पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध

Essay On Trees Our Best Friend In Hindi:हम यहां पर पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में पेड़ हमारे सच्चे मित्र के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay-On-Trees-Our-Best-Friend-In-Hindi-

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध | Essay On Trees Our Best Friend In Hindi

पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध (250 शब्द)

हमारे पर्यावरण में मौजूद सभी वृक्ष और पेड़ पौधे किसी न किसी रूप में हमारे काम ही आते हैं। जैसे एक सच्चा मित्र हमारे जीवन को सरल बनाता है, वैसे ही पेड़ पौधे वृक्ष भी हमारे जीवन को आसान बनाते हैं। कोई भी पौधा या पेड़ वृक्ष किसी न किसी रूप में हमारे काम आते ही हैं। वृक्ष ऑक्सीजन तो देते ही हैं, जिससे हम जीवित रहते हैं इसके अलावा वर्षा करवाने में भी उनका बहुत सहयोग है। आपने देखा होगा कि जिन इलाकों में पेड़ पौधे कम है, वहां वर्षा कम होती है और जिन इलाकों में पेड़ पौधे अधिक है, वहां वर्षा अधिक होती है।

इसके अलावा भी पेड़ पौधे बहुत प्रकार के होते हैं। कुछ पौधे ऐसे होते हैं, जो छायादार नहीं होते लेकिन उन्हें फल लगते है। कुछ पौधे ऐसे होते हैं, जिनमें फल नहीं लगते लेकिन औषधीय गुण के होते हैं। प्राकृतिक में मौजूद सभी पेड़ पौधे किसी ना किसी प्रकार से हमारे जीवन का हिस्सा हैं और हमारे जी जीवन के किसी ना किसी भाग में काम आते ही हैं।

चाहे वो जीवन से लेकर मृत्यु ही क्यों ना हो यही वजह रही है कि हमारे बड़े बुजुर्ग हमें पेड़ों की पूजा करने के लिए कहते थे, जैसे पीपल का पेड़, बरगद का पेड़ और नीम का पेड़ क्योंकि है पौधे प्राकृतिक में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन उत्सर्जित करने का कार्य करते हैं। इसके अलावा कुछ और श्रद्धेय पौधे जैसे तुलसी इसकी भी पूजा हमारे बड़े बुजुर्ग करते थे और आज भी होती है। प्राकृतिक में मौजूद ऐसा कोई भी पेड़ पौधा या वृक्ष नहीं है, जिसका किसी न किसी रूप में उपयोग होता हो या मानव जीवन में काम ना आता हो।

पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध (800 शब्द)

प्रस्तावना

पेड़-पौधे का हमारे जीवन मे बहुत अधिक महत्व होता है, क्योंकि पेड़-पौधे हमारे लिए बिना किसी स्वार्थ के बहुत चीजें हमें प्रदान करते हैं। इसीलिए प्रत्येक मनुष्य जीवन में पेड़-पौधों का होना बहुत जरूरी है। पेड़ हर मनुष्य के जीवन का हिस्सा होते हैं, क्योंकि पेड़-पौधों के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है। पेड़-पौधे हमारे सच्चे मित्र की तरह हमारे जीवन की रेख-देख करते हैं, इसीलिए पेड़ पौधों को मनुष्य का सच्चा मित्र माना गया है।

पेड़ हमारी कई तरह की सहायता भी करते हैं, बिना हमसे कुछ मांगे, इसलिए हमारा भी कर्तव्य है, कि हम भी इसके बदले पेड़ – पौधे की देख भाल करे और उनको पानी दे, ताकि पेड़ पौधे भी सूखे नहीं और हमें भी शुद्ध हवा प्राप्त हो। पेड-पौधे भी हमारे सच्चे मित्र की तरह हमारे बहुत सी चीज़े प्रदान कराते है, जैसे हमें ऑक्सीजन पेड़ -पौधों से ही मिलती है, क्योंकि पेड़-पौधे कार्बन डाइऑक्साइड ग्रहण करते हैं, और ऑक्सीजन बाहर छोड़ते हैं। वही ऑक्सीजन मनुष्य ग्रहण करता है। इससे साफ जाहिर होता है कि हमारी पृथ्वी में पेड़-पौधों का होना बहुत जरूरी हैं। यह केवल मनुष्यों के लिए नहीं बल्कि सभी जीवो के लिए पेड़ -पौधों का होना बहुत आवश्यक होता है।

