भारत की नदियां पर निबंध

Bharat ki Nadiya Essay in Hindi: पानी की एक बड़ी धारा को नदी कहते हैं। भारत में नदियां लगभग सभी जगहों पर हैं। शायद ही कोई ऐसी जगह हो जहाँ पर नदी ना हों। नदी पहाड़ या झील के पानी से मिलकर एक समतल भूमि पर आ जाती हैं। धीरे-धीरे यह चौड़ी धारा में परिवर्तित हो जाती हैं, इसे लोग नदी कहते हैं।

हम यहां पर भारत की नदियां पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में भारत की नदियां के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेयर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Bharat-ki-Nadiya-Essay-in-Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

भारत की नदियां पर निबंध | Bharat ki Nadiya Essay in Hindi

भारत की नदियां पर निबंध (250  शब्द)

अपना भारत एक कृषि प्रधान देश है और यहां पर नदियां का विशेष महत्व होता है। नदी को मानव जाति की जीवनदायिनी के नाम से भी जानते हैं। भारत देश का आर्थिक और सांस्कृतिक विकास करने में नदियां का विशेष योगदान रहा हैं। संपूर्ण विश्व में नदी का जल प्राप्त होता हैं।

सभी प्रकार की नदियां से मनुष्यो को विशेष प्रकार से लाभ प्राप्त होता हैं। अपने देश में नदियां को सिर्फ संस्कृति रूप में ही नहीं, जल स्रोत के रूप में भी अधिक महत्व दिया गया हैं। भारत के लोग नदी को पूजते भी हैं क्योंकि सभी लोग इसको जीवन देने वाले देवता के रूप में नदी को देखते हैं। आज बहुत से नगर नदी के किनारे ही बसे हुए हैं।

देश में आपको कई सारी नदियां देखने को मिल जाती हैं। यहां पर लोग नदी को गंगा नदी के नाम से जानते हैं और इसकी पूजा करते हैं। हिंदू पुराणों में मान्यता है कि जो भी व्यक्ति नदी में स्नान कर लेता है। उसके सारे पाप धुल जाते हैं। इसके अलावा जिस व्यक्ति की मृत्यु हो जाती हैं। उसकी अस्थियां भी गंगा मे ही प्रवाहित की जाती हैं।

भारत देश में कई नदिया हैं। जैसे की सबसे पवित्र नदी की बात करू तो गंगा नदी का नाम सबसे पहले आता हैं। इसने बाद जमुना, सरस्वती, ब्रह्मपुत्र, गोदावरी, सरयू नदी, तापी और साबरमती नदी हैं। भारत की लगभग सभी नदियां का अपना अलग ही महत्व हैं। देश की सबसे लंबी नदी गंगा हैं। यह नदी भारत के चार राज्यों से होकर गुजरती हैं।

भारत की नदियां पर निबंध (1000 शब्द )

प्रस्तावना

भारत एक कृषि प्रधान देश है, जिसकी आधी से अधिक जनसंख्या सिर्फ खेती पर ही निर्भर है तथा खेती की सिंचाई के लिए वह नदियां के जल का प्रयोग करता है। भारत में नदियां की पूजा की जाती हैं और इसको पवित्र भी माना जाता हैं। भारत में गंगा, यमुना, सरस्वती और कावेरी आदि कई प्रकार की नदियां हैं। जो देश में कृषि कार्य और अन्य कार्यों के लिए जल प्रदान करती हैं।

देश में लोग नदी को गंगा नदी या गंगा मां कह कर बुलाते हैं। भारत देश के इलाहाबाद को संगम के नाम से जाना जाता हैं क्योंकि यहां पर तीनों नदियां का मिलन होता है। इस जगह पर गंगा जमुना और सरस्वती तीनों नदियों का जल एकत्रित होकर एक में ही मिल जाता है इसलिए इस जगह को संगम नगरी के नाम से भी जानते हैं। पुराने समय में बहुत से संत और महान विचारक इन नदियों के पास ही रहते थे और अपने प्राण त्याग देते थे।आपकी जानकारी के लिए बता दे की विश्व की सबसे लंबी नदी नील नदी है, जो अफ्रीका देश में बहती हैं।

नदी का पानी कृषि कार्य करने मे मदद करता हैं

जैसा कि आपको पहले से ही पता है कि भारत एक कृषि प्रधान देश है और भारत में अधिकतर जितेश नदी के पानी के माध्यम से ही की जाती है। बहुत से देशों में अधिक नदियां हैं। वहां पर अधिक फस्ले की जाती हैं। फसलें अधिक होने के कारण वहां पर अकाल भी बहुत ही कम पड़ता है। नदी होने के कारण सिंचाई करने में आसानी हो जाती है

