इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? (15+ आसान टिप्स)

English Bolna Kaise Sikhe : दोस्तों आज के समय में हर कोई अपने पर्सनैलिटी डेवलपमेंट में काफी ज्यादा ध्यान दे रहा है। पर्सनैलिटी डेवलपमेंट में हमें बाहर से अच्छा दिखने के साथ-साथ अपने अंदर कुछ नई नई स्किल डेवलप करना भी जरूरी है और आज के समय में सबसे ज्यादा अगर आपके पर्सनालिटी डेवलपमेंट में कोई इंप्रेशन लाकर दे सकती है तो वह है आप कितना इंग्लिश बोलने में फ्रेंकली हो। आज के समय में इंग्लिश बोलने वाले लोगों के प्रति लोग काफी अट्रैक्टिव भी होते हैं। 

आज हम आपको अपने इस महत्वपूर्ण लेख के जरिए इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी देंगे। आपको इस लेख में इंग्लिश बोलने के एक से बढ़कर एक तरीकों के बारे में बताएंगे और आप अगर हमारे बताए गए तरीके को फॉलो करते हो। 

English Bolna Kaise Sikhe
Image: English Bolna Kaise Sikhe

तो यकीनन आपको इंग्लिश बोलने और सीखने में ज्यादा समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और अगर आपने इंग्लिश बोलना सीख लिया तो समझ लीजिए आपकी पर्सनैलिटी पर यह चार चांद लगा देगा। इसलिए हम चाहते हैं कि लेख में दी गई जानकारी को बिल्कुल भी मिस ना करें और इसे अंतिम तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

विषय सूची

इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? (15+ आसान टिप्स) | English Bolna Kaise Sikhe

इंग्लिश बोलना सीखना क्यों जरूरी है?

इंग्लिश बोलने सीखने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि आखिर आप इंग्लिश बोलना क्यों सीखना चाहते हो? आपका क्या परपज है ताकि आप उसी हिसाब से अपना इंटरेस्ट इंग्लिश सीखने में लगा सको और आप जल्दी से लगन से इंग्लिश बोलना सीख भी जाओ। तो चलिए हम नीचे पॉइंट के माध्यम से समझते हैं कि इंग्लिश बोलना क्यों जरूरी है या फिर इंग्लिश सीखना क्यों जरूरी है?

  • अगर आप लड़कियों में अपना अच्छा खासा इंप्रेशन जमाना चाहते हो तो, आपको आज के डेट में इंग्लिश बोलना और पढ़ना आदि आना बेहद जरूरी है। इसका काफी पॉजिटिव इंप्रेशन लड़कियों पर पड़ता है।
  • अगर आप किसी बिजनेस परपस से अलग-अलग राज्यों में जाते रहते हो तो, आपको इंग्लिश आना जरूरी है क्योंकि अगर आपको वहां के लोकल लैंग्वेज समझ ना आए तो कम से कम इंग्लिश के जरिए आप अपना काम चला सको।
  • आज के डेट में अगर आप कहीं पर जॉब करने जाते हो तो, आपको इंग्लिश आना जरूरी है क्योंकि इसका काफी पॉजिटिव इंपैक्ट जॉब पर भी पड़ता है।
  • हम आसानी से किसी को भी इंग्लिश बोलकर इंप्रेस कर सकते हैं और अपने अंदर एक नई पर्सनैलिटी को डेवलप कर सकते हैं।
  • इंग्लिश बोलने और पढ़ने वाले लोगों को काफी ज्यादा लोगों के बीच पसंद किया जाता है और अगर आपको इंग्लिश बोलना आता है तो आपका काम काफी हद तक आसान हो जाता है।
  • आज के समय में इंग्लिश बोलना देख कर आप अपने पर्सनैलिटी पर एक नया इंपैक्ट ला सकते हो।

इंग्लिश बोलना कैसे सीखें?

