गुलाब के फूल पर निबंध

Essay On Rose Flower In Hindi: गुलाब के फूल के बारे में आप और हम सब जानते है। यहाँ पर गुलाब के फूल पर निबंध शेयर कर रहे हैं। इस निबन्ध में गुलाब के फूल के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी गई है।

Essay On Rose Flower In Hindi
Essay On Rose Flower In Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

गुलाब के फूल पर निबंध | Essay On Rose Flower In Hindi

गुलाब के फूल पर निबंध (250 शब्द)

गुलाब के फूल के बारे में तो हर किसी ने सुना ही होगा, अधिकतर लोगों का पसंदीदा फूल गुलाब का फूल ही होता है। हमारे आसपास अनेक प्रकार के फूल पाए जाते हैं, लेकिन फिर भी लोगों को अधिकतर गुलाब ही पसंद आता है। अगर किसी को प्रेम का इजहार करना हो, तो वह गुलाब के जरिए ही अपने प्यार का इजहार करता है। गुलाब के फूल को बहुत ही शुभ माना जाता है।

गुलाब का फूल केवल 1 रंग का ही नहीं होता है, बल्कि अनेक रंगों का होता है। जैसे लाल, नीला, पीला, सफेद, जामुन, गुलाबी, इत्यादि गुलाब का फूल बहुत ही आकर्षित होता है। वह किसी को भी अपनी तरफ बहुत ही जल्दी आकर्षित कर लेता है। गुलाब के फूल की खुशबू बहुत ही अच्छी होती हैं। गुलाब के फूल की जिस प्रकार रचना होती है, वह बहुत ही सुंदर दिखाई देती है, इसीलिए गुलाब का फूल देखने में इतना आकर्षित होता है।

गुलाब के फूल का पौधा बहुत ही छोटा होता है। इस पौधे में कांटे भी होते हैं, इसके पौधे का आकार इतना छोटा होता है कि इसको हम आराम से घरों में भी लगा सकते हैं। इस पौधे में पूरे वर्ष भर फूल रहते हैं।

गुलाब के फूल खाली सजावट के लिए ही नहीं होते हैं, बल्कि इसका प्रयोग कई औषधियां बनाने में भी किया जाता है। अगर आंख में जलन हो जाती है तो गुलाब जल का प्रयोग किया जाता है, जो कि गुलाब के फूल से बनाया जाता है। इसका प्रयोग करने से जलन दूर हो जाती है, और आंखों को ठंडक मिलती है।

गुलाब के फूल की पत्तियों का शरबत भी मनाया जाता है, जिसे ठंडे के रूप में प्रयोग किया जाता है। गुलाब का फूल बहुत ही लाभदायक और उपयोगी होता है।

गुलाब के फूल पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

गुलाब का फूल देखने में बहुत ही सुंदर और आकर्षित होता है। इस पुल को सभी लोग अक्सर पसंद करते हैं। यह लोगों को बहुत ही आकर्षित लगता है। फूलों की प्रजाति को विश्व भर में सबसे सुंदर माना जाता है। इस फूल की पूरे विश्व भर में कम से कम 100 प्रजातियां पाई जाती हैं।

गुलाब दिवस कब मनाया जाता है?

हर साल 12 फरवरी को गुलाब दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह फूल अपनी सुंदरता और अपनी कोमलता के लिए सबसे अधिक प्रसिद्ध है। इसीलिए लोग इसे अपने घरों में भी इसका पौधा लगाते हैं और यह बहुत ही महक दार होता है।

गुलाब के फूल के कितने रंग होते हैं?

गुलाब का फूल केवल एक ही रंग में नहीं पाया जाता है। यह फूल अनेक रंगों का होता है। जैसे लाल गुलाब, सफेद गुलाब, गुलाबी गुलाब, पीला गुलाब, काला गुलाब, बैंगनी गुलाब, और भी कई तरह के रंगों में पाया जाता है। इन फूलों का प्रयोग शादी, पूजा इत्यादि में साज सजावट के लिए किया जाता है।

गुलाब के फूल के लाभ

गुलाब के फूल के कई प्रकार के लाभ होते हैं जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • गुलाब के फूल का सेंट बनाया जाता है।
  • गुलाब के फूलों के द्वारा शरबत बनाया जाता है, जो कि ठंडे के रूप में प्रयोग किया जाता है।
  • आंख में जलन होने से आंखों में गुलाब जल का प्रयोग किया जाता है, इससे जलन दूर हो जाती है।
  • गुलाब के फूल से कई प्रकार की औषधियां भी बनाई जाती हैं, इन औषधियों से घातक बीमारियों का इलाज किया जाता है।
  • गुलाब के फूल की पत्तियों को पीसकर चेहरे पर लगाया जाता है, जिसकी वजह से चेहरे पर चमक आती है।
  • गुलाब के फूल की पंखुड़ियों से गुलकंद भी बनाया जाता है।

