संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

दुनिया में आज भी कुछ ऐसे लोग मौजूद हैं, जो अपनी असफलताओं से सीख लेकर अपनी सफलता की ओर आगे बढ़े हैं। आज दुनिया में रहने वाले सभी लोग अपने अपने कार्यों एवं अपनी-अपनी असफलताओं के कारण बहुत ही डिप्रेशन में रहते हैं। ऐसे में संदीप महेश्वरी उन सभी व्यक्तियों के लिए प्रेरणादायक एवं प्रासंगिक व्यक्ति हैं, जो अपने जीवन में हार मान कर बैठ चुके हैं।

आज के समय में जो संदीप महेश्वरी को भली-भांति जानता है, वह उनकी सभी सफलताओं के पीछे उनके कठिन संघर्षों को भी भलीभांति जानता होगा। संदीप माहेश्वरी एक ऐसे प्रेरणादायक व्यक्ति हैं, जिन्होंने अपनी असफलताओं से सीख लेकर आज एक सबसे सफल इंसान बन चुके हैं। आज के समय में संदीप माहेश्वरी की फैन फॉलोइंग बहुत बड़ी हो चुकी है।

biography of sandeep maheshwari

कभी एक समय ऐसा था, जब संदीप माहेश्वरी को उनके परिवार के लोग या उनके रिश्तेदार ही उनको जाना करते थे। आज उनके मेहनत की वजह से उनको अपने देश से ही में नहीं बल्कि बड़े-बड़े देशों में भी एक सफल उद्यमी के रूप में जाना जाता है।

संदीप माहेश्वरी ने जो भी अपने जीवन में अनुभव किया हुआ है, वह सभी अनुभवों को वह अपने फ्री के सेमिनार में लोगों को बताते हैं और उनके साथ अपने अनुभव को साझा करते हैं। उनके सेमिनार को सुनने के लिए देश के नहीं विदेश के भी व्यक्ति आते हैं और उनके विचारों को सुनकर अपने जीवन में सफलताओं को प्राप्त करने के लिए मोटिवेट भी होते हैं।

आज हम इस लेख संदीप माहेश्वरी बायोग्राफी इन हिंदी के माध्यम से इनकी सफलता और असफलता की कहानी को जानेंगे। इस प्रेरणादायक लेख को आप अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

संदीप माहेश्वरी का जीवन परिचय (परिवार, शिक्षा, सक्सेस स्टोरी, कंपनी, पुरस्कार, नेट वर्थ और कोट्स)

संदीप महेश्वरी की संक्षिप्त जीवनी

नामसंदीप माहेश्वरी
जन्म और स्थान28 सितम्बर 1980, दिल्ली
पिता का नामरूप किशोर माहेश्वरी
माता का नामशकुंतला रानी माहेश्वरी
भाई-बहन1 बहन
पत्नी का नामरूचि माहेश्वरी
बच्चे1 बेटा (ह्रदय माहेश्वरी), 1 बेटी
शिक्षाबी. कॉम.
कॉलेजकिरोरिमल कॉलेज, यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली, दिल्ली
उम्र40 वर्ष (जनवरी 2021 तक)
निवास स्थाननई दिल्ली
नागरिकताभारतीय
व्यवसायफोटो ग्राफर, उद्यमी, पब्लिक स्पीकर

प्रारंभिक और पारिवारिक जीवन

एक सफल उद्यमी के प्रतिबिंब और नवयुवकों के लिए प्रेरणादायक संदीप माहेश्वरी का जन्म 28 सितंबर 1980 को राजधानी दिल्ली में हुआ था। संदीप अपने बचपन के दिनों से ही कुछ अपने जीवन में सफल और बड़ा करने के लिए उत्सुक थे।

संदीप के पिता रूपकिशोर माहेश्वरी का एक एलुमिनियम का कारोबार था। उनके पिताजी का यह कारोबार करीब 10 वर्षों के छोटी अवधि वाले समय तक खूब चला था। परंतु 10 वर्षों के बाद इनके पिताजी का कारोबार दिन-प्रतिदिन नीचे की ओर गिरता ही चला गया।

