रिश्ते पर शायरी

Rishta Shayari in Hindi

Emotional Shayari on Parents

रिश्ते पर शायरी | Rishta Shayari in Hindi

कभी कभी हम किसी को यादो में पूरी रात जागते रहते है
और उन्हें हमारी कदर तक नही होती

रिश्ते में दुनियां तो आती जाती रहती हैं।
फिर भी दोस्ती दिलो को मिला देती हैं।
वो दस्ती ही क्या जिसमे नाराजगी ना हो।
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना ही लेती हैं।

अगर रिश्तों में हो तल्खी तो चुप हो बैठना बेहतर,
गड़े मुर्दे उखाड़ोगे तो बदबू फैल जायेगी।

अभी गुमनाम हु तो रिश्ता तोड़ लिया है मुझसे
ग़र कल को मशहूर हो गया तो
कोई रिश्ता मत निकाल लेना

जिंदगी में आपकी एहमियत हम आपको बता नहीं सकते।
दिल में आपकी जगह हम आपको दिखा नहीं सकते।
कुछ रिश्ते बेहद अनमोल होते हैं।
इससे ज्यादा हम आपको समझा नहीं सकते।

फासले इस कदर हैं आजकल रिश्तों में,
जैसे कोई घर खरीदा हो किश्तों में।

एक अच्छा “रिश्ता हमेंशा हवा” की तरह होना चाहिए
खामोश” मगर हमेशा “आसपास”

अ़शक उनकी आँखों के करीब होते हैं।
रिश्ते दर्द के जिसको होते हैं।
दौलत अपने दिल की लुटा दी है जिसने।
कोई कहते हैं कि वो गरीब होते हैं।

कुछ ऐसे हो गए हैं इस दौर के रिश्ते,
जो आवाज तुम ना दो तो बोलते वो भी नहीं।

खुदा से हमारा रिश्ता भी चश्मे और निगाह सा है
वो जब साथ होता है सब कुछ साफ़ नज़र आता है

कच्ची नहीं पक्की हैं ये दोस्ती।
रिश्ते से नहीं प्यार से बनती हैं ये दोस्ती।
भाई=बहन के प्यार की जीवन भर की हैं ये दोस्ती।

नए रिश्ते जो न बन पाएं तो मलाल मत करना
पुराने टूटने न पाएं बस इतना ख्याल रखना।

रिश्ता होने से रिश्ता नहीं बनता
रिश्ता निभाने से रिश्ता बनता है

मुस्कुराहट का कोई मोल नहीं होता।
रिश्ते का कोई तोल नहीं होता।
इंसान तो मिल जाते है हमें हर मोर पर।
लेकिन हर कोई आप कि तरह अनमोल नहीं होता।

मजबूरियों से लड़कर रिश्तों को समेटा है,
कौन कहता है मुझे रिश्तें निभाने नहीं आते।

Read Also: झुमके पर शायरी

Rishta Shayari in Hindi

रिश्ता वो नहीं होता जो दुनिया को दिखाया जाता है
रिश्ता वह होता है,जिसे दिल से निभाया जाता है
अपना कहने से कोई अपना नहीं होता
अपना वो होता है जिसे*दिल से अपनाया जाता है

रिश्ते आज कल झुठ बोलने से नहीं
बल्कि सच बोलने से टुटती हैं।

जेब में जरा सा सूराख क्या हुआ,
सिक्कों से ज्यादा रिश्ते गिर पड़े।

जब रिश्ता नया होता है
तो लोग बात करने का बहाना
ढ़ुढ़ते है और जब वही रिश्ता
पुराना हो जाता है
तो लोग दूर होने का बहाना ढूढ़ते है

लगे ना नज़र इस रिश्ते को जमाने की,
पड़े ना जरुरत कभी एक दूसरे को मनाने की,
आप ना छोड़ना मेरे साथ वरना,
तमन्ना ना रहेगी फिर दोस्त बनाने की,

दरख्तों से ताल्लुक का हुनर सीख ले इंसान,
जड़ों में ज़ख्म लगते हैं तो टहनियाँ सूख जाती हैं।

कोई रिश्ता जब खामोसी से टूटता है तो
साथ में कोई न कोई एक शक़्स भी टूट जाता है

हर पल के रिश्ते का वादा हैं तुमसे।
अपनापन कुछ इतना ज्यादा हैं तुमसे ।
कभी ना सोचना की भूल जाएंगे तुम्हें ।
जिंदगी भर का साथ देगे ये वादा हैं तुमसे।

बहुत अजीब से हो गए हैं ये रिश्ते आजकल,
सब फुरसत में हैं पर वक़्त किसी के पास नहीं।

तुम्हारी फिक्र करनेके लिए
हमारा रिश्ता होना जरूरी तो नही
एहसास की ही तो बात है
तुम्हारी इजाजत भी जरूरी नही

हर रिश्ते में विश्वास रहने दो।
जुबान पर हर वक्त मिठास रहने दो।
यही तो अंदाज़ हैं जिंदगी जिने का।
ना खुद रहो उदास ना दूसरों को रहने दो।

वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते
कसूर हर बार गल्तियों का ही नही होता।

आज फिर ए तन्हाई लग जा गले
के तुझसे लिपट के रोने का बहुत दिल है
एक तू ही तो है हमसाया जिंदगी का मेरी
वरना यहां तो हर रिश्ता, मेरी रूह का कातिल है

