सर्दी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

Sardi me Kya Khana Chahiye: प्रकृति हमें 4 तरह के मौसम का अनुभव करवाती है, जिनमें सर्दी, गर्मी, बरसात और वसंत ऋतु आती है। सर्दी में हमें अपने कपड़ों के साथ-साथ हमारे खानपान का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि सर्दी लग जाने पर व्यक्ति को का काफी कष्ट झेलना पड़ता है।

सर्दी में खास करके सर्दी में खासकर के बच्चे और बूढ़े व्यक्ति को ध्यान से रहना पड़ता है। सर्दी में हम अक्सर गर्म कपड़े पहनते हैं। लेकिन इसके साथ-साथ हमें अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है।

Sardi me Kya Khana Chahiye
Image: Sardi me Kya Khana Chahiye

इसीलिए हमें यह जानना जरूरी होता है कि हमें सर्दी के मौसम में क्या-क्या खाना चाहिए, जिससे कि हम अपने आंतरिक रूप से गर्म और मजबूत रह सके। आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कि सर्दी में हमें क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए तो आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़े।

सर्दी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? | Sardi me Kya Khana Chahiye

सर्दी में हमें क्या खाना चाहिए?

  • सर्दी के मौसम में जो हम खाना खाते हैं, उसमें हमें विशेष प्रकार के मसालों का उपयोग करना चाहिए। जिसमें मेथी दाना, बड़ी इलायची, छोटी इलायची, दालचीनी, तेज पत्ता, अजवायन, जीरा, अदरक आदि मसाला का उपयोग विशेष करना चाहिये।
  • सर्दी के मौसम में ड्राई फ्रूट खाने को कहा जाता है। क्योंकि ड्राई फ्रूट में बहुत सारे प्रोटीन, मिनिरल, विटामिन, पोषक तत्व पाया जाता है, जो हमारे शरीर को अंदर से मजबूत और गर्म बनाते हैं। बहुत सारी महिलाएं सर्दी के मौसम में अपने परिवार के लिए सूखे मेवे का लड्डू बनाती है। इन ड्राई फ्रूट में बदाम, काजू, चिरंजी।
  • हमारे बड़े बुजुर्ग अपने खानपान में बाजरे का प्रयोग करते थे। बाजरे की रोटी बनाई जाती है और सर्दियों के दिनों में अगर बाजरे की रोटी खाई जाए तो इससे ना केवल शरीर अंदर से मजबूत होता है। बल्कि अंदर गर्म भी होता है, जिससे सर्दियों के दिनों में हमें ठंड कम लगती है। बाजरे में बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिनमें फास्फोरस, कैलशियम, पोटैशियम, मैग्निशियम, फाइबर, विटामिन और भी बहुत सारे पोषक तत्व हैं।
  • सर्दियों के मौसम में बाजार से ज्यादा खपत अदरक की होने लगती है। अदरक एक ऐसा प्रकृति खाद्य पदार्थ है, जो कि हमारे शरीर को गर्म करती है और साथ ही साथ हमारे पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखती है। ठंड के मौसम में हमारी पाचन क्रिया कम काम करती है। ऐसे में अगर अदरक का सेवन किया जाए तो हमारी पाचन क्रिया भी ठीक रहती है। साथ ही साथ हम गर्म भी रहते हैं, जिससे कि हमें ठंड कम लगती है।
  • शहद एक ऐसा पोषक तत्व है, जो कि हम कई प्रकार से अपने व्यंजनों में प्रयोग कर सकते हैं और कसरत करने वाले ऊर्जा का ज्यादा जरूरत होता है। ऐसे में शहद एक पावर हाउस का काम करता है। सर्दियों के समय में हमें अपने खानपान में शहद का रोजाना इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि शहर में कई सारे पोषक तत्व हैं। साथ ही साथ सहज हमारे पाचन क्रिया को दुरुस्त करती है। शहद हमारे शरीर को गर्म करने के साथ-साथ हमें इम्युनिटी पावर भी देती है।
  • सर्दियों के दिनों में ऐसा माना जाता है कि हमें ओमेगा-3 का भी सेवन करना चाहिए। क्योंकि omega-3 हमें अंदर से मजबूत बनाती है। साथ ही साथ हमारे शरीर को गर्म रखती है और omega-3 से कई प्रकार के बीमारियों से राहत पाया जा सकता है। ओमेगा 3 विशेष रूप से मछलियों में पाई जाती है। इसलिए हमें सर्दियों के दिनों में मछलियों का उपयोग अपने खाने में करना चाहिए।
  • मौसमी फल चाहे कोई भी मौसम हो, हर मौसम में मौसमी फल जरूर निकलते हैं। जैसे कि सर्दियों के मौसम में ज्यादातर संतरा देखने को मिलता है और संतरा विटामिन ई की भरपूर मात्रा पाई जाती है और इसमें फाइबर भी होते हैं, जो कि हमें कई तरह की बीमारियों से बचाते हैं। इसीलिए सर्दियों के दिनों में हमें मौसमी फल यानी कि और भी बहुत सारे फल जो कि सर्दियों में निकलते हैं, उन सभी फलों का सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह सारे फल हमें कई तरह केऔर भी बहुत सारे फल जो कि सर्दियों में निकलते हैं, उन सभी फलों का सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह सारे फल हमें कई तरह की बीमारियों से बचाने के साथऔर भी बहुत सारे फल जो कि सर्दियों में निकलते हैं, उन सभी फलों का सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह सारे फल हमें कई तरह की बीमारियों से बचाने के साथ-साथ हमारे शरीर में कई तरह के पोषक तत्व को पूरा करते हैं।
