काली मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान

काली मिर्च प्रकृति के द्वारा हमें एक औषधि के रूप में प्राप्त एक मसाला है, जिनके अंदर काफी सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं और जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है। इसमें कई ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिनसे कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है।

कई हजार बरसों से काली मिर्च का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। लेकिन हम सभी जानते हैं कि काली मिर्च का उपयोग हम सभी अपने भारतीय भोजन में करते हैं। भारत में ऐसा ही शायद कोई घर होगा, जिसमें काली मिर्च का उपयोग नहीं किया जाता हो।

Kali Mirch Ke Fyade Aur Nuksan

भारत में लगभग सभी घरों में काली मिर्च का उपयोग विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में किया जाता है और भारतीय भोजन को स्वादिष्ट बनाने में काली मिर्च मसाले के रूप में एक अलग अपनी भूमिका निभाती है। काली मिर्च का स्वाद तीखा होता है और यह छोटे छोटे काले दाने की तरह होती है। आज के इस पोस्ट में हम काली मिर्च से होने वाले फायदे, इसके उपयोग और इसके लाभ और साथ-साथ इसके हानि के बारे में भी जानेंगे।

काली मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान

काली मिर्च क्या होती है?

  • काली मिर्च एक प्रकार का मसाला है, जो कि भारतीय भोजन में विभिन्न प्रकार से उपयोग किया जाता है।
  • काली मिर्च को इंग्लिश में Black pepper कहते हैं। काली मिर्च का वैज्ञानिक नाम Piper Nigrum है। तेलुगु में काली मिर्च को मिरियालू कहते हैं,
  • तमिल में काली मिर्च को करमिलाकु कहते है। कन्नड़ में काली मिर्च को कारे मनसु कहते है।
  • काली मिर्च की जब खेती की जाती है तो, काली मिर्च एक फूल वाली बेल होती है और जब यह बेल सूख जाती है, तो छोटे छोटे काले काले दाने वाली काली मिर्च बन जाती है। जिसके बाद लोग इसका उपयोग मसाले के तौर पर करते हैं। काली मिर्च हमें बाजार में आसानी से साबुत और पाउडर दोनों रूप में मिल जाती है।

