क्रिसमस त्योहार पर निबंध

Essay On Christmas In Hindi: आज के आर्टिकल में क्रिसमस पर आर्टिकल के बारे में बात करने वाले है। क्रिसमस का त्यौहार भारत का काफी लोकप्रिय त्यौहार है। इस त्यौहार को मुख्यत ईसाई समाज के लोग ज्यादा मानते है। इस आर्टिकल में Essay On Christmas In Hindi के बारे में जानकारी मिलने वाली है।

Essay On Christmas In Hindi
Essay On Christmas In Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

क्रिसमस पर निबंध | Essay On Christmas In Hindi

क्रिसमस पर निबंध (200 शब्द)

क्रिसमस को भारत का मुख्य पर्व माना जाता है। इस त्यौहार को देश के सभी इलाकों में बड़े धूम धाम से मनाया जाया है। दक्षिण भारत में यह क्रिसमस का पर्व बहुत जयादा लोकप्रिय है।

क्रिसमस क्या है और कब मनाया जाता है?

एक लोकप्रिय रूप से क्राइस्ट के पर्व दिवस के रूप में जाना जाता है, हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है। लोग घरों को सजाकर त्योहार मनाते हैं और परिवार, दोस्तों और प्रियजनों के साथ सांस्कृतिक अवकाश का आनंद लेते हैं। ईसाइयों के लिए, यह एक विशेष दिन है क्योंकि वे इसे ईसा मसीह के जन्म के सम्मान में मनाते हैं लेकिन केवल ईसाई ही नहीं, हर धर्म के लोग इसे पूरे उत्साह के साथ मनाते हैं।  ईसाई त्योहार सर्दियों के मौसम में आता है जिससे कि मौसम भी सुहाना रहता है। जोकि 15 दिन तक चलता है।

क्रिसमस त्योहार पर क्या-क्या करते हैं?

क्रिसमस तैयार पर लोग घरों को साफ सफाई करते हैं और घरों को सजाते हैं। उनको लाइटों से डेकोर करते हैं तथा घर के बाहर मॉल में या दुकान  के बाहर क्रिसमिस ट्री लगाया जाता है। क्रिसमस केक लाया जाता है जो ड्राई फूड व  लाजीक्ता  से भरपूर होता है, जिसको खाने का बड़ा ही मज़ा आता है, सभी को बहुत ही आनंद आता है।

क्रिसमस क्यों मनाया जाता है?  

क्रिसमस ईसा मसीह की याद में मनाया जाता है। ईसा मसीह जिन्हें करुणा, दया, बड़प्पन और अच्छे कर्मों के रूप में याद किया जाता है। ईसा मसीह ने कभी भी किसी का बुरा नहीं किया और ना किसी का बुरा सोचा लेकिन दुनिया के लोगों ने उन्हें कीलो पर लटका दिया, लेकिन वह अमर थे वह पुनर्जीवित हो गए। क्योंकि वह लोगों की भलाई करने के लिए थे। उनकी पवित्रता और दया के कारण उन्हें याद किया जाता है।

क्रिसमस के बारे में क्या खास?

इस दिन लोग मिठाई और पकवान बनाते हैं तथा बच्चे वह बुड्ढे  क सभी खुशियां मनाते हैं एक दूसरे के गले लगते हैं । नए कपड़े, क्रिसमिस ट्री और सांता क्लॉज़ सबसे अलग होता है। सांता क्लॉज़ और क्रिसमस ट्री मुख्य आकर्षण की चीजें होती है, जो बच्चों को अधिक उत्साहित करते हैं।

बच्चों को कहा जाता है, कि यदि वो अच्छा व्यवहार करेंगे, तो उन्हें सांता क्लॉज़ टॉफियां देगा और घर में बड़े बुजुर्ग बच्चों को खुश करने के लिए सांता क्लॉज बनते हैं और बच्चों खुश करते हैं, इससे बच्चों को खुशी मिलती है। बच्चों का जाता है, कि सांताक्लॉज सर्वग से आता है। जो रात को उनके पास उपहार रखकर जाता है, जो बच्चा अच्छा व्यवहार करता है, सांता क्लॉज उसी के पास आता है और इसी दिन क्रिसमिस केक काटा जाता है, जोकि ड्राई फूड्स और लाजीजता से भरा रहता है। यह केक बहुत ही स्वादिष्ट होता है, जिसको हम सब खाना चाहते हैं। केरल में ईसा मसीह के गीतों को लोकगीतों की तरह गाया जाता है।

क्रिसमस पर निबंध (600 शब्द)

प्रस्तावना

क्रिसमस त्योहार ईसाई समुदाय का बहुत ही बड़ा त्योहार है, जो हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है। कहा जाता है, कि इस दिन प्रभु ईसा मसीह का जन्म हुआ था। जो उनके जन्म की याद में क्रिसमस त्योहार मनाया जाता है। ये ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा दिन होता है। ईसाई समुदाय के लोग इस त्योहार की तेयारी 15 दिन पहले से ही करना शुरू कर देते है। ईसाई समुदाय के लोगो की इन 15 दिनों में छुट्टियां रहती है तथा वे अपने घरों को सजाने में मगन रहते हैं। 25 दिसंबर को सभी गिरिजाघरों को सजाया जाता हैं और उनमें लाइट से रोशनी की जाती हैं। इस त्योहार के समय बाजारों में भी चमक रहती हैं तथा बाजारों को भी सजाया जाता हैं।

