ प्राप्त कर सके। यदि आपके मन में हमारे इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल हो, तो आप कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here