साक्षरता का महत्व पर निबंध

Essay on Saksharta ka Mahatva in Hindi:हम यहां पर साक्षरता का महत्व पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में साक्षरता का महत्व के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay-on-Saksharta-ka-Mahatva-in-Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

साक्षरता का महत्व पर निबंध | Essay on Saksharta ka Mahatva in Hindi

साक्षरता का महत्व पर निबंध (250 शब्द)

अगर हमें समाज में बसे  जीवन को समझना है, तो हमें साक्षरता का महत्व भी समझना होगा। वर्तमान समय में दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए साक्षर होना बेहद आवश्यक है। साक्षरता हर उस व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है, जिनकी आकांक्षा जीवन से कुछ ज्यादा है। क्योंकि पढ़ा लिखा इंसान ही खुद को और समाज की सोच को बदल सकता है। साक्षरता विकास की आधारशिला है। यह बेहतर स्वास्थ्य, बेहतर रोजगार के अवसर, सुरक्षित और अधिक स्थिर समाज की ओर ले जाता है।

भारत में राष्ट्रीय साक्षरता मिशन के अनुसार साक्षरता का शाब्दिक अर्थ यह होता है की कोई व्यक्ति अपना नाम लिखने के और पढ़ने के काबिल हो जाये तो उसे साक्षर माना जाता है।

साक्षर व्यक्ति खुद के बौद्धिक विकास के साथ साथ सामाजिक और आर्थिक विकास में भी अपना योगदान देता है। केवल साक्षर व्यक्ति एक सभ्य समाज का निर्माण कर सकता है। वो समाज में फैली हुई बुराइयों से दूर रहना ही पसंद करता है।

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में साक्षरता की दर 74.04% प्रतिशत है। हमारे देश की ज्यादातर प्रजा निरक्षर होने के कारण अन्याय और अंधविश्वास के जल्दी शिकार हो जाते है। देश में साक्षरता को जागृत करने के लिए सरकार ने  14 साल से कम उम्र के बच्चों का स्कूल जाना अनिवार्य किया गया है। साथ साथ साक्षरता के प्रसार प्रचार के लिए अनेक योजनाएं भी शुरू की है।

हमारा देश लोकशाही देश है, जो प्रजा के निर्णय पर निर्भर है। यदि देश प्रजा ही अनपढ़ होगी,  तो देश के लिए वो गलत नेता भी चुन सकती है। जो देश को बर्बादी के रास्ते पर ले जा सकता है।

साक्षरता का महत्व पर निबंध (800 शब्द)

प्रस्तावना

जीवन विकास के लिए साक्षर होना बेहद जरुरी है। साक्षरता हमारी इच्छाओं और आकांक्षाओं आसमान की और ले जाती है। साक्षरता हमारी उसकी सोच की सीमा विस्तृत  करती है। वर्तमान समय गतिशील जीवन और टेक्नोलॉजी से भरपूर हो गया है।  इस समय में दुनिया के साथ कदम मिलाकर चलने के लिए  हर व्यक्ति का साक्षर होना बेहद जरुरी है। साक्षरता सभी देश की  मूल आवश्यकता है। प्रगति के पथ पर अग्रसर तभी रहा जा सकता है जब व्यक्ति साक्षर हो। डायर कहते हैं, “साक्षरता जीवन के सभी क्षेत्रों में व्याप्त है”।

सूचित निर्णय लेने, व्यक्तिगत सशक्तिकरण और सामुदायिक जुड़ाव के लिए हर व्यक्ति का साक्षर होना आवश्यक है।किसी देश की आत्म-छवि हमेशा उसकी कुल आबादी की मात्रा, गुणवत्ता और शिक्षा की सीमा पर आधारित होती है। यह आर्थिक और सामाजिक प्रगति का भी सूचक है। साक्षरता विकास का एक महत्वपूर्ण संकेतक है। यह विकास और सतत प्रगति के लिए आवश्यक सूचना के प्रसार और विश्लेषण को सक्षम बनाता है।

साक्षरता का अर्थ

साक्षरता का शाब्दिक अर्थ है व्यक्ति का पढ़ने और लिखने में सक्षम  होना। वर्तमान घटनाओं के साथ तालमेल बिठाने में सक्षम होना।प्रभावी ढंग से संवाद करना और उन मुद्दों को समझना जो हमारी दुनिया और जीवन कोआकार दे रहे हैं। अगर कोई भी व्यक्ति अपना नाम खुद से पढ़ और लिख सकता है तो वह व्यक्ति साक्षर कहलाता है।

मनुष्य जानवरों से अलग है क्योंकि वह पढ़, लिख और बोल सकता है। अगर हम ऐसा करने में असमर्थ हैं तो हम जानवरों से अलग नहीं हैं।

