आगरा किले का इतिहास और रोचक तथ्य

History of Agra Fort in Hindi: नमस्कार दोस्तों! आज हम सभी लोगों को बताने वाले हैं, आगरा में स्थित बहुत ही शानदार किले के बारे में। आप में से बहुत से लोग ऐसे होंगे, जो आगरा किले का नाम सुनते ही जान गए होंगे, कि हम किस किले की बात कर रहे हैं और आप में से ही कुछ लोग ऐसे होंगे, जो यह सोच रहे होंगे कि हम आगरा किले के रूप में आगरा के ताजमहल की बात कर रहे हैं तो वह बिल्कुल ही गलत है।

प्रसिद्ध किला किला ए अकबरी की बात कर रहे हैं। यह किला उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा में स्थित यमुना नदी के दाहिने किनारे पर बनाया गया है। आगरा किले का स्वरूप बहुत ही विशालकाय है। आगरा किला विश्व के प्रसिद्ध और बहुत ही सुंदर स्वरूप वाले ताजमहल से मात्र 2.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आगरा किला मुगल बादशाहों के द्वारा निर्मित किया गया। सबसे प्रमुख स्मारकों में से एक माना जाता है।

History of Agra Fort in Hindi
Image: History of Agra Fort in Hindi

आज हम आप सभी लोगों को हमारे इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से आगरा किले के भव्य इमारत के विषय में संपूर्ण जानकारी बड़े ही विस्तार पूर्वक से बताने वाले हैं। यदि आप सभी लोग आगरा किले के विषय में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप सभी लोगों के लिए हमारा या लेख बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होने वाला है।

आज आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखे गए इस लेख में जानने को मिलेगा, कि आगरा किले का इतिहास क्या है? आगरा किले के विषय में रोचक तथ्य? आगरा किले को घूमने का सबसे अच्छा समय इत्यादि। चलिए शुरू करते हैं, अपना यह महत्वपूर्ण लेख और जानते हैं, आगरा के लिए के विषय में संपूर्ण जानकारी बड़े विस्तारपूर्वक से।

आगरा के किले का इतिहास और रोचक तथ्य | History of Agra Fort in Hindi

आगरा किले का निर्माण कार्य

आगरा किले का निर्माण मुगल वंश के बहुत ही महान शासक महाराजा अकबर के द्वारा किया गया था। आगरा किले का निर्माण वर्ष 1558 और 1573 ईस्वी के मध्य किया गया। आगरा किले का निर्माण मुगल वंश के शासक अकबर ने यमुना नदी के पश्चिमी तट पर स्थित ताजमहल से मात्र 2.5 किलोमीटर की दूरी पर बनवाया है। ताजमहल का निर्माण अकबर के ही पोते शाहजहां ने सफेद रंग के संगमरमर पत्थर से बनवाया था।

अकबर के द्वारा निर्मित किए गए आगरा किले का अपना एक अलग ही महत्व है। अकबर ने अपनी केंद्रीय स्थिति के महत्व को महसूस करते हुए, आगरा किले को अपनी राजधानी बनाया और 1558 ईस्वी में आगरा पहुंच गए। वर्तमान समय का आगरा किला प्राचीन समय में बादलगढ़ नाम से प्रसिद्ध था, यह किला पूरी तरह से ईटों से बनाया गया था और यह खंडार के रूप में बदल गया था।

इसके बाद महाराजा अकबर ने इस किले का पुनर्निर्माण बहुत ही अच्छे तरीके एवं बेहतरीन नक्काशी के साथ करवाया। अकबर ने आगरा किले का निर्माण राजस्थान के बरौली क्षेत्र के धौलतपुर जिले से लाल बलुआ पत्थर को मंगाकर करवाया।

आगरा किले का इतिहास

आप सभी लोग जानते ही होंगे कि पुराने समय में आगरा कभी दिल्ली की राजधानी हुआ करती थी और आप यह भी जानते होंगे कि सिकंदर लोदी ही दिल्ली का सबसे पहला सुल्तान था। सिकंदर लोदी के द्वारा ही दिल्ली राजधानी को दिल्ली से स्थानांतरित करके आगरा में स्थापित कर दिया गया। इसके बाद सिकंदर लोदी के बेटे इब्राहिम लोदी ने प्राचीन समय के बादल गढ़ किले को अपने कब्जे में कर लिया और यह किला पानीपत की पहली लड़ाई में हारने तक लगभग 9 वर्षों तक के लिए बादलगढ़ नाम से जाना जाता था।