अगर आपको इंग्लिश बोलना सीखना है तो, सबसे पहले अपने अंदर आप कॉन्फिडेंस लाएं, टूटी फूटी इंग्लिश बोलना शुरू करें, कोई स्पीकिंग कोर्स ज्वाइन करें, शीशे के सामने इंग्लिश बोलने की प्रैक्टिस करते रहे और इसके अलावा किसी से भी इंग्लिश बोलने में बिल्कुल भी नर्वस नाम फील करें पूरे कॉन्फिडेंस के साथ इंग्लिश में बात करने की कोशिश करें।

दोस्तों इन तरीकों के अलावा भी बहुत सारे ऐसे तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके आप आसानी से इंग्लिश में बात करना सीख सकते हो। बस आपको थोड़ी सी मेहनत करनी होगी और निरंतर प्रैक्टिस के दम पर ही आप इंग्लिश में बात करना सीख सकते हो। 

तो चलिए आज हम आपको आगे इंग्लिश में बोलने के कुछ बेहतरीन टिप्स के बारे में जानकारी देते हैं और इसके लिए आप नीचे दी गई जानकारी को पूरा पढ़ें और ध्यान रहे बताया के टिप्स को फॉलो भी करना है नहीं तो, आपको सिर्फ इस लेख को पढ़ने से कोई फायदा नहीं होगा आपको उस पर काम भी करना होगा।

मन में इंग्लिश सीखने का कॉन्फिडेंस लाए

कई लोग इंग्लिश सीखना तो चाहते हैं, परंतु उनके लो लेवल के कॉन्फिडेंस के वजह से वह अपने इंग्लिश सीखने की चाह को कहीं ना कहीं दबा देते हैं। आपको इंग्लिश सीखने में कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और साथ ही साथ लोगों द्वारा भी आपको कई बातों को सुनना पड़ सकता है। 

परंतु इन सभी चीजों को आप को सबसे पहले इग्नोर करना है और इंग्लिश सीखने के कॉन्फिडेंस लेवल को हाई करना है ताकि आप इंग्लिश सीखने की शुरुआत कर सको और अगर आपने एक बार इसकी शुरुआत कर दी तो यकीन मानिए आप इंग्लिश बोलना भी जल्दी ही सीख जाओगे।

इंग्लिश ग्रामर के साथ शुरुआत करें

किसी भी लैंग्वेज में अगर आपको एक्सपोर्ट  बनना है तो, सबसे पहले आपको उस भाषा का ग्रामर नॉलेज आपके पास होना जरूरी है। किसी भी भाषा का ग्रामर नॉलेज की हमें उस भाषा के बारे में काफी जानकारी प्रदान करता है और हम उस भाषा को बोलने एवं पढ़ने लिखने में भी एक्सपोर्ट बन पाते हैं। 

इसीलिए आपको इंग्लिश बोलने से पहले इंग्लिश ग्रामर सीखना पड़ेगा और इंग्लिश ग्रामर सीखने में आप कोई भी कंजूसी ना करें। इसे अच्छे से पढ़ने की कोशिश करें और जितना ज्यादा आप अपना इंग्लिश ग्रामर स्ट्रांग करोगे, आपको उतना ही अच्छे तरीके से इंग्लिश में बातें करना और इंग्लिश को समझने में आसानी होगी।

इंग्लिश वर्ड मीनिंग ज्यादा से ज्यादा याद करें

दोस्तों आप जितना इंग्लिश में वर्ड मीनिंग याद करोगे, आपको उतना ही इंग्लिश बोलने में आसानी होगी क्योंकि आप को पहले से ही काफी सारे वर्ड मीनिंग आती होगी और आपको इंग्लिश में किस विषय पर एवं किस चीज को क्या बोलना है? इसके बारे में पता होगा। 

इसीलिए आप कोई भी मार्केट से ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन जैसे चाहो वैसे वर्ड मीनिंग की किताब को खरीद ले लीजिए और उसे पढ़ना शुरू करें। आप 1 दिन में 10 वर्ड मीनिंग याद करने की शुरुआत कर सकते हो और जैसे-जैसे आपको लगे कि आप आसानी से वर्ड मीनिंग याद कर सकते हो। 

