मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध

Essay On My Favorite Sport Cricket In Hindi: हर इंसान की जिंदगी में खेल का होना बहुत जरुरी है। खेल खेलने से व्यक्ति को कई प्रकार की बीमारियों से भी छुटकारा भी मिल जाता है। हम यहां पर मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में मेरा प्रिय खेल क्रिकेट के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध | Essay On My Favorite Sport Cricket In Hindi

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध (250 शब्द)

खेल का नाम आते है मन ख़ुशी से भर उठता है। हर एक बच्चे का मनपसंद प्रिय खेल जरूर होता है। उस खेल को खेलना बच्चे बहुत पसंद करते है। ज्यादातर बच्चे क्रिकेट और फुटबॉल खेलना बहुत पसंद करते है और कुछ बच्चे तो बचपन से क्रिकेट टीम बना कर क्रिकेट खेलने में बहुत आगे होते है। कुछ बच्चे क्रिकेट खेलने के साथ -साथ क्रिकेट देखना भी पसंद करते है। क्रिकेट का खेल दुनियाभर मे सबसे सर्वश्रेष्ठ और सबसे  ज्यादा खेला जाने वाला खेलों में से एक होता है।

क्रिकेट एक बड़े से खुले मैदान में खेला जाता है। मैदान के बीचो -बीच क्रिकेट खेला जाता है और मैदान की किनारो पर दोनों जगह 3-3 क्रिकेटर खड़े कर दिये जाते है, जो बॉल को कैच करने के लिये मौजूद हो। क्रिकेट खेलने के लिये  2 टीम बनायीं जाती है और दोनों टीमों मे 11-11 खिलाडी होते है। क्रिकेट खेलने के लिये मैदान में दोनों टीम उतरती है और दोनों टीमो में से जिस टीम के रन ज्यादा होते है, वही टीम को विजय घोषित किया जाता है।

दुनिया भर का सबसे लोकप्रिय खेल क्रिकेट को माना गया है। क्रिकेट खेलते समय  क्रिकेटर को  शूज, ड्रेस और हाथ मे दस्ताना पहनकर खेलना चाहिए। ताकि क्रिकेट खेलते समय किसी तरह की चोट लगने से बचे। खुद की सुरक्षा खुद के हाथो में होती है। आज कल कुछ लोग टीवी और मोबाइल में भी क्रिकेट देखना ज्यादा पंसद करते है। भारत, पाकिस्तान,अफ्रीका,चीन आदि जगहों मे क्रिकेट मैच खेला जाता है।

क्रिकेट खेलने की शुरुआत सबसे पहले इंग्लैंड से हुई थी। वहां पर रहने वाले अमीर लोगों द्वारा हिंदुस्तानियों के साथ क्रिकेट मैच खेला जाने लगा। क्रिकेट मैच ईस्ट इंडिया कम्पनी द्वारा खेला जाने वाला पहला खेल था।

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध (800 शब्द)

परिचय

खेल हमारे जीवन के प्रत्येक भाग में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। छोटे बच्चे खेलों से बहुत सारी चीजें सीखते हैं। खेल खेलते समय वह अपनी सोच और अपनी कल्पना को आगे रखते हैं। खेल की गहराई तक जाकर उसे सीखने की कोशिश करते हैं। बच्चों के लिए खेल खेलना बहुत ही ज्यादा जरुरी हैं। छोटे बच्चों का इससे शारीरिक तथा मानसिक विकास होता हैं। उनकी सोचने समझने की क्षमता बढती हैं। कई बच्चों में जन्मजात खेल खेलने की प्रतिभा और क्षमता होती हैं। परंतु उन्हें आगे बढ़ने के लिए इसमें निरंतर अभ्यास की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती हैं। इसलिए हमें लगातार खेल खेलने चाहिए।

मेरा पसंदीदा खेल क्रिकेट

वैसे तो मैं सभी तरह के खेल खेलता हूं और मुझे सभी खेल पसंद है। परंतु क्रिकेट और सब में से मेरा सबसे ज्यादा पसंदीदा खेल है और मैं इस खेल को बहुत अच्छे से खेलता हूं। मुझे क्रिकेट खेलना और देखना दोनों ही बहुत ज्यादा पसंद है। सचिन तेंदुलकर मेरा पसंदीदा क्रिकेटर है। मैं बचपन से ही अपने कॉलोनी में रोजाना शाम के वक्त क्रिकेट खेला करता था। क्योंकि मैं सबसे छोटा था। इसलिए मुझे क्षेत्ररक्षण का कार्य सौंपा जाता था। क्योंकि मुझे खेल खेलना बहुत ज्यादा पसंद था।

इसलिए मैं उनके साथ खेल लेता था और क्षेत्ररक्षण का कार्यकर्ता हमारी गर्मियों की छुट्टी के टाइम यह मेरा सबसे पसंदीदा टाइम पास का गेम था। मैंने अपना ज्यादातर समय क्रिकेट खेलने में या अपना इंतजार अपनी बारी का इंतजार करने नहीं बताया क्रिकेट खेलते थे। तो कई बार बहुत सारे झगड़े भी हो जाया करते थे। क्योंकि हम खेल खेलते समय गली में जोर-जोर से चिल्लाते थे और कई बार लोगों के घरों की खिड़कियों के कांच तोड़ देते थे। तो लोग हमें जाट फटकार देते थे।