यह किला धीरे-धीरे खंडार के रूप में बदलता गया। पानीपत के पहले युद्ध में बाबर की जीत के बाद बाबर ने अपने बेटे हुमायूं को आगरा भेज दिया तो उन्होंने बादल गढ़ किले पर अपना राज जमा लिया। हालांकि यह किला खंडार के रूप में बदल रहा था, परंतु हुमायूं ने इसे फिर से चहल पहल से भर दिया। बादल गढ़ किले में हुमायूं ने एक विशाल खजाना जप्त कर लिया और इस खजाने में बेशकीमती कोहिनूर हीरा भी शामिल था।

इन सभी के बाद वर्ष 1530 ईसवी में बाबर ने अपने बेटे हुमायूं का राज्याभिषेक कर दिया। हुमायूं के राज्याभिषेक के कुछ वर्षों बाद शेरशाह सूरी के द्वारा हुमायूं को हरा दिया गया, इसके बाद हुमायूं अर्थात मुगलों ने एक बार फिर से अपने इस किले को खो दिया। इस युद्ध के बाद वर्ष 1558 ईस्वी में हुमायूं के बेटे महान जलालुद्दीन अकबर ने आगरा जाने का निश्चय किया। आगरा जाने के बाद उन्होंने इस शहर के महत्व को महसूस किया और आगरा को अपनी राजधानी घोषित कर दिया।

महान जलालुद्दीन अकबर ने बाद में फिर से बादल गढ़ किले के बचे हुए अवशेषों को फिर से जीत कर हासिल कर लिया और इसका निर्माण इन्होंने लाल बलुआ पत्थर से करवाया। अकबर ने राजस्थान से लाल बलुआ पत्थर मंगवाया और लगभग 4000 बिल्डरों की मदद से इस किले का पुनर्निर्माण करवाया। यह विशाल किला मात्र 8 वर्षों की अवधि में ही बनकर तैयार हो गया। यह किला पूर्ण रूप से वर्ष 1573 ईसवी में पूरा हो गया।

इसके बाद महान जलालुद्दीन अकबर के पोते शाहजहां ने इसके लिए पर अपना अधिकार कर लिया और अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद इसने आगरा में ही ताजमहल का निर्माण करवा दिया। शाहजहां प्रतिदिन निश्चित रूप से आगरा किले में स्थित मुसम्मन बुर्ज से ताजमहल को देखा करते थे और अपनी पत्नी को याद करते थे। शाहजहां के बाद इस के बेटे औरंगजेब ने मुसम्मन बुर्ज को पूरी तरह से नजरबंद कर दिया और वहां पर किसी को भी आने जाने से रोक लगा दी गई।

देश के सबसे महान शासक मराठा साम्राज्य ने 18वीं शताब्दी में शुरुआती समय में ही आगरा किले पर आक्रमण कर दिया और आगरा के किले पर अपना स्वामित्व जमा लिया। इन सभी के बाद महादजी शिंदे ने वर्ष 1750 ईस्वी में आगरा के किले को पीछे छोड़ दिया और 18 से 3 ईसवी में द्वितीय एंगलो मराठा युद्ध के तहत मराठा ने अपने शासनकाल को पूरी दुनिया में तब तक कायम रखा जब तक भारत में अंग्रेजों का आक्रमण न हुआ, अंग्रेजों के आक्रमण के समय सभी मराठा ने भारत के अलग-अलग क्षेत्रों पर अपना एकाधिकार जमा लिया।

आगरा किले की शानदार नक्काशी संरचना

आगरा में स्थित आगरा किला लगभग 3 किलोमीटर तक के दायरे में फैला हुआ है। आगरा किले की सभी दीवारें लगभग 70 फीट ऊंची हैं, अतः यह किला 70 फीट ऊंची दीवारों से घिरा हुआ है। इन दीवारों का निर्माण राजस्थान से लाए गए लाल बलुआ पत्थर से किया गया है और वे सभी दिशाओं से किले की पूरी तरह से गहरे बनाए हुए हैं, अतः चारों दिशाओं से मुख्य द्वार लगाए गए हैं। इनमें से एक द्वार खिजरी गेट के नाम से जाना जाता है, जो कि यमुना नदी के सामने की तरफ खुलता है।