  • अक्सर आपने देखा होगा कि सर्दियों के मौसम में सब्जियां काफी सस्ती होती है और विभिन्न प्रकार की सब्जियां बाजार में उपलब्ध होती है। तो हमें सर्दियों में सब्जियों का उपयोग ज्यादा करना चाहिए और सर्दियों के मौसम में जो ज्यादा सब्जियां बिकती है। वह मेथी, गाजर, चुकंदर, पालक, लहसुन बथुआ और भी बहुत सारी सब्जियां होती है, जो हमें बाजार में मिलती है और यह सभी सब्जियां हमें अंदर से मजबूत बनाती है। हमारे शरीर को अंदर से गर्म करती है। साथ ही साथ यह हमारे प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है, इसलिए कहा जाता है कि हमें हर मौसम में सब्जियों का उपयोग करना चाहिए और सर्दियों में खास करके हमें ज्यादा सब्जियां खाना चाहिए।
  • सर्दियों के मौसम में हम बहुत सारी मीठी चीजें खाना पसंद करते हैं और सबसे प्राकृतिक मीठी चीज होती है। गुड़ प्राकृतिक मीठी होने के साथ-साथ इसमें कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि कैल्शियम, फास्फोरस, फाइबर फाइबर इसमें खास मात्रा में पाई जाती है। क्योंकि गुड़ का सेवन करने से हमें पाचन क्रिया में काफी सहायता मिलती है। हमारी पाचन क्रिया सही तरीके से कार्य करती है और गुड़ से हमें कई तरह की बीमारियां जैसे कि सर दर्द माइग्रेन अपच सर्दी अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों से हम गुड़ खाकरअस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों से हम गुड़ खाकर राहत पा जा सकते हैं।
  • सर्दियों के मौसम में तिल का उपयोग काफी बढ़ जाता है और बाजार में काफी मात्रा में तेल की मांग बढ़ने लगती है। ना केवल हमारे शरीर को गर्म करती है बल्कि यह हमें बहुत सारे पोषक तत्व देती है। दिल को हम कई प्रकार से उपयोग कर सकते हैं। फिल्म को हम लड्डू बनाकर खा सकते हैं या फिर तिल को तेल लेकर अपने शरीर को मालिश करके अपने शरीर को गर्म कर सकते हैं। तेल का इस्तेमाल करने से खासकर के शरीर में जो पुराने कफ होते हैं वह बाहर निकल आते हैं।
  • तिल और मिश्री को मिलाकर यदि कोई व्यक्ति काढ़ा बनाकर पीता है। यदि कोई व्यक्ति काढ़ा बनाकर पीता है तो उसका कई साल पुराना खासी तुरंत ठीक हो जाता है। एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है और इसमें कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। जैसे कि विटामिंस मिनरल्स कैल्शियमएक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है और इसमें कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि विटामिंस, मिनरल्स, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम और यह सारी चीजें ना केवल शरीर को स्वस्थ बनाती है। बल्कि यह चेहरे को भी स्वस्थ और निरोग और चमकदार बनाए रख सकती है। इसीलिए बहुत लोग तेल का उपयोग चेहरे को चमकाने के लिए भी करते हैं।
  • मूंगफली जोकि कई सारे पोषक तत्वों से भरा है और इसमें कई मिलकई सारे पोषक तत्वों से भरा है और इसमें कई मिरज विटामिन विटामिन ई कई सारे पोषक तत्वों से भरा है। इसमें कई मिनरल, विटामिन, विटामिन ई, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्फोरस, कैलोरी, कैल्शियम मैग्नीशियम, कैरोटीन फोलिक एसिड, आई मीन एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाई जाती है। इसलिए हमें सर्दियों के मौसम में मूंगफली का इस्तेमाल करना चाहिए। मूंगफली को हम कई प्रकार से उपयोग कर सकते हैं। अक्सर व्यक्ति अपने रोजाना खानपान में शाम के समय नमकीन के रूप में मूंगफली का इस्तेमाल भी करते हैं, जो कि मुंह के स्वाद के साथनमकीन के रूप में मूंगफली का इस्तेमाल भी करते हैं, जो कि मुंह के स्वाद के साथ-साथ शरीर के लिए भी फायदेमंद होता है।
  • सर्दियों के दिनों में हमें सर्दी से बचने के लिए काढ़ा का उपयोग करना चाहिए और इसमें तुलसी बड़ी इलायची छोटी इलायची, लोंग, काली मिर्च दालचीनी और गुड़ आदि मिलाकर काढ़ा पीना चाहिए। जिससे कि हमें सर्दी नहीं लगती है और हमें अंदर से गर्माहट भी महसूस होती है।
  • सर्दियों के मौसम में अक्सर आपने सुना होगा कि हमें च्यवनप्राश का इस्तेमाल करना चाहिए। पुराने समय में चवनप्राश की जगह हमें शुद्ध देसी घी का इस्तेमाल करते थे। शुद्ध देसी घी गाय की होती है और इससे न केवल शरीर गर्म होता है। बल्कि इसमें कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि स्वाद के साथ-साथ हमारे शरीर को भी स्वस्थ रखते। इसलिए सर्दियों के दिनों में हमें शुद्ध घी का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • सर्दियों के दिनों में लोग चाय ज्यादा पीते हैं। अगर चाय तुलसी अदरक की हो तो हमारा दिन ही बन जाता है। तुलसी और अदरक की चाय ना केवल हमारे शरीर को गर्म रखती है। बल्कि हमें ऊर्जा देती है और यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक होती है। सर्दियों के दिनों में चायअदरक की हो तो हमारा दिन ही बन जाता है। तुलसी और अदरक की चाय ना केवल हमारे शरीर को गर्म रखती है। बल्कि हमें ऊर्जा देती है और यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक होती है। सर्दियों के दिनों में चाहे जितनी भी हो, लेकिन वह तुलसी और अदरक की हो तो हमें किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है। इसीलिए सर्दियों में हमें ज्यादातर तुलसी और अदरक की चाय का इस्तेमाल करना चाहिए।