पेड़ का हमारे जीवन में महत्व

मानव का पेड़-पौधों से बहुत अटूट रिश्ता होता है, भारतीय संस्कृति परंपरा के अनुसार आज भी कई पेड़ों की पूजा की जाती है, लोग कहते हैं इन पेड़ों जैसे – नीम, पीपल, बरगद, केला, आदि मे भगवान का वास होता हैं। इसीलिए इन पेड़ों की पूजा की जाती है।

पेड़ पौधे वातावरण को स्वच्छ बनाये रखने महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है, मनुष्य द्वारा छोड़ी गई कार्बन डाइऑक्साइड पौधे ग्रहण करते हैं और पौधे द्वारा छोड़ी गई ऑक्सीजन मनुष्य ग्रहण करता है वास्तव में पेड़ हमारे सच्चे मित्र होते हैं। पेड़- पौधे और मानव दोनों ही प्रकृति की देन है। पेड़ -पौधे और मनुष्य सुख-दुख के एक-दूसरे के साथी होते है। लेकिन पेड़ -पौधे हमें बहुत कुछ देते है लेकिन बदले मे हमसे कुछ लेने की उम्मीद नहीं रखते है।

पेड़-पौधों से होने वाले लाभ

पेड़-पौधों से हमें कई तरह के लाभ मिलते है

पेड़ -पौधे हमारे दैनिक जीवन में बहुत उपयोगी है।  पेड़- पौधों से हमें बहुत लाभ मिलता है,जैसे कि हमें पेड़ों फल , फूल, लकड़ी प्राप्त होती है। साथ ही वनो मे बड़े-बड़े पेड़ सुख जाते है, उनकी लकड़ियों को काट कर उन लकड़ियों का उपयोग कई जगह खिड़की बनाने मे, कुर्सी बनाने मे और कई तरह के सजवाटी समान बनाने मे, और बच्चो के खिलाने बनाने मे किया जाता है, और भवन निर्माण करने मे, और खाना बनाने मे करते है।

इसके अलावा पेड -पौधे का उपयोग औषधियाँ बनाने मे किया जाता है जैसे – नीम, आंवला, तुलसी आदि का उपयोग दवाई बनाने मे करते है पेडो का हर हिस्सा और उन दवाइयों को बना कर मर्केट मे अधिक ऊंची क़ीमत मे बेच लेते है, जिससे उनको बहुत अधिक मात्रा मे लाभ होता है। इनके द्वारा बनायीं गई दवाईयों से मनुष्य और जानवरो के इलाज मे काफ़ी हद तक सुधार आया है, या एक तरह से बोले तो इनके द्वारा बनायीं गई दवाइयों से मनुष्य और जानवरो को काफ़ी हद तक फायदा मिलता है। पेड़ों का हर हिस्सा उपयोगी होता है चाहे पत्ती हो, जड़, तना, फूल, फल आदि सभी का उपयोग करके औषधियाँ बनायीं जाती है।

पेड -पौधे के काटने से होने वाली हानियाँ

पेड़ पौधे सिर्फ प्राकृतिक सुंदरता के लिए नहीं होते, यह प्राकृतिक में मौसम और तापमान को नियंत्रण करने का भी कार्य करते हैं। जिन इलाकों में पेड़ पौधे अधिक मात्रा में होते हैं उन इलाकों में बारिश अधिक होती है और जिन इलाकों में पेड़ पौधे नहीं होते वहां बारिश भी कम होती है। हम नई-नई फैक्ट्रीज और कारखानों और कृषि भूमि के लिए जंगलों को काट रहे हैं