वर्तमान समय में आगरा किले में लगभग 24 से भी अधिक स्मारक मौजूद है। महान जलालुद्दीन अकबर के इतिहासकार अब्दुल फजल के कहने के अनुसार बंगाली के साथ-साथ यहां पर गुजराती शैली में ही लगभग 5000 इमारतें बनाई गए हैं, परंतु वर्तमान समय में यह सभी इमारतें यहां से तोड़फोड़ एवं युद्ध के दौरान नष्ट की जा चुकी हैं और गायब है। महान जलालुद्दीन अकबर ने अपने शासनकाल के दौरान ही लगभग 5000 संरचनाएं निर्मित की थी। उनमें से ज्यादातर संरचनाएं ब्रिटिश औपनिवेशिक शासकों के द्वारा नष्ट कर दिया गया।

शाहजहां के शासनकाल के दौरान एक बार फिर से आगरा किले का स्वरूप बदला गया था और शाहजहां ने आगरा किले के महलों में ही संगमरमर का उपयोग करके बहुत ही सुंदर ताजमहल बनवाया। शाहजहां ने यह ताजमहल अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया। शाहजहां ने अपने अंतिम दिनों में मौसम मजबूर जीके ऊपर बिताए गए समय को महल के खास हिस्सों में से एक माना गया। शाहजहां अपने जीवन का के अंतिम पलों को ज्यादातर मुसम्मन बुर्ज के ऊपर ही बिताया करते थे। बाद में शाहजहां की मृत्यु हो गई और इनकी मृत्यु के बाद मौसम मजबूरी को पूरी तरह से नजरबंद कर दिया गया।

आगरा में निर्मित किए गए आगरा किले ने अकबर महान के पोते शाहजहां की मृत्यु के बाद अपना आकर्षण खो दिया और बचे हुए खंडहरों में से केवल दिल्ली गेट, अकबरी गेट, बंगाली महल ही वर्तमान समय में अस्तित्व बनाए हुए हैं। शाहजहां के बेटे औरंगजेब ने काफी मशक्कत के बाद भी आगरा किले का अस्तित्व नहीं बनाए रख सका और बाद में इसका आकर्षण पूरी तरह से नष्ट हो गया।

इन सभी के बाद जब अंग्रेजों ने आगरा किले पर अपना स्वामित्व संभालना शुरू किया, तो किले में बहुत से परिवर्तन किए गए अंग्रेजों ने राजनीतिक कारणों का हवाला देते हुए ऐतिहासिक महत्व के साथ कई संरचना और संपादन ओं को नष्ट कर दिया। अंग्रेजों ने अपनाया क्रियान्वयन राजनीतिक हलावा के साथ-साथ बैरक को बढ़ावा देने के लिए किया। अंग्रेजो के द्वारा जो संरचनाएं अधिक समय तक जीवित रहने में कामयाब रही, वह वर्तमान समय में भी मुगल वास्तुकला की वास्तविक जटिलता और कारीगरी के प्रदर्शन को व्यक्त करती हैं।

आगरा किले के अंदर आप सभी लोगों को मुगल वास्तुकला के बेहतरीन उदाहरण देखने को मिल जाएंगे। मुगल वास्तुकला के बेहतरीन उदाहरण दिल्ली गेट अमर, सिंह गेट और बंगाली महल मुख्य है। मुगल वास्तुकला किए संरचनाएं ना केवल मुगल वास्तुकला का प्रतिनिधित्व करती हैं, बल्कि इसके साथ साथ महान अकबर के संबंध में अकबरी वस्तु कला के भी बेहतरीन उदाहरण को प्रदर्शित करती हैं, इन सभी वस्तु कला को इंडो इस्लामिक वस्तु कला के रूप में भी संपूर्ण विश्व भर में एक अलग ख्याति प्राप्त है।

Reed also

आगरा किले के भीतर मौजूद प्रसिद्ध इमारतें

आगरा किले में बहुत से ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक महल कई महत्वपूर्ण संरचनाओं को स्वयं में निहित करके विद्यमान हैं। अब हम आप सभी लोगों को मुख्य रूप से कुछ प्रसिद्ध इमारतों के बारे में बताने जा रहे हैं।