वैसे ही आप इसकी संख्या बढ़ा दे और ज्यादा से ज्यादा वर्ड मीनिंग याद करने की कोशिश करें। यह आपके लिए इंग्लिश को बोलने में और इंग्लिश को सीखने में काफी मदद करती है इसीलिए इस पॉइंट को भी बिल्कुल ना इग्नोर करें।

नियमित रूप से इंग्लिश स्टोरी बुक पढ़ें

दोस्तों आपको इंग्लिश बोलने और पढ़ने के लिए जितना हो सके उतना आपको इंग्लिश स्टोरी बुक पढ़ना होगा। जब हम किसी भी स्टोरी को पढ़ते हैं तो, हमें स्टोरी पढ़ने में काफी इंटरेस्ट आता है और इसीलिए आपको इंग्लिश बोलने और पढ़ने के लिए इंग्लिश स्टोरी बुक पढ़ना होगा। 

अगर आप मन लगाकर रोजाना एक लेशन इंग्लिश स्टोरी बुक को पढ़ोगे तो, यकीनन आप इंग्लिश पढ़ने में धीरे धीरे फ्रेंकली हो जाओगे और आपके अंदर जो भी इंग्लिश को लेकर डर रहेगा वह बाहर आने लगेगा और साथ ही साथ आपको इंग्लिश स्टोरी पढ़ने के दौरान उसका उच्चारण भी समझना होगा। 

और अगर आप यह सब कुछ करना शुरू करते हो तो यकीनन आप इंग्लिश में बात करना और पढ़ना भी सीख जाओगे बस इन चीजों को ध्यान से करने की कोशिश करें और नियमित रूप से करें।

इंग्लिश न्यूज़ पेपर पढ़े और टीवी में देखें

लगभग लगभग हर एक घर में न्यूज़पेपर तो आता ही है। परंतु यह न्यूज़ पेपर रीजनल लैंग्वेज में होता है। आपको अपने रीजनल लैंग्वेज में न्यूज़पेपर ना मंगवा कर इंग्लिश भाषा में न्यूज़पेपर को मंगवाना है और आप रोजाना इंग्लिश में ही न्यूज़पेपर को पढ़ना शुरू करें। यह इंग्लिश में बात करने और इंग्लिश पढ़ने का एक बहुत ही पुराना तरीका है परंतु यह सबसे कारगर और यूज़फुल तरीका है। 

आप रोजाना इंग्लिश पेपर को पढ़ने की कोशिश करें और उसमें दी गई न्यूज़ को भी समझने का कोशिश करें ताकि आपको इंग्लिश पढ़ने के साथ-साथ इंग्लिश को समझने में भी आगे चलकर आसानी हो जाएं। आप रोजाना न्यूज़पेपर को इंग्लिश भाषा में ही पढ़ने की कोशिश करें। 

और साथ ही साथ आप अगर टीवी में न्यूज़ देखते हो तो आप टीवी में इंग्लिश न्यूज़ को देखना शुरू करें और इंग्लिश न्यूज़ अपनी भाषा में समझने का प्रयास करें। आप इस तरीके का भी उपयोग करके बड़ी ही आसानी से इंग्लिश बोलना और पढ़ना सीख सकते हो।

टूटी फूटी ही सही पर इंग्लिश बोले

कई सारे लोगों को टूटी फूटी इंग्लिश बोलने का शौक होता है और वह बोलते भी है। परंतु कई सारे लोग उनका मजाक उड़ाएंगे इस वजह से वे इसे निरंतर रूप से बोलते नहीं हैं और वे अंतिम में टूटी फूटी इंग्लिश बोलना भी बंद कर देते हैं। 

अगर आपको इंग्लिश बोलना सीखना है तो, आपको टूटी-फूटी लैंग्वेज में ही इंग्लिश बोलना होगा क्योंकि कभी भी कोई चीज एक बार में परफेक्ट नहीं होती।  सभी लोगों को शुरुआती समय में परेशानी का सामना करना पड़ता है। अगर आपको किसी के सामने टूटी फूटी इंग्लिश बोलने में अच्छा नहीं लगता है। 