संदीप माहेश्वरी के परिवार के जीवन में एक ऐसा समय आया, जब इनकी आर्थिक स्थिति एकदम से बिगड़ चुकी थी। संदीप ने अपने परिवार की स्थिति को सुधारने के लिए इन्होंने अपनी मां शकुंतला रानी माहेश्वरी के साथ एक मल्टी लेवल मार्केटिंग बिजनेस को ज्वाइन किया, इस मार्केटिंग बिजनेस में घर में ही लाकर चीजों का बनाना और बेचने का कार्य करना होता था।

संदीप और इनकी मां द्वारा शुरू किया गया यह कारोबार भी सफलता की ऊंचाइयों को छू ना सका और फिर से इनका परिवार बहुत भारी आर्थिक स्थिति की समस्या से जूझने लगा। अपने परिवार की आर्थिक स्थिति खराब देकर इनके पिताजी भी बहुत परेशान रहने लगे थे।

संदीप का पूरा परिवार अपने इस विषम संकट की स्थिति में भी एक दूसरे के साथ खड़ा रहा। संदीप अपने परिवार की स्थिति सुधारने के लिए कई कार्य करने लगे। मगर उनके द्वारा किए गए सभी कार्य ज्यादा दिनों तक नहीं चल सके और अंत में वह बंद हो जाते थे।

अपने जीवन में हार ना मानते हुए संदीप ने एक छोटा सा पीसीओ का व्यवसाय शुरू किया। जिन दिनों संदीप पीसीओ का छोटा व्यवसाय शुरू किए थे, उन दिनों मोबाइल फोन ज्यादा प्रचलन में नहीं था, इसी वजह से उनका यह व्यवसाय थोड़े समय के लिए अच्छा चलने लगा था। उनके इस व्यवसाय में उनकी मां भी उनका सहयोग करने लगी थी।

संदीप माहेश्वरी की शिक्षा

संदीप का पूरा परिवार उनके प्रारंभिक शिक्षा के दौरान ही बहुत बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा था, इसी वजह से संदीप ने अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ने का निर्णय लिया था। संदीप माहेश्वरी अपने प्रारंभिक शिक्षा के दिनों में किरोड़ीमल कॉलेज से अपनी स्नातक की डिग्री कॉमर्स क्षेत्र से कर रहे थे।

पढ़ाई छोड़ने के बाद संदीप माहेश्वरी वर्ष 2000 में फोटोग्राफी करने के लिए आगे बढ़े। अपने इस पसंद को वे अपने पर्सनल पेशे के रूप में अपनाने की कोशिश करने लगे थे। इसी से संबंधित अपने कुछ मित्रों के साथ मिलकर उन्होंने एक बार फिर से एक छोटा व्यवसाय शुरू करने का निर्णय लिया।

किंतु खराब चल रहे समय की वजह से वह एक बार फिर अपने इस कारोबार में असफल ही सिद्ध हुए। शायद उस दौरान उनकी किस्मत में उनके लिए कुछ विशेष और बड़ा सोच रखा था।

जीवन में बदलाव का समय

जब संदीप माहेश्वरी जी की उम्र मात्र 18 वर्ष की थी तब वे न जाने कितने असफलताओं को अपने जीवन में देख चुके थे। निरंतर मिलती असफलताओं के कारण संदीप अपने जीवन में काफी निराश रहने लगे थे। उसी समय के अंतराल में एक मल्टी लेवल मार्केटिंग बिजनेस वाली कंपनी ने सेमिनार के माध्यम से परिचर्चा का आयोजन किया और इसी सेमिनार में संदीप माहेश्वरी अपने कुछ मित्रों के साथ जा पहुंचे थे।

उस सेमिनार में 21 वर्षीय का एक लड़का अपनी स्पीच दे रहा था और उसने अपने द्वारा कमाए गए कुछ पैसों का भी वर्णन अपने स्पीच के दौरान किया। जैसा कि उस दौरान संदीप की उम्र कुछ खास समझदारी वाली नहीं थी, तो उन्हें उस लड़के द्वारा दी जा रही किसी भी स्पीच का कोई भी मतलब नहीं समझ में आ रहा था।

