पंजाब की संस्कृति पर निबंध

Essay on Punjabi Culture in Hindi : आज के आर्टिकल में हम पंजाब की संस्कृति पर निबंध आपके सामने पेश करने वाले हैं। आज के इस आर्टिकल में हम पंजाब की संस्कृति पर निबंध पर जानकारी आप तक पहुंचाने वाले हैं। इस निबंध में पंजाब की संस्कृति के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay-on-Punjabi-Culture-in-Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

पंजाब की संस्कृति पर निबंध | Essay on Punjabi Culture in Hindi

पंजाब की संस्कृति पर निबंध (250 शब्द)

भारत में 29 राज्य है। जिसमें पंजाब का नाम भी शामिल है। पंजाब भारत का लोकप्रिय देश है। पंजाब की संस्कृति अन्य राज्यों की तुलना में अलग है। पंजाब में मुख्यतः हिंदू समाज के लोग रहते हैं। यहां के लोगों में जोश और बहादुरी बहुत ज्यादा दिखाई देती है। पंजाब संस्कृति के लोगों की पहचान उनके पहनावे से पता चलती है।

पंजाब में रहने वाले लोगों की संस्कृति के बारे में उनका पहनावा बता देता है। पंजाब में जो लोग रहते हैं, उनमें से अधिकतर लोग सिख समुदाय से संबंधित है। एक समुदाय के सभी लोग रोजाना गुरुद्वारे जाते हैं। यहां के लोगों का कमाई का जरिया खेती-बाड़ी होता है।

मुख्य रूप से पंजाब में चावल की खेती होती है। पंजाब का नृत्य जो पंजाब की एक अलग पहचान बनाता है। पंजाब का भांगड़ा और गिद्दा डांस बहुत ही लोकप्रिय है। पंजाब में भोजन की बात करें तो पंजाब में मुख्य रूप से सरसों का साग और मक्की की रोटी को बड़े चाव से खाया जाता है और यहां के मक्के की रोटी देशभर में फेमस है।

पंजाब में हर त्योहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। यहां के लोगों द्वारा हर त्योहार को मनाने के लिए बड़े ही अलग प्रकार के आयोजन किए जाते हैं। यहां के बच्चे बूढ़े और जवान सब सर पर पगड़ी बांधते हैं। सर पर पगड़ी बांधना पंजाबी लोगों की मुख्य संस्कृति है और विदेश में भी पंजाब की संस्कृति को बहुत अधिक पसंद किया जाता है।

पंजाब की संस्कृति पर निबंध (800 शब्द)

प्रस्तावना

पंजाब जो कि भारत का एक लोकप्रिय राज्य है। पंजाब राज्य के बारे में हर कोई व्यक्ति जानता है। पंजाब राज्य की संस्कृति बाकी राज्यों की तुलना में काफी अलग है। पंजाब में रहने वाले ज्यादातर लोग सिख जाति समुदाय से संबंधित है। पंजाब राज्य में रहने वाले लोग अपने जाति धर्म को बहुत अधिक मानते हैं। पंजाब में जो सिख समुदाय के लोग रहते हैं। वह सिर पर पगड़ी पहनते हैं और अधिकतर लोग जिनका काम खेती-बाड़ी करना होता है। पंजाब में चावल सर्वाधिक होते हैं।

पंजाब शब्द की उत्पत्ति

फारसी भाषा के शब्द पंज से हुआ (जिसका मतलब है गिनती का पांचवा अक्षर) और दूसरा शब्द अब जिसका अर्थ होता है। (नदी) इन दोनों शब्दों को मिलाकर पंजाब शब्द का निर्माण हुआ। इसे कारण पंजाब को पांच नदियों की भूमि कहा जाता हैं। यह पांच नदियो झेलम नदी, सतलज नदी, रावी नदी ,चिनाब नदी, व्यास नदी हैं। पंजाब का नाम भी पांच नदियों के सम्मेलन की वजह से ही पड़ा है। पंजाब राज्य की सबसे प्रमुख संस्कृति यही है, कि यहां पर पंजाब की मातृभाषा का प्रयोग सर्वाधिक होता है।

पंजाब में रहने वाले लोगों की पोशाक

पंजाबी पुरुष कुर्ता पजामा पहनते हैं। पंजाब की महिलाएं सलवार सूट पहनती हैं। पहले महिलाएं कुर्ते के नीचे घाघरा पहले करती थी। आदमी पगड़ी पहना करते हैं। पंजाबी लोगों की भाषा गुरुमुखी स्वरूप की होती हैं। पंजाब में रहने वाले लोगों की पोशाक अलग ही होती है। पंजाब के अधिकतर लोग अपने पोशाक और पहनावे की वजह से ही पहचाने जाते हैं। पंजाब में रहने वाले लोग की पोशाक देखते ही पता चल जाता है कि यह व्यक्ति पंजाबी है और यहां के लोगों के अंदर अपने पहनावे में संस्कृति की झलक भी नजर आती है।

