अगरबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Agarbatti Business Plan in Hindi: हमारा भारतवर्ष एक धार्मिक देश के रूप में संपूर्ण विश्व में जाना जाता है, क्योंकि भारत में अनेकों धर्म के लोग रहते हैं अतः भारत को एक धर्मनिरपेक्ष देश भी कहा जाता है। हमारे भारतवर्ष में कोई धर्म सर्वोपरि आता है, तो वो है हिंदू धर्म। हिंदू धर्म के अनुसार 1 वर्ष में अनेकों प्रकार के त्योहार इत्यादि मनाया जाते हैं, जिसके कारण अगरबत्ती का उपयोग भी काफी ज्यादा किया जाता है।

बहुत से लोग ऐसे हैं, जो कि इसी को आधार बनाकर अगरबत्ती का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। यदि आप भी उन्हीं लोगों में से एक हैं, तो आपके लिए हमारा या लेख बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है।

Agarbatti Business Plan in Hindi
Agarbatti Business Plan in Hindi

यदि आप अगरबत्ती का बिजनेस शुरू करके अच्छा मुनाफा प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं आपको यहां पर अगरबत्ती के बिजनेस से जुड़ी हुए सभी प्रकार की जानकारियां को जानने को मिलेंगी। आज आप सभी लोगों को इस लेख में अगरबत्ती का बिजनेस कैसे शुरू करें? (Agarbatti Business Plan in Hindi) अगरबत्ती के बिजनेस में कुल निवेश? अगरबत्ती के बिजनेस में उपयोग होने वाला कच्चा माल? और अगरबत्ती के बिजनेस में कुल मुनाफा? इत्यादि के विषय में विस्तार से जानकारी बताएंगे।

यदि आप अगरबत्ती का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो कृपया आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Agarbatti Business Plan in Hindi

अगरबत्ती के व्यापार की मार्केट में मांग?

अगरबत्ती का व्यवसाय बहुत ही आसान एवं जोखिम मुक्त व्यवसाय है, क्योंकि इस व्यवसाय में हमें कम निवेश करना होता है और कम निवेश में ही हम इस व्यवसाय को शुरू भी कर सकते हैं। धार्मिक मान्यताओं को देखते हुए मार्केट में अगरबत्ती के व्यापार की मांग काफी ज्यादा बढ़ गई है।

अगरबत्ती के व्यापार से काफी अच्छा खासा मुनाफा कमाया जा सकता है। वर्तमान समय में लोग किसी भी अवसर या त्योहारों में देवी देवता के पूजन के लिए अगरबत्ती का उपयोग करना ही पसंद करते हैं, जिसके कारण यदि अगरबत्ती का बिजनेस शुरू किया जाता है, तो मार्केट में हमें काफी अच्छा रिस्पांस भी मिल सकता है।

इसमें लगाने वाला कच्चा माल?

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, किसी भी व्यवसाय को शुरू करना है, तो हमारे पास सबसे पहले उस व्यवसाय में उपयोग होने वाले कच्चे माल की आवश्यकता होगी, ठीक उसी प्रकार अगरबत्ती के बिजनेस में भी कुछ कच्चे माल की आवश्यकता होती है, जिनका उपयोग आप अगरबत्ती के निर्माण में स्वयं के इच्छा अनुसार और अगरबत्ती को सुगंधित बनाने के लिए कर सकते हैं, इन कच्चे माल के सामग्री का विवरण नीचे निम्नलिखित प्रकार से दिया गया है।

  • चारकोल डस्ट
  • सफेद चिप्स पाउडर
  • जिगात पाउडर
  • परफ्यूम (अगरबत्ती को सुगंधित बनाने के लिए)
  • चंदन पाउडर
  • डीएपी
  • कुप्पम डस्ट
  • रैपिंग पेपर
  • बांस स्टिक
  • पेपर बॉक्स

अगरबत्ती के व्यापार में लगाने वाली मशीनरीज और इन्हें कहाँ से खरीदें?