या फिर आप कंफर्ट महसूस नहीं करते हो तो कोई बात नहीं। आप एक शीशे के सामने खड़े होकर ही टूटी फूटी इंग्लिश बोलने की प्रैक्टिस करते रहे और अगर आप कोई चीज गलत बोल रहे हो तो, आप उसे इंटरनेट पर सर्च करें और उसका सही मतलब निकाल कर फिर दोबारा से प्रैक्टिस करें। 

इस प्रकार से आप टूटी फूटी इंग्लिश बोलने के साथ-साथ सही इंग्लिश बोलना भी सीख जाओगे। पर इसकी शुरुआत आपको टूटी-फूटी ही सही परंतु इंग्लिश बोलने में करनी जरूरी है।

इंग्लिश सिखाने वाले ऐप का इस्तेमाल करें

आज के डिजिटल समय में वह सब कुछ संभव है जो एक समय असंभव हुआ करता था। अगर आपको इंग्लिश में बोलना और इंग्लिश पढ़ना सीखना है तो आज के समय में आपको गूगल के प्ले स्टोर पर या फिर एप्पल के एप स्टोर पर बहुत सारे ऐसे एप्लीकेशन मिल जाएंगे, जो इंग्लिश बोलना और पढ़ना सिखाते हैं। 

बस आपको अपने लिए सही एप्लीकेशन को सेलेक्ट करना होगा। आप इंटरनेट पर जाकर के अच्छे से रिचार्ज करके कोई भी एक इंग्लिश सिखाने वाले ऐप को अपने फोन में इंस्टॉल कर लीजिए और उसका इस्तेमाल नियमित रूप से शुरू कर दीजिए यकीन मानिए आपको इससे भी काफी ज्यादा फायदा होता है। 

क्योंकि इंग्लिश सिखाने वाले ऐप अब पहले के मुकाबले काफी ज्यादा एडवांस हो चुके हैं और इंग्लिश सिखाने के नए-नए तरीकों का उपयोग करके हमें इंग्लिश में ट्रेनिंग देते हैं और हम उनका उपयोग करके इंग्लिश पढ़ना और इंग्लिश बोलना आसानी से सीख सकते हैं।

खुद का ही नियमित रूप से टेस्ट ले

आप जो भी इंग्लिश बोलने की प्रैक्टिस कर रहे हो आप उसे अपने फोन में रिकॉर्ड करने की कोशिश करें और उसके बाद आप उसे सुनने की भी कोशिश करें। आप देखिए कि आपने क्या शब्द बोला है और क्या वह इंग्लिश भाषा में सही है?

यदि आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आपने क्या बोला है? और वह गलत है या सही तो आप इसे वेरीफाई करने के लिए इंटरनेट पर सर्च कर सकते हो और वहां पर आपको आपका जवाब आसानी से मिल जाएगा और साथ ही साथ अपने पंक्चुएशन पर भी ध्यान दें। 

यदि आपको पंक्चुएशन समझ में नहीं आ रहा है, तो आप यूट्यूब पर पंक्चुएशन से संबंधित अनेकों प्रकार के वीडियो देख सकते हो या फिर आप चाहो तो गूगल पर से ही आर्टिकल को पढ़ सकते हो और पंक्चुएशन को सीख सकते हो। इस प्रकार से इंग्लिश को पढ़ना और बोलना आसानी से सीखा जा सकता है।

इंग्लिश मूवी देखें और उसका अर्थ समझे

दोस्तों कोई भी मूवी हम बड़े ही ध्यान से देखते हैं क्योंकि मूवी देखने में इंटरेस्ट काफी बना रहता है और हमारा ध्यान मूवी से कहीं और नहीं भटकता। इसीलिए अगर आपको इंग्लिश बोलना और इंग्लिश पढ़ना सीखना है तो आप इंग्लिश मूवी देखना शुरू कर दीजिए।