ईसाई समाज के द्वारा किए जाने वाले का कार्यक्रम

ईसाई धर्म के लोग 15 दिन पहले से ही तेयारिया शुरू कर देते हैं और वे अपने घरों की साफ सफाई कर के घरों को  सजाने में लग जाते हैं तथा 25 दिसंबर को घरों में रोशनी जगमगाने लगती हैं। ईसाई धर्म के लोग अपने चर्चो कि साफ सफाई कर के उनको सजा देते है और उनमें विभिन्न कार्यक्रम शुरू कर देते हैं जैसे कि ईसा मसीह के गानों को दोहराना और एक दूसरे के साथ हंसी-मजाक करना आदि कार्य करते हैं। नए कपड़े खरीदते हैं और विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाते हैं और इस दिन ईसा मसीह के जन्मदिवस को नाटक के रूप में प्रदर्शित  करते हैं।

क्रिसमस क्यों मनाया जाता है?

क्रिसमस ईसा मसीह की याद में मनाया जाता है। ईसा मसीह जिन्हें करुणा, दया, बड़प्पन और अच्छे कर्मों के रूप में याद किया जाता है। ईसा मसीह ने कभी भी किसी का बुरा नहीं किया और ना किसी का बुरा सोचा लेकिन दुनिया के लोगों ने उन्हें कीलो पर लटका दिया, लेकिन वह अमर थे वह पुनर्जीवित हो गए क्योंकि वह लोगों की भलाई करने के लिए थे। उनकी पवित्रता और दया के कारण उन्हें याद किया जाता है।

क्रिसमस के बारे में क्या खास?

इस दिन लोग मिठाई और पकवान बनाते हैं तथा बच्चे वह बुड्ढे  क सभी खुशियां मनाते हैं एक दूसरे के गले लगते हैं । नए कपड़े, क्रिसमिस ट्री और सांता क्लॉज़ सबसे अलग होता है। सांता क्लॉज़ और क्रिसमस ट्री मुख्य आकर्षण की चीजें होती है जो बच्चों को अधिक उत्साहित करते हैं।और बच्चों को कहा जाता है कि यदि वो अच्छा व्यवहार करेंगे तो उन्हें सांता क्लॉज़ टॉफियां  देगा। और घर में बड़े बुजुर्ग बच्चों को खुश करने के लिए सांता क्लॉज बनते हैं और बच्चों खुश करते हैं इससे बच्चों को खुशी मिलती है।बच्चों का जाता है, कि सांताक्लॉज सर्वग से आता है, जो रात को उनके पास उपहार रखकर जाता है, जो बच्चा अच्छा व्यवहार करता है, सांता क्लॉज उसी के पास आता है।

इसी दिन क्रिसमिस केक काटा जाता है, जो ड्राई फूड्स और लाजीजता से भरा रहता है। यह केक बहुत ही स्वादिष्ट होता है, जिसको हम सब खाना चाहते हैं। केरल में ईसा मसीह के गीतों को लोकगीतों की तरह गाया जाता है। त्योहार की पूर्व संध्या पर क्रिसमस केरल के प्रसिद्ध गीत कैरोल गाए जाते हैं, त्योहार के लिए उपहार दिए जाते हैं, बच्चों को उपहार दिए जाते हैं, पिता क्रिसमस के सांताक्लॉज द्वारा बच्चों को उपहार दिए जाते हैं, जो लाल टोपी, लाल कोट और सफेद दाढ़ी पहनकर आते हैं।

क्रिसमस की कई रातों में एक होता है, गिरजाघर में रात्रिकालीन प्रार्थना सभा, जो रात 12 बजे तक चलती है। दोपहर 12 बजे लोग अपने परिवार के साथ क्रिसमस मनाते हैं और खुशियां मनाते हैं। क्रिसमस एक सांस्कृतिक भारी उत्सव है, जिसमें बहुत सारी तैयारियां होती हैं। इसे सभी  धर्मो के लोग मनाते है। यह एक सार्वजनिक अवकाश है और इसलिए लोगों को इसे मनाने के लिए क्रिसमस का अवकाश मिलता है।

निष्कर्ष

क्रिसमस एक त्यौहार है जो सभी धर्मों और आस्था के लोगों द्वारा मनाया जाता है। इसमें कोई भी भेदभाव नहीं होता है। विश्वव्यापी होने के बावजूद यह एक ईसाई त्योहार है, यह इस त्योहार का सार है। जो लोगों को इतना पसंद करता है। हमें इस त्योहार से ऐसी एकता के महत्व को सीखना चाहिए, और हमारे धार्मिक मतभेदों के बावजूद, हम सभी को एक साथ त्योहार मनाना चाहिए।

त्यौहार शायद एक ऐसा माध्यम है जो भविष्य में मानवता की भलाई के लिए लोगों को संयुक्त रखने की शक्ति रखता है और आखिर में यह त्योहार सभी धर्म के लोगो में भेदभाव को समाप्त करता है और भाईचारा बढ़ाता है।

अंतिम शब्द

आज के आर्टिकल में हमने Essay On Christmas In Hindi के बारे में बात की है। मुझे उम्मीद है, की इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट के माधयम से पूछ सकता है।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here