आप अगरबत्ती के बिजनेस को छोटे या बड़े दोनों पैमानों के साथ शुरू कर सकते हैं। अगरबत्ती के व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपके पास कुछ उचित मशीनों का होना आवश्यक है। अगरबत्ती बनाने के लिए आपको मशीनों की आवश्यकता पड़ेगी।

आप इन मशीनों को मार्केट में भी बड़ी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। आपको अगरबत्ती बनाने वाली मशीनों को खरीदने के लिए आपके नजदीकी शहरी अस्तर वाले बाजारों में चले जाना है, आपको यहां पर अगरबत्ती बनाने वाली मशीने बड़ी ही आसानी से मिल जाएंगी।

अगरबत्ती बनाने वाली मशीन तीन प्रकार की होती हैं, मैनुअल मशीन, ऑटोमेटिक मशीन और हाई स्पीड ऑटोमेटिक मशीन। आप अगरबत्ती बनाने के लिए और भी ज्यादा आसानी चाहते हैं, तो आपको इसके अलावा कच्चे माल को सुखाने के लिए मशीनें, कच्चे माल को मिलाने के लिए मशीन इत्यादि का उपयोग भी करना पड़ सकता है।

मैनुअल मशीन

मैनुअल मशीन का अर्थ होता है, स्व उपयोग से की जाने वाली मशीनें। मैनुअल मशीन ऐसी मशीन होती है, जिसे चलाने के लिए किसी एक व्यक्ति की आवश्यकता होती है, इलेक्ट्रिक से नहीं चलती बल्कि इसे मनुष्यों के द्वारा चलाया जाता है।

मैनुअल मशीन काफी कम कीमत में खरीदा जा सकता है और यह काफी टिकाऊ भी होता है। वर्तमान समय में मार्केट में मैनुअल मशीन डबल पेडल और सिंगल पेडल दोनों प्रकार की मौजूद हैं। 

ऑटोमेटिक मशीन

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, कि यह मशीन पूर्ण रूप से ऑटोमेटिक होगी, अतः इस मशीन में हमें केवल कच्चे माल को तैयार करके डाल देना है और यह मशीन खुद से ही अगरबत्ती बना देगी। यह मशीन अनेकों प्रकार के पैटर्न और डिजाइनों में मौजूद हैं।

इन मशीनों की मार्केट में कीमत इनके आकार और डिजाइन पर निर्भर करता है। हम ऑटोमेटिक मशीनों के उपयोग से 1 मिनट में 150 से 180 अगरबत्ती बड़ी आसानी से बना सकते हैं।

हाई स्पीड ऑटोमेटिक मशीन

यह एक ऐसी युक्ति है, जिसके कारण आपको किसी भी कर्मचारी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, आपको केवल इस मशीन में कच्चे माल को तैयार करके डाल देना है और यह मशीन खुद से ही काफी तेजी से अगरबत्ती बनाना शुरु कर देगी।

इस मशीन में आप अगरबत्ती की लंबाई को भी सेलेक्ट कर सकते हैं, जो कि 8 से 11 इंच तक का होता है। यह मशीन इतनी तीव्र है, कि यह आपको 1 मिनट में 300 से 450 अगरबत्ती उपलब्ध करा सकती है।

अगरबत्ती बनाने का तरीका?

यदि आप अगरबत्ती बनाना चाहते हैं, तो आपको अगरबत्ती बनाने का तरीका भी ज्ञात होना चाहिए। आइए जानते हैं अगरबत्ती बनाने का तरीका क्या है?

  • सबसे पहले आपको अगरबत्ती के प्रीमिक्स पाउडर (चारकोल पाउडर, लकड़ी पाउडर, जिगत पाउडर इत्यादि) को 2 किलोग्राम तक की मात्रा में ले लेना है।
  • अब आपको इस मिश्रण को कड़े रूप में गूथ लेना है, आपको इसमें जल की मात्रा इतनी रखनी है कि यह मिश्रण गूथ जाने के बाद कड़ा रहे।
  • अब आपको इस गुथे हुए सामग्री को बांस की पतली लकड़ी के ऊपर लगा देना है और इसे हाथों से रोल करके फिट कर लेना है।
  • यदि आपके पास मशीन है, तो आपको इस की मशीन में उठा हुआ कच्चा माल डाल देना है और उचित स्थान पर स्टिक को रख देना है। अब यह मशीन स्वयं ही आपको अगरबत्ती बना कर दे देगी।
  • अगरबत्ती प्राप्त होने के बाद आपको सुगंधित तेल में इसे डूबा देना है और सूखने के लिए रख देना है।
  • अब अगरबत्ती सुखाने के बाद आपको इसकी पैकेजिंग करनी है और मार्केट में सेल के लिए चले जाना है।

अगरबत्ती के व्यापार में कुल निवेष?