मगर उस लड़के द्वारा दिखाई गई इनकम का असर संदीप माहेश्वरी के जीवन पर एक छाप छोड़ दिया। तभी से उन्होंने निर्णय लिया कि यदि वह लड़का अपने मेहनत के दम पर कामयाबी को हासिल कर सकता है, तो आखिर वह क्यों नहीं ऐसा कर सकते हैं।

तभी उन्होंने अपने जीवन में कुछ नया व्यवसाय शुरू करने का निर्णय लिया। उनका सोचना था कि वह सफल होने के बाद अपनी तरह के सभी युवक-युवतियों को हौसला प्रदान करेंगे। अपने निर्णय और अपने अंतरात्मा की आवाज को सुनकर संदीप माहेश्वरी और उनके कुछ मित्र उस कंपनी की ओर एक आशा के साथ गए।

दुर्भाग्य से उस कंपनी ने संदीप के साथ उनके मित्रों को भी कोई भी कार्य नहीं दिया। इस बार की असफलता को देखकर अब इनके मित्रों ने भी इनका मजाक बनाना शुरू कर दिया था। लोगों ने इनके मजाक बनाएं और इनको असफलताएं मिली, मगर इन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और अपने जीवन में संघर्ष करने के जज्बे से वे आगे बढ़ते रहे।

उन्होंने अपने जीवन में सभी प्रकार की चुनौतियों को स्वीकारा और अपनी असफलता से कुछ सीखने का निर्णय लिया। संदीप महेश्वरी का मानना है कि इंसान की असफलताएं उस इंसान को सफल बनाने के लिए कुछ न कुछ जरूर सीख देती हैं।

यदि इंसान चाहे तो अपनी असफलताओं से सीख लेकर अपने सफलता के लिए नए कदम स्वयं ढूंढ सकता है। इन्हीं विचारों के साथ संदीप माहेश्वरी कई और असफल प्रयास अपने जीवन में निरंतर करते रहे।

यह भी पढ़े: विवेक बिंद्रा के संघर्ष और सफलता की कहानी

संदीप माहेश्वरी की फोटोग्राफी और कुछ अतुलनीय रिकॉर्ड

संदीप माहेश्वरी के एक मित्र ने अपने मॉडलिंग के दौरान उनको एक से ज्यादा तस्वीरें लाकर दिखाई। उन तस्वीरों को देखने के बाद संदीप को लगा कि यही एक ऐसा व्यवसाय है, जो वह करने के लिए ढूंढ रहे थे।

इस क्षेत्र में करियर बनाने के निश्चय से संदीप ने उन्होंने क्षेत्र में कुछ रिसर्च किया और फिर 2 सप्ताह वाला फोटोग्राफी का कोर्स भी इन्होंने ज्वाइन किया और इस कोर्स को इन्होंने पूरा भी किया। कोर्स को पूरा करने के बाद उन्होंने एक महंगा और अच्छे क्वालिटी वाला कैमरा भी खरीद भी लिया।

मगर कुछ समय के बाद उन्हें लगा कि उनके जैसे ऐसे पता नहीं कितने लोग हैं, जो इस क्षेत्र में अपना फ्यूचर बनाने के लिए रोजमर्रा के जीवन में धक्के खा रहे हैं। उन्होंने सोचा कि अपने इस पेशे को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए क्या करना होगा और वे किस प्रकार से ऐसा कर पाएंगे। बहुत सोचने के बाद उन्होंने अपने जोखिम पर एक अखबार में फ्री पोर्टफोलियो का विज्ञापन दे दिया।

सौभाग्य से इस विज्ञापन को देखने के बाद कई व्यक्ति उनके पास पहुंच गए और यही एक ऐसा क्षण था, जब उन्होंने अपने द्वारा शुरू किए गए किसी व्यवसाय से कुछ कमाई की थी। यह सिलसिला इनका आगे भी चलता रहा, शायद यह सिलसिला उनके जीवन में सफलता का संकेत लेकर आया था।