आपको जिस भी कैटेगरी की मूवी देखना पसंद है जैसे की एक्शन मूवी, साइंस फिक्शन मूवी या फिर आप जिस किसी भी कैटेगरी की मूवी को देखना पसंद करते हो। आप उसी कैटेगरी के मूवी को इंग्लिश भाषा में देखने की कोशिश करें और साथ ही साथ मूवी में बोले जाने वाले डायलॉग को अपनी भाषा में समझने का प्रयास करें।

एक बार मूवी को पूरा देखें इसके बाद आपको जो भी चीज समझ में नहीं आ रही है आप उसका हिंदी में या फिर अपने रीजनल लैंग्वेज में गूगल पर जाकर ट्रांसलेट करें और आपको इस प्रकार से उस मूवी का डायलॉग समझ में आ जाएगा और साथ ही साथ आप इंग्लिश समझना भी धीरे-धीरे सीख जाओगे और जब आप सीख जाओगे तो आपको इंग्लिश बोलना भी आसानी से आ जाएगा।

इंग्लिश में आर्टिकल पढ़ने की कोशिश करें

अगर आपको किसी भी चीज की जानकारी हासिल करनी है तो, आप उस विषय पर गूगल पर आर्टिकल को पढ़ सकते हो। आज आपको गूगल पर अलग-अलग भाषाओं में आसानी से आर्टिकल मिल जाएगा। परंतु आपको यहां पर अपने रीजनल लैंग्वेज में आर्टिकल नहीं पढ़ना है बल्कि आपको इंग्लिश भाषा में उसी आर्टिकल को पढ़ने की कोशिश करना है। 

मान लीजिए आपको मोबाइल को रिसेट करने का तरीका जानना है तो, आप इसी आर्टिकल को गूगल पर इंग्लिश भाषा में पढ़े और साथ ही साथ बताए गए तरीके को इंग्लिश भाषा में समझने की कोशिश करें। जब आप ऐसा करोगे तो यकीनन आप को इंग्लिश पढ़ना आ जाएगा। 

और साथ ही साथ आप को इंग्लिश समझने में भी आसानी हो जाएगी और आप इस तरीके से गूगल का इस्तेमाल करते हुए फ्री में सिर्फ अपने संबंधित आर्टिकल को इंग्लिश भाषा में पढ़ करके इंग्लिश बोलना सीख सकते हो।

अपनी भाषा को इंग्लिश में ट्रांसलेट करें और समझे

दोस्तों अगर आपको इंग्लिश बोलना और पढ़ना सीखना है तो, सबसे पहले आप जो भी इंग्लिश में बोलना चाहते हो उसे हिंदी भाषा में लिख लीजिए या फिर आपकी जो भी रीजनल भाषा है आप लिखिए और फिर गूगल ट्रांसलेटर की सहायता से उसी चीज को इंग्लिश में ट्रांसलेट करने की कोशिश करें। 

आप किसी चीज को निरंतर रूप से अपने इंग्लिश सीखने की प्रैक्टिस लिस्ट में शामिल कर लीजिए और रोजाना इसे नियमित रूप से करने की कोशिश करते रहे। मान लीजिए आप किसी से पूछना चाहते हो कि आपका क्या हाल-चाल है और आप इस समय क्या कर रहे हो? तो आपको इसी चीज को अपने रीजनल भाषा में सबसे पहले लिख लेना है और गूगल ट्रांसलेटर पर जाने के बाद इसी चीज को कॉपी पेस्ट वहां पर कर देना है।

फिर आपको इसका इंग्लिश में क्या मतलब होगा? या फिर आप इसे इंग्लिश में क्या बोलोगे? गूगल ट्रांसलेटर ट्रांसलेट करके बता देगा और आप इस प्रकार से फ्री में इंग्लिश बोलने और पढ़ने की प्रैक्टिस को कर सकते हो। ध्यान रहे चीज को आप रोजाना करें ताकि आपकी प्रैक्टिस होते रहे और आप इंग्लिश में बात करना और पढ़ना सीखना शुरू कर दो।

