गुड़िया के बाल कैसे बनाते हैं?

जब भी हम अपने बचपन को याद करते हैं तो हम सभी के बचपन में एक खास चीज थी वह थी गुड़िया के बाल, जो की रुइ के तरह गुलाबी पंखुड़ियों की तरह थी और जिसे मुंह में डालते ही वह घुल जाती थी। हम सभी को और आज भी सभी को पसंद आने वाली गुड़िया के बाल, जिसे कि दूसरे नामों से पुकारा जाता है। जैसे कि बुढ़िया के बाल, रुई की पंखुड़ी वाली टोफि और हवा मिठाई इत्यादि।

buddhi ke baal kaise bante hain

गुड़िया के बाल आजकल कई रंगों में भी मिलने लगी है और यह पहले कुछ लोग ही बना कर बेचते थे। लेकिन आजकल यह पार्टियों में, कोई भी फंक्शन में गुड़िया के बाल आसानी से मिल जाते हैं। तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कि कैसे गुड़िया के बाल बनाए जाते हैं?

गुड़िया के बाल कैसे बनाते हैं?

गुड़िया के बाल क्या है?

गुड़िया के बाल जो कि हर वर्ग के लोगों की पहली पसंद होती है और हर कोई इसे खाने के लिए लालायित रहता है। गुड़िया के बाल जिसे इंग्लिश में Cotton Candy, Candy floss या Fairy floss कहते हैं। इसकी खोज 19वीं शताब्दी में हुई थी और उस समय यह कैंडी काफी महंगी होती थी। इसीलिए यह अमीर लोगों के लिए ही होती थी और गरीब लोग इसको नहीं खा पाते थे।

इस कैंडी के महंगा होने का सबसे बड़ा कारण यह था कि यह हाथों से बनाई जाती थी, जिसमें की काफी मेहनत लगती थी। जिस वजह से इसकी कीमत ज्यादा होती थी इसीलिए यह गरीब लोगों के लिए महंगी थी।

लेकिन 1978 में एक आविष्कार हुआ जिसमें की गुड़िया के बाल बनाने वाली मशीन बनाई गई। जिसके बाद गुड़िया के बाल सस्ती हो गई और यह आम जनता के लिए भी आसानी से उपलब्ध होने लगी क्योंकि इसकी कीमत इतनी सस्ती हो गई कि गरीब लोग भी इसे खरीद कर खाने लगे।

गुड़िया के बाल किसने बनाई थी?

गुड़िया के बाल बनाने वाले का नाम जानकर आपको हैरानी होगी क्योंकि गुड़िया के बाल बनाने वाले एक डेंटिस्ट थे और डेंटिस्ट बच्चों को चॉकलेट खाने के लिए मीठा खाने के लिए हमेशा मना करते हैं क्योंकि यह हमारे दांतो में फंस जाते हैं और वहां पर cavity उत्पन्न करते हैं, जिससे कि हमारे दांत खराब हो जाते हैं।

लेकिन एक डेंटिस्ट जिसका नाम था William Morrison और John C. Wharton ने 1897 में एक मशीन का आविष्कार किया। जिससे कि गुड़िया के बाल बनाए जाने लगे। William Morrison और John C. Wharton ने 1904 में World’s Fair में Fairy Floss का नाम देकर गुड़िया के बाल को सभी के सामने लाए थे और उस समय लोगों ने पहली बार गुड़िया के बाल को खाया और लोगों को काफी पसंद आया और विलियम ने भारी मात्रा में गुड़िया के बाल बेचकर मुनाफा कमाया।

गुड़िया के बाल जब पहली बार आविष्कार किया गया था, तो वह सिर्फ गुलाबी कलर का था। लेकिन इसकी लोकप्रियता इतनी बढ़ गई कि कंपनी वालों ने गुड़िया के बाल को कई रंगों में बनाना प्रारंभ कर दिया है। जिसका सबसे ज्यादा उत्पादन कनाडा की में सबसे ज्यादा उत्पादन किया जाता है, जिसका नाम है Tootsie Roll और यह बहुत प्रकार की वैरायटी दार गुड़िया के बाल बनाती है।

