भारत की जनसंख्या कितनी है?

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai: भारत में कुल कितने लोग रहते है?, अपने राज्य में कितने लोग रहते है?, ये यूपी और बिहार के रहने वाले इतने लोग यहाँ क्यों आए हुए है? ऐसे प्रश्न जब बच्चे होते है तब बालमन में आते है, अभी हाल फिलहाल बालमन को एक किनारे करें तो भी ऐसे प्रश्न दिमाग में आते ही आते है। क्योंकि ऐसे सवालों से दिमाग की दही जो बन जाती है। तो आज के इस लेख में आपके दिमाग में जमे हुए दही का रायता बना कर खालेंगे क्योंकि आज सारे प्रश्नों का उत्तर मिल जाएगा।

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai
Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

भारत की कुल जनसंख्या कितनी है?

मानो या ना मानो लेकिन भारत आबादी के मामले में पूरे विश्व में दूसरे स्थान पर आता है, यानि कि चीन के बाद भारत की आबादी है। जिस तरीके से जनसंख्या में वृद्धि हो रही है, उस हिसाब से देखें तो हम 10 सालों में चीन को भी पीछे छोड़ कर प्रथम स्थान प्राप्त कर लेंगे। हर जगह फर्स्ट आना भी जरूरी नहीं है। इस मामले में ना आए तो बेहतर ही है।

भारत में 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश है, जिसकी वर्तमान में यानि 2021 में कुल जनसंख्या 139 करोड़ है। भारत की जनसंख्या की गणना हर 10 साल में होती है और ये प्रथा आजादी के बाद से ही शुरू हो गयी थी। पिछले दशक में जनसंख्या वृद्धि दर में कमी आई है, जिससे थोड़ी सी राहत मिली है। लेकिन यह राहत इतनी भी नहीं है कि हम आराम से बैठ जाएँ और जनसंख्या वृद्धि पर अंकुश ना लगाएँ। क्योंकि भारत पूरे विश्व में 17% की आबादी अपने में समाया हुए रखा है।

जैसा मैंने आपको बताया कि भारत में हर 10 साल से जनगणना होती है तो अबकी बार वर्ष 2021 में जनगणना होगी। अब मैं आपको पाँच-पाँच साल का लेखा-जोखा भी बताऊंगा जिसमें मैं वर्ष 2000 से 2021 के बीच की जनगणना के बारे में बातचीत करूँगा।

साल 2000 में भारत की कितनी जनसंख्या थी?

वर्ल्ड बैंक के स्रोत के अनुसार भारत की आबादी साल 2000 में 105.66 करोड़ थी। जो कि सन 1999 की जनसंख्या में 1.78% कि बढ़ोतरी है।

साल 2005 में भारत की कितनी जनसंख्या थी?

इन पाँच सालों में वृद्धि दर में कमी आई जिसका मतलब जनसंख्या में बढ़ोतरी बड़ी तेजी से नहीं होकर धीरे-धीरे हो रही थी। वर्ल्ड बैंक और मैक्रोट्रेंड्स के अनुसार साल 2015 में भारत की जनसंख्या 114.76 करोड़ थी और वृद्धि दर 1.59% थी।

साल 2010 में भारत की कितनी जनसंख्या थी?

यह साल जनगणना के हिसाब से बड़ा ही महत्वपूर्ण साल था, क्योंकि इस 2010 के बाद 2011 आ रहा था और पूरे दशक की जनगणना का रिकॉर्ड भी दर्शाना था। यह पूरा काम 2010 में ही करना होता है। अपने स्त्रोत मैक्रोट्रेंड्स के अनुसार 2010 में भारत की आबादी 123.43 करोड़ थी और बढ़ोतरी दर 1.36% थी।

साल 2015 में भारत की कितनी जनसंख्या थी

अब आ गए हम बीच वाले साल में यानि 2010 और 2020 के बीच का साल 2015। इस में आते आते वृद्धि दर में कमी आती गयी और जनसंख्या में अंकुश लगने लगा। हालाँकि उतना अंकुश नहीं लगा, लेकिन जरूरत के हिसाब ये अंकुश स्वीकार्य था। मैक्रोट्रेंड्स और विश्व बैंक के अनुसार साल 2015 में भारत की जनसंख्या 131 करोड़ थी और वृद्धि दर 1.12% थी।

साल 2016 से लेकर 2021 में भारत की कितनी जनसंख्या थी?