इसी अच्छे समय के दौरान उन्होंने अपने नाम एक बेहतरीन रिकॉर्ड भी बनाया, जो लिम्का बुक में भी उनके नाम को दर्ज करवाने के लिए काफी था। इस रिकॉर्ड में उन्होंने 12 घंटे में 100 मॉडल की 10,000 बेहतरीन तस्वीरें खींची हुई थी। लिम्का बुक में नाम दर्ज होने जाने के बाद से इनके पास काम की संख्या बढ़ने लगी और यह अपने कार्यों को ओर ऊंचाई प्रदान करने के लिए लग गए।

यह भी पढ़े: सोनू शर्मा का जीवन परिचय

संदीप माहेश्वरी ने इमेज बाजार कंपनी की शुरुआत कब और किस प्रकार से की?

जब इनके नाम एक नया रिकॉर्ड दर्ज किया गया। इनके रिकॉर्ड को देखते हुए कई बड़ी कंपनियां और कई मॉडल्स आकर अपने ऑर्डर्स इनको देने लगे।

अब इनका परिवार आर्थिक समस्या से पूरी तरह से उभर चुका था। देखते देखते संदीप का यह व्यवसाय भारत की बड़ी फोटोग्राफिक एजेंसी के रूप में परिवर्तित हो गई। अब संदीप के मस्तिष्क में इस बिजनेस को और भी कामयाब करने के लिए नए-नए विचार आने लगे।

उन्हीं नए विचारों में से वर्ष 2006 में संदीप माहेश्वरी ने imagebazar.com की शुरुआत कर दी। इस वेबसाइट के जरिए, इनका व्यवसाय पूरी तरह से ऑनलाइन रूप में आ गया। आज के समय में इनके द्वारा शुरू की गई यह वेबसाइट देश ही नहीं, अपितु पूरे बड़े-बड़े देशों में भी विख्यात हो गई है।

आज इनकी कंपनी के पास कुल 45 देशों के 7000 से भी ज्यादा क्लाइंट मौजूद हैं। अपनी इस सफलता के बाद संदीप जी ने अपने द्वारा सेमिनार का भी आयोजन करना शुरू कर दिया और अपनी तरह के युवकों को प्रेरणा देने का कार्य भी करना शुरू कर दिया। इनके सेमिनार के माध्यम से लाखों युवक इनके द्वारा दिए गए स्पीच से प्रेरित होते हैं।

संदीप माहेश्वरी लव स्टोरी

संदीप माहेश्वरी की लव स्टोरी उनके स्कूली जीवन के दौरान ही शुरू हो गई थी। इनकी वर्तमान में शादी हो चुकी है और इनके पत्नी का नाम नेहा है। नेहा से ही इन्हे अपने स्कूली जीवन में प्यार हुआ था और बाद में इन्हीं से शादी कर ली।

संदीप माहेश्वरी ने अपने एक वीडियो में बताया था कि जब यह ग्यारहवीं क्लास में थे तब इन्हें पढ़ाई के लिए अच्छे माहौल के लिए स्कूल बदलने की जरूरत महसूस हुई। नए स्कूल में एक बार जब ये स्कूल के काउंटर पर काम कर रहे थे तभी नेहा ने सबसे पहले संदीप माहेश्वरी को देखा था।

संदीप माहेश्वरी ने यहां स्कूल के पहले ही दिन नेहा को देखा और दोनों ही एक दूसरे की तरफ आकर्षित हो गए। बाद में दोनों के बीच दोस्ती शुरू हो गई। धीरे-धीरे यह दोस्ती प्यार में बदलने लगा। दोनों ने डेटिंग करना शुरू कर दिया।

हालांकि इस दौरान संदीप माहेश्वरी के जीवन में कई सारी समस्याएं आई, जिनका उन्होंने खूब सामना किया। खुद को सफल बनाना चाहते थे। इसलिए वह कैरियर पर भी ध्यान दे रहे थे और कैरियर बनाने के लिए उन्होंने खूब संघर्ष भी किया। लेकिन जब इनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी तब इन्होंने नेहा से शादी कर लिया था।