नदी का जल देश को स्वस्थ बनाता है

आपने देखा होगा कि अक्सर नदी के किनारे वाले इलाके या जगह स्वस्थ होती हैं। इसके अलावा जिस देश में नदियों की संख्या कम होती है। उस देश में मलेरिया और अकाल पड़ने का खतरा अधिक हो जाता हैं।

भारत की नदियों से व्यापार और वाणिज्य में मदद

नदियां से हमारे व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्र में मजबूती मिलती है। आज नदियों के किनारे बड़े बड़े बंदरगाह विकसित हो चुके हैं। पिछले समय की बात करें तो पहले व्यापार करने के लिए रेलवे सड़क मार्ग नहीं हुआ करती थी तो अधिक से अधिक व्यापार जल के माध्यम से ही किया जाता था तब व्यापारी व्यापार करने के लिए अपने माल को नाव के सहारे एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया करते थे।

भारत में आज भी बहुत सा व्यापार जल मार्ग के माध्यम से किया जाता हैं। आज भी नावे और स्टीमर कपास, जूट और अन्य खाने पीने की वस्तुएं पहुंचाती हैं। नदियां हमारी कई प्रकार से मदद करती हैं। नदियां कई प्रकार बहती हैं। ऊपर से नीचे की ओर बहने वाली नदियों में तेज धारा होती हैं। इन तेज धारा का प्रयोग मनुष्यो द्वारा बिजली को पैदा करने और मिलो की पहाड़ियों को मोड़ने में किया जाता हैं। भारत सरकार ने नदी परियोजना के क्षेत्र में कई पॉवर स्टेशन को स्थापित किया हैं। इन नदियों के जल का प्रयोग करके सस्ती कीमतों पर बिजली उत्पन्न की जाती हैं।

नदी को देखने पर हमारे मन को अत्यंत शांति प्राप्त होती हैं। गर्मी, सर्दी और बसंत ऋतु में नदियों का जल शांत रहता हैं। बहुत से लोग इन ऋतु में नदियां के किनारे टहलने जाते हैं। इसके अलाव कई सारे लोग नाव या स्टीमर से नदी की यात्रा का भी लाभ लेते हैं।

अगर भारत देश की सबसे बड़ी और सबसे लंबी नदी की बात करें तो यह गंगा नदी है। यह नदी हिमालय से निकलती हैं। यह पवित्र पहाड़ों से होकर और शिव की नगरी यानी की हरिद्वार से होकर आती हैं। इसके अलावा यह पवित्र नदी दिल्ली और आगरा जैसे बड़े शहरों से होकर निकलती हैं। बाद में फिर गंगा में मिल जाती हैं।

भारत की प्रमुख नदियां

गंगा

गंगा नदी भारत के प्रमुख नदी में से एक है और गंगा कोई सबसे पवित्र नदी भी माना जाता है। पौराणिक ग्रंथों में भी गंगा को पवित्र नदी माना गया है। यह नदी हिमालय से निकलती है तथा ऐसा कहा जाता है कि इसमें स्नान करने से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं।

ब्रह्मपुत्र

यह नदी भारत में अरुणाचल प्रदेश राज्य तक बहती हैं और यह तिब्बत के पठार से निकलती है। अरुणाचल प्रदेश राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी को सांगडो नदी के नाम से जानते हैं। अगर पूर्वी भारत की सबसे बड़ी नदी की बात करें तो इसका नाम सबसे पहले लिया जाता हैं।

गोदावरी नदी

गोदावरी नदी भारत की दूसरी सबसे बड़ी नदी में से एक हैं। यह नदी भारत के दक्षिण से निकलती है। यह नदी भी भारत में गंगा नदी की ही तरह पूजी जाती हैं। काफी विशाल मंदिर इस नदी के किनारे बसे हुए हैं। इस नदी से कृषि कार्य को करने में मदद तो मिलती ही हैं। साथ में भारत की अर्थव्यवस्था में काफी मदद देती हैं।

सिंधु नदी

यह भारत ही नहीं बल्कि विश्व की विशाल नदियां में से एक हैं। सिंधु नदी को विश्व की महान नदियों में गिना जाता हैं। यह नदी भारत से होकर पाकिस्तान तक जाती हैं।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने आपको भारत में नदियों के महत्व के बारे में सारी जानकारी दी हैं। इसके अलावा नदियां हमारे लिए क्या उपयोगी हैं। और इससे क्या लाभ प्राप्त होता हैं। इन सभी प्रश्नों के बारे में इस लेख में जानकारी दी हैं।

अंतिम शब्द

आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख  भारत की नदियां पर निबंध ( Bharat ki Nadiya Essay in Hindi) बहुत पसंद आया होगा अगर आपको यह पसंद आया है तो आप उसको लाइक कर सकते हैं तथा इससे जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आप कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट भी कर सकते हैं

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here