सर्दियों के दिनों में हमें क्या नहीं खाना चाहिए?

  • सर्दियों के दिनों में हमें चावल नहीं खाना चाहिए। सर्दियों में चावल खाने से आपके कब्ज बढ़ सकते हैं। लेकिन अगर आप चावल खाना ही चाहते हैं तो आप उसमें लोंग, इलायची, गर्म मसाला मिला कर गरम-गरम खाए तो यह आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके शरीर को भी काफी और चावल खाना ही है तो हमें दिन के समय खाना चाहिए शाम में चावल खाने से हमें परहेज करना चाहिए।
  • सर्दियों में हमें दही खाने से भी परहेज करना चाहिए। क्योंकि सर्दियों में सर्दी होने की ज्यादा संभावना रहती है और दही खाने से आपके कफ बढ़ सकते हैं। इसीलिए ठंड में कहीं कम खाना चाहिए और रात में तो दही किसी भी मौसम में नहीं खाना चाहिए। यह हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचाती है। अगर आप रात में दही खाते हैं तो कहीं अगर खाना ही है तो रूम टेंपरेचर में दिन के समय खाना चाहिए।
  • ठंड के समय में हमें केले खाने से बचना चाहिए। क्योंकि सर्दियों में हमारे कफ ऐसे ही बनते रहते हैं और अगर हम केला खाएंगे तो हमारे कफ और बढ़ जाएंगे और केले का काफी ठंड होता है, इस वजह से यह हमारे शरीर को भी ठंडा कर सकती है। लेकिन अगर आप कोठंड के समय में हमें केले खाने से बचना चाहिए। लेकिन अगर आपको केला खाना ही है तो अब दिन के समय केले खा सकते हैं।

ध्यान दें: यह जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए बताई गई है। इसमें बताई गई किसी भी सलाह को अपनाने या फिर उस पर अमल करने का निर्णय स्वयं का व्यक्तिगत निर्णय होगा। इसके निष्कर्ष तक पहुँचने से पहले एक बार विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी सर्दी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? (Sardi me Kya Khana Chahiye) पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरुर करें। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव हैं तो कमेंट बॉक्स जरुर बताएं।

यह भी पढ़े

अखरोट खाने के फायदे और नुकसान

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान

मखाने खाने के फायदे और नुकसान

देसी घी के फायदे, उपयोग और नुकसान

केला खाने के फायदे, नुकसान, गुण, कैसे खाएं और खाने का सही समय

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।