शीशे के सामने इंग्लिश बोलने की प्रैक्टिस करें

अगर आप इंग्लिश बोलना और पढ़ना सीख रहे हो तो, आप किसी के सामने इसकी प्रैक्टिस नहीं कर सकते क्योंकि खुद आपको अच्छा नहीं लगेगा और आप सोचोगे कि अगर आपने गलत बोल दिया तो सामने वाला आप का मजाक उड़ा देगा और इसीलिए आप कभी भी अपने प्रैक्टिस को इस तरीके से शुरू नहीं कर सकते।

अगर आपको इंग्लिश बोलने की प्रैक्टिस को जारी रखना है तो, आप किसी के सामने मत बोलिए बल्कि आप शीशे के सामने खड़े हो जाइए और आप ने जहां तक भी प्रैक्टिस की है उन सभी चीजों को कोशिशें के सामने बोलने की कोशिश करें और आप इस प्रकार से बड़ी ही आसानी से इंग्लिश में बोलना और इंग्लिश पढ़ना भी सीख सकते हो। यह प्रैक्टिकल तरीका है, जो कई सारे लोग करते हैं और आप भी कर सकते हो।

FAQ

इंग्लिश सीखने की शुरुआत कैसे करें?

आपको इंग्लिश बोलने की शुरुआत अगर करनी है तो, आप शुरुआती समय में बच्चों के इंग्लिश की बुक के ऊपर और धीरे-धीरे अपने लेवल के हिसाब से किताब पढ़ने कोशिश करें। इंग्लिश के नए शब्द सीखें और उसे कोई एक नोटबुक बनाकर के लिखें ताकि वह आपको याद हो सके और इस तरीके से आप इंग्लिश बोलने की और सीखने की शुरुआत कर सकते हो।

इंग्लिश सीखने का आसान तरीका क्या है?

अगर आपको इंग्लिश सीखने का आसान तरीका जानना है तो, आप यूट्यूब पर इंग्लिश सिखाने वाले चैनल को फॉलो कर सकते हो और इतना ही नहीं आप गूगल के प्ले स्टोर पर से जाकर इंग्लिश सिखाने वाले एप्स को भी अपने फोन में इंस्टॉल करके यूज कर सकते हो और साथ ही साथ ऑफलाइन या फिर ऑनलाइन इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स को भी कर सकते हो।

इंग्लिश कितने दिन में सीख सकते हैं?

अगर आप पूरी लगन और पूरी जिज्ञासा के साथ इंग्लिश लिखते हो तो, आप 6 महीने के अंदर अंदर ही इंग्लिश लैंग्वेज को बोलना और पढ़ना आसानी से सीख सकते हो बशर्ते आपके अंदर इसे सीखने की सबसे तीव्र इच्छा होनी चाहिए और आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी कभी भी कम नहीं होना चाहिए।

निष्कर्ष

इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? के बारे में हमने आज के अपने इस महत्वपूर्ण लेख में विस्तार पूर्वक से जानकारी दी हुई है और आसान तरीके से इंग्लिश सीखने के बारे में बताया हुआ है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आप लोगों को काफी पसंद आई होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित हुई होगी।

अगर आप लोगों को इंग्लिश बोलने और सीखने के तरीके के ऊपर प्रस्तुत किया गया यह लेख पसंद आया हो तो, आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आपके जरिया ने लोगों को इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके और उन्हें आगे ऐसे ही सेल्फ इंप्रूवमेंट और पर्सनैलिटी डेवलपमेंट से संबंधित लेख को पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

यदि आपके मन में हमारे आज के इस महत्वपूर्ण लेख से संबंधित किसी भी प्रकार का सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को शुरुआत से लेकर अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़ें :

बर्थडे की पार्टी किस तरह करें

ज्यादा सोने के नुकसान क्या है?, इसकी आदत कैसे छोड़े?

बिजली विभाग को पत्र कैसे लिखे?

डीएम (DM) को एप्लीकेशन कैसे लिखें?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।