अगरबत्ती के बिजनेस में बहुत ही कम पैसे खर्च करने होते हैं। अगरबत्ती बनाने के लिए आपको इस बिजनेस में केवल मशीनों और कच्चे माल को खरीदने के लिए ही खर्च करना पड़ता है। यह बात आप पर निर्भर करेगी, कि आप किस प्रकार से और कैसी मशीन लेना चाहते हैं।

आपको मार्केट में मैनुअल मशीन ₹13,000 में, ऑटोमेटिक मशीन ₹80,000 में और यदि आप हाई स्पीड ऑटोमेटिक मशीन खरीदना चाहते हैं, तो आपको यह लगभग ₹1,50,000 एक खर्च में मिल सकता है।

अगरबत्ती की पैकेजिंग?

कोई भी ग्राहक किसी भी प्रकार के सामान को खरीदने के लिए सबसे पहले उसकी पैकेजिंग को चेक करता है, यदि आप अपने अगरबत्ती की पैकिंग अच्छी तरीके से करते हैं, तो ग्राहक आपके प्रोडक्ट की तरफ आकर्षित हो जाता है।

आपको सदैव इस बात का ध्यान रखना है कि आपने जो पैकेजिंग की है, वह आकर्षक होनी चाहिए। पैकेजिंग को आकर्षक बनाने के लिए आपको विशेष ध्यान देना चाहिए।

  • सबसे पहले आपको मूल्यों के अंकन के हिसाब से अगरबत्ती के कैंडल्स को अकाउंट कर लेना है और एक प्लास्टिक के पाउच में भर लेना है।
  • आपको अगरबत्ती के इस पाउच को प्लास्टिक के बड़े डब्बे या फिर कार्डबोर्ड में भर देना है।
  • अब आपको अपने इस कार्डबोर्ड पर अपनी कंपनी या व्यवसाय का लोगों और बनाने में उपयोग हुई चीजों का वर्णन अवश्य करना चाहिए।
  • यदि आप अपने कार्डबोर्ड पर अपने व्यवसाय से जुड़ी जानकारियों को लिखते हैं या फिर एक qr-code की मदद से अपनी सभी जानकारियों को इसी में वर्णित कर देते हैं, तो यह आपके व्यवसाय के लिए काफी अच्छा माना जाएगा।

अगरबत्ती के व्यापार की मार्केटिंग कैसे करें?

यदि आप अगरबत्ती का व्यापार शुरू करते हैं, तो आप को सबसे महत्वपूर्ण ध्यान इसके मार्केटिंग पर देना है। अगरबत्ती के व्यापार में मार्केटिंग दो तरह से की जा सकती है, ऑनलाइन मार्केटिंग तथा ऑफलाइन मार्केटिंग

Online Marketing

किसी भी बिजनेस की प्रगति में सबसे बड़ा हाथ ऑनलाइन मार्केटिंग का होता है। यदि आप अपने अगरबत्ती के व्यापार को बड़े पैमाने पर शुरू करना चाहते हैं, तो आप ऑनलाइन मार्केटिंग का उपयोग कर सकते हैं। ऑनलाइन मार्केटिंग की मदद से आप अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन भी बनवा सकते हैं, इसके साथ-साथ आप अपने प्रोडक्ट के विज्ञापन को टीवी चैनल और सोशल मीडिया पर भी शेयर करा सकते हैं।

आप चाहे तो अपने कंपनी की एक वेबसाइट भी बना सकते हैं, जिससे आपकी कंपनी का प्रमोशन भी होगा और आप इस वेबसाइट की मदद से लोगों के ऑर्डर से लेकर उन्हें डिलीवरी भी कर पाएंगे।

Offline Marketing

यदि आप अपने प्रोडक्ट को ऑफलाइन तरीके से सेल करना चाहते हैं, तो आप अपने आसपास के जनरल स्टोर, मंदिर के पास के स्टोर और होलसेल सेलर्स से संपर्क करके आप अपने प्रोडक्ट को सेल कर सकते हैं।

