सुब्रत राय का जीवन परिचय

Subrata Roy Biography in Hindi: वर्तमान समय में किसी भी देश के ज्यादातर लोग बिजनेस लाइन में ही अपना करियर आजमा रहे हैं। कुछ लोग बिजनेस लाइन में अपने करियर को काफी बुलंदियों तक पहुंचा लेते हैं और कुछ लोग इसमें सक्सेस नहीं हो पाते। आज हम आपको ऐसे व्यक्ति के बारे में बताएंगे जो कि काफी मशहूर और बहुत बड़े बिजनेसमैन हैं।

जी हां, आपने बिल्कुल सही समझा हम बात करने वाले हैं, सहारा ग्रुप ऑफ कंपनी के मालिक सुब्रत राय के बारे में। सुब्रत राय जी के व्यापार के बारे में लगभग सभी लोग जानते होंगे और जो लोग सुब्रत रॉय के लाइफस्टाइल और इनके इस बुलंदी तक के सफर के बारे में जानकारी नहीं है, उनके लिए आज का यह लेख काफी महत्वपूर्ण होने वाला है।

Subroto Roy Biography in Hindi
Image: Subrata Roy Biography in Hindi

आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं, सुब्रत राय कौन है?, सुब्रत राय का जीवन परिचय क्या है?, सुब्रत राय किन विवादों में फंसे हुए हैं? और सुब्रत राय की नेटवर्क क्या है? चलिए शुरू करते हैं, आज का यह महत्वपूर्ण लेख और जानते हैं सुब्रत राय के बारे में।

सुब्रत राय का जीवन परिचय | Subrata Roy Biography in Hindi

सुब्रत राय के बारे में संक्षिप्त जानकारी

नामसुब्रत राय
जन्म10 जून 1948 ईस्वी
जन्म स्थानबिहार का अररिया जिला
शिक्षाइंजीनियरिंग की डिग्री
माताछवि राय
पितासुधीर चंद्र रॉय
पेशाबिज़नस मैन
कंपनीसहारा ग्रुप
पत्नीस्वप्ना रॉय

सुब्रत राय कौन है?

दोस्तों सुब्रत राय भारत के एक जाने-माने बिजनेसमैन है, इन्होंने अपने बिजनेस करियर की शुरुआत बड़े ही छोटे पैमाने पर शुरू किया था और वर्तमान में इनकी कंपनी बुलंदियों को छू रही है। सुब्रत राय की कंपनी से उन्हें काफी लाभ प्राप्त हो रहा है।

सुब्रत राय बहुत ही बड़े सहारा ग्रुप ऑफ कंपनी के मालिक है। अपनी कंपनी और अपनी कड़ी मेहनत के दम पर सुब्रत राय वर्तमान समय में करोड़पति बन चुके हैं इनकी नेटवर्थ करोड़ों में है। बिजनेसमैन सुब्रत राय भारत के टॉप 10 बिजनेसमैन में भी शामिल है।

सुब्रत राय का जन्म कब हुआ था?

सुब्रत राय का जन्म 10 जून सन् 1948 को बिहार राज्य के अररिया जिले में हुआ था। सुब्रत राय के माता-पिता एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंध रखते थे, इसी कारण इन्हें अपने प्रारंभिक जीवन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

सुब्रत राय की शिक्षा

बात करें सुब्रत राय के शिक्षा के बारे में तो इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा कोलकाता के एक विद्यालय होली चाइल्ड स्कूल से किया था। सुब्रत राय अपने विद्यालय के समय से ही पढ़ाई लिखाई में थोड़े कमजोर थे, सुब्रत रॉय अपनी हाई स्कूल की परीक्षा पूर्ण करने के बाद गोरखपुर के एक विद्यालय से अपनी आगे की परीक्षा को पूरा किया था।

सुब्रत राय ने गोरखपुर के विद्यालय गवर्नमेंट टेक्निकल इंस्टिट्यूट से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी, परंतु इनका मन पढ़ाई लिखाई से ज्यादा बिजनेस में लगता था, जिसके कारण इन्होंने अपना करियर बिजनेस लाइन में आजमाना शुरू कर दिया।

सुब्रत राय का पारिवारिक संबंध

सुब्रत राय एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंध रखते थे, इनका पालन-पोषण इनके माता-पिता के द्वारा बिहार के अररिया जिले में ही किया गया था। इनके माता-पिता ने इनका लालन-पालन काकी प्रेम पूर्वक से किया था। सुब्रत राय की माता का नाम छवि रॉय और सुब्रत रॉय के पिता का नाम सुधीर चंद्र रॉय है।

इनके माता-पिता एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंध रखते थे, उसके कारण इन्होंने इनकी पढ़ाई लिखाई का काफी ध्यान दिया और इन्हें कोलकाता के होली चाइल्ड स्कूल में दाखिला दिलवा दिया। किसी विद्यालय से इन्होंने अपने हाईस्कूल तक की परीक्षा को उत्तीर्ण किया था।

सुब्रत राय की पर्सनल लाइफ?

