अन्त न पाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

अन्त न पाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ant na paana Muhavara ka Arth Aur Vakya Pryog )

अन्त न पाना मुहावरे का अर्थ – रहस्य न जान पाना, किसी बात या तथ्य का अर्थ ना जान पाना, किसी का भेद नहीं जानना, जिसका कोई ओर-छोड़ ना हो।

Ant na paana muhaavare ka arth – rahasy na jaan paana, kisee baat ya tathy ka arth na jaan paana, kisee ka bhed nahin jaanana, jisaka koee or-chhod na ho.

अन्त न पाना मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन इतना चलाक है कि कोई उसके रहस्य के बारे में नहीं जान पाता है अर्थात अंत ना जान पाता है।

वाक्य प्रयोग: भगवान की माया का कोई भी इंसान अंत नहीं जान सकता।

वाक्य प्रयोग: चाहे कोई भी कितना बड़ा ज्योतिष क्यों ना हो वह अपने कल के बारे में नहीं जान सकता अर्थात वह अपना अंत नहीं जान सकता ।

वाक्य प्रयोग: इस संसार में लोगों की मृत्यु कब होगी यह किसी को भी नहीं पता होता है इसे कहते हैं अपना अंत ना पाना।

यहां हमने “अन्त न पाना “जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। अंत ना पाना मुहावरे का अर्थ है कि किसी का गुप्त भेद नहीं जान पाना किसी का रहस्य नहीं जानना।आजकल लोग इतने रहस्यमई हो गए हैं कि उनके बारे में जान पाना अत्यधिक असंभव हो गया है। लोग अपने चेहरे के ऊपर अनेक प्रकार के चेहरे लगाकर घूमते हैं जिससे उसके मन की बात जान पाना उसका गुप्त भेद जान पाना असंभव हो गया है।

अंत ना पाना मुहावरे का अर्थ है कि किसके भाग में क्या छुपा है भाग्य में क्या क्या छिपा है यह कोई नहीं जान सकता क्योंकि यह बहुत ही बड़ा रहस्य है और इसके बारे में कोई भी कुछ नहीं कह सकता जैसे उदाहरण के लिए हम भगवान राम का उदाहरण ले सकते हैं जैसे भगवान राम को सुबह में गद्दी पर बैठना था महाराज बनना था लेकिन वह वनवास को चले गए। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

खाला जी घर होनाकरारा जवाब देना
उड़ती चिड़िया के पंख गिननाकान भरना
आम के आम गुठलियों के दामअपना उल्लू सीधा करना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here