  1. खास महल: आगरा किले की सबसे महत्वपूर्ण संरचना खास महल है। खास महल का निर्माण मुगल वंश के सम्राट के विश्राम कक्ष के रूप में किया गया था। खास महल की सबसे अनोखी विशेषता यह की संगमरमर के पत्थर पर एक खूबसूरत पेंटिंग बनाई गई है और इसी पेंटिंग के कारण ही इस महल को खास महल कहा जाता है।
  2. जहांगीर महल: आगरा किले में जब आप अमर सिंह द्वार से प्रवेश करेंगे, तो जो भी आपको सबसे पहला महल नजर आएगा, वही जहांगीर महल होगा। जहांगीर अकबर महान का बेटा था। जहांगीर महल का निर्माण उसकी पसंदीदा रानी जोधा बाई के कक्ष से किया गया था।
  3. शाहजहां मुसम्मन बुर्ज: आप सभी लोगों को खास महल के सिख बाएं तरफ की ओर मुसम्मन बुर्ज देखने को मिल जाएगा, इस ब्रिज का निर्माण शाहजहां ने करवाया था। मुसम्मन बुर्ज का आकार स्टकोरिअर टावर में खुले मंडप की तरह है, यहां पर शाहजहां प्रतिदिन खुली हवा में बैठकर ताजमहल को देखा करते थे। शाहजहां ने अपने जीवन का अंतिम पल मुसम्मन बुर्ज पर ही गुजारा था।
  4. दीवान ए आम और दीवान ए खास: आप सभी लोगों को आगरा किले में दीवान ए आम और दीवान ए खास हॉल देखने को मिल जाएगा। दीवान ए आम हॉल वह हाल है, जहां पर आम जनता घूमने के लिए एवं इसका सौंदर्य देखने के लिए जाती है। दीवान ए खास वह हाल है, जहां पर वहां के निजी लोग विश्राम करते हैं।

किस मौसम में घूमने के लिए जाएं आगरा किला?

आगरा किला घूमने का सबसे अच्छा मौसम ठंडी का मौसम होता है। यदि आप आगरा किला घूमने के लिए गर्मी के मौसम का चुनाव करते हैं, तो आप वहां पर 1 दिन भी अच्छे से नहीं गुजार पाएंगे, क्योंकि वहां पर काफी ज्यादा गर्मी पड़ती है। आप सभी लोगों को यदि आगरा किला घूमने जाना है, तो हमारी यही सलाह होगी कि आप आगरा किला घूमने के लिए ठंडी के मौसम का ही चयन करें ना कि गर्मी के मौसम का।

आगरा किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

आगरा का किला प्रतिदिन सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुला रहता है। आप सभी लोग आगरा किला से ही ताजमहल को भी देख सकते हैं।

आगरा किले में प्रवेश हेतु लगेंगे कुछ आवश्यक चीजें

यदि आप सभी लोग आगरा किला में प्रवेश लेना चाहते हैं, तो आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होगा। आप सभी लोगों को आगरा के लिए में प्रवेश लेने के लिए कुछ पात्रता ओं का ध्यान रखना पड़ेगा जिनका विवरण नीचे इस प्रकार से है।

  • यदि आप सभी पर्यटक किले के अंदर शोर मचाते हैं तो आपको तुरंत किले से बाहर निकाल दिया जाएगा।
  • आप सभी लोगों को किले के अंदर बड़े-बड़े बैग और किताबें ले जाने की आज्ञा नहीं है।
  • किले में जाने के लिए आपको आप का पहचान पत्र अपने साथ अवश्य ले जाना पड़ेगा, इसी पहचान पत्र के माध्यम से आपको किले में प्रवेश दिया जाएगा।
  • आगरा किले में प्रवेश हेतु आप सभी लोगों को शराब, तंबाकू, खाद्य पदार्थ, हेडफोन, चाकू, मोबाइल चार्जर, इलेक्ट्रॉनिक सामान इत्यादि ले जाना निवेश माना जाता है।
  • यदि आप सभी लोग फोटोग्राफी के शौकीन हैं, तो आपको कैमरा ले जाना चाहिए इस किले में कैमरे को ले जाने में किसी भी प्रकार का कोई रोक नहीं है।
  • यदि आप किले के अंदर अपना स्मार्टफोन लेकर जाते हैं तो किले के अंदर आप जब तक रहेंगे, तब तक आपके फोन का सिग्नल नहीं मिलेगा, अतः आप किसी से भी संपर्क नहीं कर पाएंगे, आप केवल अपने फोन का उपयोग करके फोटोग्राफी ही कर सकते हैं।

आगरा किले तक कैसे पहुंचा जाए?