पंजाब में गुरुद्वारा

पंजाबी लोगों में भक्ति भाव ज्यादा होता हैं। पंजाबी लोगों में छोटे ,बच्चे ,जवान ,बड़े -बूढ़े सभी गुरुद्वारा जाया करते हैं। सभी लोग गुरुद्वारे में जाकर यह पूजा पाठ करते हैं। इनकी शादियाँ भी गुरुद्वारे में ही होती हैं। इनका भगवान में बहुत ही ज्यादा विश्वास होता हैं। यह लोग वाहे गुरु की पूजा करते हैं।

पंजाबी लोगों की विशेषता

वह अलग -अलग तरीके के कार्य करते हैं। पंजाबी लोग बहुत ही ज्यादा कलाकार होते हैं। उनके घरों में बहुत सारी विभिन्न प्रकार की आकृतियां देखने को मिलती हैं।

यह लोग बहुत ज्यादा परिपूर्ण होते हैं। वह हर जगह प्रशिद्ध होते हैं। उनके राज्य तथा अन्य राज्यों में भी उनको बहुत ज्यादा पसंद किया जाता हैं। पंजाबी लोगों की बोली तथा उसके नाच के लिये उनको हर जगह पसंद किया जाता हैं।

पंजाबी लोगों के त्योहार

पंजाबी लोग हर त्यौहार को हर्षोल्लास व धूमधाम के साथ मनाते हैं। दशहरा, दिवाली, लोहड़ी, बसंत पंचमी ,गुरु नानक जयंती यह पंजाबियों के प्रमुख त्यौहार हैं। लोहड़ी पंजाबियों का प्रमुख त्योहार हैं। इस दिन ढोल नगाड़े बजाकर भांगड़ा और गिद्धा करते हैं। इस त्यौहार को बहुत ही ज्यादा धूमधाम के साथ मनाते हैं।

यहां के लोग अपने हर त्यौहार को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। पंजाब के लोगों की एक मुख्य खासियत यह है, कि जब भी पंजाब में कोई त्यौहार आता है। तो यहां आस पड़ोस के सब लोग मिलकर उस त्योहार को एक साथ मनाते हैं।

पंजाब राज्य का महत्व

हर देश में हर राज्य अपनी अलग ही पहचान को दर्शाता हैं। पंजाब बहुत ही सुंदर राज्य हैं। यहां पर हर जगह हरियाली से लहलहाते खेत देखने को मिलते हैं। पंजाब के लोग बहुत ज्यादा साहसी माने जाते हैं। पंजाब में मेहमानों को बहुत ही ज्यादा आदर सत्कार किया जाता हैं। इनका खानपान बहुत ही ज्यादा अच्छा होता है। यहां घी तथा मक्खन अत्यधिक मात्रा में खाया जाता हैं। पंजाब अपने खानपान अपनी संस्कृति के लिए बहुत ही ज्यादा प्रशिद्ध हैं।

पंजाब राज्य का खान पान

कहा जाता है, कि पंजाब राज्य में रहने वाले लोग खाने के बहुत शौकीन होते हैं। यहां का खानपान अन्य राज्यों की तुलना में अलग ही होता है। पंजाबी खाना जिसे खाने की इच्छा देश के हर नागरिक को होती है। पंजाब की लस्सी बहुत ज्यादा फेमस है।

खेती- पंजाब कृषि प्रधान राज्य हैं। यहां की अधिकांश जनता कृषि कार्य में कार्यरत हैं। पंजाब के लोग मुख्यता चावल और गेहूं की खेती करते हैं। पंजाबी लोगों का प्रमुख भोजन मक्के की रोटी और सरसों का साग होता हैं।

निष्कर्ष

देश का हर राज्य अपनी संस्कृति की वजह से पहचाना जाता है। हर राज्य में संस्कृति के नाम पर अलग-अलग रीती रिवाज होते हैं, कि त्योहारों को मनाने का एक अलग तरीका होता है। हर राज्य का खानपान अलग होता है और हर राज्य का पहनावा भी अलग होता है। इसी प्रकार से पंजाब की संस्कृति कुछ अलग प्रकार की है।

अंतिम शब्द

आज का हमारा ही आर्टिकल जिसमें हमने पंजाब की संस्कृति पर निबंध ( Essay on Punjabi Culture in Hindi) के बारे में जानकारी आप तक पहुंचाई है। इस आर्टिकल में पंजाब की संस्कृति के बारे में संपूर्ण जानकारी का जिक्र किया गया है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल है। तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here