ग्रोथ रेट में गिरावट आ रही थी और सरकार द्वारा जनसंख्या नियंत्रण पर सख्त से सख्त नियम लागू कर रही थी। सरकार जितना हो सके उतना अपनी ओर से सारे प्रयास किए जा रही थी, जिससे आबादी को एक हद तक रोकने में सफल हो जाएँ। किसी राज्य में कामयाब भी हुये और कइयों में नाकामयाब। ये सिलसिला चलता रहेगा, लेकिन सरकार अपने कड़े कदम पीछे नहीं लेगी।

सालजनसंख्या (करोड़ में)ग्रोथ रेट/वृद्धि दर
2016132.461.10%
2017133.871.07%
2018135.261.04%
2019136.651.02%
20201380.99%
2021139.340.97%
*स्त्रोत: विश्व बैंक और मैक्रोट्रेंड्स

जैसा कि आपने देखा 2016 में 132 करोड़ जनसंख्या थी जो पाँच सालों में बढ़ते बढ़ते 139 करोड़ हो गयी, मतलब कि वृद्धि दर में बहुत ज्यादा गिरावट देखने को मिली। यह देश के लिए खुशी बात है।

भारत के राज्यों की जनसंख्या कितनी है?

भारत में कुल 28 राज्य है और उन सब में उत्तर प्रदेश राज्य की जनसंख्या सर्वाधिक है और सिक्किम सबसे न्यूनतम जनसंख्या वाला राज्य है। यह आँकड़े 2011 की जनगणना के अनुसार है और उसके अनुसार उत्तर प्रदेश की आबादी 19,98,12,341 है। नीचे सारणी से पूरे 28 राज्यों की जनगणना समझायी जा रही है उसे ध्यान से देखें। यह सारणी सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य से शुरू होकर सबसे कम आबादी वाले राज्य की ओर खत्म होगी।

प्राप्त स्थानराज्य का नामजनसंख्या (लगभग)
1उत्तर प्रदेश19 करोड़ 81 लाख
2महाराष्ट्र11 करोड़ 23 लाख
3बिहार10 करोड़ 40 लाख
4पश्चिम बंगाल9 करोड़ 13 लाख
5मध्य प्रदेश9 करोड़ 13 लाख
6तमिलनाडु7 करोड़ 20 लाख
7राजस्थान6 करोड़ 85 लाख
8कर्नाटक6 करोड़ 11 लाख
9गुजरात6 करोड़ 03 लाख
10आंध्र प्रदेश4 करोड़ 93 लाख
11उड़ीसा4 करोड़ 19 लाख
12तेलंगाना3 करोड़ 52 लाख
13केरल3 करोड़ 34 लाख
14झारखंड3 करोड़ 30 लाख
15असम3 करोड़ 12 लाख
16पंजाब2 करोड़ 77 लाख
17छतीसगढ़2 करोड़ 55 लाख
18हरियाणा2 करोड़ 53 लाख
19उत्तराखण्ड1 करोड़ 01 लाख
20हिमाचल प्रदेश68 लाख 56 हजार
21त्रिपुरा36 लाख 71 हजार
22मेघालय29 लाख 64 हजार
23मणिपुर27 लाख 21 हजार
24नागालैण्ड19 लाख 80 हजार
25गोवा14 लाख 57 हजार
26अरुणाचल प्रदेश13 लाख 82 हजार
27मिज़ोरम10 लाख 91 हजार
28सिक्किम6 लाख 07 हजार

ये सारे जनगणना 2011 में दिये गए आँकड़े के अनुसार है।

भारत की जनसंख्या का फोरकास्ट

फोरकास्ट का सीधा मतलब होता है भविष्यवाणी करना। भारत की जनसंख्या की भविष्यवाणी उसकी वृद्धि दर के अनुसार किया जाता है। पिछले कुछ समय से देखा जाये तो भारतवासियों के बीच जनसंख्या नियंत्रण को लेकर जागरूकता बढ़ी है। हम दो हमारे दो के नारे को सख्ती से पालन करने लगे है। क्योंकि उनको पता लग चुका है कि ज्यादा आबादी होने से बेरोजगारी ज्यादा बढ़ती है।