ज्यादातर लोग क्रिकेट को पसंद करते हैं और जब मैच भारत और पाकिस्तान के बीच हो ज्यादातर लोग मैच खत्म ना हो जाने तक टीवी सही चिपके रहते है। मैं भी उनकी तरह ही टीवी में मैं इतना खत्म होता तब तक देखता रहता था। शिक्षा के लिए कॉलेज में एडमिशन लेना पड़ा और मैं अपने कॉलेज की क्रिकेट टीम के साथ क्रिकेट खेलने लगा। टीम का कप्तान क्रिकेट खेलने में महारथी था। मैंने उसके साथ रहकर उसे बहुत सारी चीजें थी। कि वादे मेरा मेरे कॉलेज की क्रिकेट टीम में चयन हो गया और वह मैच कॉलेज के अंदर ही हुआ मैं फील्डिंग और बॉलिंग बहुत अच्छी करता था मैच में हमारी टीम जीती।


क्रिकेट खेल का परिचय

क्रिकेट के खेल में दो टीम होती हैं। प्रत्येक टीम में 11-11 खिलाड़ी होते हैं और कुछ अतिरिक्त खिलाड़ी भी रखे जाते हैं। जो कि मुख्य खिलाड़ियों में से किसी के चोटिल हो जाने खेलने में असमर्थ होने पर उनकी जगह खेल में भाग लेते हैं। मैंच शुरू करने से पहले कप्तानों के बीच में टॉस किया जाता हैं। टॉस जीतने वाली टीम ही तय करती है कि उससे पहले गेंदबाजी करनी है या बल्लेबाजी।


बल्लेबाजी करने वाली टीम गेंद को मारकर रन बनाती हैं। गेंदबाजी करने वाली टीम बल्लेबाजी करने वाली टीम को रन बनाने से रोकती हैं। बल्लेबाजी करने वाली टीम के दो खिलाड़ी बल्लेबाजी करते हैं और गेंदबाजी करने वाला एक खिलाड़ी बल्लेबाजी करने वालों के लिए गेंदबाजी करता है और बाकी सब क्षेत्ररक्षण का कार्य करते हैं।
खेल से संबंधित आखिरी निर्णय एंपायर करता हैं। खेल जिस पिच पर खेला जाता है वह 22 गज लंबा होता हैं। आमतौर पर हम लोगों को सड़कों ,स्टेडियम, गलियों में क्रिकेट खेलते देखते हैं। क्रिकेट का चॉव हर किसी को होता हैं। पूरी दुनिया में ज्यादातर लोगों क्रिकेट देखना व खेलना पसंद करते हैं।


खेल का महत्व

हर खेल हमें कुछ ना कुछ सबक सिखाता हैं। जिसे हम अपने असल जीवन में लागू कर सकते हैं। वास्तव में हम जो भी चीजें करते हैं जिसे भी मिलते हैं और उनसे हमें कुछ ना कुछ सिखने को जरूर मिलता हैं। खेल खेलने से हमारे शरीर में हमेशा चूस्ती और फूर्ती बनी रहती हैं। इससे हमारा शरीर तंदुरुस्त रहता हैं।

  1. हमारी नाकामयाबी हमें सीखने को प्रोत्साहित करती हैं।
  2. खेल हमें स्वस्थ प्रतियोगिता करना सिखाता हैं यह हमें आगे नौकरी व हमारे कार्य क्षेत्र में बहुत अच्छे से सहयोग करती हैं। हमें सही और गलत का अंतर सिखाता हैं।
  3. खेल हमें निरंतर प्रयास करने कि सीख देता हैं तथा असफल होने पर हमें हार ना मानने और सबक सीखने की प्रेरणा देता हैं।
  4. यह हमें लक्ष्य प्राप्ति के लिए प्रोत्साहित करता हैं तथा खेल के प्रति आवाज उठाने के लिए प्रेरित करता हैं।
    खेल खेलने से योजना व रणनीति बनाने की क्षमता बढ़ती हैं।

निष्कर्ष

मुझे क्रिकेट खेलना बहुत पसंद है क्योंकि यह मेरे शरीर को फिट रखता हैं। मुझे अपने मनोरंजन के रूप में भी बहुत सारे खेल खेलना पसंद हैं। हमें टी.वी तथा मोबाइल पर खेल खेलने के साथ-साथ रोजाना आउटगोइंग गेम्स भी खेलने चाहिए। इससे हमारा शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त रहता हैं और हमारे अंदर हमेशा फुर्ती बनी रहती हैं और इससे हमारा स्टैमिना भी बढ़ता हैं।

अन्त्तिम शब्द

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट है। हम दोस्त लोग फ्री टाइम में ज्यादातर क्रिकेट खेलना पसंद करते है। आज के आर्टिकल में हमने मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध ( Essay On My Favorite Sport Cricket In Hindi) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आप तक पहुचाई है। हमें उम्मीद है, की हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी को इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट में बता सकता है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here