यह अपने वीडियो में बताते हैं कि इनकी पत्नी नेहा का इनके सफलता में बहुत बड़ा योगदान है। क्योंकि जीवन के कई परिस्थितियों में इनकी पत्नी ने इनका साथ दिया। अभी संदीप माहेश्वरी दो बच्चों के पिता भी बन चुके हैं। उनका एक बेटा और एक बेटी है।

संदीप माहेश्वरी को मिले सम्माननीय पुरस्कार

इन्होंने बहुत कम उम्र में बहुत कुछ सीखा हुआ है और उन्हीं सीख के जरिए, यह आज सफल इंसान बन सके। उनकी सफलताओं के बीच में इनको कई बड़े पुरस्कार भी मिले हैं, जो इस प्रकार से वर्णित हैं।

  • वर्ष 2014 में क्रिएटिव एंतोप्रेन्टोरिय़र ऑफ द ईयर का पुरुस्कार इनको ‘interpreter India summit’ के द्वारा इनको सम्मानित किया गया।
  • बिजनेस वर्ल्ड पत्रिका के अंतर्गत इन्हें बेहतरीन उद्यमी के रूप में चुना गया।
  • संदीप माहेश्वरी को ग्लोबल मार्केटिंग फोरम के माध्यम से स्टार यूथ अचीवर के रूप में चुना गया।
  • इनकी सफलताओं को देखते हुए इन्हें ब्रिटिश हाई कमिशन की तरफ से युवा उद्यमी का पुरस्कार मिला।
  • इनको ईटी आउट चैनल के माध्यम से उच्च उद्यमी का पुरस्कार मिला।
  • इसके अतिरिक्त इनको कई बड़े चैनलों ने उस वर्ष का बेहतरीन उद्यमी घोषित भी किया था।

संदीप माहेश्वरी के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • संदीप माहेश्वरी एक सुप्रसिद्ध प्रवक्ता, उद्यमी और फोटोग्राफर हैं। इसके साथ ही यह एक लेखक भी हैं। इन्होंने 21 साल की उम्र में मार्केटिंग मैनेजमेंट बाय संदीप माहेश्वरी नामक पुस्तक भी लिखी। हालांकि इस किताब के लिए उन्हें कोई पब्लिशर नहीं मिला। तब इन्होंने खुद ही इसे पब्लिश करवाई थी लेकिन यह बुक ज्यादा बिकी नहीं।
  • संदीप माहेश्वरी का जहां-जहां पर सेमिनार आयोजित होता हैं, वे किसी भी सेमिनार का पैसा नहीं लेते।
  • संदीप माहेश्वरी एक ऐसे भारतीय यूट्यूब हैं, जिनके प्रत्येक वीडियोस पर यूट्यूब बहुत अच्छी खासी व्यूज आते हैं। इनके एक वीडियो साल 2021 में सबसे अधिक बार देखी गई थी लेकिन इसके बावजूद यह यूट्यूब से एक भी रुपए नहीं कमाते हैं। क्योंकि संदीप माहेश्वरी ने अपने वीडियोस पर एडवर्टाइजमेंट लाने के लिए मना किया है।
  • संदीप माहेश्वरी ने 122 मॉडल्स का 10000 फोटो मात्र 10 घंटे 45 मिनट में क्लिक करके लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।
  • संदीप माहेश्वरी ने Imagebazaar.in नाम की खुद की कंपनी स्थापित की है।
  • संदीप माहेश्वरी जिस स्टूडियो में फोटोग्राफी का काम करते हैं, वह स्टूडियो इनका खुद का ना होकर किराए पर लिए थे।
  • संदीप माहेश्वरी के जीवन के 2 मूल मंत्र संदीप माहेश्वरी को सफल इंसान बना दिया वह है “विफलताओं से कभी ना डरे” और “स्वयं ओर दुसरो के लिए हमेशा सत्य बने”
  • संदीप माहेश्वरी की मोटिवेशनल भाषण न केवल भारत में बल्कि देश विदेश की युवाओं में भी काफी ज्यादा प्रसिद्ध है।