जब बेरोजगारी बढ़ती है, तब खाने पीने के लाले पड़ जाते है। छोटा परिवार सुखी परिवार के पहल को आसानी से समझा गया है। अब सवाल यह है कि आने वाले 10 सालों में भारत की जनसंख्या क्या होगी? तो निम्नलिखित सारणी से हम भविष्य में भारत की कितनी जनसंख्या होगी, उसके बारे में जानेंगे। सारणी का स्त्रोत वर्ल्डमीटर है।

सालजनसंख्या
2020138 करोड़
2025144 करोड़ 51 लाख
2030150 करोड़ 03 लाख
2035155 करोड़ 37 लाख
2040159 करोड़ 26 लाख
2045162 करोड़ 06 लाख
2050163 करोड़ 91 लाख

भारत की जनसंख्या से जुड़े तथ्य

भारत की जनसंख्या से कुछ ऐसे रोचक तथ्य जुड़े हुए है, जिसको जानकर आपको भी आश्चर्य होगा।

  • भारत की कुल जनसंख्या दुनिया की कुल आबादी के 17.7% के बराबर है।
  • भारत का जनसंख्या घनत्व 464 प्रति किमी2 है।
  • भारत के लगभग 65 मिलियन से अधिक लोग झुग्गी-झोपड़ियों में रहते है। यह पूरी संख्या थाईलैंड की कुल जनसंख्या से कुछ ही कम है। थाईलैंड की जनसंख्या 67.01 मिलियन है।
  • भारत का उत्तर प्रदेश राज्य आबादी में पहला स्थान रखता है, 2013 में यूपी की कुल जनसंख्या ब्राज़ील देश की कुल जनसंख्या से अधिक थी। ब्राज़ील की 200.4 मिलियन थी, वही उत्तर प्रदेश की 204.2 मिलियन थी।
  • साल 2013 में प्रयागराज में जो 2 महीने कुंभ का मेला चला था, उसमें आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या लगभग 120 मिलियन थी जो मेक्सिको की कुल जनसंख्या के बराबर थी।
  • मुस्लिम समुदाय के परिवारों की जनसंख्या 172.2 मिलियन है जो भारत की कुल जनसंख्या का केवल 14% है और पाकिस्तान में मुसलमानों की संख्या उसके कुल जनसंख्या का 97% यानि 176.2 मिलियन है।

यह है भारत की जनसंख्या (Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai) के बारे में विस्तृत जानकारी है।

2021 में भारत की जनसंख्या कितनी है?

भारत में 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश है, जिसकी वर्तमान में यानि 2021 में कुल जनसंख्या 139 करोड़ है।

भारत का सबसे कम जनसंख्या वाला राज्य कौन है?

सबसे कम जनसंख्या वाला राज्य सिक्किम है।

भारत का सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य कौन है?

भारत में कुल 28 राज्य है और उन सब में उत्तर प्रदेश राज्य की जनसंख्या सर्वाधिक है। यह आँकड़े 2011 की जनगणना के अनुसार है और उसके अनुसार उत्तर प्रदेश की आबादी 19,98,12,341 है।

भारत में मुस्लिम आबादी कितनी है?

मुस्लिम समुदाय के परिवारों की जनसंख्या 172.2 मिलियन है जो भारत की कुल जनसंख्या का केवल 14% है।

1947 में भारत की जनसंख्या कितनी थी?

1947 में भारत की जनसंख्या 33 करोड़ थी।

जनसंख्या की दृष्टि से सबसे छोटा देश कौन सा है?

जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे छोटा देश देश वैटिकन सिटी है, जहां की जनसंख्या मात्र 800 है।

जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश कौनसा है?

जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश चीन है?

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर की गई यह जानकारी “भारत की जनसंख्या कितनी है (Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai)” आपको पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here