काली मिर्च से होने वाले फायदे

  • काली मिर्च में कई प्रकार के औषधीय गुण पाएं जाते हैं। इसमें खास करके एंटी-फ्लैटुलेंस, ड्यूरेटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, डाइजेस्टिव, मैमोरी इनहेंसर और पेन रिविलर गुण  औषधीय गुण है। जो हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है और यह विभिन्न प्रकार के रोगों से भी हमें निजात पहुंचाता है। काली मिर्च से होने वाले फायदे निम्न है
  • काली मिर्च का उपयोग करने से हमारे पाचन क्रिया में काफी फायदा होता है क्योंकि काली मिर्च में कई तरह के ऐसे औषधीय गुण पाएं जाते हैं, जोकि पेट में पाचन संबंधी क्रियाओं को गतिशील बनाते हैं, जिससे कि भोजन पचाने में काली मिर्च का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहता है। काली मिर्च में कई तरह के डाइजेस्टिव एंजाइम होते हैं, जोकि आपके भोजन को अच्छे से पचाते हैं और इस बात को नेशनल सेंटर ऑफ़ बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के द्वारा दी गई है।
  • बुखार सर्दी खांसी में काली मिर्च का उपयोग करके आप इन सारी बीमारी से राहत पा सकते हैं। कोविड-19 में ज्यादातर लोग अपने सर्दी और खांसी को ठीक करने के लिए काढ़ा के रूप में काली मिर्च का विशेषकर उपयोग करने लगे पुराने जमाने से ही काली मिर्च का उपयोग काढ़ा बनाने में किया जाता था, जिससे कि लोगों की सर्दी और खांसी ठीक हो सकी।
  • हाल ही के रिसर्च के मुताबिक यह पता चला है, कि काली मिर्च में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि आपके सर्दी और खांसी जैसी समस्या में आपको तत्काल तुरंत मिजाज देती है। इसीलिए काली मिर्च का उपयोग करके आप सर्दी खांसी बुखार जैसी बीमारियों में राहत पा सकते हैं।
  • काली मिर्च का उपयोग करके आप कैंसर जैसे भयंकर बीमारी से भी राहत पा सकते हैं। शोध में पता गया है कि काली मिर्च में एक ऐसी एंटी कैंसर गतिविधि पाई जाती है, जो कि कैंसर होने की बीमारी को रोकती है और जिन व्यक्तियों को कैंसर है, उसको भी ठीक करने में काली मिर्च बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान देती है।
  • काली मिर्च का उपयोग करके आप मुंह संबंधी बीमारी से भी राहत पा सकते हैं क्योंकि काली मिर्च में कई प्रकार के औषधीय गुण जैसे किएंटी-माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो कि मुंह संबंधी होने वाली बीमारियों से राहत देते हैं। यदि दांतों संबंधी कोई बीमारी हो या मसूड़ों संबंधी कोई बीमारी हो उन सभी में काली मिर्च काफी फायदा करती है क्योंकि इसमें कई सारे ऐसे और भी गुण होते हैं जो कि इन सभी बीमारियों में राहत देते हैं।
  • दांत संबंधी बीमारियों में भी काली मिर्च को लॉन्ग के तेल के साथ मिलाकर प्रयोग करने पर बहुत अच्छा प्रभाव देता है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके मोटापा को भी कम किया जा सकता है क्योंकि काली मिर्च में कई ऐसे पोषक तत्व और औषधीय गुण पाए जाते हैं। जिसकी सेवन करने से आपके भोजन में करने की इच्छा में कुछ कमी होती है, जिससे कि शरीर की वसा कम होती है और भी बहुत सारे औषधीय गुण के कारण काली मिर्च को मोटापा कम करने के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके आप पेट संबंधी, आंख संबंधी, एसिडिटी जैसी बीमारी से भी राहत पा सकते हैं। काली मिर्च में पोषक तत्व और गुण होते हैं, जो कि आपके शरीर में एंटीबैक्टीरियल का काम करते हैं। जो खराब बैक्टीरिया होते हैं उसे मारकर अच्छे बैक्टीरिया को उत्पन्न करते हैं, जिससे कि पेट संबंधी बीमारियों में, आंख संबंधी बीमारियों में राहत मिलती है।
  • यह पाचन क्रिया को ठीक करती है और खाना को जल्दी पहुंचा देती है। जिससे कि पेट में गैस नहीं बनता है और एसिडिटी में भी राहत देती है।
  • काली मिर्च का प्रयोग भूख बढ़ाने में भी किया जाता है। हाल ही के शोध में पता चला है कि काली मिर्च में कुछ ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो कि आपको भूख को बढ़ाती है। इसीलिए जिन लोगों को भूख कम लगती है, वह काली मिर्च का प्रयोग करके अपनी भूख को बढ़ा सकते हैं।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके आप कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं और कोलेस्ट्रॉल होने की प्रक्रिया को भी कम कर सकते हैं। काली मिर्च में कई ऐसे गुण होते हैं, कई ऐसे औषधि गुण होते हैं। जिनसे की कोलेस्ट्रॉल होने की संभावना कम हो जाती है। इसीलिए काली मिर्च का प्रयोग कोलेस्ट्रोल कम करने में किया जाता है।
  • डायबिटीज और ब्लड शुगर जैसे रोगियों के लिए भी काली मिर्च एक वरदान के समान हैं क्योंकि काली मिर्च शरीर में जाकर रक्त को पतला करता है और आपके उपापचय क्रिया को भी ठीक करता है। जिससे कि ब्लड शुगर और डायबिटीज जैसी बीमारियों में आपको राहत मिलती है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके गठिया और जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है क्योंकि काली मिर्च में कई ऐसे दिए गुण पाए जाते हैं, जो कि इन सारे रोगों में राहत देती है। इन्फेक्शन से बचने के लिए भी काली मिर्च का प्रयोग किया जाता है।
  • जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि काली मिर्च में कई और गुण होते हैं और उन गुणों में एंटी बैक्टीरियल एंटी ऑक्सीडेंट वाले गुण है, जो कि हमें रोगों के इनपुट रोगों के इंफेक्शन से हमें बचाते हैं। इसीलिए काली मिर्च का प्रयोग इन्फेक्शन से बचने के लिए भी किया जाता है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके मस्तिष्क को ठीक किया जा सकता है। मस्तिष्क में याददाश्त की बीमारी हो जाती है, उन समूह में काली मिर्च काफी फायदा करती है। क्योंकि काली मिर्च में औषधीय गुण जैसे किमेथनॉलिक अर्क और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो कि हमारे मस्तिष्क के लिए काफी फायदेमंद होती है। जिससे कि हमारा याददाश्त मजबूत होता है और हमारे मस्तिष्क में सुचारू रूप से ऊर्जा और खून और ऑक्सीजन पहुंचती है, जिससे कि हमारा मस्तिक सुचारू रूप से और तेजतर्रार हो जाता है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके धूम्रपान जैसी गलत आदतों को भी छुड़ाया जा सकता है। एक शोध के मुताबिक पता चला है कि काली मिर्च का भाप लेने से धूम्रपान करने की जो आदत होती है। उसमें कमी होती है और जो लोग इसके लिए बेचैन होते हैं। धूम्रपान करने के लिए उसमें भी उनको राहत मिलती है।
  • काली मिर्च का उपयोग करके त्वचा संबंधी बीमारियों से भी राहत मिलती है। काली मिर्च में कई औषधीय गुण होते हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जिससे कि चेहरे पर होने वाले कील, मुंहासे,काले धब्बे, झुर्रियां, पिगमेंटेशन इन सभी में काली मिर्च का पाउडर लगाने से काफी राहत मिलती है और यह प्राकृतिक है, जिस वजह से कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होती है।