संदीप माहेश्वरी की कमाई और नेट वर्थ

संदीप माहेश्वरी की खुद की कंपनी Imagebazaar.in है और इसी से इनका सालाना टर्न ओवर 2021 की रिपोर्ट के अनुसार 90 से 100 करोड रुपए था। इस तरह अब तक संदीप माहेश्वरी की नेटवर्थ 4 मिलियन से भी ज्यादा है। इनकी प्रति महीने की कमाई 3000000 से भी ज्यादा है।

हालांकि बहुत से लोगों कोई यह भी लगता है कि संदीप माहेश्वरी एक सुप्रसिद्ध प्रवक्ता है तो यह सेमिनार और यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करके भी अच्छा खासा पैसा कमाते हैं। लेकिन बता दें कि संदीप माहेश्वरी जितने भी सेमिनार अटेंड करते हैं, मुफ्त में अटेंड करते हैं, सेमिनार का एक भी रुपए यह नहीं लेते हैं। इसके साथ ही नहीं इनकी कमाई यूट्यूब के जरिए होती है।

अब यह भी प्रश्न उठता है कि यूट्यूब पर तो इनके प्रत्येक वीडियो पर लाखों की संख्या में व्यूज जाते हैं तब भी यूट्यूब से पैसे कैसे नहीं कमाते। दरअसल यूट्यूब को लेकर संदीप माहेश्वरी की एक बहुत दिलचस्प तथ्य है कि यूट्यूब पर अच्छी खासी वीडियो अपलोड करने पर जब अच्छा खासा आता है तो यूट्यूब से पैसे मिलते हैं।

लेकिन संदीप माहेश्वरी यूट्यूब से एक भी रुपए नहीं कमाते हैं। क्योंकि यूट्यूब पर कमाई तभी होती है जब वीडियो पर एडवर्टाइजमेंट आता है। लेकिन संदेश माहेश्वरी ने यूट्यूब को उनके वीडियो पर एक भी एडवर्टाइजमेंट डालने से मना किया है। क्योंकि उनका मानना है कि उनकी वीडियो लोगों को प्रेरित करती है और लाखों लोग उनके वीडियो को देखते हैं।

वे नहीं चाहते कि बीच में एडवर्टाइजमेंट आकर उनके ऑडियंस का ध्यान भंग हो। क्योंकि उनका मकसद केवल पैसा कमाना ही नहीं है बल्कि लोगों को प्रेरणा देकर एक अच्छा इंसान बनाना चाहते हैं और अच्छा करियर बनाने में मदद करना चाहते हैं।

यह भी पढ़े: मोटिवेशनल गुरू शिव खेड़ा का जीवन परिचय

संदीप माहेश्वरी सोशल मीडिया

संदीप माहेश्वरी वेबसाइटक्लिक करें
संदीप माहेश्वरी इंस्टाग्रामक्लिक करें
संदीप माहेश्वरी फेसबुकक्लिक करें
संदीप माहेश्वरी ट्विटरक्लिक करें
संदीप माहेश्वरी यूट्यूबSandeep Maheshwari
Sandeep Maheshwari Spirituality

संदीप माहेश्वरी जी के अनमोल और उच्च विचार

किसी भी मनुष्य का अनमोल या उच्च विचार उसकी भावनाओं और उसके अनुभव को प्रकट करता है। जो भी सफल मनुष्य अपने उच्च विचारों को लोगों के साथ साझा करता है, तो वह अपने जीवन में सभी अनुभव को भी इस विचार में मिश्रित करके लोगों को बताता है।

अच्छी-अच्छी विचारों को पढ़ने से नकारात्मक एवं हार मानने वाले व्यक्तियों के अंदर एक सकारात्मक सोच और ऊर्जा का विकास होता है। इसीलिए हम आप सभी लोगों के साथ में संदीप माहेश्वरी जी के कुछ उच्च विचार और अनमोल वचन को साझा कर रहे हैं, जो इस प्रकार दिए गए हैं।

न मैदान छोड़ना है, न ही इंतज़ार करना है…
बस चलते रहना है।

आज मैं जो कुछ भी हूँ अपने असफलताओं की वजह से हूँ।

अरे मिलेगा भाई, इतना मिलेगा जितना तुम सपने में भी नहीं सोच सकते…
पहले खिलाड़ी तो बनो, अपने खेल के पक्केि खिलाड़ी।