अब हम बात करने जा रहे हैं सुब्रत राय की पर्सनल लाइफ के बारे में, तो सुब्रत राय कॉलेज के समय में पढ़ाई लिखाई में बहुत कमजोर थे और इन्होंने पढ़ाई लिखाई से ज्यादा बिजनेस को बढ़ावा दिया। अपने कॉलेज की पढ़ाई के दौरान सुब्रत राय अपने क्लास की टॉपर स्वप्ना रॉय से प्रेम करने लगे।

इनके पर्सनल लाइफ शुरुआत एक छोटी सी फ्रेंडशिप के द्वारा शुरू हुई थी। कुछ दिनों तक फ्रेंडशिप में रहने के बाद सुब्रत राय ने स्वप्ना रॉय से अपने प्रेम का इजहार भी किया, जिसके बाद स्वप्ना के द्वारा मंजूरी देने के बाद इन दोनों ने शादी कर ली।

लोगों द्वारा ऐसा कहा जाता है कि स्वप्ना रॉय और सुब्रत राय रिलेशनशिप में रहे थे, सोशल मीडिया के द्वारा ऐसा दावा किया जा रहा है कि सुब्रत राय और सपना राय का लव अफेयर्स लगभग 6 वर्षों तक चला था, इसके बाद इन्होंने विवाह करने का निश्चय किया। स्वप्ना राय अपने क्लास की टॉपर स्टूडेंट थी, जिसके कारण इन्होंने सुब्रत रॉय को अंग्रेजी सिखाया। सुब्रत राय ने इस बात बात स्वयं कहा है।

सुब्रत राय का प्रारंभिक जीवन

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया सुब्रत राय एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंध रखते हैं, जिसके कारण इन का प्रारंभिक जीवन काफी कठिनाइयों भरा रहा। इन्होंने अपनी प्रारंभिक जीवन में अपने आवश्यकता की चीजों को खरीदने में असमर्थ रहे। क्योंकि इनके माता-पिता आमदनी कम होने के कारण अपने परिवार के पालन पोषण के मासिक खर्च में ही अपने ज्यादा से ज्यादा पैसे खर्च कर देते थे।

सुब्रत राय का बिजनेस करियर

सुब्रत राय अपने बिजनेस करियर की शुरुआत काफी कम लागत से की थी। इन्होंने अपने बिजनेस की शुरुआत वर्ष 1976 में एक छोटी सी कंपनी के द्वारा किया था, इसके बाद उन्होंने वर्ष 1978 में गोरखपुर में ही अपनी कंपनी का एक छोटा सा ऑफिस खोल लिया।

इन्होंने अपने इस बिजनेस को लगभग ₹2000 इन्वेस्ट करके और एक स्कूटर की मदद से शुरू किया था। सुब्रत राय का बिजनेस धीरे-धीरे पारिवारिक समूह बन गया जो कि वित्तीय सेवा, म्यूच्यूअल फंड्स, स्वास्थ्य, सूचना प्रौद्योगिकी, नगर विकास, जीवन बीमा, रिलायंस इस्टेट, टीवी और अखबार इत्यादि क्षेत्रों में फैल चुका था।

इसके बाद वर्ष 1990 ईस्वी में सुब्रत रॉय लखनऊ चले गए और इन्होंने लखनऊ में अपने कंपनी का मुख्यालय स्थापित कर दिया और यहीं पर सहारा इंडिया परिवार का मुख्यालय बन गया। जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे सहारा इंडिया परिवार और सुब्रत राय का नाम शहरी इलाके से लेकर ग्रामीण इलाकों तक फैलने लगा। इन्होंने धीरे-धीरे लखनऊ में अपने कंपनी को 170 एकड़ में फैला दिया, अब यह कंपनी सहारा सिटी बन गई।