या जंगलों में आग लगा रहे हैं, जिस वजह से धीरे-धीरे जंगल खत्म हो रहे हैं, जिस वजह से प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है। आप सभी ने इस बात पर पर ध्यान दिया होगा कि पिछले कुछ सालों से धरती का तापमान बढ़ रहा है, और मौसम में भी एक अनियमितता आ गई है जैसे कि समय पर बारिश नहीं होती और सर्दी भी समय पर नहीं आती गर्मी अधिक हो गई है यह सब कम होते जंगलों की वजह से है।

पेड़ और तापमान

धरती के तापमान बढ़ने का एक कारण वनों का कटना ही है, क्योंकि तापमान नियंत्रण में वनों का बहुत बड़ा योगदान है। और अब वन बहुत तेजी से घट रहे हैं। जिस वजह से तापमान नियंत्रण मुश्किल हो रहा है, जिस वजह से धीरे-धीरे तापमान बढ़ रहा है। हम एक और जंगल काट रहे हैं और दूसरी ओर नए पेड़ पौधे लगा रहे हैं लेकिन आप सब को यह ज्ञात होगा कि पेड़ पौधों को वृक्ष बनने में समय लगता है, 1 पौधे को वृक्ष बनने में कम से कम 20 से 30 वर्ष का समय लग सकता है। आप हर दिन समाचार में सुनते होंगे कि ग्लेशियर पिघल रहे हैं

धरती का तापमान बढ़ रहा है ऐसा क्यों हो रहा कभी इस बात पर गौर नहीं किया होगा, लेकिन ऐसा खत्म होते जंगलों की वजह से हो रहा है। जैसे जैसे जंगल काट रहे हैं वैसे वैसे प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है और तापमान भी बढ़ रहा है इसके अलावा भी समाप्त होते जंगलों की वजह से वन्यजीव जाइए पशु पक्षी धीरे-धीरे विलुप्त हो रहे हैं।

अभी हाल ही में आप ने सुना होगा कि जंगलों से बहुत से ऐसे जीव जंतु है, जो विलुप्त हो चुके हैं, या विलुप्ति की कगार पर आ गए हैं और कुछ समय बाद वह विलुप्त हो जाएंगे। सफेद गेंडा जो भी हाल ही में विलुप्त हुआ है, सफेद गेंडा जिस की हाल ही मृत्यु हुई वह दुनिया का आखिरी बचा सफेद गेंडा था। ऐसा समाप्त हो रहे जंगलों की वजह से हुआ क्योंकि सफेद गैंडों का प्राकृतिक आवास खत्म हो चुका और धीरे-धीरे सफेद गैंडा में भी विलुप्त हो गए। ऐसा ही बहुत से जीव जंतुओं के साथ हो रहा है, और आने वाले समय में वे धरती से पूर्ण तरह विलुप्त हो जाएंगे।

निष्कर्ष

पेड -पौधे  हम सभी जीव-जंतुओ और मनुष्य के जीवन के लिये बहुत ही आवश्यक होता है। क्योंकि पेड-पौधे की वजह से दुनियाभर मे चारो तरह हरी-भरी हरियाली फैली हुयी दिखायी देती है। और समाज मे सभी व्यक्तियो को पेड लगाने के लिये जागरूक करे, ताकि दिन-प्रतिदिन पेड लगाने से जो प्रदूषण फ़ैल रहा हैं। उसको रोका जा सके और लोगो को शुद्ध ऑक्सीजन प्राप्त हो।

इसलिये हम सभी को विश्व पर्यावरण दिवस के दिन एक साथ मिलकर एक-एक पेड  स्कूल, कॉलेज और अपने घरों के आस-पास पेड लगा कर पर्यावरण को दूषित होने से रोका जा सकता है। क्योंकि आज समय मे पेड़ों को काटा जा रहा है, जिससे लोगो को शुद्ध ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से मनुष्य और जीव -जंतुओ की भी दर्दनाक मौत हो रही है।

अंतिम शब्द

आज के आर्टिकल में हमने पेड़ हमारे सच्चे मित्र पर निबंध ( Essay On Trees Our Best Friend In Hindi) के बारे में बात की है। मुझे पूरी उम्मीद है की हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल में कोई शंका है। तो वह हमें कमेंट में पूछ सकता है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here