काली मिर्ची में पाने वाले पोषक तत्व

पोटैशियम, मैग्निशियम, Phosphorus, zinc, कॉपर, मैग्नीज, sodium, vitaminB12, vitaminB2, vitaminA, Multipurpose mineral, fiber and etc.

काली मिर्च का उपयोग

काली मिर्च का उपयोग भारतीय घरों में विभिन्न प्रकार के तरीके से किया जाता है जो कि निम्न है:

  • काली मिर्च का सबसे ज्यादा उपयोग खाने बनाने के लिए सब्जी में रोज होता है। सब्जी में काली मिर्च एक विशेष मसाले के तौर पर उपयोग किया जाता है। जिसे की सब्जी का स्वाद ना केवल स्वादिष्ट बनता है, बल्कि वह पौष्टिक भी होता है शरीर के लिए।
  • किसी प्रकार की सलाद, सैंडविच के ऊपर भी काली मिर्च का पाउडर छिड़ककर उपयोग किया जाता है।
  • काली मिर्च का प्रयोग करके काढ़ा बनाया जाता है।
  • मसाले वाले चाय में भी काली मिर्च का प्रयोग किया जाता है।
  • कुछ लोग काली मिर्च को शहद के साथ चाटते हैं, जिससे कि उसके शरीर में ताजगी आएं।
  • आजकल काली मिर्च का प्रयोग करके Pizza, Fastfood भी बनाया जा रहा है। उसमें भी पौष्टिकता बनाने के लिए काली मिर्च का प्रयोग किया जा रहा है।

काली मिर्च से होने वाले नुकसान

  • काली मिर्च की तासीर गर्म होती है और जो व्यक्ति इसका ज्यादा उपयोग कर लेते हैं। उनके पेट में जलन और एसिडिटी जैसी बीमारी होने लगती है।
  • जो स्त्री गर्भवती हो या स्तनपान करवाती हो उनके लिए काली मिर्च का उपयोग काफी नुकसानदायक साबित होता है। इसीलिए उन्हें काली मिर्च का उपयोग नहीं करनी चाहिए।
  • काली मिर्च का प्रयोग दूर से करें। उन्हें आंखों के संपर्क में ना आने दे। इससे आपकी आंखों में जलन और भी तरह के रोग उत्पन्न हो सकते हैं।
  • ज्यादा काली मिर्च खाने से पेट में अल्सर भी हो सकता है।
  • काली मिर्च का ज्यादा प्रयोग करने से आपके चेहरे पर कील मुंहासे हो सकते हैं क्योंकि काली मिर्च की तासीर गर्म होती है और गर्मी से हमारे चेहरे पर कील मुंहासे होने लगते हैं।
  • काली मिर्च का ज्यादा सेवन करने से साँस संबंधी बीमारी भी उत्पन्न हो सकती है क्योंकि काली मिर्च शरीर के अंदर जाकर साँस प्रभाव को प्रभावित करती है। इसीलिए काली मिर्च का ज्यादा प्रयोग आपके स्वास संबंधी बीमारी उत्पन्न कर सकती है।

निष्कर्ष

काली मिर्च को मसालों की रानी मानी जाती है। काली मिर्च शरीर की शारीरिक समस्या का निवारण भी करती है साथ साथ खाने का स्वाद भी बढ़ाती है। आज के इस आर्टिकल में हमने आपको काली मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी है। आर्टिकल पसंद आये तो उन्हें लाइक और शेयर जरुर करें।

आर्टिकल के सम्बंधित कोई भी सुझाव हो तो हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

यह भी पढ़ें:

रस्सी कूदने के फायदे, सही तरीका, समय और नियम

दही खाने के फायदे और नुकसान

दौड़ने के फायदे और नियम

सकारात्मक सोच कैसे बनाये?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here