अगरबत्ती का व्यापार शुरू करने के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

किसी भी व्यवसाय को बड़े पैमाने पर शुरू करने के लिए आपके पास कुछ कानूनी दस्तावेज होने अति आवश्यक है, यदि आपके पास यह सभी दस्तावेज हो जाते हैं, तो आप अपने व्यवसाय को बड़े पैमाने पर भी शुरू कर सकते हैं।

  • अपने व्यवसाय को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी कंपनी का नाम और आकार को के अनुसार आरओसी में अपने व्यवसाय को पंजीकृत करवा लेना होता है।
  • ऐसा करने से आपके कंपनी में जो भी निवेशक होंगे उन्हें आप पर भरोसा रहेगा और आपको किसी भी कागजी कार्यवाही में काफी लाभ भी प्राप्त हो सकता है।
  • अपने व्यवसाय के लाइसेंस के लिए स्थानीय प्राधिकारी के पास आवेदन करना पड़ता है।
  • आपको इस प्राधिकारी के माध्यम से एक व्यवसाय पैन कार्ड प्रदान कराया जाता है।
  • अब आपको अपने व्यवसाय के लिए एक नया बैंक अकाउंट खोलना होता है।
  • अब आपको अपने व्यापार को एस एस आई यूनिट पर पंजीकृत करा लेना है।
  • इन सभी के बाद आपको व्हाट रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर देना है, इसके साथ-साथ आपको व्यापार के चिन्ह के लिए भी पंजीकरण कराना होता है।
  • आपको अपने व्यवसाय के लिए ऐसा चिन्ह चयनित करना चाहिए, जोकि सबसे यूनिक हो।
  • यदि आप अपने व्यवसाय को बड़े पैमाने पर शुरू करना चाहते हैं, तो आपको अपने विनिर्माण यूनिट के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के माध्यम से एनओसी प्राप्त करना होता है और इसके साथ-साथ आपको यही से फैक्ट्री का लाइसेंस भी मिलता है।

अगरबत्ती के व्यापार में मार्केट रिस्क?

अगरबत्ती के व्यापार में बहुत ही कम रिस्क होता है, इस व्यापार में केवल 5 से 10% ही रिस्क होता है, क्योंकि इस व्यापार में हमें ज्यादा निवेश करने की कोई आवश्यकता नहीं होती। इस व्यापार में सदैव आपको आपके पैकेजिंग और अगरबत्ती के क्वालिटी पर ध्यान देना है, यदि आप इन सभी चीजों पर पूर्ण रुप से ध्यान देते हैं, तो आपके अगरबत्ती का बिजनेस अवश्य ही विकास करेगा।

अगरबत्ती के व्यापार में कुल मुनाफा?

अगरबत्ती के व्यापार में मुनाफा आपके प्रोडक्ट की बिक्री पर निर्भर करता है। यदि आप प्रतिदिन लगभग 100 किलो अगरबत्ती को बेच देते हैं, तो आप इस व्यवसाय से प्रति महीने के लगभग ₹30000 तक कमा सकते हैं और यदि आपकी कंपनी की और भी ज्यादा बिक्री बढ़ जाती है, तो आप इससे भी अधिक कमा सकते हैं।

अगरबत्ती के व्यापार में कितनी लागत लगती है?

मशीन और कच्चे माल को खरीदने में लागत।

अगरबत्ती के व्यापार में हम 100 किलो अगरबत्ती के कच्चे माल से कितने रुपए कमा सकते हैं?

₹1000

क्या अगरबत्ती के व्यापार को शुरू करने के लिए किसी लाइसेंस की आवश्यकता होती है?

जी हां।

अगरबत्ती का व्यापार शुरू करने के लिए लाइसेंस कहां से बनवाएं?

इसके लिए लेख में दी गई जानकारी को अवश्य पढ़ें।

अगरबत्ती के व्यापार में कितने प्रतिशत तक का रिस्क होता है?

5 से 10%

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख “अगरबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (Agarbatti Business Plan in Hindi)” आवश्य ही पसंद आया होगा, यदि हां तो कृपया आप हमारे द्वारा लिखे गए इस महत्वपूर्ण लेख को अवश्य शेयर करें और यदि आपके मन में इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार का सवाल या फिर सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here