साक्षरता का महत्व

साक्षरता हमारी मुक्त सोच को जन्म देती है। साक्षरता कौशल के बिना लोग अपने बच्चों की मदद नहीं कर सकते हैं। साक्षरता आर्थिक विकास के साथ-साथ व्यक्तिगत और सामुदायिक कल्याण के लिए महत्वपूर्ण है। शिक्षार्थियों के पास उच्च साक्षरता स्तर होने पर हमारी अर्थव्यवस्था को बढ़ाया जाता है।

साक्षर बनने से आर्थिक अवसरों में काफी सुधार होता है। आत्म-सम्मान और सशक्तिकरण बढ़ता है। स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए औसत दर्जे का लाभ मिलता है और किसी के संबंधों और नागरिक जुड़ाव को मजबूत करता है। साक्षर माता-पिता स्कूल और जीवन में बच्चे की सफलता की कुंजी हैं।

एक व्यक्ति की सफलता में सामाजिक साक्षरता बहुत महत्वपूर्ण है। विचारों और विचारों को संप्रेषित करने और आवाज देने की क्षमता के साथ-साथ दूसरों के विचारों को सुनना सीखने में आवश्यक है। साक्षरता को सामाजिक संकेतों और मानदंडों को दृढ़ता से समझना बेहद फायदेमंद है।

निरक्षरता एक बड़ी समस्या है क्योंकि पढ़ने के ज्ञान के बिना निरक्षर लोग दैनिक जीवन में दैनिक कार्यों और जिम्मेदारियों को नहीं निभा सकते हैं।

साक्षर होने के फायदे

भारत में साक्षरता शक्ति का एक महत्वपूर्ण उपकरण है। जो महिलाएं साक्षर हैं, वे साक्षर बच्चों की एक पीढ़ी पैदा कर सकती हैं। यह पीढ़ी देश के कुशल कार्यबल को जोड़ेगी और भारत की पहचान दुनिया के विकासशील देशों में होगी।

कौशल और साक्षरता के साथ, प्रतिभा और क्षमता वाले लोगों के लिए नौकरी के बाजार में और भी कई अवसर होंगे। इससे जीवन स्तर में वृद्धि होगी और प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होगी।

साक्षरता में वृद्धि का अर्थ वैज्ञानिक और तकनीकी विकास में वृद्धि भी होगा, क्योंकि साक्षरता उच्च और बेहतर शिक्षा की इच्छा जगाती है और इसके परिणामस्वरूप आविष्कार और खोजें हो सकती हैं। साक्षरता अंधविश्वास को दूर करती है और गलत रास्ते पर पत्थर बनकर खड़ी रहती है।

साक्षरता के लिए सरकार के प्रयास

भारत में साक्षरता प्राप्त करने के कई तरीके हैं। सरकार ने संपूर्ण साक्षरता मिशन या सर्व शिक्षा अभियान शुरू किया है जिसके तहत कई नए स्कूल बनाए गए हैं और कई मौजूदा स्कूलों को अपडेट किया गया है। इसके अलावा, सरकार ने अधिकतम साक्षरता की उपलब्धि के लिए सहयोग करने के लिए उद्योग और गैर सरकारी संगठनों के साथ सार्वजनिक-निजी भागीदारी में प्रवेश किया है।

प्रौढ़ शिक्षा और विस्तार शिक्षा के साथ-साथ स्कूल छोड़ने वालों के लिए उनके साथियों के स्तर पर लाने के लिए विशेष सहायता अध्ययन के लिए कई कार्यक्रम हैं। सरकार के प्रयास से भारत में साक्षरता दर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। यह एक ऐसा प्रयास है जिसे सभी को मिलकर करना चाहिए। यदि आप शिक्षित हैं और आपके पास पैसा है तो आप एक बच्चे की शिक्षा को प्रायोजित कर सकते हैं

निष्कर्ष

साक्षरता एक ऐसा कौशल है, जो हम अपनी आने वाली पीढ़ी को विरासत में दे सकते है। साक्षरता हर उस व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण जो एक मजबूत समाज की रचना करना चाहता हो। निरक्षता एक ऐसा खतरा है जिससे लोगों को अवगत होना चाहिए।

इसलिए समाज के प्रत्येक व्यक्ति को साक्षर बनने का प्रयास करना चाहिए। यदि कम उम्र में यह संभव नहीं था, तो एक बड़ा व्यक्ति अपने जीवन के उन्नत चरण में पढ़ना और लिखना सीख सकता है। साक्षरता उन्हें विभिन्न विषयों में सामान्य ज्ञान प्राप्त करने में भी मदद करेगी, जो उन्हें “पूर्ण व्यक्ति” बना देगा।

अंतिम शब्द

हमने यहां पर “साक्षरता का महत्व पर निबंध( Essay on Saksharta ka Mahatva in Hindi)” शेयर किया है। उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

बेरोजगारी की समस्या पर निबंध

शिक्षा पर निबंध

इंटरनेट के फायदे और नुकसान पर निबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here