एक महत्वपूर्ण जानकारी जिसको सुनकर आपको हैरानी होगी कि “अमेरिका में 7 दिसंबर को नेशनल कॉटन कैंडी डे” मनाया जाता है। इस बात को जानकर आपको पता लग गया होगा कि कॉटन कैंडी यानी की गुड़िया के बाल की लोकप्रियता कितनी बड़ी है।

गुड़िया के बाल कैसे बनाई जाती है?

गुड़िया के बाल की मिठाई जो बनती है, वह विशेषकर चीनी से ही बनती है। इसमें लगभग 99% चीनी का प्रयोग किया जाता है और 1% में खाने वाले रंग और फ्लेवर का प्रयोग किया जाता है। जिससे कि गुड़िया के बाल स्वादिष्ट और रंगीन लगे और लोगों को काफी आकर्षित लगे और इससे लोग खाने के लिए अग्रसर हो।

गुड़िया के बाल में चीनी का ही ज्यादा प्रयोग किया जाता है और चीनी को इस तरह महीन पीसकर रूई के तरह बना दी जाती है । जिसे हम लोग खाते हैं और मुंह में डालते ही यह चीनी की तरह घुल जाती है।

सबसे पहले आपको बता दें, कि गुड़िया के बाल बनाने के लिए आपको गुड़िया के बाल बनाने वाली मशीन लेनी पड़ेगी और उसमें चीनी के गाडा घोल को डाला जाता है।

चीनी के गाढ़े घोल गर्म होकर तेजी से घूमने लगते हैं। इसके बाद चीनी के महीन घोल रुई के रेशे की तरह या मकड़ी के जाले की तरह हमें दिखने लगते हैं। जिससे कि एक लकड़ी में घुमा घुमा कर गुड़िया के बाल एकत्रित किया जाता है और इसके बाद हमारे हाथ में एक लकड़ी में गुड़िया का बाल बनकर आ जाता है।

गुड़िया के बाल बनाने की बहुत प्रकार की मशीनें आती है, जिसमें एक प्रकार की मशीन ऐसी होती है कि जिसमें गुड़िया के बाल बनाने के पहले ही उस मशीन को गर्म किया जाता है और उस मशीन के बीच में चीनी के गाढ़े घोल और रंगों के फ्लेवर डालकर मशीन ऑन की जाती है।

इसके बाद चीनी के रुई की मिठाई तैयार हो जाती है, जिसे हम गुड़िया के बाल भी कहते हैं। तो दोस्तों इस प्रकार गुड़िया के बाल, रूई के गोला, बुड्ढी का बाल, कॉटन कैंडी, हवा मिठाई तैयार की जाती है और जो हर वर्ग के लोगों के लिए सबसे पहली पसंद होती है।

निष्कर्ष

गुड़िया के बाल छोटे बच्चे से लेकर बड़े तक सभी को प्रिय होती है। मार्केट में इसकी अच्छी डिमांड है। इसका स्वाद बहुत ही बेहतरीन होता है।

इस आर्टिकल में हमने आपको गुड़िया के बाल कैसे बनाते है के बारे में विस्तारपूर्वक बताया है इसके जरिये आपको गुड़िया के बाल कैसे बनाते है के बारे में पता चल गया होगा। आर्टिकल पसंद आये तो उन्हें सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और आर्टिकल से सम्बंधित कोई भी माहिती हो तो हमें कमेंट करके जरुर बताएं।

यह भी पढ़ें

शीलम परम भूषणम का हिंदी अर्थ क्या होता है?

पृथ्वी का वजन कितना है?

मैगी कौन सी चीज से बनती है?

चिया के बीज क्या है? (पहचान, प्रयोग, फायदे और सेवन कैसे…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here