रिश्ते में प्यार की मिठास रहे।
एक ना मिटने वाला एहसास रहे।
कहने को छोटी सी हैं ज़िन्दगी।
लम्बी हो जाए अगर अपनो का साथ रहे।

Rishta Shayari in Hindi

कुछ इस तरह खूबसूरत रिश्ते टूट जाया करते हैं,
दिल भर जाता है तो लोग रूठ जाया करते हैं।

मशहूर होना पर मगरुर मत होना।
कामयाबी के नशे में चुर मत होना।
मिल जाए सारी कायनात आपको।
मगर इसके लिए कभी अपनो से दुर मत होना।

मशरूफ रहने का अंदाज़ तुम्हें तनहा ना कर दे ग़ालिब,
रिश्ते फुर्सत के नहीं तवज्जो के मोहताज़ होते हैं।

एक मिनट लगता हैं।
रिशतो का मज़ाक उड़ाने में।
और सारी उम्र बीत जाती हैं।
एक रिश्ते को बनाने में।

जब भी हो थोड़ी फुरसत मन
की बात कह दीजिये,
बहुत ख़ामोश रिश्ते ज़्यादा
दिनों तक ज़िंदा नहीं रहते।

अपने-गमो की तू नुमाइश ना कर।
अपने;नसीब की यूँ आज़माइश ना कर।
जो तेरा हैं वो खुद तेरे दर पे चल के आएगा।
रोज उसे पाने की ख़्वाहिश ना कर।

मुलाकातें बहुत जरूरी हैं अगर रिश्ते निभाने हैं,
लगाकर भूल जाने से तो पौधे भी सूख जाते हैं।

खुद के इस हुनर को जरूर आजमाना।
जब जंग हो अपनो से तो हार जाना।

छुपे-छुपे से रहते हैं सरेआम नही हुआ करते,
कुछ रिश्ते जो एहसास होते हैं बेनाम हुआ करते।

शब्द उतने ही बाहर निकलने चाहिए।
जिन्हें वापस भी लेना परे तो खुद।
को तकलीफ ना हो।

निकाल से जिस्म से जो अपनी जान देता हैं।
बड़ा ही मजबूत है वो पिता जो कन्यादान देता हैं।

किसी को नजरों में न बसाओ।
क्योंकि नजरों में सिर्फ सपने बसते हैं।
बसाना ही हैं तो दिल में बसाओ।
क्योंकि दिल में सिर्फ अपने बसते हैं।

जरूरी नहीं कि सारे सबक किताबों से ही सिखे।
कुछ सबक ज़िन्दगी और रिश्ते भी सिखा देते हैं।

कोई किसी का नहीं इस दुनियां में।
मैने पैसो से रिश्ते को बनते देखा है।
मैले हो जाते हैं रिश्ते भी लिवासो की तरह हैं।
कभी कभी इनको भी मुहब्बत से धोया कीजिए।

Read Also: बेस्ट फ्रेंड पर शायरी

Rishta Shayari in Hindi

खामोश चेहरे पर हजारों पेहरे होते हैं।
हंसती आँखों में भी जख्म गेहरे होते हैं।
जिनसे अक्सर रुठ जाते है हम।
असल में उनसे ही रिश्ता गहरे होते हैं।

एक मैं हूँ जो समझ नहीं सका खुद को आज तक।
और एक ये दुनिया वाले हैं जो ना।
जाने क्या क्या समझ लेते हैं।

रिश्ते-और विश्वास दोनों मित्र है।
रिश्ते-रखो या ना रखो पर।
एक विश्वास जरूर बनाए रखना।
क्योंकि जहाँ विश्वास होता हैं।
वहा रिश्ते अपने आप बन जाते हैं।

तुझे तो मिल गये होंगे।
कई नये साथी लेकिन।
मुझे आज भी हर मोड़ पर।
तेरी कमी महसूस होती हैं।

किसी भी रिश्ते की सिलाई।
अगर भावनाओ से हुई हैं तो टुटना मुश्किल है।
और अगर स्वाथं से हुई हैं तो टिकना मुश्किल है।

रिश्ते पंछियो के सामान होते हैं।
जोर से पकरो तो मर सकते हैं।
धीरे से पकरो तो उड़ सकते हैं।
लेकिन प्यार से पकर के रखो तो।
ज़िन्दगी भर साथ रह सकते हैं।

रिश्तों कि ही दुनिया में अक्सर ऐसा होता हैं।
दिल से इन्हें निभाने वाला ही रोता हैं।
झुकना परे तो झुक जाना अपनो के लिए।
क्योंकि हर रिश्ता एक नाजुक समझोता होता हैं।

दिल-से निकली बात दिल को छू जाती हैं।
ये-अक्सर अनोखी बात रह जाती हैं।
कुछ लोग दोस्ती के मायने बदल देते हैं।
पर किसी कि दोस्ती से दुनियां बदल जाती हैं।

अगर इंसान शिशा से पहले संस्कार।
व्यपार से पहले व्यवहार।
भगवान से पहले माता पिता को पहचान ले।
तो जिंदगी में कभी कोई कठिनाई नहीं आएगी।

रिश्ते निभाना हर किसी के बस कि बात नहीं।
अपना दिल भी दुखाना परता है।
किसी और की ख़ुशी के लिए।

रिश्ते कभी भी कुदलती मैंत नहीं मरती।
इनका हमेसा इंसान ही कत्ल करता है।
नफ़रत से। नज़र अंदाजो से।
तो कभी गलतफहमी से।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here