गुलाब के फूल को माना जाता है प्रेम का प्रतीक

गुलाब के फूल को प्रेम का प्रतीक भी माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस फूल को देकर प्रेमी अपने प्रेम का इजहार करता है। सफेद गुलाब का फूल शांति का प्रतीक माना जाता है। पीला गुलाब का फूल दोस्ती के लिए माना जाता है, जबकि लाल गुलाब प्रेम का प्रतीक माना जाता है।

इसके अलावा ऑरेंज फूल को उत्साह के लिए माना जाता है। किसी खास व्यक्ति को स्पेशल फील कराने के लिए गुलाबी फूल दिया जाता है। इन फूलों को अलग-अलग तरह से प्रयोग में लिया जाता है।

गुलाब की खासियत क्या होती है?

गुलाब का फूल अपने आप में ही बहुत खास माना जाता है, क्योंकि यह बहुत ही खुशबूदार और बहुत ही सुंदर तरीके का होता है। इसकी संरचना बहुत ही सुंदर तरीके से होती है। यह हल्का सा खुशबूदार होता है। गुलाब का पौधा कांटेदार होता है। इतने कांटे होने के बाद भी इस का फूल बहुत ही सुंदर होता है।

गुलाब के फूल 12 महीने तक रहते हैं। यह हर मौसम में उगाई जा सकते हैं। परंतु मार्च और अप्रैल में फूलों का महीना होता है। इस समय इसकी सुगंध अधिक होती है।

गुलाब के फूल की प्रजातियां

गुलाब के फूल की अनेक प्रजातियां पाई जाती हैं। यह ज्यादातर पर्वत श्रृंखला में पाई जाती हैं। जहां पर उचित होते हैं, वहां पर अधिकतर गुलाब के फूल देखने को मिलते हैं। गुलाब के फूल की खेती मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, राजस्थान, अलीगढ़ और तमिलनाडु में होती हैं।

इसके अलावा पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और भी कई जगहों पर गुलाब के फूल की खेती की जाती है। इसके पौधे की ऊंचाई लगभग 4 से 6 सीट होती है। सबसे अधिक गुलाबी रंग का गुलाब पाया जाता है और यह पौधा कांटेदार होता है।

गुलाब कितने प्रकार के होते हैं?

मुख्य रूप से गुलाब दो प्रकार के होते हैं:

  • सादा गुलाम: यह गुलाब अक्सर सभी मौसम में पाया जाता है।
  • चेती गुलाब: इस गुलाब की खासियत यह है कि यह केवल वसंत ऋतु में पाया जाता है। इस गुलाब में एक अलग ही खुशबू होती हैं।

इस फूल से हमें क्या शिक्षा मिलती है?

इस पुल से हमें सबसे अच्छी शिक्षा यही मिलती है कि जिस तरह से गुलाब के पौधे के ऊपर कांटे होते हैं, लेकिन वह फिर भी सभी को अपनी और आकर्षित करता है। उसकी महक सभी को पसंद आती है। इसके बावजूद भी वह हमेशा अकेला रहता है, मुस्कुराता रहता है और अपना बलिदान देकर दूसरों को खुश रखता है। परंतु उसी प्रकार हम लोग थोड़े से दुख तकलीफ होने पर उदास हो जाते हैं और घबरा जाते हैं और यही कहते हैं कि यह काम तो हम से नहीं हो पाएगा।

लेकिन गुलाब के फूल से सबसे बड़ी शिक्षा यही मिलती है कि वह कांटो में भी रहकर हमेशा खुला रहता है और मुस्कुराता रहता है। इसी तरह से हमें भी अपने दुख तकलीफों को अपने ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए और हमेशा अपनी समस्याओं का डटकर सामना करना चाहिए, जिससे हमारा जीवन बहुत ही आसान हो जाएगा।

निष्कर्ष

जिस तरह से गुलाब का फूल बहुत ही सुंदर होता है। इतने कांटे होने के बावजूद भी उसी तरह से हमें अपने जीवन को भी अच्छी तरीके से जीना चाहिए। चाहे हमारे जीवन में कितनी भी दुख और परेशानी क्यों ना हो हमें हमेशा मुस्कुरा कर अपनी परेशानियों का सामना करना चाहिए।

गुलाब के फूल में विटामिन सी की मात्रा बहुत अधिक पाई जाती है। इससे पेट दर्द, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज किया जाता है। गुलाब का फूल चेहरे के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। गुलाब का फूल बहुत ही आकर्षित होता है। जिसकी वजह से लोगों को वह अपनी और आकर्षित करता है और वह खुद कांटों में रहकर दूसरों को प्रेम प्यार मुस्कुराहट देता रहता है।

अंतिम शब्द

हमें उम्मीद है कि आपको यह “गुलाब के फूल पर निबंध (Essay On Rose Flower In Hindi)” पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको निबंध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here