आगरा किले तक जाने के लिए आप सभी लोगों को बहुत से रास्ते मिल जाएंगे जिनके माध्यम से आप बड़ी ही आसानी से आगरा के लिए तक पहुंच जाएंगे;

  1. सड़क मार्ग: आप सभी लोग अपने स्थानीय राजमार्ग जैसे कि दिल्ली, वाराणसी, जयपुर, ग्वालियर इत्यादि के माध्यम से आगरा किले तक बड़ी ही आसानी से पहुंच जाएंगे। आप सभी लोगों को आगरा के लिए तक सड़क मार्ग का उपयोग करके पहुंचने के लिए जीपीआरएस सिस्टम का भी उपयोग कर सकते हैं।
  2. रेल मार्ग: बहुत से शहरों से आगरा जाने के लिए एक्सप्रेस ट्रेन आती जाती रहती है, आप इसमें से किसी भी रेलवे ट्रेन में अपना टिकट बुक करके बड़ी ही आसानी से आगरा रेलवे स्टेशन तक पहुंच सकते हैं। आगरा रेलवे स्टेशन से आप कैब करके आगरा किले तक बड़ी ही आसानी से पहुंच जाएंगे।
  3. हवाई मार्ग: यदि आप सभी लोग चाहे तो आगरा हवाई मार्ग का उपयोग करके भी जा सकते हैं, आप सभी लोग आगरा के पंडित दीनदयाल उपाध्याय एयरपोर्ट पर अपने फ्लाइट के साथ लैंड होंगे और यहां से कब्जा ऑटो रिक्शा करके आगरा किले तक पहुंच जाएंगे।  आगरा का पंडित दीनदयाल उपाध्याय एयरपोर्ट भारत के प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता इत्यादि से जुड़ा हुआ है, आप यहां से बड़ी आसानी से आगरा के लिए तक पहुंच सकते हैं।

आगरा किले के विषय में रोचक तथ्य

  • प्राचीन समय में महान जलालुद्दीन अकबर ने आगरा किले को मूल रूप से अपनी सैन्य रक्षा के लिए बनवाया था।
  • आगरा किले के निर्माण में मात्र 8 वर्ष का समय ही लगा है और आगरा किले का निर्माण करने में लगभग 14,44,000 कारीगर उपयोग में लाए गए थे।
  • शाहजहां के द्वारा आगरा किले में नगीना मस्जिद निर्मित किया गया है, यह एक छोटी सी मस्जिद है। राजेश में में महिलाओं को घरों से बाहर जाने के लिए रोक था, इसलिए आगरा किले में ही मुख्य रूप से महिलाओं के लिए इस मस्जिद का निर्माण किया गया।
  • अंग्रेजो के द्वारा किए गए सैन्य अभियानों के लिए आगरा किले का उपयोग किया था। वास्तविकता तो यह है, कि इसके विपरीत तरफ वह अपना एक जनरल मकबरा बनाना चाहते थे और आप सभी लोगों को ब्रिटिश जनरल का एक मकबरा भी देखने को मिलेगा।
  • प्राचीन इतिहास के अनुसार किले की दीवारें एक महलानुमा शहर में तब्दील हो गई है।

निष्कर्ष

हम आप सभी लोगों से उम्मीद करते हैं, कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख “आगरा के किले का इतिहास और रोचक तथ्य (History of Agra Fort in Hindi)” अवश्य ही पसंद आया होगा। यदि आप सभी लोगों को हमारा यह लेख पसंद आया हो, तो कृपया हमारे द्वारा लिखे गए इस लेख को अवश्य शेयर करें। यदि आपके मन में इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार का कोई सवाल है, तो कृपया कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

Reed also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here