कंपनी शुरू करने के मात्र 20 से 22 वर्ष बाद सहारा ग्रुप ऑफ कंपनी ने विशाल रूप धारण कर लिया और या कंपनी विश्व भर में विख्यात हो गई है। वर्तमान समय में सुब्रत राय अपनी इस कंपनी से अरबों रुपए कमा रहे हैं।

सुब्रत राय पर विवाद

सुब्रत राय के ऊपर फ्रॉड करने का केस लग चुका है। सुब्रत राय के ऊपर वर्ष 2014 में 26 फरवरी को भारत के सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा कंपनी के द्वारा निवेशकों को पैसा वापस ना लौटाने के मामले में सुब्रत राय को दाखिल होने के लिए कहा गया। परंतु सर्वोच्च न्यायालय में पेश होने में नाकाम सुब्रत राय को सरकार के द्वारा गिरफ्तार करने का वारंट जारी कर दिया गया।

इसके बाद सुब्रत राय को वर्ष 2014 में 5 फरवरी को पुलिस के द्वारा सुब्रत राय को गिरफ्तार कर लिया गया। इसी मामले के दौरान सुब्रत राय को वर्ष 2014 में ही 4 मार्च को दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद कर दिया गया। सुब्रत रॉय के जमानत की याचिका सर्वोच्च न्यायालय के जज के द्वारा खारिज कर दिया गया और ऐसा कहा गया कि उन्हें रिहाई तभी मिलेगी जब वे निवेशकों के पैसे चुका देंगे। सुप्रीम कोर्ट ने इन्हें पैसे चुकाने की शर्त पर रिहाई दे दी। परंतु यह पैसे चुकाने में असमर्थ रहे, जिसके कारण अभी भी यह जेल में ही बंद है।

सुब्रत राय को कौन-कौन से पुरस्कार प्राप्त है?

सुब्रत राय को बहुत से पुरस्कार प्राप्त हैं, लगभग 1 या 2 वर्ष के अंतराल पर इन्हें पुरस्कार प्राप्त हुआ है। सुब्रत राय को प्राप्त पुरस्कार की सूची नीचे के वर्षों के क्रमागत रूप में निम्नलिखित रुप से वर्णित किया गया है:

वर्षपुरस्कार
1992“बाबा-ए-रोजगार अवार्ड”
1994“उद्यम श्री”
1994“कर्मवीर सम्मान”
2001“दि नेशनल सिटीजन अवार्ड”
2002“बिजनेस ऑफ दि ईयर अवार्ड”
2004“ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड”
2004“भारतीय रेलवे के बाद भारत में दूसरा सबसे बड़ा नियोक्ता”
2007“आई टी ए-टी वी आइकॉन ऑफ दि ईयर”
2010“विशिष्ट राष्ट्रीय उड़ान सम्मान”
2010“वोकेशनल अवार्ड फॉर एक्स्क्लेंस”
2011दि बिजनेस आइकॉन ऑफ दि ईयर
2011डी लिट की मानद उपाधि
2012इंडिया टुडे के द्वारा भारत के दस सबसे प्रभावशाली व्यवसायियों में शामिल
2013डॉक्टरेट की मानद उपाधि
2013इंडियन टेलीविज़न अकादमी अवार्ड
सुब्रत राय अपने बिजनेस करियर की शुरुआत कितने पैसे निवेश करके की थी?

₹2000 निवेश करके।

सुब्रत राय को किस जुर्म में गिरफ्तार किया गया है?

सुब्रत राय को फ्रॉड करने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है।

सुब्रत राय को कितने पुरस्कार प्राप्त है?

सुब्रत राय को प्राप्त 16 पुरस्कार अभी तक ज्ञात है।

सुब्रत राय की पत्नी का क्या नाम है?

स्वप्ना रॉय।

सुब्रत राय के माता पिता का क्या नाम है?

पिता का नाम सुधीर चंद्र रॉय और माता का नाम छवि रॉय है।

निष्कर्ष

आज के इस लेख “सुब्रत राय का जीवन परिचय (Subrata Roy Biography in Hindi)” में हमने जाना कि सुब्रत राय किन परिस्थितियों का सामना करने के बाद इन ऊंचाइयों तक पहुंचे हैं। हमें उम्मीद है कि आपको या लेख अवश्य ही पसंद आया होगा। कृपया इस लेख को अवश्य अपने मित्रों के साथ शेयर करें। यदि आपके पास सुब्रत राय से जुड़ी हुई कुछ अतिरिक्त जानकारी है तो कृपया कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here