मैं सिर्फ गुड लक को मानता हूँ,
बेड लक नाम की इस दुनिया में कोई चीज़ नहीं,
क्योकि जो होता है अच्छे के लिए होता है।”

अगर आप उस इंसान की तलाश कर रहे है,
जो आपकी जिंदगी बदलेगा,
तो आईने में देख लो।

हर एक काम आसान है केवल अंदर से आवाज़ आनी चाहिए
कि मैं कर सकता हूं।

अपने अंदर की आवाज़ सुनो क्योंकि जो आप मान लेते है,
वो आज नहीं तो कल आप बन जाते हो।

सीखते रहना है जो सिख रहा है वो जिन्दा है
और जिसने सीखना बंद कर दिया वो जिन्दा लाश है।

यह भी पढ़े: संदीप माहेश्वरी के प्रेरणादायी विचार

संदीप माहेश्वरी ने अपनी बायोग्राफी के बारे पूरे विस्तार से खुद ने इस विडियो में बताया हैं, जिसका लिंक हम सलंग्न कर रहे हैं।

FAQ

संदीप महेश्वरी के कितने बच्चे हैं?

संदीप माहेश्वरी के दो बच्चे हैं।

संदीप माहेश्वरी की सैलरी कितनी है?

संदीप माहेश्वरी की कमाई $4000 से भी अधिक प्रतिमाह है।

संदीप माहेश्वरी ने कौन सा रिकॉर्ड बनाया है?

संदीप माहेश्वरी ने 122 मॉडल्स के 10000 फोटो को मात्र 10 घंटे 45 मिनट में क्लिक करके लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाया।

संदीप माहेश्वरी की कौन सी वीडियो सबसे ज्यादा प्रसिद्ध हुई हैं?

9 जुलाई 2021 को संदीप माहेश्वरी की एक वीडियो जिसका टाइटल था “द लाइफ चेंजिंग सेल्फ एजुकेशन” इस वीडियो को यूट्यूब पर पोस्ट करते ही सबसे अधिक देखे जाने वाली वीडियो बन गई, जिसे 3 करोड़ से भी अधिक बार देखा गया।

संदीप माहेश्वरी कौन सा व्यवसाय करते हैं?

संदीप माहेश्वरी युवाओं में एक सुप्रसिद्ध वक्ता है। इसके साथ ही ये Imagesbazaar.com के संस्थापक और सीईओ भी है और यह एक फोटोग्राफर भी है। संदीप माहेश्वरी भारत में लगातार तेजी से बढ़ते उद्यमियों में से एक हैं।

संदीप माहेश्वरी का जन्म कब हुआ था?

संदीप माहेश्वरी का जन्म 28 सितंबर 1980 को दिल्ली में हुआ था।

निष्कर्ष

संदीप माहेश्वरी के पूरे संघर्ष भरे जीवन से हमें यह पता चलता है, कि जीवन में कोई भी सफलता बैठने से या फिर आसानी से नहीं मिल जाती है। अगर किसी भी इंसान को सफल होना है, तो उसे सबसे पहले असफलताओं से लड़ना सीखना चाहिए। सफलता के उद्देश्य से किया गया कोई कार्य एक ही बार में आपको सफलता नहीं दिला सकता है।

यही वजह है कि सफल बनने से पहले इंसान को असफलताएं प्राप्त होती हैं। अपनी असफलताओं से सीख कर किसी भी इंसान को सफलता की ओर अग्रसर होना चाहिए।

हमारे द्वारा प्रस्तुत यदि यह महत्वपूर्ण लेख संदीप माहेश्वरी की सफलता की कहानी आपको पसंद आया हो तो इसे आप अपने मित्र जन एवं परिजन के साथ अवश्य साझा करें। यदि आपके कोई विचार या सुझाव है, तो हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

इसे भी पढ़ें

कल्पना चावला का जीवन परिचय

माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स की जीवनी

फेसबुक की सफलता की कहानी

नीतीश राजपूत का जीवन परिचय

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here